जाने करीना का प्रेगनेंसी के बाद का डाइट प्लान उनकी नूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर से

by Editorial Team


Posted on July 21, 2017 कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!


जाने करीना का प्रेगनेंसी के बाद का डाइट प्लान उनकी नूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर से

गर्भावस्था बहुत मुश्किल दौर होता है। खास कर उन महिलाओं के लिए जो घर से बाहर जा कर काम करती हैं। 

प्रसिद्ध नूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने करीना कपूर की गर्भावस्था से प्रेरित होकर गर्भावस्था से पहले, गर्भावस्था के दौरान और गर्भावस्था के बाद क्या क्या करना चाहिए वो सब कुछ अपनी नई किताब "गर्भावस्था नोट्स" में लिखा है। 

  1. रुजुता दिवेकर के साथ प्रेगनेंसी पर चर्चा - Rujuta Diwekar Pregnancy Notes in Hindi
  2. करीना के साथ उनकी प्रेगनेंसी पर चर्चा - Kareena Kapoor Pregnancy Interview in Hindi
  3. गर्भावस्था के दौरान करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan during Pregnancy in Hindi
  4. प्रेगनेंसी के बाद करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan after Pregnancy in Hindi

रुजुता दिवेकर के साथ प्रेगनेंसी पर चर्चा - Rujuta Diwekar Pregnancy Notes in Hindi

रुजुता दिवेकर के साथ प्रेगनेंसी पर चर्चा - Rujuta Diwekar Pregnancy Notes in Hindi

करीना की गर्भावस्था के बारे में बहुत चर्चा हुई थी। रुजुता दिवेकर का कहना है कि वे करीना कपूर के साथ फिल्म टशन के समय से उनके नुट्रिशन पर काम कर रही हैं और उस फिल्म के बाद वे अपने जीरो फिगर के कारण लोगों के बीच एक चर्चा का विषय बन गईं थी। वह कहती हैं कि "हम लोगों को यह बताना चाहते हैं कि गर्भावस्था के लिए तैयारी करने का एक समझदार तरीका क्या है और गर्भावस्था के बाद आप अपना वजन कैसे कम कर सकती हैं।" (और पढ़ें – बच्चे के जन्म के बाद माँ को क्या खाना चाहिए?)

इसके आगे उनका कहना है कि, "गर्भावस्था के पूर्व और गर्भावस्था के बाद आपको सुरक्षात्मक ऊतक के रूप में वसा की बहुत जरुरत होती है। यह वसा गर्भावस्था के दौरान अपने आप उत्पन्न होता है और इसका एक नई मान के लिए बहुत महत्व होता है। आपको प्रसव के तुरंत बंद अपने शरीर से वसा कम करने के लिए जल्दबाज़ी नहीं करनी चाहिए। इस वसा को कम करने के लिए आपको बस उचित आराम और स्वस्थ भोजन का सेवन करना चाहिए।"  

रुजुता दिवेकर यह भी कहती हैं कि, "गर्भावस्था के दौरान कई ऐसी बातें हैं जो मिथक होती हैं इसलिए आपको उन बातों को अनसुना कर देना चाहिए। बहुत सी महिलाओं का कहना है कि गर्भावस्था के बाद उनका वजन बढ़ गया है - चाहे उनका बच्चा कई वर्षों पहले ही क्यों न हुआ हो। कई महिलाओं को प्रेगनेंसी के बाद वजन बढ़ना अपरिवर्तनीय लगता है, परन्तु यह एकदम गलत धारणा है।"

रुजुता दिवेकर का कहना है की गर्भावस्था के लिए अपने बड़ों की कही बातों को सुनना चाहिए - "हमें अक्सर अपने बड़े-बुजुर्ग की बातें वैज्ञानिक नहीं लगती हैं लेकिन उनकी कही बातों में सदियों का ज्ञान है और वह वैज्ञानिक रूप से भी सही होती हैं। वे लोग सभी खाद्य पदार्थों के बारे में अच्छी तरह जानती हैं। उन सभी को यह भी पता है कि किस मौसम में कौन सा खाद्य पदार्थ मिलता है और उसे कैसे इस्तेमाल किया जाना चाहिए।" (और पढ़ें – डिलीवरी के बाद वजन कम कैसे करें)

रुजुता दिवेकर का कहना है कि उनकी एक क्लाइंट थी जिनकी सास ने प्रेगनेंसी के बाद उनके लिए लड्डू भेजे थे पर उनकी क्लाइंट ने उन्हें कूड़े में फेक दिया। उनकी क्लाइंट को यकीन था कि उन लड्डुओं को खाने से उनके शरीर में वसा बढ़ जाएगा। लेकिन उनके अनुसार प्रेगनेंसी के बाद पारंपरिक भोजन आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं। इसलिए प्रेगनेंसी के बाद अपने बड़े-बुजुर्ग के बताए हुए भोजन का सेवन जरूर करना चाहिए। 

रुजुता कहती हैं कि उनकी सबसे बड़ी चुनौती लोगों को समझाना है की "आधुनिक विज्ञान और घरेलू नुस्खें अलग नहीं होते हैं बल्कि यह दोनों एक सामान्य हैं। जरा सोचिए हमारी दादी की पीढ़ी में हर महिला छह से सात बच्चों को जन्म देती थी और वे बिना किसी चिंता के नारियल, घी और चावल आदि का सेवन किया करती थी।" 

