अधिकतर लोगों को पेट में गैस बनने की वजह से पेट फूलने की समस्या होती है, लेकिन पेट फूलने की समस्या का कारण सिर्फ गैस एसिडिटी ही नहीं होती, बल्कि पेट फूलने की एक वजह पित्ताशय में सूजन भी हो सकती है, जिसे कोलिसिस्टाइटिस कहते हैं। पित्ताशय में सूजन इसलिए होती है, क्योंकि पित्ताशय में पित्तरस फंस जाता है और पित्तरस फंसने के कारण पित्ताशय में पथरी होने लगती है। इसकी वजह से पित्ताशय वाहिकाएं, जो कि एक ट्यूब की तरह होती है, बंद होने लगती हैं। यह पित्ताशय वाहिकाएं सभी पदार्थों को पित्ताशय की थैली में अंदर और बाहर की ओर ले जाने का कार्य करती हैं। पथरी के कारण इन पित्ताशय नलियों के बंद होने से पित्ताशय में पित्तरस जमा होने लगता है, जिससे इसमें दबाव बढ़ने लगता है। इसी कारण पित्ताशय में सूजन की समस्या होने लगती है।

पित्ताशय की सूजन के कारण
पित्ताशय में सूजन की समस्या मोटापे के कारण या गर्भावस्था के दौरान हो सकती है। इसके अतिरिक्त किसी हार्मोन थेरेपी लेने की वजह से भी यह समस्या हो सकती है। पित्ताशय में सूजन होने के और भी कई कारण हो सकते हैं, जैसे लिवर में यदि किसी प्रकार का ट्यूमर हो जाए तो इससे भी पित्ताशय की नलिका बंद हो जाती हैं या फिर किसी गंभीर बीमारी के होने पर रक्त वाहिकाएं क्षतिग्रस्त होने के कारण पित्ताशय में पर्याप्त खून नहीं जा पाता है तो इसके कारण भी पित्ताशय में सूजन हो जाती है। इसके अलावा पित्ताशय में जब पर्याप्त खून नहीं जा पाता है और यदि उस व्यक्ति को डायबिटीज की समस्या है तो ऐसे में भी उस मरीज को पित्ताशय में सूजन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। पित्ताशय में संक्रमण, पेट में चोट लगने, इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होने या किसी प्रकार के ऑपरेशन होने के कारण भी पित्ताशय में सूजन की समस्या हो सकती है।

पित्ताशय में सूजन के लक्षण क्या हैं
पित्ताशय में जब सूजन बढ़ जाती है और पेट फूल जाता है तो इसमें पेट के दाईं ओर अधिक दर्द महसूस होता है और यही दर्द धीरे-धीरे बढ़कर कंधे तक के हिस्से को भी प्रभावित करता है। पित्ताशय में सूजन की समस्या पेट दर्द जैसी सामान्य समस्या नहीं होती है, क्योंकि इसमें दर्द की अनुभूति लगातार होती रहती है। कई घंटों तक इसका दर्द बना रह सकता है। इसके अतिरिक्त त्वचा और आंख का सफेद हिस्सा पीला पड़ना, भूख कम लगना, उल्टी आना, ठंड लगना आदि सभी लक्षण पित्ताशय में सूजन के कारण दिखाई दे सकते हैं। इस समस्या में यदि पेट में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा हो तो डॉक्टर के पास तुरंत जाना चाहिए।

कोलिसिस्टाइटिस की समस्या से बचाव के उपाय
इस समस्या के दौरान कोलस्ट्रोल बढ़ने की वजह से भी पित्ताशय में पथरी बन सकती है, इसलिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें जो वसा रहित हो। मोटापे के कारण पित्ताशय में सूजन होती है, इसलिए मोटापा कम करने के लिए शरीर की अतिरिक्त वसा को कम करना बेहद जरूरी होता है। इसके लिए नियमित व्यायाम करें, साथ ही अपने आहार में अधिक से अधिक सलाद का सेवन करें, जिसमें हरी सब्जियां शामिल हो। शरीर को किसी भी समस्या से बचाव के लिए सुव्यवस्थित खानपान और नियमित व्यायाम करने बेहतर उपाय और कोई नहीं हो सकता।

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