बदन में दर्द - Body Pain in Hindi

by Editorial Team


Posted on October 26, 2017 कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!


बदन में दर्द

बदन में दर्द क्या है ?

दर्द, शरीर में एक अप्रिय सनसनी होती है जो तंत्रिका तंत्र से शुरू होती है। कई कारकों (जैसे पर्यावरण, जैविक, भावनात्मक, संज्ञानात्मक आदि) के आधार पर शरीर में दर्द की शुरुआत अचानक या धीरे-धीरे हो सकती है। दर्द से पीड़ित व्यक्ति ही उसकी तीव्रता और आवृत्ति को ब्यान कर सकता है।

अधिकांश विकसित देशों में चिकित्सक परामर्श लेने के लिए दर्द सबसे सामान्य कारण है। यह कई चिकित्सा स्थितियों का एक प्रमुख लक्षण है और एक व्यक्ति के जीवन और सामान्य कार्यों के साथ हस्तक्षेप कर सकता है। साधारण दर्द निवारक दवाएं 20% से 70% मामलों में उपयोगी होती हैं।

  1. बदन में दर्द के प्रकार - Types of Body Pain in Hindi
  2. बदन में दर्द के कारण और कारक - Body Pain Causes & Risk Factors in Hindi
  3. बदन में दर्द से बचाव के उपाय - Prevention of Body Pain in Hindi
  4. बदन में दर्द का इलाज - Body Pain Treatment in Hindi
  5. बदन में दर्द की जटिलताएं - Body Pain Complications in Hindi
  6. बदन दर्द के घरेलू उपाय

बदन में दर्द के प्रकार - Types of Body Pain in Hindi

बदन में दर्द के प्रकार - Types of Body Pain in Hindi

बदन दर्द के कितने प्रकार होते हैं ?

आमतौर पर बदन दर्द के निम्नलिखित दो प्रकार होते हैं -

1. एक्यूट (अचानक होने वाला) बदन दर्द
एक्यूट दर्द बदन में किसी बीमारी या घटना के कारण होता है, जैसे चोट या सर्जरी। यह दर्द आमतौर पर अचानक होता है और फिर धीरे-धीरे कम हो जाता है या चिकित्सा उपचार के साथ ख़त्म हो जाता है।

एक्यूट दर्द हल्के से गंभीर तक हो सकता है और कुछ सप्ताह या महीनों तक रह सकता है। यदि उचित तरीके से इलाज किया जाए, तो तीव्र शारीरिक दर्द छह महीने में कम हो जाता है। यदि उपचार बीच में बंद कर दिया जाए, तो तीव्र दर्द से एक बहुकालीन दर्द बन सकता है।

2. क्रोनिक (बहुकालीन) बदन दर्द
क्रोनिक बदन दर्द बिना किसी स्पष्ट कारण के समय के साथ बना रहता है और चोट या बीमारी के ठीक होने के बावजूद भी नहीं जाता। क्रोनिक बदन दर्द कई हफ्तों या सालों तक रह सकता है। इससे पीड़ित व्यक्तियों को यह कमज़ोरी का कारण लग सकता है, जिसके परिणामस्वरूप उन्हें सामान्य रूप से कार्य करने में अक्षमता और अनिद्रा महसूस हो सकते हैं।

बदन में दर्द के कारण और कारक - Body Pain Causes & Risk Factors in Hindi

बदन में दर्द के कारण और कारक - Body Pain Causes & Risk Factors in Hindi

बदन दर्द क्यों होता है ?

बदन दर्द के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं -

  1.  फ्लू (इन्फ्लुएंजा)
  2. थयरॉयड
  3. खून का खराब संचारण
  4. लुपस
  5. आर्थराइटिस (गठिया)
  6. चकत्ते
  7. मांसपेशियों में कमज़ोरी
  8. थकान
  9. तनाव
  10. अवसाद
  11. निष्क्रियता
  12. विटामिन डी की कमी

बदन दर्द के जोखिम कारक क्या हैं?

  1. ख़राब मुद्रा।
  2. खराब शारीरिक स्थिति।
  3. उन गतिविधियों के लिए मांसपेशियों या जोड़ों का उपयोग करना जिनके लिए वे सक्षम नहीं हैं।
  4. अत्यधिक या अनुचित वज़न उठाना।
  5. अचानक से गतिविधियां जैसे वज़न उठना या मांसपेशियों को बहुत जल्दी घुमाना।
  6. कड़ी शारीरिक गतिविधियां करना।
  7. रीढ़ की हड्डी का विघटन जो अक्सर उम्र बढ़ने के साथ होता है, पीठ दर्द का कारण हो सकता है।

बदन में दर्द से बचाव के उपाय - Prevention of Body Pain in Hindi

बदन में दर्द से बचाव के उपाय - Prevention of Body Pain in Hindi

बदन दर्द से कैसे बचा जा सकता है ?

