myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

किसी शायर ने सच ही कहा है ‘आंखें एक साथ हज़ार शब्दों को बयां करती हैं।’ आंखें सुंदरता की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं। खूबसूरत चेहरे की असली सुंदरता आंखों से ही होती है। आजकल के व्यस्त जीवन में महिलाओं की आम समस्या चेहरे की सुंदरता से जुड़ी रहती है। चेहरे को व्यक्ति की मानसिक स्थिति का पैमाना भी माना जाता है। चेहरा बाहरी सौंदर्य तथा आंतरिक स्वास्थ के हालत को दर्शाता है, लेकिन जब आंखों के नीचे काले धब्बे बन जाते हैं तो यह चेहरे की सुंदरता को ग्रहण लगा देते हैं। यह काले धब्बे आपकी खूबसूरती के साथ ही आपकी सेहत का हाल भी बयान करते हैं। 

(और पढ़ें - शहनाज हुसैन के ये 10 टिप्स आपकी स्किन की हर परेशानी का है इलाज)

यह माना जाता है कि आंखों के नीचे काले धब्बे नींद की कमी या थकान की ओर संकेत करते हैं। यह सही भी हो सकता है, लेकिन आंखों के नीचे काले धब्बे एलर्जी, प्राकृतिक एजिंग प्रणाली, गलत जीवन शैली एवं खानपान, खून की कमी, धूम्रपान, कम्प्यूटर पर काफी लम्बे समय तक काम करने, थायरॉयड, नमी की कमी तथा अनुवांशिक कारणों से भी हो सकते हैं। हालांकि, आजकल बाजार में बड़ी सौंदर्य कंपनियां इन धब्बों को मिटाने के लिए अनेक उत्पाद उतार चुकी हैं, लेकिन ज्यादातर सौंदर्य उत्पादों में केमिकल मिले होते हैं। जिनसे त्वचा को लंबे समय में फायदे की बजाय नुकसान ज्यादा होता है। ऐसे में अगर आप घरेलू ऑर्गेनिक सौंदर्य प्रसाधनों की मदद लें तो यह सस्ते तथा लाभदायक साबित होते हैं।

पर्याप्त नींद लें
चेहरे के बाकी हिस्सों की अपेक्षा आंखों के साथ लगती त्वचा ज्यादा संवेदनशील तथा पतली होती है। इसमें कोई भी तैलीय ग्रन्थियों या बारीक संरचना नहीं होती है। चेहरे के इस भाग पर विशेष ध्यान देने की जरूरत रहती है तथा यह भाग शरीर की उपेक्षा, दुर्दशा, बुढ़ापा, मानसिक तनाव तथा पोषाहार की कमी से पर्याप्त नींद की कमी तथा गलत जीवनशैली को साफ दर्शाता है। डॉक्टरों के अनुसार शरीर में पानी की कमी तथा एनीमिया की वजह से भी आंखों के नीचे काले धब्बे पड़ जाते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे की खूबसूरती बनाए रखने के लिए शहनाज हुसैन के ब्यूटी टिप्स)

इस समस्या के निदान के लिए सबसे पहले आप पर्याप्त मात्रा में नींद जरूर लें। नींद की कमी की वजह से बाहरी त्वचा की रंगत पीली पड़ सकती है, जिससे काले धब्बे ज्यादा मुखर दिखेंगे। रोजाना रात को सात से आठ घंटे की पर्याप्त नींद लेने से आंखों के नीचे काले धब्बे नहीं पड़ेंगे।

टी बैग दिलाएगा काले धब्बों से मुक्ति
ठंडे टी बैग आंखों पर लगाने से काले धब्बों को कम किया जा सकता है। चाय में कैफीन और एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण विद्यमान होते हैं, जोकि खून के बहाव को तेज कर सकते हैं और इनसे काले धब्बों के निदान की राह मिल सकती है। दो ग्रीन, हर्बल या ब्लैक टी बैग को पांच मिनट तक गर्म पानी में भिगोएं तथा उसके बाद इन टी बैग को रेफ्रिजरेटर में बीस मिनट तक ठंडा होने दें। इन ठंडे टी बैग को लगभग बीस मिनट तक बंद आंखों पर रखिए तथा इन्हें हटाने के बाद आंखों को ताज़ा ठंडे पानी से धो डालिए।

