myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

बालों को खराब होने से बचाने के लिए केराटीन ट्रीटमेंट बेहद अच्छा तरीका माना जाता है। बल्कि बालों को एक बेहतरीन हेयर स्ट्रेटनर से अगर आप सीधा करते हैं तब भी आपके बाल सीधे होने के बाद खराब हो जाते हैं। यानि आपके बालों से नमी छिन जाती है। बालों को स्वस्थ बनाने के लिए आप केराटीन हेयर ट्रीटमेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं। केराटिन हेयर ट्रीटमेंट करवाने से आपके बालों को काफी फायदे मिलते हैं, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए इस ट्रीटमेंट को करवाने से पहले यहाँ दी गयी जानकारी ध्यान से पढ़ लें।

(और पढ़ें - बालों की देखभाल के घरेलू नुस्खे)

इस लेख में आगे पढ़िए केराटीन ट्रीटमेंट क्या है, केराटीन ट्रीटमेंट का इस्तेमाल घर पर कैसे करें, केराटीन हेयर ट्रीटमेंट के फायदे और नुकसान।

  1. केराटिन ट्रीटमेंट क्या है - Keratin treatment kya hai
  2. केराटिन ट्रीटमेंट एट होम - Keratin treatment at home
  3. केराटिन ट्रीटमेंट के लाभ - Keratin treatment ke labh
  4. केराटिन ट्रीटमेंट के नुकसान - Keratin treatment ke nuksan

केराटिन आपकी सिर की त्वचा की सबसे ऊपरी परत में मौजूद होता है। दो प्रकार के केराटिन होते हैं, एक अल्फा-प्रोटीन और दूसरा बीटा-केरोटीन। जो केराटीन आपकी सिर की त्वचा और बालों में मौजूद होता है उसे अल्फा-केरोटीन कहते हैं। केराटीन ट्रीटमेंट में बालों को अस्थायी रूप से सीधा किया जाता है। इसमें बालों पर केराटीन घोल लगाया जाता है और फिर उनके ऊपर बालों को सीधा करने वाली मशीन (फ्लैट आयरन) का इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़ें - बाल सीधे करने की विधि

केराटिन ट्रीटमेंट घर पर इस प्रकार करें –

1. केराटिन ट्रीटमेंट का चयन करें –

  • आप केराटीन ट्रीटमेंट घर पर या पार्लर में जाकर करवा सकते हैं। घर पर करने से आपको पार्लर जितना प्रभावी परिणाम तो नहीं मिलेगा लेकिन घर पर करने से आपको पार्लर जितना खर्चा नहीं झेलना पड़ेगा।
     
  • अगर आप केराटिन ट्रीटमेंट पार्लर में करवाना चाहते हैं, तो उससे पहले उस पार्लर के बारे में अच्छे से जान लें। उनसे केराटिन ट्रीटमेंट करवाने के बाद के परिणाम पूछें। इसके अलावा एक सही केराटिन ट्रीटमेंट करने वाले स्टाइलिस्ट के बारें में भी जानकारी निकालें। (और पढ़ें - रूसी हटाने के घरेलू उपाय
     
  • केराटिन आपके बालों को मुलायम नहीं बनाता। बल्कि केराटिन ट्रीटमेंट आपके बालों को मुलायम बनाता है। ट्रीटमेंट के दौरान केराटिन हेयर स्ट्रेटनिंग उत्पाद आपके बालों पर लगाया जाता है और उसके ऊपर फ्लैट आयरन का इस्तेमाल होता है।
     
  • कुछ केराटिन ट्रीटमेंट में ऐसे केमिकल होते हैं जिनमें फॉर्मलडिहाईड (formaldehyde) होता है। फॉर्मलडिहाईड एक तरीके का केमिकल है जो स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनता है, जैसे नाक और आंखों में जलन आदि। 

