भारत के कई घरों में कॉकरोच के अलावा खटमल होना भी एक आम समस्या है। कॉकरोच और खटमल दोनों ही गंदगी में होने वाले जीव माने जाते हैं। खटमल मुख्य रूप से आपके बिस्तर में होते हैं और जैसे ही आप लेटते हैं यह आपका खून चूसने के लिए बेड के किनारों और दरारों से निकलना शुरू कर देते हैं। आपको बता दें कि खटमल भी कई तरह के रोगों की वजह बनते हैं।

इस लेख में आपको खटमल से होने वाले रोग के बारे में बताया गया है। साथ ही आपको खटमल होने के कारण, खटमल से होने वाली बीमारियां, खटमल कैसे संक्रमण फैलाते हैं और खटमल से बचने के उपाय आदि को भी विस्तार से बताया गया है। 

(और पढ़ें - मच्छर मारने भगाने के उपाय)

  1. खटमल होने के कारण - What causes bed bugs in Hindi
  2. खटमल से होने वाली बीमारियां- Common Problems Caused by Bed Bug Bites in Hindi
  3. खटमल से होने वाले रोग से कैसे बचाव करें - How to prevent bedbugs in Hindi
  4. खटमल काटने से होने वाली बीमारी के डॉक्टर

खटमल बेहद ही छोटा और चपटा कीट होता है, जो खून पीता है। आपके घर में मौजूद केवल एक मादा खटमल ही तेजी से अन्य खटमल की संख्या बढ़ा सकती है। एक मादा खटमल एक दिन में 2 से 5 अंडे दे सकती हैं, जो अपने जीवनकाल में करीब 500 बार अंडे देती है। अनदेखी करने से कुछ ही सप्ताह में मात्र एक खटमल भी सैकड़ों की संख्या में बदल सकता है। खटमल आपके रक्त पर ही जीवित रहते हैं, अपनी संख्या बढ़ाने के लिए खटमल को कम से कम 14 दिनों में एक बार खाने की आवश्यकता होती है और यह महीने में एक बार खाकर भी आसानी से जीवित रह सकते हैं।

(और पढ़ें - बिल्ली के काटने पर क्या करें)

शुरु में खटमल अफ्रीका और मध्य एशिया के विकासशील देशों में पैदा हुए थे। लेकिन यह आज कई देशों में फैल चुके हैं। व्यक्तियों की यात्रा के साथ यह खटमल एक जगह से दूसरी जगह पहुंच जाते हैं। खटमल व्यक्ति के शरीर और कपड़ों में चिपक कर ही एक जगह से दूसरी जगह नहीं पहुंचते हैं, बल्कि यह आपके सामान, गद्दे और फर्नीचर से भी एक जगह से दूसरी जगह आसानी से पहुंच सकते हैं।

खटमल होने के कारणों को लेकर समाज में कई मिथक प्रचलित है, जैसे:

  • खटमल गंदी जगहों पर ही होते हैं, ऐसा माना जाना गलत अवधारणा है। जहां कहीं भी व्यक्ति यात्रा करते हैं और सोते हैं उन जगहों पर ही खटमल पाए जाते हैं। (और पढ़ें - पेट के कीड़े का इलाज)
  • यह जूं की तरह एक व्यक्ति से दूसरे में नहीं फैलते हैं, बल्कि यह यात्रा के दौरान आपके सामान में छिपकर और आपके कपड़ों से एक जगह से दूसरी पहुंचते हैं।

कैसा पता करें कि आपके घर में खटमल हैं

अगर आपको सुबह उठने के बाद खुजली लगने लगें, तो यह आपके घर और बिस्तर में खटमल होने का लक्षण हो सकता है। निम्नलिखित संकेत बताते हैं कि आपके घर में खटमल हो गए है।

  • आपके बिस्तर की चादर और तकिए में खून के धब्बे होना। (और पढ़ें - मल में खून आने का इलाज)
  • चादर, गद्दे, बिस्तर पर रखें जाने वाले अन्य कपड़ों और दीवारों पर खटमल के मल मूत्र के गहरे और जंग लगने की तरह निशान होना।
  • खटमल के छिपने की जगहों पर मल मूत्र, अंडे के खोल और त्वचा के खोल मौजूद होना। (और पढ़ें - खून का थक्का जमने के विकार का इलाज)
  • खटमल की गंध ग्रंथियों से घर में तेज गंध फैलना।

(और पढ़ें - मधुमक्खी के काटने पर क्या करें)

खटमल काटने पर आपको किसी भी तरह का रोग या बीमारी का संक्रमण नहीं होता है। हालांकि इससे आपको हल्के प्रभाव देखने को मिल सकते हैं। आगे आपको खटमल से होने वाली कुछ सामान्य बीमारियों के बारे में बाताया गया है।

  • एलर्जिक रिएक्शन:
    खटमल के काटने पर होने वाली प्रतिक्रिया हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। एक ही घर के कुछ लोगों को खटमल के काटने पर कुछ लक्षण नहीं दिखाई देते हैं, जबकि कुछ लोगों को हल्के और गंभीर दोनों तरह के लक्षण अनुभव हो सकते हैं। खटमल के काटने पर आपकी त्वचा में जलन हो सकती है। (और पढ़ें - त्वचा की एलर्जी का इलाज)
     
  • खुजली:
    खटमल काटने पर आपको खुजली महसूस होती है। खटमल आपकी त्वचा के एक ही हिस्से में एक से अधिक बार काटते हैं इससे आपको कुछ दिनों के बाद भी प्रभावित हिस्से में तेज खुजली हो सकती है। (और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय)
     
