myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हड्डी बढ़ना क्या है?

हड्डी के बढ़ने को अंग्रेजी में ओस्टियोफाइट्स (osteophytes) भी कहा जाता है। हड्डी जिस भी तरफ से बढ़ती है, उस तरफ एक उभरा हुआ हिस्सा दिखाई देता है। जिन जगहों पर दो हड्डियां मिलती हैं, अक्सर वहीं पर हड्डी निकलती है। 

शरीर के कई हिस्सों में हड्डी बढ़ सकती है, जैसे कि  - 

  • हाथ
  • कंधा 
  • गरदन
  • रीढ़ की हड्डी
  • कूल्हा 
  • घुटना 
  • पैर 
  •  ऐड़ी 

अधिकतर हड्डी बढ़ने से कोई दिक्कत नहीं होती है लेकिन अगर ये अन्य हड्डियों से रगड़ जाए या नसों पर दबाव बना दें, तो आपको बढ़ी हुई हड्डी में दर्द और अकड़न का अनुभव हो सकता है।

(और पढ़ें - हड्डी टूटने पर क्या करें)

  1. हड्डी बढ़ने के लक्षण - Bone Spur Symptoms in Hindi
  2. हड्डी बढ़ने के कारण - Bone Spur Causes in Hindi
  3. हड्डी बढ़ने से बचाव - Prevention of Bone Spur in Hindi
  4. हड्डी बढ़ने का परीक्षण - Diagnosis of Bone Spur in Hindi
  5. हड्डी बढ़ने का इलाज - Bone Spur Treatment in Hindi
  6. हड्डी बढ़ना की दवा - Medicines for Bone Spur in Hindi
  7. हड्डी बढ़ना के डॉक्टर

हड्डी बढ़ने के लक्षण - Bone Spur Symptoms in Hindi

आपको हड्डी बढ़ने का तभी पता चल पाता है, जब आप किसी और हड्डी से जुडी समस्या की जांच कराने के लिए एक्स-रे कराते हैं। बढ़ी हुई हड्डी केवल तभी समस्या पैदा करती है, जब वो आपके शरीर में नसों, "टेंडन" (tendon: मांसपेशियों को हड्डी से जोड़ने वाले ऊतक) या अन्य संरचनाओं पर दबाव डालती है।

जिसकी वजह से आप निम्न में से कोई भी समस्या महसूस कर सकते हैं:

अगर आप एक्सरसाइज करते हैं या प्रवाभित जोड़ो को हिलाने की कोशिश करते हैं, तो आपके लक्षण और गंभीर हो सकते हैं।

(और पढ़ें - व्यायाम से जुड़ी कुछ बातें जानें)

एक हड्डी का बढ़ा हुआ हिस्सा कई बार टूटकर जोड़ की परत में फंस जाता है। इसे "लूज़ बॉडी" (loose body) कहा जाता है। यह जोड़ में अकड़न पैदा कर सकता है जिससे प्रवाभित जोड़ को चलाना मुश्किल हो जाता है।  

हड्डी बढ़ने के कारण - Bone Spur Causes in Hindi

हड्डी क्यों बढ़ती है?

अक्सर टेंडन या जोड़ पर चोट लगने से हड्डी बढ़ती है। जब आपके शरीर को लगता है कि आपकी हड्डी क्षतिग्रस्त हो गई है, तो शरीर उस जगह की हड्डी जोड़कर उसे ठीक करने की कोशिश करता है जिससे हड्डी बढ़ जाती है।  

गठिया से होने वाले नुकसान से हड्डी बढ़ जाती है। उम्र बढ़ने के साथ रीढ़ की हड्डी की डिस्क में समस्या महसूस होने लगती है। ऑस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis), रूमेटाइड अर्थराइटिस  (rheumatoid arthritis), गठिया, ल्यूपस (lupus), और गाउट (gout) भी आपके जोड़ों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

(और पढ़ें - स्लिप डिस्क का उपचार)

हड्डी बढ़ने के अन्य कारणों में शामिल हैं:

  • हड्डी से जुड़ी किसी तरह की चोट लगना  
  • हड्डियों का उपयोग अधिक करना - उदाहरण के लिए,अगर आप लंबे समय तक बहुत अधिक भागते हैं या नाचते हैं  
  • जीन (Genes)
  • आहार (और पढ़ें - संतुलित आहार क्या है)
  • मोटापा
  • किसी हड्डी की समस्या के साथ पैदा होना 
  • रीढ़ की हड्डी का सिकुड़ना

(और पढ़ें - रीढ़ की हड्डी में चोट के उपचार)

हड्डी बढ़ने से बचाव - Prevention of Bone Spur in Hindi

हड्डी बढ़ने से कैसे रोकें?  

हड्डी के बढ़ने से बचने का शायद कोई तरीका नहीं है अगर वो गठिया से होने वाला प्राकृतिक परिणाम हैं। लेकिन दूसरी किसी समस्या के कारण से हड्डी बढ़ने को रोकने के लिए निम्न लिखीं चीज़ें करें - 

  • अपने लिए सही प्रकार के जूते चुनें। आगे से चौड़े हो जिससे उँगलियाँ आरामदायक तरीके से जूते में आ सकें, जूतों का पैतावा आरामदायक हो, साथ ही जूतों की फिटिंग आपके लिए उपयुक्त होनी चाहिए।  मोटे मौजे पहनें जिससे जूतों से आपका पैर ना रगड़े।  
  • अपनी हड्डियों को सुरक्षित बनाए रखने के लिए कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर आहार लें 
  • अपनी हड्डियों को मजबूत रखने के लिए पैदल चलने या सीढ़ी चढ़ने जैसे अभ्यास, नियमित करें। (और पढ़ें - पैदल चलने के लाभ)
  • शरीर का वजन संतुलित बनाये रखें। (और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

यदि आपको जोड़ों में किसी प्रकार की समस्या है जैसे दर्द, सूजन या अकड़न तो अपने डॉक्टर को दिखाएं। गठिया का इलाज जल्दी कराने से आप उन नुकसानों से बच सकते है जो हड्डी बढ़ने को बढ़ावा देते हैं।  

(और पढ़ें - गठिया के घरेलू उपाय)

हड्डी बढ़ने का परीक्षण - Diagnosis of Bone Spur in Hindi

आपको किसी रयूमाटोलॉजिस्ट (Rheumatologists) या ऑर्थोपेडिक (orthopedic) डॉक्टर को दिखाने की जरूरत पड़ेगी। रयूमाटोलॉजिस्ट जोड़ो की समस्याओं के विशेषज्ञ होते हैं। आर्थोपेडिक डॉक्टर "मस्क्युलोस्केलेटल सिस्टम" (कंकाल और मांसपेशी तंत्र से संबंधित) के विशेषज्ञ होते हैं। आपके डॉक्टर जोड़ को छूकर उसमें किसी तरह के उभरापन होने की जांच करते हैं। डॉक्टर, बढ़ी हुई हड्डी को सही से देखने के लिए आपका एक्स रे भी करवा सकते हैं।  

हड्डी के बढ़ने का परीक्षण करने के लिए आपके डॉक्टर निम्न दिए अन्य परीक्षण करवा सकते हैं -

  • सीटी स्कैन
    सीटी स्कैन एक शक्तिशाली एक्स-रे है जो आपके शरीर के अंदर की विस्तृत छवि बनाता है।  
     
  • एमआरआई
    एमआरआई, आपके शरीर के अंदर अंगों और संरचनाओं की तस्वीरें बनाता है।  
     
  • इलेक्ट्रोकन्डक्टिव टेस्ट (Electroconductive tests)
    आपकी तंत्रिकाएं कितनी तेजी से इलेक्ट्रिक सिग्नल भेजती हैं, ये इस टेस्ट से पता लगता है। ये आपके रीढ़ की हड्डी में नसों में हुई क्षति को दिखा सकता है।

