myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सुंदर दिखना हर किसी की चाहत होती है। महिलाएं सुंदर दिखना चाहती हैं, अपनी सुंदरता की तारीफ सुनना भी उन्हें काफी पसंद होता है। इसके लिए वह फेस पैक, क्रीम और ब्यूटी सलूनों तक का चक्कर लगाती हैं। इन सब उपायों में अच्छी-खासी जेब ढीली करने के बाबजूद कई बार उन्हें मनमाफिक परिणाम नहीं मिल पाते। यही नहीं, कई बार साइड इफ़ेक्ट की वजह से चेहरे पर झुर्रियां, त्वचा में रूखापन, एलर्जी जैसी समस्यायों का सामना भी करना पड़ता है। इस तरह से कई बार काफी पैसा खर्च करने के बावजूद उन्हें फायदे की जगह नुकसान झेलना पड़ता है। महिलाओं में डाइट, महंगे सौंदर्य प्रसाधन, ब्यूटी पार्लर जैसी बातें आम हैं।

प्रदूषण, व्यस्त जीवन शैली, गलत खान-पान और अनिद्रा की वजह से सौंदर्य से जुड़ी अनेक समस्याएं खड़ी हो रही हैं। सौंदर्य से जुड़ी समस्यायों के लिए अनेक हर्बल ब्यूटी टिप्स मौजूद हैं, इनके बाबजूद अगर आप मौसमी फलों का सेवन करेंगी तो यह आपकी सौंदर्य समस्यायों के लिए फायदेमंद साबित होंगे। फलों का सेवन करना तो फायदेमंद है ही, फलों के फेस पैक प्राकृतिक तरीके से सुंदरता बढ़ाते हैं और यह काफी सस्ते भी पड़ते हैं। मौसमी फलों का उपयोग एक वैज्ञानिक प्रक्रिया मानी जाती है, जिससे आप सुंदर, स्वस्थ्य और आकर्षक त्वचा पा सकते हैं।

(और पढ़ें - ग्लोइंग स्किन के लिए शहनाज हुसैन के सिंपल टिप्स)

महिलाएं सुंदरता के लिए दिन रात मेहनत, जतन और उपाय करती रहती हैं। हालांकि, इन उपायों से उन्हें लाभ भी मिलता है, लेकिन इन उपायों के अलावा अगर वह अपने खान-पान और दिनचर्या में बदलाव कर लें तो उन्हें कहीं बेहतर परिणाम मिलेंगे। हालांकि, घरों में फलों का सेवन आम बात है, लेकिन इन्हीं फलों को हम सुंदरता निखारने के लिए प्रयोग कर सकते हैं। इससे जहां सेहत और तंदुरूस्ती मिलेगी, वहीं चेहरे की आभा में निखार आएगा और त्वचा की चमक व आकर्षण भी बढ़ेगा। फलों को अपनी दिनचर्या में शामिल करके आप अंदरूनी और बाहरी दोनों सुंदरता पा सकती हैं तथा स्वास्थ्य, सुंदर, आभामय और आकर्षक त्वचा के सपने को साकार कर सकती हैं।

आपकी सुंदरता आपके खानपान पर काफी निर्भर करती है। 'जैसा अन्न वैसा तन' यह लोकोक्ति सदियों बाद भी आज भी सटीक बैठती है। आप फल खाने का शौक फरमाती हैं तो निरोगी काया तथा सुंदर एवं आभामय त्वचा आपको स्वतः ही मिल जाएगी। फल ग्रहण करने से बाहरी तथा आंतरिक दानों सौंदर्य में निखार आता है। इससे त्वचा की रंगत बदलकर लाल तथा पीली हो जाती है तथा त्वचा में जबरदस्त आकर्षण पैदा होता है।

नीचे बताएं गए फलों के नियमित सेवन से आप स्वास्थ्य सौंदर्य प्राप्त कर सकती हैं

आम 
आम को फलों का राजा कहा जाता है। आम में विटामिन ए, सी, ई, के प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इनके अलावा आम मिनरल, पोटैशियम, कैल्शियम तथा मैग्नीशियम से परिपूर्ण होते हैं। आम के फल में वायोफलेवोनोडज विद्यमान होते हैं, जो प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट होते हैं तथा त्वचा के मूल स्वरूप को पहुंची क्षति को निष्प्रभावी बनाकर इसे मूल रूप में वापस लाते हैं। आम विटामिन ए तथा सी से पूरीपूर्ण होते हैं तथा त्वचा में ताजगी यौवन तथा गोरापन लाने में मदद करते हैं। यह त्वचा में झुर्रियां तथा बुढ़ापे को रोकने में भी मदद करते हैं। आम न केवल शरीर के सामान्य संतुलन को बनाए रखते हैं, बल्कि इनके सेवन से त्वचा तथा बाल मुलायम तथा चमकीले होते हैं। आम के सेवन से बालों के छिद्र कस जाते हैं, जिससे बालों की जुड़ें मजबूत होती हैं। 