(और पढ़ें - रूसी हटाने के घरेलू उपाय

2. बालों को धोएं और सुखाएं –

  • बालों को अच्छे से शैम्पू से धोएं।
  • अब बालों को अच्छे से सुखा लें।
  • फिर कंघी के इस्तेमाल से बालों को दो हिस्सों में बांट लें।

3. बालों में केराटीन ट्रीटमेंट शुरू करें -   

  • केराटिन ट्रीटमेंट के उत्पादों पर लिखी जानकारी को अच्छे से पढ़ें और वहां दिए निर्देशन का पालन करें।
     
  • बालों में उत्पादों को लगाने से पहले हाथों में दस्ताने और पुराने कपड़े पहन लें। बालों को दो हिस्सों में बांटने के लिए पतली कंघी का इस्तेमाल करें।
     
  • उत्पादों को लगाने के बाद 20 मिनट के लिए उसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें या फिर उत्पादों में जैसी भी जानकारी लिखी है, उनके अनुसार पालन करें। अपने बालों को शावर कैप से ढक दें। 
     
  • अब बालों से शावर कैप और पिन को निकाल दें। आप अपने बालों को ड्रायर से भी सुखा सकते हैं। 
     
  • अब बाल सीधे करने वाली मशीन का तापमान सेट करें या फिर आपके बालों के प्रकार के अनुसार जो तापमान आपके उत्पाद के डब्बे पर लिखा है उतना तापमान सेट करें। अब किये गए बालों के हिस्सों को मशीन से स्ट्रेट करना शुरू करें।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय

4. केराटिन ट्रीटमेंट को बनाये रखने के लिए –

  • अपने बालों को कम से कम तीन दिन तक न धोएं। जल्दी बाल धोने से आपके बालों में केराटीन ट्रीटमेंट की समय सीमा कम हो जाती है।
     
  • अपने बालों को 48 घंटे तक न बांधें। सम्भव हो तो बालों की चोटी न बनाएं या फिर कोई सस्ती रबर बैंड का इस्तेमाल न करें।
     
  • अगर आप किसी भी प्रकार की स्टाइलिंग या ड्रायर का इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो आपके बालों में केराटिन ट्रीटमेंट लम्बे समय तक रहेगा। बालों को भी आराम से शैम्पू (बिना सल्फेट वाला शैम्पू) से धोएं और कंडीशनर का इस्तेमाल न करें।

(और पढ़ें - बालों को बढ़ाने का तेल)

केराटिन ट्रीटमेंट से बाल पोषित हो जाते हैं - Keratin treatment se apke bal poshit ho jate hai

बाल केराटिन से बने होते हैं। जब आप इन्हें अक्सर सीधा करते हैं या गर्म करने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं तो इनकी वजह से बालों से केराटिन गायब होने लगता है। केराटिन ट्रीटमेंट से आपके बालों का केराटिन पूरी तरह से वापस तो नहीं आता, लेकिन जो केराटिन आपके बालों में मौजूद है उसमें इजाफा हो जाता है। केराटिन ट्रीटमेंट आपके बालों को स्वस्थ बनाने का बहुत अच्छा तरीका है। अत्यधिक केराटिन आपके बालों को और ज्यादा स्वस्थ और कोमल बनाता है। 

(और पढ़ें - रूखे बालों का घरेलू उपाय

केराटिन ट्रीटमेंट से बाल रूखे नहीं होते - Keratin treatment se baal rookhe nahi hote

बाल जो अत्यधिक गर्म करने वाले उपकरणों (ब्लो ड्रायर, फ्लैट आयरन और हॉट रोलर) से खराब हो जाते हैं वो केराटिन ट्रीटमेंट से ठीक हो जाते हैं। अगर आपके बाल बहुत ज्यादा खराब हो गए हैं तो केराटिन बहुत अच्छा तरीका है। केराटिन ट्रीटमेंट से आपके बाल अधिक लचीले हो जाते हैं, यानी आप अपने बालों की स्टाइलिंग किसी भी तरह से कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - तैलीय बालों के घरेलू उपाय)