(और पढ़ें - शहनाज हुसैन के इन ब्यूटी टिप्स से घर बैठे पार्लर जैसी सुंदरता पाएं)

गुलाब जल है प्राकृतिक उपाय
गुलाब जल आंखों के नीचे धब्बों से मुक्ति का प्राकृतिक उपाय माना जाता है। कॉटन पैड को गुलाब जल में भिगोकर अपनी बंद आंखों पर रखकर कुछ देर तक लेट जाइए और बाद में आंखों को ताज़ा पानी से धो डालिए। गुलाब जल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण विद्यमान होते हैं, जोकि त्वचा को शांत करके त्वचा की कंपन बहाल करके उससे लालिमा हटाते हैं।

ठंडे दूध से मिटेंगे धब्बे
ठंडा दूध काले धब्बे मिटाने का घरेलू उपचार है। दूध में लैक्टिक एसिड होता है। इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा के छिद्र साफ हो जाते हैं, जिससे त्वचा अपनी वास्तविक स्थिति में वापिस आ जाती है। फ्रिज के ठंडे दूध में दो कॉटन बॉल भिगोकर दोनों बंद आंखों पर रख लीजिए तथा यह एक प्रभावी प्रकृतिक उपचार साबित होगा।

(और पढ़ें - शहनाज हुसैन से जानें कैसे सर्दियों की छुट्टियों में रखें खूबसूरती का ध्यान)

आंखों के नीचे काले धब्बे स्किन एलर्जी की वजह से भी होते हैं। ज्यादातर मौसम से संबंधित स्किन एलर्जी को खानपान में बदलाव या घरेलू उपचार से रोका जा सकता है। अगर आपको किसी खाने, फल आदि से एलर्जी है तो उसका परहेज करें। यह बेहतर होगा कि आप डॉक्टर की सलाह लेकर पहले एलर्जी को समझें और फिर उसका उपचार करें, ताकि आपको बेहतर परिणाम मिल सकें।

आलू भी है इलाज
आलू आंखों के नीचे डार्क सर्किल का प्रभावी उपचार माना जाता है। दो चम्म्च आलू का जूस या आलू स्लाइस को बंद आंखों पर लगाकर इसे प्रकृतिक तौर पर सूखने दें तथा बाद में आंखों को सादे सामान्य पानी से धो डालें। आलू में विटामिन सी के गुण विद्यमान होते हैं, जोकि खराब त्वचा को रिपेयर करते हैं और काले धब्बों पर काबू करते हैं।

टमाटर दिलाएगा धब्बों से मुक्ति
टमाटर जूस में कॉटन बॉल को भिगोकर आहिस्ता से बंद आंखों पर रखकर इसे प्रकृतिक तौर पर सूखने दें और बाद में आंखों को ताज़ा सामान्य पानी से धो डालें। आप वैकल्पिक तौर पर टमाटर और निंबू जूस का पेस्ट बनाकर इसे आधा घंटा तक बंद आंखों के चारों और लगाकर बाद में ठंडे पानी से धो डालिए। इससे काले धब्बों से मुक्ति मिलेगी।

(और पढ़ें - शहनाज़ हुसैन के इन टिप्स से पा सकते हैं पिगमेंटेशन से छुटकारा)

खानपान का रखें खास ख्याल
आंखों के नीचे काले धब्बे का पर्याप्त इलाज करते समय बाहरी इलाज के साथ-साथ विभिन्न अन्य पहलुओं पर भी गंभीर विचार करना चाहिए ताकि बीमारी का सही आकलन करके उपयुक्त सभी कारणों का निदान किया जा सके। नियमित तौर पर विटामिन ए, सी, के, ई तथा आयरन की पोषाहार खुराक से आंखों के नीचे काले धब्बे कम किए जा सकते हैं। वास्तव में आयरन की कमी काले धब्बों का सामान्य कारण माना जाता है। आयरन की कमी से खून में पर्याप्त ऑक्सीजन का संचार नहीं हो पाता है। आयरन की कमी को दूर करने के लिए ताज़ा फल, सलाद, अंकुरित अनाज, सादा अनाज, दही, मलाई, पत्तेदार हरी सब्जियां, अंडा तथा मछली काफी सहायक सिद्ध होते हैं। विभिन्न प्रजातियों के ताज़ा फल लेने से शरीर में पानी की कमी को दूर करने में मदद मिलती है। सामान्यतः प्रतिदिन 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए। सुबह उठते ही एक गिलास नींबू पानी पीना चाहिए। सभी फल जूसों को पानी मिलाकर लेने से लाभ मिलता है। किसी भी डाईट में बदलाव करते समय अपने डॉक्टर से नियमित सलाह ले लेनी चाहिए। अपने व्यायाम की सूची में लंबी गहरी सांसों को जरूर शामिल कर लीजिए क्योंकि इसके तनाव को कम करने में मदद मिलती है तथा शरीर के अंगों को पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त होती है। पर्याप्त नींद तथा आराम भी शरीर के लिए परम आवश्यक माने जाते हैं।