आम का गूदा फ्रूट पैक में सम्मलित करके त्वचा तथा बालों पर लगाया जा सकता है। आम के गूदे को फ्रूट पैक के रूप में चेहरे और खुली त्वचा पर लगाकर इसे सामान्य रूप में सूखने दें तथा उसके बाद ताजे पानी से धो डालें, इससे त्वचा में खिंचाव आएगा और आपकी सुंदरता में निखार आएगा। आम के गूदे में बादाम का तेल और शहद मिलाकर बने पेस्ट को आधा घंटे तक चेहरे पर लगाने के बाद ताजे पानी से धो डालें। इससे आपको ताजगी और स्फूर्ति का अहसास होगा। चेहरे पर कील मुहांसों की समस्या से निपटने के लिए आम के गूदे में शहद और मिल्क पाउडर मिलाकर बने स्क्रॅब से चेहरे की मसाज करें, इससे चेहरे के दाग, धब्बों से मुक्ति मिल जाएगी। शरीर तथा बालों के सौंदर्य उत्पादों को बनाने वाली कंपनियां आम का सौंदर्य प्रसाधनों में जमकर प्रयोग करती हैं।

नींबू
नींबू विटामिन-सी तथा मिनरल का स्त्रोत माना जाता है। सौंदर्य सामग्री के तौर पर नींबू को कई प्रकार से प्रयोग किया जा सकता है। नींबू को पानी में मिलाकर ही प्रयोग में लाना चाहिए अन्यथा इससे त्वचा को नुकसान भी हो सकता है। नींबू के गाढ़े घोल के प्रयोग से बचना चाहिए। हालांकि, घुटनों कोहनियों में नींबू के छिलकों को सीधे रंगड़कर बाद में पानी से धोया जा सकता है। नींबू के लगातार प्रयोग से त्वचा साफ तथा गोरी बन जाती है तथा रंगत में निखार आता है।

नींबू को हैंडलोशन की तरह भी प्रयोग में लाया जा सकता है। हल्के नींबू रस को गुलाब जल में मिलाकर हाथों की त्वचा पर मलिए। खुरदरें हाथों के लिए नींबू जूस तथा दानेदार चीनी के मिश्रण को हाथों की त्वचा पर तब तक मलिए जब तक चीनी पूरी तरह घुल न जाए तथा उसके थोड़ी देर बाद हाथों को ताजे स्वच्छ पानी से धो डालिए। इस मिश्रण के लगातार उपयोग से हाथों की त्वचा मुलायम होती है तथा त्वचा में निखार आता है। बालों को चमकीला तथा मुलायम बनाने के लिए नींबू के रस को टी-वाटर में मिश्रित करके बाल धोने के लिए उपयोग में लाएं। उबली हुई चाय पत्तियों को पर्याप्त पानी में उबालकर इस द्रव्य को ठंडा होने दें। इस ठंडे द्रव्य में नींबू रस मिलाकर इससे बाले धोने से बाल मुलायम तथा चमकीले बनते हैं। नींबू के छिलकों को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर इसे फेस पैक तथा स्क्रब में प्रयोग किया जा सकता है।

संतरा
संतरे का रस और छिलका दोनों काफी उपयोगी माने जाते हैं। दो संतरे के छिलके, एक चम्मच दूध और भुनी मसूर दाल को मिलाकर बने पेस्ट को चेहरे और खुली त्वचा पर हफ्ते में दो बार लगाने से चेहरे की रंगत में निखार आता है। एक गिलास संतरे के जूस के नियमित सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और यौवनता बरकरार रहती है। संतरे के छिलकों में साइट्रिक एसिड होता है, जो त्वचा के बंद छिद्रों को खोलकर चेहरे की रंगत को निखारता है। संतरे के रस को सीधे भी चेहरे पर लगाया जा सकता है।

पका पपीता : अनेक विशिष्ट गुणों से परिपूर्ण होने के कारण पपीते को फरिश्तों का खाना भी कहा जाता है। पपीता विटामिन बी,ए, जी,  पोटैशियम, कॉपर, मैग्नीशियम से परिपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट होता है। पपीते में पपेन नामक एंजाइम विद्यमान होता है, जो त्वचा की मृत कोशिकाओं को मुलायम तथा हटाने में मददगार साबित हेाता है। इससे त्वचा चमकीली तथा निर्मल बन जाती है। पपीते के नियमित सेवन से त्वचा की रंगत में निखार आता है। पके पपीते के गूदे को चेहरे पर लगाया जा सकता है। पपीते के गूदे को जई के आटे, दही तथा शहद में मिलाकर फेस मास्क तैयार किया जाता है। इस फेस मास्क को चेहरे पर लगाने के 20-30 मिनट बाद चेहरे को ताजे पानी से धो डालिए। पपीते के गूदे को दही में मिलाकर इसे शरीर पर भी लगाया जा सकता है।

(और पढ़ें - पिम्पल खत्म करने के लिए शहनाज़ हुसैन के टिप्स)