पूरी दुनिया की जीवन शैली बदल गई है। इसलिए वह मानती हैं कि आज के समय में गर्भधारण करना पहले की तुलना में ज़्यादा मुश्किल है। आज के समय में महिलाएं पीसीओडी, मोटापे, बढ़ती हार्मोनल इशू से ग्रसित हैं और अधिक संसाधित भोजन के सेवन और अस्वस्थ जीवन शैली के कारण इंसुलिन प्रतिरोध एक समस्या बन गई है। जिसके कारण पीएमएस, मुँहासे, बालों के झड़ने और उच्च टेस्टोस्टेरोन जैसी समस्याओं से उन्हें झूझना पड़ता है। रुजुता दिवेकर के अनुसार इन समस्या से निपटना बहुत आसान है - "इसके लिए व्यायाम करें जिससे आपकी मांसपेशियों की ताकत बढ़ेगी जो आपकी इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाएगी। इसके लिए लोगों को शिक्षित करने की आवश्यकता है जिससे वे सही विकल्प का चयन कर सके। इसके लिए आपको मौसम के अनुसार भोजन खाना चाहिए और पैकेज्ड फ़ूड नहीं खाना चाहिए और साथ साथ उचित नींद और वर्कआउट करना चाहिए।"

करीना के साथ उनकी प्रेगनेंसी पर चर्चा - Kareena Kapoor Pregnancy Interview in Hindi

करीना के साथ उनकी प्रेगनेंसी पर चर्चा - Kareena Kapoor Pregnancy Interview in Hindi

करीना कपूर से एक इंटरव्यू में पूछा गया था कि अभिनेत्री होने के नाते आपका लगातार मूल्यांकन होता रहता है इसलिए आप कैसे स्वस्थ और शारीरिक रूप से सकारात्मक रहती हैं?

करीना का जवाब था कि, "जिस तरह मैं गर्भावस्था के दौरान दिखती थी और गर्भावस्था के बाद जिस तरह मैंने अपना वजन कम किया है इसकी सराहना मेरे प्रशंसकों और मेरे दर्शकों ने की है। मैं पिछले 10 वर्षों से अपने अभ्यास और आहार के अनुरूप रही हूं। अच्छा फिटनेस स्तर सभी लोगों की मदद करता है और उन्हें सकारात्मक रखता है।"

करीना कपूर से पूछा गया कि जायदा तर लोगों का मानना है कि, "एक एक्टर के लिए अच्छा शारीरक आकार बनाए रखना बहुत आसान होता है क्योंकि उनके पास बहुत अधिक बैक-अप है जैसे शेफ, जिम, पोषण विशेषज्ञ आदि। क्या चुनौतियां हैं जो दर्शकों को वास्तव में समझ में नहीं आता हैं?"

करीना कपूर का कहना था कि, "हाँ, इस बात में सच्चाई ज़रूर है कि एक एक्टर को बहुत सपोर्ट होता है, लेकिन मैं जो खाती हूँ वह बहोत ही सरल है, जो आम तौर से किसी भी भारतीय घर में खाया जाता है जैसे की घर में बना हुआ दाल-चावल, दही-चावल आदि। इस तरह के भोजन के लिए शेफ की जरूरत नहीं है और आज के समय में जिम हर जगह होता है, योग घर पर ही किया जा सकता है, जो की मैं भी करती हैं।" (नीचे करीना का डाइट प्लान दिया गया है)

करीना से पूछा गया की टशन के बाद से अब तक उन्होंने सही नुट्रिशन के बारे में क्या सीखा है। 

तो उनका जवाब था, "सबसे ज़रूरी बात है कि स्थानीय भोजन को संरक्षित करें, अक्सर व्यायाम करें, उचित आराम करें और सोने का समय नियमित होना चाहिए।" (और पढ़ें – कैसे प्रेग्नेन्सी के बाद अपना वजन घटा रही हैं करीना कपूर खान)

गर्भावस्था के दौरान करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan during Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan during Pregnancy in Hindi

करीना दिन में कई बार छोटे छोटे मील खाती थीं। उनके मील इस प्रकार थे - 
पहला भोजन - 7 से 8 पानी में भिगोई हुई किशमिश और 3 से 4 बादाम और साथ ही किशमिश का पानी पीती हैं। 
दूसरा भोजन - अंडे और टोस्ट 
तीसरा भोजन - नारियल पानी या कोकुम शरबत
चौथा भोजन - ज्वार की रोटी, घी और दाल + सब्ज़ियां
पांचवा भोजन - ताजे फल
छठाः भोजन - चकली या पनीर टोस्ट
सातवा भोजन - पुलाव और रायता या चावल और कढ़ी (सब्ज़ियों के साथ)
आठवां भोजन - चिवड़ा और दही या छाछ के साथ सेंधा नमक (भूख के अनुसार)

(और पढ़ें – जानिए क्या खाती थीं करीना कपूर खान प्रेगनेंसी के दौरान)

प्रेगनेंसी के बाद करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan after Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के बाद करीना कपूर का डाइट प्लान क्या था - Kareena Kapoor Diet Plan after Pregnancy in Hindi

बच्चे को जन्म देने के बाद रिकवरी करने के लिए करीना डाइट प्लान इस प्रकार था -  

पहला भोजन - 7 से 8 पानी में भिगोई हुई काले किशमिश
दूसरा भोजन - उपमा के साथ सब्जियां / अजवाइन पराठा
तीसरा भोजन - नींबू पानी के साथ चीनी, केसर और सेंधा नमक
चौथा भोजन - दाल-चावल, सब्जियां और छाछ / फुलका और घी के साथ सब्जियां और वेज रायता
पांचवा भोजन - चीज़ / जामुन
छठाः भोजन - आम
सातवा भोजन - पनीर और सब्जियों के साथ रोटी / खिचड़ी
* यदि बाद में भूख लगे तो केले / एक कप दूध

लक्षणों से करें बीमारी की पहचान

symptom checker in hindi

संबंधित लेख

हमारे यूट्यूब चैनेल से जुड़ें

Subscribe to Youtube Channel
अपना प्रश्न पूछें →