बदन दर्द को उचित आहार खाने, सही वज़न बनाए रखने और व्यायाम से मांसपेशियों को लचीला बनाए रखने से बदन दर्द को कम या रोका जा सकता है। यहां तक कि चलने या तैराकी जैसी कम प्रभाव वाली शारीरिक गतिविधियां, शक्ति, लचीलापन और धीरज बढ़ाकर शरीर में दर्द को रोकने में मदद कर सकती हैं।

बदन दर्द से बचने के कुछ अन्य तरीके निम्नलिखित हैं -

  1. बैठने और खड़े होने पर सही आसन बनाए रखें।
  2. भारी वस्तुओं को उठाने के लिए अपने पैरों का उपयोग करें।
  3. भारी वस्तुओं को अपने शरीर के पास रखकर उठाएं और दिशा बदलने के लिए अपनी कमर का नहीं बल्कि पैरों का उपयोग करें।
  4. शरीर का एक स्वस्थ वज़न बनाए रखें। अतिरिक्त वज़न शरीर की मांसपेशियों, विशेष रूप से पीठ की मांसपेशियों में दर्द कर सकता है।

बदन में दर्द का इलाज - Body Pain Treatment in Hindi

बदन में दर्द का इलाज - Body Pain Treatment in Hindi

बदन दर्द का इलाज क्या है?

बदन दर्द का उपचार निम्नलिखित तरीकों से किया जा सकता है -

  1. दर्द की दवाएं
  2. इंजेक्शन
  3. एक्यूपंक्चर
  4. योग
  5. हिप्नोसिस
  6. मालिश
  7. कॉर्टिकोस्टेराइड इंजेक्शन - कॉर्टिकोस्टेराइड इंजेक्शन विभिन्न प्रकार की दर्दनाक परिस्थितियों जैसे खेल में लगने वाली चोट, जोड़ों के दर्द और पुराने ऑस्टियोआर्थ्राइटिस के दर्द में उपयोग किए जाते हैं। डॉक्टर से बात करे बिना इसको इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  8. तंत्रिका ब्लॉक करने के लिए इंजेक्शन - जब तंत्रिका ब्लॉक करने के लिए इंजेक्शन दिया जाता है, तो इससे दर्द की सनसनी रुक जाती है। यह गंभीर मामलों में ही उपयोग किया जाता है। डॉक्टर की सलाह के बिना इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। 
  9. मादक दवाएं - गंभीर दर्द का इलाज करने के लिए मादक दवाओं (ऑपोएड) का उपयोग किया जाता है।

बदन में दर्द की जटिलताएं - Body Pain Complications in Hindi

बदन में दर्द की जटिलताएं - Body Pain Complications in Hindi

बदन दर्द से क्या जटिलताएं पैदा हो सकती हैं?

निरंतर दर्द रहने से शरीर में निम्न से सम्बंधित समस्याएं हो सकती हैं और इन्हें निरंतर इलाज की आवश्यकता रह सकती है -

  1. अंतःस्रावी (Endocrine)
  2. हृदय (Heart)
  3. प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune system)
  4. स्नायविक (Neurologic)
  5. मांसपेशियों व हड्डियों

अगर आप या आपके परिवार का कोई सदस्य इस समस्या से पीड़ित है, तो इन आसान से सवालों का जवाब देकर आप अन्य सदस्यों की मदद कर सकते हैं|

लिंग
आदमी 2 औरत 1
क्या आपने अपनी समस्या के इलाज के लिए डॉक्टर को दिखाया है?
  • डॉक्टर से पूछ कर 2
  • डॉक्टर से बिना पूछे 1
आप इसका इलाज करने के लिए क्या तरीका अपना रहे हैं?

अलोपैथी

आयुर्वेद

होमोपैथिक

घरेलू नुस्खे

लक्षणों से करें बीमारी की पहचान

symptom checker in hindi

हमारे यूट्यूब चैनेल से जुड़ें

Subscribe to Youtube Channel
डॉक्टर, हमसे जुड़ें अपना प्रश्न पूछें