केराटिन ट्रीटमेंट से बाल मुलायम लगने लगते हैं - Keratin treatment se baal mulayam lagne lagte hai

जब आप अपने बालों को सीधा करते हैं या किसी भी तरह के गर्म करने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं तो इससे बाल रूखे, घुंघराले और कड़क हो जाते हैं। बल्कि एक अच्छा हेयर स्ट्रेटनर उत्पाद भी गर्म तापमान से आपके बालों को सुरक्षित नहीं रख सकता और आपके बालों को अत्यधिक रूखा व कड़क बना देता है। केराटिन ट्रीटमेंट बालों को कोमल बनाये रखने का बहुत अच्छा तरीका है। केराटिन से आपके बालों को कुछ खोये पोषक तत्व वापिस मिलते हैं, जिससे बाल स्वस्थ व कोमल लगने लगते हैं।

और पढ़ें - बालों को सिल्की करने के उपाय)

केराटिन ट्रीटमेंट आपके बालों को सुरक्षित रखें - Keratin Treatment apke balo ko surakshit rakhe

केराटिन ट्रीटमेंट से आपके बालों को एक एक्स्ट्रा सुरक्षा परत मिलती है। अगर आपने पहले कभी बाल बिना सुरक्षा परत लगाये बाल सीधे किये होंगे तो हो सकता है कि आपके बालों को नुकसान हुआ हो। ऐसे में केराटिन आपके खराब हुए बालों को दोबारा ठीक करने में मदद करेगा। अगर आपने केराटिन ट्रीटमेंट करवा लिया है तो इस बात का ध्यान रखें कि आपको तब भी हीट प्रोटेक्टिंग स्प्रे या क्रीम (बालों को गर्म करने वाले उपकरणों से बचाने के लिए स्प्रे या क्रीम) का इस्तेमाल करना है। 

(और पढ़ें - हेयर स्पा करने का तरीका)

केराटिन ट्रीटमेंट आपके बालों को स्वस्थ रखता है - Keratin treatment apke balo ko swasth rakhta hai

केराटिन ट्रीटमेंट आपके बालों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। नियमित रूप से केराटिन ट्रीटमट करवाने से आपके बाल और अधिक स्वस्थ व बेहतर दिखने लगेंगे। स्वस्थ बालों की देखभाल और उनकी स्टाइलिंग करना बेहद आसान होता है।

(और पढ़ें - बाल सीधे कैसे करे)

केराटिन ट्रीटमेंट से बाल पूरी तरह से सीधे नही होते - Keratin treatment se baal poori tarah se seedhe nahi hote

केराटीन ट्रीटमेंट बालों की सरंचना को बदलता है। हर एक बाल केराटीन चेन से बना होता है, जो कि एक प्रकार का प्रकृतिक प्रोटीन है। यह चेन प्रत्येक बाल की रचना को सही रखती है, लेकिन इस केमिकल ट्रीटमेंट से इन चेन्स का एक साथ काम करने का तरीका प्रभावित होता है। जबकि केराटिन ट्रीटमेंट से बाल तीन से पांच महीने के लिए ही सीधे होते हैं। इसके अलावा यह ट्रीटमेंट काफी महंगा भी होता है।

(और पढ़ें - बाल लंबे करने का शैम्पू)

केराटिन ट्रीटमेंट में बाल रूखे हो जाते हैं - Keratin treatment me baal rookhe ho jaate hai

केराटिन ट्रीटमेंट के दौरान, बालों को सीधा करने के लिए फ्लैट आयरन का इस्तेमाल किया जाता है। गर्म करने वाले उपकरणों का इस्तेमाल बालों को खराब करता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, फ्लैट आयरन को अधिक तापमान पर रख कर इस्तेमाल करने से बालों की रोम खराब हो जाती हैं। केराटिन ट्रीटमेंट को लगातर इस्तेमाल करने से बाल घुंघराले, दो मुहें होने लगते हैं और झड़ना भी शुरू हो जाते हैं।

