myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

शरीर में केवल खून के जरिए ही ऑक्सीजन पहुंचता है। खून में लाल रक्त कोशिकाएं होती हैं, जिसमें हीमोग्लोबिन होता है। हीमोग्लोबिन एक आयरन युक्त प्रोटीन है जो फेफड़ों में ऑक्सीजन के सूक्ष्म अणुओं से चिपक जाता है और बाद में यह रक्त केशिकाओं में परिवर्तित हो जाता है। बता दें, किसी भी अंग में यदि पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन या प्रोटीन नहीं पहुंचता है, तो वह अंग सही से कार्य करने में असमर्थ हो जाता है। ऐसी ही एक स्थिति है एनीमिया, जिसमें शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की गुणवत्ता या संख्या कम हो जाती है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति में ऑक्सीजन युक्त रक्त की कमी हो जाती है, ऐसे में निम्न लक्षणों को देखा जा सकता है।

यदि एनीमिया गंभीर नहीं है तो यह एक आम स्थिति हो सकती है। ऐसा ज्यादातर उन महिलाओं में देखा जाता है, जो विशेष रूप से मासिक धर्म और गर्भावस्था की स्थिति से गुजर रही होती हैं। एनीमिया की यह स्थिति घबराने वाली नहीं है, क्योंकि आयरन युक्त भोजन और आयरन सप्लीमेंट की मदद से इस बीमारी को आसानी से ठीक किया जा सकता है। कभी-कभी, एनीमिया कई अंतर्निहित गंभीर स्थितियों का संकेत हो सकता है, जैसे पेट में अल्सर में रक्तस्राव होना, गुर्दे की बीमारी या ऑटोइम्यून हेमोलिटिक एनीमिया जैसा किसी प्रकार का ऑटोइम्यून रोग। 

अक्सर, शरीर में आयरन की कमी के कारण लोग एनीमिक हो जाते हैं। इस स्थिति को आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया के रूप में जाना जाता है।

शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं और हीमोग्लोबिन बनाने के लिए आयरन की आवश्यकता होती है। यह शरीर के विभिन्न अंगों तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए आवश्यक है। शरीर में आयरन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए आहार में कुछ बदलाव की जरूरत है। इसके अलावा आहार में आयरन, प्रोटीन, फोलेट (विटामिन बी 9) और विटामिन बी 12 से भरपूर भोजन को शामिल किया जाना चाहिए। मूल रूप से ऐसे दो प्रकार के आयरन होते हैं, जो खाद्य स्रोतों से प्राप्त होते हैं - हेमी आयरन और नॉन-हेमी आयरन।

हेमी आयरन मांस, मुर्गी और समुद्र से प्राप्त होने वाले भोजन से मिलता है और नॉन-हेमी आयरन पौधे के स्रोतों से प्राप्त होता है। हेमी आयरन अधिक आसानी से प्राप्त होता है और यह शरीर द्वारा अच्छी तरह से अवशोषित भी हो जाता है।

  1. एनीमिया में क्या खाना चाहिए - Green Leafy Vegetables for Anemia
  2. एनीमिया में आहार - Beans for Treating Anemia
  3. एनीमिया में खानपान - Whole Grains for Treating Anemia
  4. एनीमिया डाइट प्लान - Nuts and Seeds for Treating Anemia
  5. एनीमिया में क्या खाएं - Organ Meat for Treating Anaemia
  6. एनीमिया डाइट चार्ट - Seafood for Treating Anemia
  7. गर्भावस्था में एनीमिया - Other Foods to Eat in Anemia
  8. एनीमिया में क्या नहीं खाना चाहिए - What not to Eat when you have Anemia

नॉन-हेमी आयरन का एक समृद्ध स्रोत हरी पत्तेदार सब्जियां हैं। हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन किया जाना चाहिए। हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने वाली सब्जियों के नाम इस प्रकार हैं :

पालक जैसी कुछ हरी पत्तेदार सब्जियों में ऑक्सलेट होता है जो नॉन-हीम आयरन को अवशोषित करने में बाधा उत्पन्न करता है। ऐसे में साग के साथ विटामिन-सी लिया जा सकता है, क्योंकि यह पेट में आयरन के बेहतर अवशोषण में मदद करता है। नींबू को विटामिन सी का सबसे बढ़िया स्रोत माना जाता है, ऐसे में यदि कोई व्यक्ति सलाद के पत्तों पर थोड़ा नींबू का रस निचोड़ का खाता है तो यह लाभकारी साबित हो सकता है।

बीन्स प्रोटीन का एक समृद्ध स्रोत हैं। इनमें फोलेट की उच्च मात्रा होती है। यह फोलेट अधिक लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है जो बदले में शरीर के हीमोग्लोबिन स्तर को बढ़ाता है। आम फलियों में से कुछ हैं:

  • किडनी बीन्स (राजमा)
  • सोयाबीन चिकी (छोले)
  • लोबिया
  • पिंटो बीन्स (राजमा की तरह दिखने वाला बीन्स)
  • ब्लैक (काले छोले)

साबुत अनाज असंसाधित होते हैं, जिनमें अनाज के सभी तीन भाग होते हैं: चोकर, जर्म और अन्तर्बीज। अनाज का बाहरी भाग कठोर खोल की तरह होता है, जिसे चोकर कहा जाता है। यह शरीर को फाइबर, विटामिन बी, आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करता है। यह सभी खून के हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। आयरन से भरपूर साबुत अनाज के नाम इस प्रकार से हैं :

  • दलिया
  • चोकरयुक्त आटा
  • ब्रेड
  • ब्राउन राइस

विभिन्न नट और बीजों में आयरन की पर्याप्त मात्रा होती है और एनीमिया से पीड़ित लोगों के लिए नट व बीज को आहार में शामिल करने की सलाह दी जाती है। आयरन युक्त नट और बीजों के नाम इस प्रकार हैं :

एनीमिया के इलाज के लिए ऑर्गन मीट

निस्संदेह लिवर में आयरन और फोलेट का भंडार है। यह एनीमिक व्यक्ति के हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। कुछ ऑर्गन मीट आयरन से भरपूर होते हैं जैसे :

  • मुर्गे की कलेजी
  • टर्की पक्षी के पैर
  • बकरी की हड्डी

ज्यादातर मछली जो हम खाते हैं उसमें आयरन होता है। हालांकि, कुछ समुद्री भोजन जैसे साल्मन में आयरन नहीं होता है, लेकिन इसमें कैल्शियम पाया जाता है। कैल्शियम शरीर में आयरन के बेहतर अवशोषण में मदद करता है। आयरन में समृद्ध कुछ समुद्री खाद्य पदार्थों में शामिल हैं :

  • टूना मछली
  • कस्तूरा मछली
  • बड़ी सीप
  • झींगा

एनीमिया में खाने के लिए अन्य खाद्य पदार्थ

एनेमिक व्यक्ति में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में निम्न खाद्य पदार्थ मदद कर सकते हैं :

टोफू : टोफू सोया मिल्क से बनने वाला एक उत्पाद है, जिसमें पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है। टोफू प्रोटीन से भरपूर होता है और इसमें वसा की मात्रा काफी कम होती है। टोफू के लगभग आधा कप (126 ग्राम) में 3.4 मिलीग्राम आयरन होता है। लेकिन बेहतर आयरन अवशोषण के लिए इसे विटामिन सी के साथ लिया जाना चाहिए।

गन्ना : गन्ने में भी आयरन होता है और इसीलिए यह खून में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में सहायक होता है।

पीनट बटर : पीनट बटर न केवल शरीर को आयरन प्रदान करता है बल्कि इसके अवशोषण को भी बेहतर बनाता है, जिससे शरीर का हीमोग्लोबिन बढ़ता है।

गर्भावस्था के दौरान एनीमिया की दिक्कत होना काफी सामान्य है। भ्रूण के विकास के लिए पोषण और ऑक्सीजन की आपूर्ति जरूरी होती है, ऐसे में मां के शरीर में खून की कमी होने का खतरा होता है। गर्भवती महिलाओं में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने के लिए इन खाद्य पदार्थों को आहार में सुरक्षित रूप से शामिल किया जा सकता है। जिन माताओं में 10 ग्राम प्रति डेसीलीटर से भी कम हीमोग्लोबिन का स्तर है, उन्हें एनीमिक माना जाता है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को अपने आहार में नट्स को जरूर शामिल करना चाहिए, क्योंकि वे प्रोटीन, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। गर्भकाल के दौरान जो महिलाएं डायबिटीज से ग्रस्त हैं उन्हें गन्ने का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

कुछ खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ हैं जो शरीर में आयरन के अवशोषण को रोक सकते हैं। इन खाद्य पदार्थों के नाम है :

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
4067 भारत
226आंध्र प्रदेश
10अंडमान निकोबार
1अरुणाचल प्रदेश
26असम
30बिहार
18चंडीगढ़
9छत्तीसगढ़
503दिल्ली
7गोवा
122गुजरात
84हरियाणा
13हिमाचल प्रदेश
106जम्मू-कश्मीर
3झारखंड
151कर्नाटक
314केरल
14लद्दाख
165मध्य प्रदेश
690महाराष्ट्र
2मणिपुर
1मिजोरम
21ओडिशा
5पुडुचेरी
68पंजाब
253राजस्थान
571तमिलनाडु
321तेलंगाना
26उत्तराखंड
227उत्तर प्रदेश
80पश्चिम बंगाल

मैप देखें