हमारे शरीर के 4 सबसे प्रमुख और महत्वपूर्ण संकेतों में से एक है ब्लड प्रेशर। बाकी के संकेत हैं- हृदय गति (हार्ट रेट), सांस लेने की दर (ब्रीदिंग रेट) और शरीर का तापमान। ये चारों संकेत आपको या आपके डॉक्टर को एक जनरल आइडिया देने में मदद कर सकते हैं कि आपका शरीर और उसके सभी अंग सही तरीके से अपना कार्य कर रहे हैं या नहीं। किसी व्यक्ति के इन महत्वपूर्ण संकेतों में अगर कोई बदलाव आता है तो यह किसी बुनियादी स्वास्थ्य समस्या का संकेत हो सकता है। 

(और पढ़ें : हाई बीपी में परहेज, क्या करना चाहिए और क्या नहीं)

ब्लड प्रेशर की रीडिंग पर पड़ता है कई बातों का असर
आपका ब्लड प्रेशर हाई है या लो इसकी जांच करने के लिए डॉक्टर या मे़डिकल प्रफेशनल आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग लेते हैं। ब्लड प्रेशर नापते वक्त आपके हाथ की पोजिशन कैसी है, आप तुरंत एक्सरसाइज करके तो नहीं आए, आपका ब्लैडर भरा हुआ तो नहीं है, इस तरह के कई फैक्टर्स हैं जिसका आपकी ब्लड प्रेशर की रीडिंग पर 10 प्रतिशत या इससे भी अधिक फर्क पड़ सकता है। इस कारण रीडिंग सही नहीं आएगी और हो सकता है कि डॉक्टर आपको हाई ब्लड प्रेशर की दवा दे दें लेकिन आपको असलियत में इसकी जरूरत ही न हो। 

(और पढ़ें : ब्लड प्रेशर क्या है और कितना होना चाहिए)

ब्लड नापते वक्त इन गाइडलाइंस को करें फॉलो
ब्लड प्रेशर नापने का सही तरीका क्या है इसे लेकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई गाइडलाइंस हैं जिनका पालन किया जाना चाहिए। इन दिनों तो ज्यादातर लोग होम बीपी मशीन का इस्तेमाल करते हैं और घर पर ही अपने ब्लड प्रेशर की नियमित रूप से जांच करते रहते हैं। लेकिन इस दौरान बीपी नापते वक्त आपको किन बातों का ध्यान रखना है, ये भी जानना जरूरी है।

ब्लड प्रेशर नापने के दौरान रीडिंग सही आए इसके लिए आप क्या करें:

  • अपना ब्लड प्रेशर नापने से कम से कम 30 मिनट पहले न तो धूम्रपान करें, ना ही एक्सरसाइज करें और ना ही किसी भी तरह के कैफीन वाले पेय पदार्थों (चाय, कॉफी आदि) का सेवन करें। (और पढ़ें : शरीर पर कैफीन का कैसा असर पड़ता है)
  • इस बात का ध्यान रखें कि ब्लड प्रेशर चेक करने से पहले आपका मूत्राशय (ब्लैडर) खाली हो वरना गलत रीडिंग आ सकती है।
  • अगर आपने अभी-अभी पेट भरके खाना खाया हो तो कम से कम 2 घंटे बाद ही ब्लड प्रेशर चेक करें।
  • अपनी पीठ को बिलकुल सीधा और सपोर्ट में रखते हुए आराम से बैठ जाएं। इसलिए बेहतर होगा कि आप सोफे की जगह डाइनिंग चेयर पर बैठें।
  • अपने पैरों को समतल जमीन पर सपाट रखें और पैर एक दूसरे पर चढ़े नहीं होने चाहिए (क्रॉस लेग न बैठें)
  • अपने हाथों को एक समतल सतह पर (जैसे कि टेबल के ऊपर) सपोर्ट करके रखें ताकि बांह का ऊपरी हिस्से हार्ट के लेवल पर रहे।
  • ब्लड प्रेशर नापने से पहले कम से कम 5 मिनट के लिए कुर्सी पर आराम से बैठ जाएं और पूरे शरीर को रिलैक्स कर लें।
  • इसके अलावा ब्लड प्रेशर नापते वक्त बातें न करें।
  • हवा से भरे कफ वाले हिस्से को आपकी बाजू के ऊपरी हिस्से को कम से कम 80 प्रतिशत तक कवर करना चाहिए और ब्लड प्रेशर नापने वाले इस कफ को त्वचा पर ही लगाएं, कपड़े के ऊपर नहीं। (और पढ़ें : ब्लड प्रेशर मशीन क्या है, कैसे काम करती है)
  • अगर आपने बाजू के हिस्से पर बहुत टाइट कपड़ा पहना हो तो उसे उतार दें क्योंकि स्लीव्स को ऊपर मोड़ने पर भी रीडिंग में इसका असर पड़ सकता है।
  • कम से कम 2 बार अपना ब्लड प्रेशर नापें और दोनों के बीच में कम से कम 2 मिनट का ब्रेक रखें। अगर दोनों रीडिंग के बीच 5 पॉइंट से ज्यादा का अंतर हो तो तीसरी बार भी रीडिंग जरूर लें।
  • सुबह और शाम के वक्त दिन में 2 बार ब्लड प्रेशर नापें। सुबह खाली पेट बिना कोई दवा या खाना खाए और शाम में सोने से और दवाइयां लेने से पहले। (और पढ़ें : हाई बीपी कम करने के घरेलू उपाय)

इसके अलावा कम से कम एक बार दोनों हाथों में ब्लड प्रेशर नापना भी एक अच्छा आइडिया है क्योंकि सिर्फ एक हाथ में ली गई रीडिंग खासतौर पर दाएं हाथ की रीडिंग बाएं हाथ से अधिक हो सकती है। अमेरिकन जर्नल ऑफ मेडिसिन में साल 2014 में प्रकाशित एक स्टडी में 3 हजार 400 को शामिल किया गया था। स्टडी के दौरान इन सभी लोगों में एक हाथ से दूसरे हाथ में सिस्टॉलिक ब्लड प्रेशर रीडिंग में कम से कम 5 पॉइंट का अंतर देखने को मिला।

(और पढ़ें : हाई बीपी से हैं परेशान तो ये जूस करेगा आपकी मदद, रोज पिएं)

ब्लड प्रेशर नापने का सही तरीका के डॉक्टर
Dr. Jugal kishor

Dr. Jugal kishor

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Suvendu Kumar Panda

Dr. Suvendu Kumar Panda

सामान्य चिकित्सा
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Aparna Gurudiwan

Dr. Aparna Gurudiwan

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Pallavi Tripathy

Dr. Pallavi Tripathy

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