हमारे देश भारत में 18 भाषायें प्रयोग में आती हैं फिर भी सभी अत्याधुनिक चीज़ों को प्रयोग में लाने के लिए हमें अँग्रेज़ी भाषा की मदद लेनी पड़ती है| इस वजह से भारत के 50 करोर पढ़े लिखे लोग भी अनपढ़ की तरह हैं क्योंकी वो अँग्रेज़ी भाषा नहीं जानते|

हमारा लक्ष्या है की हम सेहत संबंधी बातें लोगों को उनकी भाषा में पहुचायें जिससे हमारे देश इंटरनेट का पूरा लाभ उठा सके| हर भारतीय को अपने जीवन की मूलभूत आवशयक्ताओं से संबंधी सारी जानकारी उसी की भाषा में मिलनी चाहिए| इससे भारत का संपूर्ण विकास होगा|