हड्डी बढ़ने का इलाज - Bone Spur Treatment in Hindi

दर्द से छुटकारा पाने और सूजन को कम करने के लिए, आप इन ओवर-द-काउंटर (बिना डॉक्टर की सलाह लिए सीधे मेडिकल स्टोर से लेने वाली दवाइयां), दर्द से राहत देने वाली दवाइयों को आजमा सकते हैं - 

  • एसिटामिनोफेन (Acetaminophen)
  • इबप्रोफेन (ibuprofen)
  • नेप्रोक्सेन सोडियम (Naproxen sodium)

(और पढ़ें - नसों में दर्द के घरेलू उपाय)

इससे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, खास कर अगर आप इन दवाइयों को बड़ी खुराक में लेते हैं या लंबे समय तक लेते हैं। यदि आप इन्हें एक महीने से अधिक समय तक लेते हैं, तो अपने डॉक्टर से पूछें कि क्या आप एक अलग उपचार का प्रयास कर सकते हैं।

हड्डी बढ़ने के अन्य उपचारों में शामिल हैं:

  • आराम
  • सूजन और जोड़ों में दर्द को कम करने के लिए स्टेरॉयड इंजेक्शंस (और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)
  • जोड़ों में सुधार और गतिविधि में वृद्धि के लिए फिजिकल थेरेपी 

यदि ये उपचार काम नहीं करते हैं या हड्डी बढ़ने से आपको किसी प्रकार की गतिविधि करने में मुश्किल होती है, तो आपको हड्डी के बढ़े हुए हिस्से को हटाने के लिए सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है।

(और पढ़ें - मांसपेशियों में दर्द का इलाज)

Dr. Vivek Dahiya

Dr. Vivek Dahiya

ओर्थोपेडिक्स

Dr. Vipin Chand Tyagi

Dr. Vipin Chand Tyagi

ओर्थोपेडिक्स

Dr. Vineesh Mathur

Dr. Vineesh Mathur

ओर्थोपेडिक्स

हड्डी बढ़ना की दवा - Medicines for Bone Spur in Hindi

हड्डी बढ़ना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
BrufenBrufen 200 Tablet4
CombiflamCOMBIFLAM 60ML SYRUP24
Ibugesic PlusIbugesic Plus Oral Suspension Strawberry27
TizapamTizapam 400 Mg/2 Mg Tablet42
Espra XnESPRA XN 500MG TABLET 10S104
LumbrilLumbril Tablet16
TizafenTizafen 400 Mg/2 Mg Capsule53
EndacheEndache Gel47
FenlongFenlong 400 Mg Capsule21
Ibuf PIbuf P Tablet11
IbugesicIbugesic 100 Mg Suspension16
IbuvonIbuvon 100 Mg Suspension8
Ibuvon (Wockhardt)Ibuvon Syrup9
IcparilIcparil 400 Mg Tablet23
MaxofenMaxofen Tablet5
TricoffTricoff Syrup48
AcefenAcefen 100 Mg/125 Mg Tablet23
Adol TabletAdol 200 Mg Tablet33
BruriffBruriff 400 Mg Tablet4
EmflamEmflam 400 Mg Injection5
Fenlong (Skn)Fenlong 200 Mg Tablet16
FlamarFlamar 400 Mg Tablet25
IbrumacIbrumac 200 Mg Tablet3

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. Oregon Health & Science University [Internet].Oregon; Foot and Ankle Video Resources.
  2. Oregon Health & Science University [Internet]. Oregon; Hand and Upper Extremity Video Resources.
  3. G. L. Gallucci et al. Extensor Tendons Rupture after Volar Plating of Distal Radius Fracture Related to a Dorsal Radial Metaphyseal Bone Spur. Published online 2018 Feb 28. PMID: 29682379
  4. Orthoinfo [internet]. American Academy of Orthopaedic Surgeons, Rosemont IL. Plantar Fasciitis and Bone Spurs.
  5. National Institute of Arthritis and Musculoskeletal and Skin Diseases; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Osteoarthritis
और पढ़ें ...