  • अन्य संक्रमण:
    हालांकि खटमल के काटने से किसी भी तरह का कोई इन्फेक्शन नहीं होता है, लेकिन इसके काटने के बाद खुजली वाली जगह पर घाव हो सकता है। यदि घाव का समय रहते सही इलाज न किया जाए तो खुले घाव में संक्रमण होने की संभावना अधिक होती है। (और पढ़ें - फंगल इन्फेक्शन का उपचार)
     
  • लालिमा और फफोला होना:
    खटमल के काटने के बाद आपकी त्वचा पर लालिमा और फफोला हो जाता है। यह फफोला कुछ दिनों बाद ठीक हो जाता है, लेकिन इसमें खुजली बनी रह सकती है। (और पढ़ें - कीड़े के काटने का इलाज)
     
  • अनिद्रा:
    कई बार खटमल के काटने से व्यक्ति भयभीत हो जाता है। बिस्तर पर खटमल दिखने से व्यक्ति तनाव करने लगता है और इसके कारण वह सही तरह से नींद नहीं ले पाता है। इससे आपकी कार्यक्षमता पर प्रभाव नहीं पड़ता है, लेकिन आपकी चिंता बढ़ने लगती है। (और पढ़ें - चिंता दूर करने के घरेलू उपाय)
     
  • एनाफ्लेटिक शॉक:
    जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है या उनको पहले से किसी प्रकार की समस्या होती है जैसे – एलर्जी या अस्थमा, तो ऐसे व्यक्तियों को एनाफ्लेटिक शॉक (एलर्जिक शॉक/ Anaphylactic Shock) हो सकता है। इस तरह के लोगों को खटमल के काटने के बाद जल्द ही इलाज कराना चाहिए, यदि ऐसा ना किया जाए तो इनके लिए स्थिति काफी गंभीर हो सकती है। (और पढ़ें - शॉक का इलाज)
     
  • चगास रोग:
    कई तरह के अध्ययन और लैब टेस्ट के बाद यह सिद्ध हुआ है कि खटमल के काटने से चगास रोग होता है। हालांकि अब तक खटमल से इस रोग के फैलने का कोई मामला नहीं मिला है, लेकिन फिर भी इसके होने की आशंका हमेशा रहती है। खटमल की आंतों में 40 से ज्यादा रोगाणु मौजूद होते हैं, इन रोगाणुओं के आपके खुले घाव के संपर्क में आने की संभावना अधिक होती है, जिससे आप कभी भी रोगों को चपेट में आ सकते हैं।

(और पढ़ें - घाव ठीक करने के घरेलू उपाय)

खटमल को कम करके आप उनसे होने वाली बीमारियों से बच सकते हैं। खटमल से होने वाली बीमारियों से बचाव करने के लिए आपको निम्नलिखित उपायों को आजमाना चाहिए।

  • अपने बिस्तर, चादर, पर्दे और कपड़ों को गर्म पानी में धोएं और उनको तेज धूप या तेज ड्रायर (Dryer) में ही सूखाएं। इसके अलावा जूते और पालतू जानवर रखने की जगह को भी अच्छी तरह से साफ करें।
  • किसी ब्रश की मदद से गद्दे को अच्छी तरह से साफ करें ताकि खटमल के अंडे गद्दे से हट जाएं। इसके बाद आपको गद्दे को वैक्युम करना चाहिए। (और पढ़ें - घाव के निशान हटाने के तरीके)
  • अपने बिस्तर और उसके आसपास की जगह को नियमित रूप से साफ करते रहें। बिस्तर के आसपास की जगह को साफ करने के बाद कूड़े को जल्द ही उठाकर घर के बाहर कूड़ेदान में फेंक आएं।
  • गद्दे और बिस्तर को ऐसे बोक्स में रखें जो अच्छी तरह से बंद होता हो, ऐसे में खटमल बोक्स के अंदर या बाहर नहीं निकल पाते हैं। खटमल एक साल तक बिना कुछ खाएं जीवित रह सकते हैं। ऐसे में आप इस तरह के बॉक्स में गद्दे और बिस्तर को करीब एक साल तक रखकर खटमल को इनसे दूर कर सकती हैं। (और पढ़ें - कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार)
  • घर की दीवारों पर होने वाली दरारों में खटमल आसानी से छुप जाते हैं। ऐसे में आप इन दरारों को भरकर खटमल को घर से दूर कर सकते हैं।
  • जब भी कहीं बाहर होटल में जाएं तो अपना सामान बिस्तर से दूर रखें। (और पढ़ें - सांप के काटने पर क्या करना चाहिए​)
  • बाहर कहीं जाते समय अपने सामान को पैक करने से पहले एक बार अवश्य चेक करें।

यदि आपके सोने वाले बिस्तर के गद्दे में खटमल हो गए हैं तो ऐसे में आप अपने गद्दे के बदल सकते हैं। लेकिन इससे पहले आपको अपने घर की अन्य जगहों से खटमल को दूर करना होगा।

(और पढ़ें - मकड़ी के काटने पर क्या करें)

Dr. Kapil Sharma

Dr. Kapil Sharma

सामान्य चिकित्सा

Dr. Mayank Yadav

Dr. Mayank Yadav

सामान्य चिकित्सा

Dr. Nilesh shirsath

Dr. Nilesh shirsath

सामान्य चिकित्सा

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...