myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कोलेस्टेसिस रोग क्या है?

कोलेस्टेसिस(Cholestasis) एक यकृत( liver) रोग है। ऐसा तब होता है जब आपके यकृत से पित्त का प्रवाह कम या अवरुद्ध हो जाता है। पित्त आपके यकृत द्वारा निर्मित ऐसा द्रव होता है जो आपके भोजन को पाचने में सहायता करता है। यह विशेष रूप से वसा को पचाने में सहायक होता है। जब पित्त प्रवाह में बदलाव होते हैं, तो यह बिलीरुबिन(bilirubin) का निर्माण करता है। बिलीरुबिन आपके यकृत द्वारा उत्पादित द्रव्य होता है, जो पित्त के माध्यम से आपके शरीर से उत्सर्जित होता है।

कोलेस्टेसिस के दो प्रकार होते हैं: इंट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(intrahepatic cholestasis) और एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(extrahepatic cholestasis)। इंट्राहेपेटिक कोलेस्टासिस यकृत के भीतर उत्पन्न होता है। यह रोग, संक्रमण, नशीली दवाओं के उपयोग, आनुवंशिक असामान्यताओं, पित्त के प्रवाह पर हार्मोन संबंधी प्रभावों के कारण होता है। महिलाओं में गर्भावस्था की स्थिति आपके जोखिम को भी और बढ़ा देती है।

एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस पित्त नलिकाओं के अवरोध के कारण होता है। यह अवरोध पित्त की पथरी और ट्यूमर के कारण बनता है।

 

कोलेस्टेसिस रोग

कोलेस्टेसिस(Cholestasis) एक यकृत( liver) रोग है। ऐसा तब होता है जब आपके यकृत से पित्त का प्रवाह कम या अवरुद्ध हो जाता है। पित्त आपके यकृत द्वारा निर्मित ऐसा द्रव होता है जो आपके भोजन को पाचने में सहायता करता है। यह विशेष रूप से वसा को पचाने में सहायक होता है। जब पित्त प्रवाह में बदलाव होते हैं, तो यह बिलीरुबिन(bilirubin) का निर्माण करता है। बिलीरुबिन आपके यकृत द्वारा उत्पादित द्रव्य होता है, जो पित्त के माध्यम से आपके शरीर से उत्सर्जित होता है।

कोलेस्टेसिस के दो प्रकार होते हैं: इंट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(intrahepatic cholestasis) और एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(extrahepatic cholestasis)। इंट्राहेपेटिक कोलेस्टासिस यकृत के भीतर उत्पन्न होता है। यह रोग, संक्रमण, नशीली दवाओं के उपयोग, आनुवंशिक असामान्यताओं, पित्त के प्रवाह पर हार्मोन संबंधी प्रभावों के कारण होता है। महिलाओं में गर्भावस्था की स्थिति आपके जोखिम को भी और बढ़ा देती है।

एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस पित्त नलिकाओं के अवरोध के कारण होता है। यह अवरोध पित्त की पथरी और ट्यूमर के कारण बनता है।

 
  1. कोलेस्टेसिस रोग की दवा - Medicines for Cholestatic Liver Diseases in Hindi

कोलेस्टेसिस रोग की दवा - Medicines for Cholestatic Liver Diseases in Hindi

कोलेस्टेसिस रोग के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
SilybonSilybon 140 Tablet112
HeparidHeparid 50 Mg Syrup0
HepasilHepasil 140 Mg Capsule88
Higado LHigado L Capsule0
LimarinLimarin 140 Capsule85
MarilivMariliv Drop67
SilbostinSilbostin 120 Mg Capsule89
SilynovaSilynova 200 Mg Capsule184
SylolivSyloliv 140 Mg Tablet65
ToxifiteToxifite Tablet144
HepoxHepox 140 Mg Tablet45
Higado LsHigado Ls 150 Mg/500 Mg Capsule112
LivcoLivco Syrup72
LiverubinLiverubin 140 Tablet137
LivtecLivtec 140 Mg Tablet67
RejulivRejuliv 140 Mg Tablet0
UdimarinUdimarin 140 Mg/300 Mg Tablet292
AsilAsil Syrup0
ElivEliv Capsule65
Higado PlusHigado Plus Capsule0
Livobit SlLivobit Sl Syrup0
Livolin SLivolin S Capsule0
Lyrin BLyrin B Syrup99
NilivNiliv Syrup60

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Cholestasis
  2. Heathcote EJ. Diagnosis and management of cholestatic liver disease.. Clin Gastroenterol Hepatol. 2007 Jul;5(7):776-82. PMID: 17628332
  3. Hofmann AF. Cholestatic liver disease: pathophysiology and therapeutic options.. Liver. 2002;22 Suppl 2:14-9. PMID: 12220297
  4. Pollock G et al. Diagnostic considerations for cholestatic liver disease.. J Gastroenterol Hepatol. 2017 Jul;32(7):1303-1309. PMID: 28106928
  5. U.S. National Library of Medicine. Evaluating the Genetic Causes and Progression of Cholestatic Liver Diseases (LOGIC) (LOGIC). U.S. National Institutes of Health; [Internet]
और पढ़ें ...