पानी से ऐसे धो डालें धब्बों को
आंखों को ठंडे पानी से धोने से आंखों की थकान कम हो जाती है। आंखों में पानी के छींटे मारने से तत्काल आराम की अनुभूति मिलती है। 

आंखों की कंट्रास्ट वाशिंग भी काफी सहायक सिद्ध होती है। पहले आंखों को गर्म पानी से धोने के बाद फिर ठंडे पानी से धोएं। इससे आंखों में खून का संचार बढ़ता है तथा रक्त संकुलता से निजात मिलती है। सुबह घर से निकलने से पहले आंखों के नीचे सन-स्क्रीन लोशन का प्रयोग लाभदायक होता है। लोशन को हल्का बनाने के लिए इसमें पानी की कुछ बूंदें मिलाई जा सकती हैं।

अपनी त्वचा की नियमित देखभाल में आंखों के इर्द-गिर्द त्वचा को भी जरूर शामिल कर लीजिए। आंखों की देखभाल के लिए अत्यंत संवेदनशील मूवमेंट तथा हल्के टच का सहारा लिया जाना चाहिए। मेकअप को हटाने के लिए गीली कॉटन वूल के साथ क्लीजिंग जैल का उपयोग करें। इसके बाद आंखों के नीचे क्रीम लगाएं तथा इसे गीली काटनवूल के साथ दस मिनट बाद हटा दें। इस क्रीम को रात भर कतई न लगा रहने दें। आंखों के नीचे सामान्य मास्क कतई न लगाएं, इस भाग में अत्यंत हल्के रंग की क्रीम या सीरम का प्रयोग किया जाना चाहिए। 

ये उपाय भी आजमाएं
प्रतिदिन आंखों के चारों ओर विशु (बादाम तेल की मालिश करें तथा उंगलियों के सहारे पूरी त्वचा पर हल्के से लगाए। मसाज को एक दिशा से दूसरी दिशा की तरफ करें तथा 15 मिनट बाद गीली काटनवूल से इसे धो डालिए।

आंखों के काले धब्बों के लिए खीरे का जूस सामान्य उपचार माना जाता है। खीरे में विद्यमान पानी की अधिकता और विटामिन सी आंखों को पौषित और मॉइस्चर (नम) कर सकता है।

खीरे के जूस को प्रतिदिन आंखों के चारों ओर से त्वचा पर लगाकर 15 मिनट बाद साफ जल से धो डालना चाहिए। अगर काले धब्बों में सूजन है तो आलू के जूस को खीरे के जूस में बराबर मात्रा में मिलाइए तथा इस मिश्रण को त्वचा पर 15 मिनट तक लगाकर साफ पानी से धो डालिए।  टमाटर का जूस चेहरे की रंगत को निखारने में अत्यंत मददगार साबित होता है। 

बाहरी सौंदर्य प्रसाधनों के उचित तथा नियमित प्रयोग के साथ-साथ स्वस्थ जीवनशैली तथा तनाव मुक्त वातावरण, पर्याप्त नींद भी काफी सहायक सिद्ध होते हैं। काटनवूल लेकर दो मोटे स्क्वायर पैड बना लीजिए। उन्हें खीरे के जूस या गुलाब जल में भीगो डालिए। लेट जाइए तथा भीगे हुए पैड को 15 मिनट तक आंखों पर रख लीजिए। प्रयोग किए हुए टी बैग को भी आई पैड की तरह प्रयोग किया जा सकता है। बंद पलकों पर कम्प्रेस्ट ठंडा दूध या बर्फीला जल 15-20 मिनट तक लगाने से भी काले धब्बों को मिटाने में सफलता मिलती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें