चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन - Cheyne Stokes Respirations in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS,PG Diploma

August 01, 2022

August 01, 2022

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन
चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन

आजकल लोगों को सांस से जुड़ी तरह-तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है. इनमें सांस लेने में दिक्कत, सांस रुक-रुक कर आना या फिर तेजी से सांस आने जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं. ऐसी ही एक समस्या है चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन. यह सांस लेने का एक असामान्य पैटर्न है. इसमें सांस तेजी से आती है, फिर धीरे होती है और इसके बाद रुक जाती है. यह समस्या हार्ट फेलियर और स्ट्रोक वाले लोगों में अधिक देखने को मिल सकती है.

आज इस लेख में आप इसके लक्षण, कारण व इलाज के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - सांस फूलने का इलाज)

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन क्या है? - What is Cheyne Stokes Respirations in Hindi?

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन सांस लेने का एक असामान्य चक्र है. इस स्थिति में पहले सांस धीरे-धीरे तेज (हाइपरवेंटिलेशन) होती है, फिर सांस में कमी आने लगती है. इसके बाद सांस अस्थाई रूप से रुक (एपनिया की स्थिति) जाती है. यह चक्र 30 सेकंड से 2 मिनट के बीच तक रह सकता है. ऐसे चक्र बार-बार आते हैं. चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन की समस्या तब होती है, जब कोई व्यक्ति सो रहा होता है. अगर सांस लेने की सामान्य प्रक्रिया की बात करें, तो इसमें फेफड़ों से हवा प्रति मिनट 12 से 20 बार अंदर और बाहर आती-जाती है.

(और पढ़ें - सांस फूलने की होम्योपैथिक दवा)

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन के लक्षण - Cheyne Stokes Respirations Symptoms in Hindi

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन वाले लोग आमतौर पर निम्न लक्षण महसूस कर सकते हैं -

  • ऑर्थोपनिया - यह ऐसी समस्या है, जिसमें लेटते समय सांस लेने में तकलीफ होती है.
  • पैरॉक्सिस्मल नोक्टर्नल डिस्पेनिया - इस स्थिति में व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत आ सकती है. बार-बार खांसी हो सकती है. खासकर नींद के दौरान सांस और खांसी की दिक्कत हो सकती है.
  • दिन में थकान - रात को नींद बाधित होने के कारण व्यक्ति को दिन के समय थकान महसूस हो सकती है.

(और पढ़ें - दम घुटने का इलाज)

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन के कारण - Cheyne Stokes Respirations Causes in Hindi

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन हृदय रोग और स्ट्रोक इसके सबसे सामान्य कारण माने जाते हैं. इसके अलावा, अन्य कारण निम्न प्रकार से हैं -

(और पढ़ें - दमा का आयुर्वेदिक इलाज)

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन का इलाज - Cheyne Stokes Respirations Treatment in Hindi

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन का इलाज, इसके कारण पर निर्भर करता है. डॉक्टर इसका इलाज इस तरह से कर सकते हैं -

हार्ट फेलियर का इलाज

अगर कंजेस्टिव हार्ट फेलियर की वजह से चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन की समस्या हो रही है, तो डॉक्टर कुछ दवाइयां लिख सकते हैं. इसके अलावा, कार्डियक वाल्व सर्जरी और हार्ट ट्रांसप्लांट के माध्यम से हार्ट फेलियर का इलाज किया जा सकता है. इसका इलाज करने के लिए पेसमेकर जैसे उपकरण का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

(और पढ़ें - फेफड़े खराब होने का इलाज)

सप्लीमेंटल ऑक्सीजन

नींद के दौरान शॉर्ट ऑक्सीजन ट्रीटमेंट चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन चक्र को कम करने में मदद कर सकता है. इसके अलावा, नाइट ऑक्सीजन थेरेपी से भी व्यक्ति में चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन के लक्षणों को कम किया जा सकता है. इससे हृदय कार्य में भी सुधार हो सकता है.

(और पढ़ें - ब्रोंकाइटिस का इलाज)

सीपीएपी

यह एक तरह की थेरेपी है. कई रिसर्च में साबित हो चुका है कि सीपीएपी ट्रीटमेंट चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन वाले लोगों के लिए सहायक हो सकता है. सीपीएपी थेरेपी में व्यक्ति के वायुमार्ग को खुला रखने के लिए हल्के वायु दाब का उपयोग किया जाता है. इसके लिए व्यक्ति मास्क पहनता है, जो एक ट्यूब के माध्यम से सीपीएपी मशीन से जुड़ा होता है. इस मास्क को पहनकर ऑक्सीजन की आपूर्ति होती है. इससे नींद अच्छी आती है, खर्राटे कम आते हैं. इतना ही नहीं इससे हाई ब्लड प्रेशर और स्ट्रोक का जोखिम भी कम हो सकता है. 

(और पढ़ें - फेफड़ों में इन्फेक्शन का इलाज)

सारांश – Summary

चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन एक सांस संबंधित एक समस्या है. इसमें सांस तेज होती है, फिर धीरे और आखिर में रुक तक जाती है. इसलिए इसे गंभीर स्थिति माना जाता है. हृदय की विफलता और स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियां चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन के मुख्य कारण माने जाते हैं. इसलिए, इस चक्र से बचने के लिए इन बीमारियों के लक्षणों को नियंत्रण में रखना जरूरी होता है. साथ ही विषाक्त पदार्थों के संपर्क में आने से भी बचना चाहिए. अगर चेयन-स्टोक्स रेस्पिरेशन के लक्षण नजर आएं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

(और पढ़ें - हृदय रोग का इलाज)



cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