गर्दन और पीठ के स्पाइनल वाले हिस्से में अकड़न व दर्द के बने रहने को सर्वाइकल का दर्द कहते हैं. जब स्थिति और बुरी हो जाती है, तो ये ऑस्टियोआर्थराइटिस का रूप ले लेती है. इसलिए, जरूरी यही है कि समय रहते सर्वाइकल के दर्द को पहचाना जाए और उसका इलाज कराया जाए. सर्वाइकल के इलाज में पतंजलि की दिव्य योगराज गुग्गुल व दिव्य पीड़ान्तक वटी जैसी आयुर्वेदिक दवाएं मददगार साबित हो सकती हैं.

आज इस लेख में आप सर्वाइकल में इस्तेमाल होने वाली पतंजलि की दवाओं के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - सर्वाइकल में क्या खाना चाहिए)

  1. सर्वाइकल में फायदेमंद पतंजलि की दवाएं
  2. सारांश
सर्वाइकल के लिए पतंजलि की दवाएं के डॉक्टर

सर्वाइकल के दर्द को ठीक करने के लिए जितनी जल्दी कदम उठाया जाए, उतना ही अच्छा है. समय रहते इसका इलाज न करने पर यह और तकलीफदेह हो सकता है. सर्वाइकल के इलाज में पतंजलि की दवा के रूप में दिव्य लक्षादि गुग्गुल का इस्तेमाल किया जा सकता है. आइए, सर्वाइकल को ठीक करने वाली पतंजलि की दवाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं -

दिव्य लाक्षादि गुग्गुल

हड्डियों से संबंधित परेशानियों के लिए लाक्षादि गुग्गुल एक शानदार आयुर्वेदिक दवा है. इसे ऑस्टियोआर्थराइटिस, लो बोन डेंसिटी, फ्रैक्चर व जोड़ों में दर्द जैसी अवस्था में लिया जा सकता है. इस दवा में कैल्शियमविटामिन व मिनरल भरपूर मात्रा में होते हैं. इसमें लक्ष्य चूर्ण, हड़जोड़ लता, अर्जुन छालअश्वगंधा, बाला पंचांग और शुद्ध गुग्गुल जैसी जड़ी-बूटियां शामिल हैं. इसके सेवन से प्रभावित हड्डियों के टिश्यू को मजबूत करने में मदद मिल सकती है.

(यहां से खरीदें - दिव्य लाक्षादि गुग्गुल)

दिव्य प्रसारिणी तेल

दिव्य प्रसारिणी तेल में प्रसारिणी, तेल, कंजिका, शहदचित्रकसेंधा नमकमुलेठी, देव दारू, शतपुष्पा व गजपिप्पाली जैसी जड़ी-बूटियां होती हैं. यह आयुर्वेदिक तेल रूमेटाइड अर्थराइटिससाइटिका व गर्दन के दर्द में लाभदायक है. इसे सीधे उस जगह पर लगाना होता है, जहां दर्द रहता है.

(यहां से खरीदें - दिव्य प्रसारिणी तेल)

दिव्य योगराज गुग्गुल

इस आयुर्वेदिक दवा में चित्रक मूल, पिप्पली मूल, अजवाइनकाला जीराअजमोद, सफेद जीरा, देवदारू, चब्य, छोटी इलायची, सेंधा नमक, रसना व गोखरू जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां पाई जाती हैं. योगराज गुग्गुल का इस्तेमाल मुख्य रूप से वात असंतुलन वाले रोगों को ठीक करने में किया जाता है. इसमें जोड़ों का दर्द, आर्थराइटिस व सर्वाइकल भी शामिल है.  

(यहां से खरीदें - दिव्य योगराज गुग्गुल)

दिव्य पीड़ान्तक वटी

गुग्गुल शुद्ध, सुरंजन मीठी, अश्वगंधा, शिलाजीतकुचला, नागरमोठ, रसना, निर्गुंडीपुनर्नवा मूलमेथीनिशोथहल्दीसोंठकुटकी, गोदन्ती भस्म, अजवाइन, प्रवाल पिष्टी व निर्गुंडी जैसी जड़ी-बूटियों से युक्त दिव्य पीड़ान्तक वटी एक शानदार आयुर्वेदिक दवा है. इसका इस्तेमाल मुख्य तौर पर जोड़ों की तकलीफ को ठीक करने के लिए किया जाता है. यह अर्थराइटिस, सर्वाइकल, ऑस्टियोआर्थराइटिस और साइटिका की वजह से होने वाले जोड़ों के दर्द को कम करने में मददगार है. इस आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल मांसपेशियों में होने वाले दर्द को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है.

(यहां से खरीदें - दिव्य पीड़ान्तक वटी)

दिव्य पीड़ान्तक तेल

पीड़ान्तक तेल का इस्तेमाल जोड़ों के दर्द, पीठ के दर्दघुटनों के दर्द, सर्वाइकल, स्लिप डिस्कसूजन और हर तरह के जोड़ों के दर्द में किया जाता है. इसमें वस्तनाभा, पिप्पली की जड़, वसा, गज पिप्पली, जटामांसी, नाग केशर, हरिद्रा, दारुहरिद्रा, तेजपत्र, भृंगराजमंजिष्ठापलाश की जड़, पुष्कर मूल, सुगंध बाला, शतावरी, सौंठ, शत पुष्प का बीज, चित्रक की जड़ जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां हैं. इस तेल के इस्तेमाल से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और जोड़ों पर इस तेल से मालिश करने से जोड़ों को शक्ति मिलती है. इसलिए, इस तेल को लगातार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है.

(यहां से खरीदें - दिव्य पीड़ान्तक तेल)

दिव्य शुद्ध शिलाजीत

यह सभी जानते हैं कि शुद्ध शिलाजीत के सेवन से ऊर्जा और ताकत मिलती है. वहीं, इसके सेवन सेन से सर्वाइकल, साइटिका और पीठ के दर्द में भी राहत मिलती है. अगर हड्डियां कमजोर हों, तो शिलाजीत के सेवन से उसे ठीक करने में मदद मिल सकती है. इसे पूरी तरह से शुद्ध शिलाजीत से बनाया जाता है, जिस कारण से ये प्रभावकारी है.

(यहां से खरीदें - दिव्य शुद्ध शिलाजीत)

सर्वाइकल के दर्द से निजात पाने में पतंजलि की आयुर्वेदिक दवा मददगार है. इसके लिए दिव्य योगराज गुग्गुल, दिव्य प्रसारिणी तेल व दिव्य पीड़ान्तक वटी जैसी पतंजलि की दवा अच्छी मानी जाती हैं. साथ ही ध्यान रहे कि किसी भी आयुर्वेदिक दवा के सेवन से पहले आयुर्वेदिक विशेषज्ञ की सलाह लेनी जरूरी है, क्योंकि जरूरी नहीं है कि हर दवा सभी पर एक जैसा असर ही दिखाए.

(और पढ़ें - सर्वाइकल पेन की होम्योपैथिक दवा)

अस्वीकरण: ये लेख केवल जानकारी के लिए है. myUpchar किसी भी विशिष्ट दवा या इलाज की सलाह नहीं देता है. उचित इलाज के लिए डॉक्टर से परामर्श लें.

Dr Prashant Kumar

Dr Prashant Kumar

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr Rudra Gosai

Dr Rudra Gosai

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

Dr Bhawna

Dr Bhawna

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Padam Dixit

Dr. Padam Dixit

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें