कई बार ऐसा होता है कि होंठों के कोनों पर लाल रंग के छाले या सूजन आ जाती है. इस समस्या को एंगुलर चेलाइटिस कहा जाता है. इसका अन्य नाम एंगुलर स्टोमाटाइटिस भी है. ये छाले होंठ के एक तरफ या एक ही समय में दोनों तरफ भी हो सकते हैं. ये काफी दर्द देने वाले हो सकते हैं. कई बार इन छालों से खून निकलने की समस्या, सूजन व खुजली जैसी परेशानी भी हो सकती है. ऐसे में डॉक्टर इसके लिए कुछ खास तरह की क्रीम लगाने के लिए कह सकते हैं.

आज इस लेख में आप एंगुलर चेलाइटिस में इस्तेमाल की जाने वाली क्रीम के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - त्वचा पर चकत्ते का इलाज)

  1. एंगुलर चेलाइटिस में फायदेमंद क्रीम
  2. सारांश
एंगुलर चेलाइटिस की क्रीम के डॉक्टर

वैसे तो एंगुलर चेलाइटिस कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन अगर इसका सही वक्त पर इलाज न किया जाए, तो यह गंभीर हो सकती है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम यहां एंगुलर चेलाइटिस के क्रीम के बारे में बता रहे हैं, जो इस प्रकार है -

निस्टेटिन - Nystatin

निस्टेटिन एक प्रकार की एंटीबायोटिक और एंटीफंगल क्रीम है, जो इस तरह के संक्रमण पर लाभकारी हो सकती है. इसका उपयोग दिनभर में दो बार किया जा सकता है.

(और पढ़ें - स्किन इन्फेक्शन का इलाज)

कीटोकोनाजोल - Ketoconazole

केटोकोनाजोल एक प्रकार की एंटीफंगल क्रीम है. इसका उपयोग फंगस के कारण होने वाले त्वचा संक्रमण के इलाज के लिए किया जाता है. यह उन्हें वापस आने से भी रोक सकता है. इसका उपयोग अलग-अलग तरह के फंगल संक्रमणों का इलाज करने के लिए किया जाता है.

(और पढ़ें - चर्म रोग का इलाज)

क्लोट्रिमाजोल - Clotrimazole

क्लोट्रिमाजोल भी एक तरह की एंटी फंगल क्रीम है, जिसका उपयोग अलग-अलग तरह के फंगल संक्रमण से इलाज या बचाव के लिए किया जाता है. ध्यान रहे कि इस क्रीम को लगाते वक्त ये आंख, नाक या मुंह में न जाए. 

(और पढ़ें - स्किन इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

मिकोनाजोल - Miconazole

मिकोनाजोल भी एक प्रकार की एंटीफंगल क्रीम है. इसका उपयोग त्वचा के कुछ प्रकार के फंगल या यीस्ट संक्रमण के इलाज के लिए किया जाता है.

(और पढ़ें - फंगल इंफेक्शन के निशान हटाने के घरेलू तरीके)

एंगुलर चेलाइटिस किसी को भी हो सकता है. ऐसे में वक्त रहते इस पर ध्यान देकर इसका इलाज जरूरी है. उम्मीद है कि एंगुलर चेलाइटिस की क्रीम से जुड़ी जानकारियां आपके लिए उपयोगी रही होगी. ऊपर बताई गई किसी भी क्रीम के उपयोग से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह करें, ताकि आपको क्रीम लगाने के तरीके से संबंधित जानकारी मिले. खासतौर से गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाएं.

(और पढ़ें - दाद का इलाज)

अस्वीकरण: ये लेख केवल जानकारी के लिए है. myUpchar किसी भी विशिष्ट दवा या इलाज की सलाह नहीं देता है. उचित इलाज के लिए डॉक्टर से परामर्श लें.
Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Nihal Yadav

Dr. Nihal Yadav

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Ravichandran G

Dr. Ravichandran G

डर्माटोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