दो चम्मच पपीते के गूदे में एक चम्मच ग्लिसरीन व मिल्क पाउडर और दो चम्मच अनानास का जूस मिलाकर पैक बना लें। इस पैक को आधा घंटे तक चेहरे पर लगाकर गुनगुने पानी से धो डालें। यह चेहरे की रंगत में निखार और आकर्षण पैदा करेगा तथा आपकी त्वचा को प्राकृतिक पोषण देने के साथ ही त्वचा को नमी प्रदान करते हुए मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करेगा।

केला
केले को पोषाहार तथा स्वास्थ्य लाभ के लिहाज से सबसे लोकप्रिय फल माना जाता है। केला पोटैशियम तथा विटामिन-सी का सबसे मूल्यवान स्त्रोत माना जाता है। केला त्वचा तथा बालों दोनों के सौंदर्य में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। केले में विद्यमान पोटैशियम तत्व बालों तथा त्वचा दोनों को मुलायम बनाते हैं। केले का पेस्ट बनाकर इसे फेस तथा हेयर पैक दोनों में प्रयोग में लाया जा सकता है। बार-बार बालों के रंगने व अन्य रसायनिक उपचारों से बालों को पहुंची क्षति से उभारने में केला अहम भूमिका निभाता है। केले का गूदा या लुगदी को पैक की तरह चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद चेहरे को ताजे पानी से धो डालिए। केले की लुगदी में अंडे का पीला भाग या दही मिलाने से इसे हेयर पैक की तरह प्रयोग किया जा सकता है। यदि आपके बाल अत्याधिक शुष्क हों तो एक चम्मच शुद्ध ग्लिसरीन या शहद को केले के पैक में मिलाएं। केले के हेयर पैक में बादाम तेल भी मिलाया जा सकता है।

सेब
सेब अनगिनत स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। एक प्राचीन लोकोक्ति के अनुसार प्रतिदिन सेब के सेवन से वैद्य घर के दरवाजे से कोसों मील दूर रहते हैं। सेब में विटामिन-सी, बी-6, रिबोफ्लाविन, पोटैशियम, तांबा, मैग्नीशियम, जैसे पोषाहार तत्व प्रचूर मात्रा में विद्यमान होते हैं। सेब में फिटोन्यू ट्रैन्ट्स तथा फ्लेवोनॉयड्स पोषाहार तत्व मौजूद होते हैं।

सेब में पेक्टिन पाई जाती है, जो संवेदनशील त्वचा के लिए काफी सहायक मानी जाती है। सेब ‘‘स्किन टोनर’’ माने जाते हैं जो त्वचा को मजबूत बनाने तथा रक्त संचार में अहम भूमिका अदा करते हैं। सेब में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं जो कि त्वचा में ऑक्सीडेशन हानि को रोकने में प्रभावी भूमिका अदा करते हैं। इससे त्वचा की झुर्रियों को रोकने में मदद मिलती है तथा बुढ़ापे को रोका जा सकता है। सेब में फ्रूट एसिड विद्यमान होते हैं जो कि त्वचा को साफ करने में अहम भूमिका अदा करते हैं तथा मृत त्वचा कोशिकाओं (डेड सेल्स) को हटाने में मददगार साबित होते हैं। इससे त्वचा में चमक आती है तथा यह त्वचा पर काले धब्बे मिटाने में मददगार साबित होते हैं। सेब का नियमित उपयोग शरीर में रक्त संचार के प्रवाह को सही करता है, त्वचा में खिंचाव लाता है, असमय बुढ़ापे को रोकता है तथा चेहरे पर प्राकृतिक चमक लौटाता है।

(और पढ़ें - ग्लोइंग स्किन के लिए शहनाज़ हुसैन की सिंपल टिप्स)

कच्चे सेब की लुगदी तथा सेब के जूस को प्रतिदिन त्वचा पर 20 मिनट तक लगाकर इसे ताजे पानी से धो डालिए। सेब को पीसकर इसे फेस मास्क में सम्मलित किया जा सकता है। जई को दही, शहद तथा सेब की लुगदी में मिलाकर पेस्ट बना लीजिए। इस मिश्रण को चेहरे पर 20-30 मिनट तक लगाने के बाद चेहरे को ताजे पानी से धो डालिए। एप्पल साइडर विनेगर बालों की रूसी के उपचार में काफी प्रभावी साबित होता है तथा बालों में चमक लाता है। बालों में शैम्पू के बाद एक मग पानी में 2 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर का मिश्रण करके इसे बालों को अंतिम धुलाई के तौर पर प्रयोग कीजिए। प्रतिदिन एक सेब के आहार से सौंदर्य समस्याओं का काफी हद तक समाधान हो जाता है। 

जामुन
जामुन के बीज और आम की पत्तियां पीस कर बनाए पेस्ट को चेहरे पर बीस मिनट तक लगाने के बाद ताजे पानी से धोने से दाग, धब्बों और मुहांसों की समस्या खत्म होती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें