ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के लक्षण, कारण और उपचार - Breast Pain (Mastalgia) Symptoms, Causes and Treatment in Hindi

सम्पादकीय विभाग के द्वारा


Posted on July 12, 2017 कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!


ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के लक्षण, कारण और उपचार - Breast Pain (Mastalgia) Symptoms, Causes and Treatment in Hindi

ब्रेस्ट में दर्द, जिसे मस्‍टालजिया (Mastalgia) भी कहा जाता है, महिलाओं में आमतौर पर होने वाला दर्द है। इसमें हल्का दर्द, भारीपन, जकड़न, जलन और स्तनों में असहजता होती है। स्तन कैंसर फाउंडेशन के अनुसार, स्तन के दर्द में स्तनों के साथ साथ बगलों (underarm) और कन्धों में भी दर्द हो सकता है लेकिन स्तनों में दर्द होना स्तन कैंसर का संकेत नहीं होता है।

कैलिफ़ोर्निया पेसिफिक मेडिकल सेंटर के मुताबिक, स्तनों में होने वाला दर्द 50 से 70 प्रतिशत महिलाओं को प्रभावित करता है। ब्रेस्ट में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए सबसे पहले इसके कारणों को जानना चाहिए। यूनाइटेड किंगडम (UK) में स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि 30 से 50 की उम्र की महिलाओं में से 66% महिलाओं में स्तनों में दर्द की शिकायत सामने आयी है। स्तनों का दर्द आमतौर पर चक्रीय (cyclical) और गैरचक्रीय (noncyclical) रूप में बांटा गया है।

(और पढ़ें - निप्पल में दर्द)

अगर यह दर्द पीरियड्स से सम्बंधित है तो इसे चक्रीय मस्‍टालजिया या चक्रीय स्तन दर्द (Cyclic breast pain) कहते हैं। गैर चक्रीय स्तन दर्द (Noncyclic breast pain) के कारणों की पहचान करना कठिन हो सकता है। यह माहवारी से सम्बंधित नहीं होता। वास्तव में यह दुग्ध ग्रंथियों (Milk glands) में होने वाले परिवर्तनों के कारण होता है।

(और पढ़ें - ब्रेस्ट की देखभाल सही तरीके से कैसे करें)

तो आइए जानते हैं ब्रेस्ट में होने वाले दर्द के लक्षण, कारण और उपचार -

  1. चक्रीय ब्रेस्ट में दर्द के लक्षण - Cyclic breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi
  2. गैर चक्रीय स्तन दर्द के लक्षण - Non cyclical breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi
  3. ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के कारण - Causes of Breast Pain (Mastalgia) in hindi
  4. स्तनों में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का निदान - Breast pain (Mastalgia) diagnosis in Hindi
  5. ब्रेस्ट में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का उपचार - Breast pain (Mastalgia) treatment in Hindi

चक्रीय ब्रेस्ट में दर्द के लक्षण - Cyclic breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi

चक्रीय ब्रेस्ट में दर्द के लक्षण - Cyclic breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi

चक्रीय स्तन दर्द में निम्नलिखित लक्षण प्रदर्शित होते हैं :

  1. चक्रीय स्तन दर्द पीरियड्स की तरह कभी भी होता है।
  2. आपको स्तनों में असहजता महसूस हो सकती है।
  3. कुछ महिलाओं को हल्का और कुछ को अत्यधिक दर्द का अनुभव होता है।
  4. स्तनों में सूजन या कभी कभी गांठ का अनुभव होता है।
  5. दोनों स्तनों से बगलों (underarms) में भी दर्द का प्रसार हो सकता है।
  6. रजोनिवृत्ति के दौरान भी इस प्रकार का दर्द महसूस हो सकता है।

गैर चक्रीय स्तन दर्द के लक्षण - Non cyclical breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi

गैर चक्रीय स्तन दर्द के लक्षण - Non cyclical breast pain (Mastalgia) symptoms in Hindi

गैर चक्रीय स्तन दर्द के लक्षण इस प्रकार हैं :