(और पढ़ें - हेयर मास्क लगाने का तरीका​)

केराटिन ट्रीटमेंट से आँखों और कान में समस्या शुरू होने लगती है - Keratin treatment se ankho aur kaan me samasya shuru hone lagti hai

केराटिन में फॉर्मलडिहाईड होता है और अगर यह सिर की त्वचा के सम्पर्क में आता है तो इससे जलन, रूखापन और पपड़ी की समस्या हो सकती है। ट्रीटमेंट के दौरान सांस लेने पर आपके गले व आँखों में जलन होने लगती है और जी भी मचलाने लगता है। लम्बे समय तक केराटिन का उपयोग करने से त्वचा सुन्न और टैन भी हो सकती है। इस बात का ध्यान रखें कि आपकी आँखों में फॉर्मलडिहाईड न जाए, इससे आँखों में असहजता महसूस होगी और आँखों की रौशनी भी जा सकती है।  

(और पढ़ें - बाल मोटे करने के तरीके)

केराटिन ट्रीटमेंट कराने से स्वास्थ्य परेशानियां हो सकती है - Keratin treatment karane se swasthy pareshaniya ho sakti hai

केराटिन में मौजूद फॉर्मलडिहाईड से आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इससे आपकी तंत्रिका प्रणाली को क्षति, धुंधला दिखनासिर दर्द, मूड में बदलाव, अनिंद्रा और ध्यान न लगा पाने की परेशानी भी हो सकती है। "हैल्थ एंड सेफ्टी पॉलिसी" के अनुसार, फॉर्मलडिहाईड को कार्सिनोजन (carcinogen) के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, जो कि नाक के कैंसर और ब्रेन कैंसर से संबंध रखता है। तो केराटिन ट्रीटमेंट करवाने से पहले एक ऐसी पार्लर का चयन करें, जो इन उत्पादों का इस्तेमाल सावधानीपूर्वक करे।

(और पढ़ें - झड़ते बालों के लिए जड़ी बूटियां)

केराटिन ट्रीटमेंट सभी तरह की त्वचा के लिए सही नहीं होता - Keratin treatment sabhi tarah ki twacha ke liye sahi nahi hota

अगर आप किसी भी तरह की त्वचा संबंधी बीमारियों से पीड़ित हैं तो केराटिन ट्रीटमेंट आपके लिए सही नहीं रहेगा। अगर आप इन त्वचा संबंधी समस्याओं से पीड़ित हैं जैसे सोरायसिस और डर्मटाइटिस, तो जरूरी है कि केराटिन ट्रीटमेंट इलाज के लिए पहले आप अपने डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर से बात कर लें।

(और पढ़ें - बालों को सिल्की और मुलायम करने के उपाय)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
604643 भारत
2दमन दीव
100अंडमान निकोबार
15252आंध्र प्रदेश
195अरुणाचल प्रदेश
8582असम
10249बिहार
446चंडीगढ़
2940छत्तीसगढ़
215दादरा नगर हवेली
89802दिल्ली
1387गोवा
33232गुजरात
14941हरियाणा
979हिमाचल प्रदेश
7695जम्मू-कश्मीर
2521झारखंड
16514कर्नाटक
4593केरल
990लद्दाख
13861मध्य प्रदेश
180298महाराष्ट्र
1260मणिपुर
52मेघालय
160मिजोरम
459नगालैंड
7316ओडिशा
714पुडुचेरी
5668पंजाब
18312राजस्थान
101सिक्किम
94049तमिलनाडु
17357तेलंगाना
1396त्रिपुरा
2947उत्तराखंड
24056उत्तर प्रदेश
19170पश्चिम बंगाल
6832अवर्गीकृत मामले

मैप देखें