  1. यह दो में से सिर्फ एक स्तन को प्रभावित करता है, उसमें भी केवल उसके एक चौथाई भाग को अधिक प्रभावित करता है और धीरे धीरे पूरे सीने में फ़ैल जाता है।
  2. यह रजोनिवृत्ति के बाद आमतौर पर महिलाओं में होता है।
  3. यह दर्द माहवारी के कारण नहीं होता है।
  4. मैस्टाइटिस (Mastitis) - अगर दर्द स्तनों में संक्रमण के कारण होता है तो आपको बुखार हो सकता है और स्तनों में लालिमा आ सकती है। इस दर्द के कारण जलन भी महसूस हो सकती है। स्तनपान कराने वाली माताओं में, स्तनपान कराते समय यह दर्द अधिक तीव्र होता है।
  5. कभी कभी कुछ दर्द होते तो स्तनों में असहजता के कारण ही हैं लेकिन महसूस किसी और भाग में होते हैं। इस प्रकार का दर्द को छाती का दर्द या कॉस्टोकोंड्राइटीस [Costochondritis (पसली में सूजन)] भी कहा जाता है।

ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के कारण - Causes of Breast Pain (Mastalgia) in hindi

हार्मोन असंतुलन के कारण होता है ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) - Hormone Imbalance Causes Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

हार्मोन असंतुलन के कारण होता है ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) - Hormone Imbalance Causes Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के स्तर में उतार-चढ़ाव के कारण ब्रेस्ट में दर्द होता है। ये दो हार्मोन स्तनों में गांठ, सूजन और कभी-कभी दर्द पैदा कर सकते हैं। कुछ महिलाओं के अनुसार बढ़ती उम्र में होने वाली हार्मोन वृद्धि के कारण ये दर्द और अधिक बढ़ जाता है। कभी-कभी, मासिक धर्म संबंधी ब्रेस्ट में दर्द (चक्रीय मस्‍टालजिया) का अनुभव करने वाली महिलाओं को रजोनिवृत्ति (Menopause) के बाद दर्द नहीं होता है।

अगर स्तन दर्द हार्मोन में उतार-चढ़ाव के कारण होता है, तो आम तौर पर दर्द पीरियड्स से दो-तीन दिन पहले बहुत अधिक बढ़ जाता है। कभी-कभी दर्द मासिक धर्म चक्र के दौरान भी जारी रहता है। यह निर्धारित करने के लिए कि स्तन दर्द मासिक धर्म चक्र के कारण है या नहीं, अपने पीरियड्स पर ध्यान दें और नोट करें कि आप पूरे माह में दर्द का अनुभव कब करती हैं। (और पढ़ें - ब्रेस्ट टाइट करने के लिए एक्सरसाइज)

विकास के समय पीरियड्स महिला के मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करते हैं और स्तनों में दर्द का कारण बनते हैं -

  1. युवावस्था
  2. गर्भावस्था
  3. रजोनिवृत्ति

ब्रेस्ट सिस्ट है ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) होने का कारण - Breast Cyst Causes Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

ब्रेस्ट सिस्ट है ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) होने का कारण - Breast Cyst Causes Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

महिला की बढ़ती उम्र के साथ ब्रेस्ट में बदलाव होते रहते हैं। जिसके कारण अल्सर और अधिक रेशेदार ऊतकों (fibrous tissues) का विकास हो सकता है। ये फाइब्रोसिस्टिक परिवर्तन या फाइब्रोसिस्टिक ब्रेस्ट टिश्यू के रूप में जाने जाते हैं। ये परिवर्तन आमतौर पर चिंताजनक नहीं होते हैं। (और पढ़ें - ब्रेस्ट (स्तन) से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य जिनका आपको होना चाहिए पता)

स्तनों में दर्द (मस्‍टालजिया) का कारण हो सकता है स्तनपान - Breast Pain (Mastalgia) Due to Breastfeeding in Hindi

स्तनों में दर्द (मस्‍टालजिया) का कारण हो सकता है स्तनपान - Breast Pain (Mastalgia) Due to Breastfeeding in Hindi

स्तनपान आपके शिशु को पोषण देने का एक स्वाभाविक और पौष्टिक तरीका है, लेकिन यह एक मां के लिए कठिनाइयों से भरा समय होता है। निम्नलिखित कारणों से स्तनपान कराते समय आप स्तनों में दर्द का अनुभव कर सकती हैं :

  1. स्तनों में गांठ और स्तनों में सूजन (Mastitis)- यह दुग्ध ग्रंथियों का संक्रमण है। इससे निपल्स में गंभीर और तेज दर्द हो सकता है, साथ ही निपल्स में खुजली और जलन भी हो सकती है। इसमें डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने की सलाह भी दे सकते हैं। स्‍तनपान करवाने वाली महिलाओं में यह दर्द स्‍तनपान करवाते समय और भी बढ़ सकता है। (और पढ़ें - स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और उनके समाधान)
  2. स्‍तन परिपूर्णता (Breast Engorgement)- स्‍तन परिपूर्णता तब होती है जब मां के स्तनों से दूध आना शुरू होता है। आमतौर पर यह शिशु को जन्म देने के तीन से पांच दिनों के बाद होता है। जब मां के स्तन दूध से भरे हुए होते हैं तब वे सूजे हुए तथा बड़े लग सकते हैं और आपको बहुत अधिक दर्द महसूस हो सकता है। सामान्यतः स्तनों से दूध तब निकलता है, जब शिशु को स्तनपान कराया जाता है या दूध को पंप किया जाता है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट पम्प के इस्तेमाल से जुड़ें कुछ मिथक)
  3. अगर आपका बच्चा आपके निप्पल को स्तनपान कराते समय उचित रूप से नहीं ले रहा है, तो आपको संभवतः स्तन दर्द का अनुभव हो सकता है। (और पढ़ें - स्तनपान के दौरान हो रहे दर्द और सूजन का एक अनोखा उपाय)
  4. व्यायाम- महिलाओं के स्‍तनों में दर्द का एक कारण व्यायाम भी है। ऐसा स्तनों के आकार में बड़े होने के कारण होता है।
  5. गलत ब्रा का चयन- अंडरगार्मेंट्स का गलत चयन भी स्‍तनों में दर्द का कारण हो सकता है। अगर आपकी ब्रा बहुत टाइट है और कप बहुत छोटे हैं, तो स्‍तनों पर दबाव पड़ने से उनमें दर्द हो सकता है। (और पढ़ें - क्या टाइट ब्रा से होता है सीने में दर्द)
  6. स्तनों की सर्जरी- यदि आप स्तनों की सर्जरी करा चुके हैं, तो भी आपको दर्द का अनुभव हो सकता है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट कैंसर की सर्जरी)
  7. धूम्रपान और शराब- धूम्रपान और शराब का सेवन स्तन ऊतक में एपिनेफ्रीन (Epinephrine) हार्मोन के स्तर को बढ़ाने के लिए प्रसिद्ध है। इससे महिला के स्तनों को चोट पहुंच सकती है। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के लिए घरेलू उपचार)

ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के अन्य कारण - Other Causes of Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

ब्रेस्ट में दर्द (मस्‍टालजिया) के अन्य कारण - Other Causes of Breast Pain (Mastalgia) in Hindi

स्‍तनों में दर्द के अन्य कारण इस प्रकार हैं :

  1. एनजाइना (सीने में दर्द)
  2. चिंता, तनाव और अवसाद
  3. स्तन कैंसर या ट्यूमर
  4. कोरोनरी आर्टरी डिजीज (हृदय रोग)
  5. चक्रीय स्तन दर्द
  6. अधिक कैफीन का सेवन
  7. स्तनों में गांठ (और पढ़ें - ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण, कारण और उपचार)
  8. स्तनों में सूजन (और पढ़ें - ब्रेस्ट में सूजन के लक्षण, कारण और उपचार)
  9. पेप्टिक अल्सर
  10. पसली की हड्डी में फ्रैक्चर
  11. दाद (और पढ़ें - दाद और खुजली को हटाने के लिए बाबा रामदेव के प्राकृतिक तरीके)
  12. कंधे का दर्द  (और पढ़ें - कंधे के दर्द को दूर करने और लचीलेपन को बढ़ाने के लिए करें ये आसान कसरत)
  13. रक्त में लाल रक्त कणिकाओं की कमी
  14. सीने में चोट

स्तनों में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का निदान - Breast pain (Mastalgia) diagnosis in Hindi

स्तनों में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का निदान - Breast pain (Mastalgia) diagnosis in Hindi

अगर आपको पीरियड्स होते हैं तो चक्रीय स्तन दर्द की पुष्टि के लिए डॉक्टर आपसे कुछ सवाल पूछ सकते हैं जैसे :

  1. आपने कैफीन की कितनी मात्रा का सेवन किया है?
  2. स्तनों में कहाँ दर्द हो रहा है?
  3. क्या दोनों स्तनों में दर्द होता है?
  4. आप धूम्रपान करती हैं या नहीं?
  5. आप किसी भी दवा या गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं या नहीं?
  6. क्या आप गर्भवती हैं? (और पढ़ें - गर्भावस्था के दौरान ब्रेस्ट में परिवर्तन होने के हैं ये कारण)
  7. क्या आपको स्तनों में दर्द के साथ गांठ या स्तनों से स्रावण (Discharge) भी महसूस होता है?

डॉक्टर उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तरों की पुष्टि के लिए आपको जांच करने के लिए कह सकते हैं। स्‍तनों में दर्द आमतौर पर स्तन कैंसर से सम्बंधित नहीं है। ब्रेस्ट में दर्द या फाइब्रोसिस्टिक स्तन कैंसर का संकेत नहीं हैं। अगर आपको एक ही जगह काफी समय से लगातार दर्द महसूस हो रहा है तो डॉक्टर आपको निम्न परीक्षण करवाने की सलाह दे सकते हैं :

  1. मैमोग्राम (Mammogram): इसे मेमोग्राफी (Mammography) भी कहा जाता है। यह स्तन का एक्स-रे परीक्षण है।
  2. अल्ट्रासाउंड (Ultrasound): अगर मेमोग्राफी में किसी कारण का पता नहीं भी चला हो तो अल्ट्रासाउंड द्वारा उसका पता लगाया जा सकता है।
  3. मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग [Magnetic resonance imaging (MRI)]: इस विधि में आपके हाथ की नसों में एक रंग (dye) डाला जाता है। यह डाई स्तनों की असमानताओं को एक चित्र के रूप में प्रदर्शित कर देती है।
  4. बायोप्सी (Biopsy)यदि कोई कारण सामने आया है तो डॉक्टर सर्जरी करके आपके स्तन के ऊतक (tissue) का एक नमूना जांच के लिए भेजते हैं।

डॉक्टर ब्रेस्ट कैंसर सुनिश्चित करने के लिए उपर्युक्त जांच कराने की सलाह देते हैं।

ब्रेस्ट में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का उपचार - Breast pain (Mastalgia) treatment in Hindi

ब्रेस्ट में होने वाले दर्द (मस्‍टालजिया) का उपचार - Breast pain (Mastalgia) treatment in Hindi

अगर आप निम्नलिखित स्तन परिवर्तनों से गुज़र रही हैं तो डॉक्टर से अवश्य सलाह लें :

  1. अगर आपके स्तनों की आकृति और आकार में बदलाव आ रहा है।
  2. अगर निपल्स से स्रावण हो रहा है।
  3. यदि निपल्स के आस पास रैशेस (Rashes) हो रहे हैं।
  4. अगर आपकी बगलों (Armpits) या स्तनों में गाँठ या सूजन आ रही है।
  5. यदि बिना मासिक धर्म के आपको स्तनों में दर्द महसूस हो रहा है।

आमतौर पर चक्रीय स्तन दर्द से दर्दनिवारक दवाओं और सही ब्रा के उपयोग द्वारा छुटकारा पाया जा सकता है। गैर चक्रीय स्तन दर्द का उपचार थेरेपी की सहायता से किया जाता है जिसमें एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन भी करना पड़ सकता है।

  1. दिन के दौरान सही फिटिंग की ब्रा पहनें और रात में मुलायम ब्रा का उपयोग करें या ब्रा हटा कर सोयें। (और पढ़ें - सही ब्रा साइज कैसे चुनें)
  2. कई महिलाएं इसके उपचार के लिए प्रिमरोज़ तेल (Evening Primrose Oil) पर भरोसा करती हैं लेकिन ऑब्स्टेट्रिक्स और गायनोकोलॉजी के अमेरिकन जर्नल में एक अध्ययन के अनुसार, प्रिमरोज़ तेल का ब्रेस्ट दर्द पर कोई असर नहीं पड़ता है।
  3. गर्भवती महिलाओं को प्रिमरोज़ तेल का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।
  4. दर्द को दूर करने के लिए आप पेरासिटामोल, इबुप्रोफेन आदि दवाओं का सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें - ब्रेस्ट में दर्द के घरेलू उपाए)

लक्षणों से करें बीमारी की पहचान

symptom checker in hindi

संबंधित लेख

हमारे यूट्यूब चैनेल से जुड़ें

Subscribe to Youtube Channel
डॉक्टर, हमसे जुड़ें अपना प्रश्न पूछें