myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कोलेस्टेसिस रोग क्या है?

कोलेस्टेसिस(Cholestasis) एक यकृत( liver) रोग है। ऐसा तब होता है जब आपके यकृत से पित्त का प्रवाह कम या अवरुद्ध हो जाता है। पित्त आपके यकृत द्वारा निर्मित ऐसा द्रव होता है जो आपके भोजन को पाचने में सहायता करता है। यह विशेष रूप से वसा को पचाने में सहायक होता है। जब पित्त प्रवाह में बदलाव होते हैं, तो यह बिलीरुबिन(bilirubin) का निर्माण करता है। बिलीरुबिन आपके यकृत द्वारा उत्पादित द्रव्य होता है, जो पित्त के माध्यम से आपके शरीर से उत्सर्जित होता है।

कोलेस्टेसिस के दो प्रकार होते हैं: इंट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(intrahepatic cholestasis) और एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(extrahepatic cholestasis)। इंट्राहेपेटिक कोलेस्टासिस यकृत के भीतर उत्पन्न होता है। यह रोग, संक्रमण, नशीली दवाओं के उपयोग, आनुवंशिक असामान्यताओं, पित्त के प्रवाह पर हार्मोन संबंधी प्रभावों के कारण होता है। महिलाओं में गर्भावस्था की स्थिति आपके जोखिम को भी और बढ़ा देती है।

एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस पित्त नलिकाओं के अवरोध के कारण होता है। यह अवरोध पित्त की पथरी और ट्यूमर के कारण बनता है।

 

कोलेस्टेसिस रोग

कोलेस्टेसिस(Cholestasis) एक यकृत( liver) रोग है। ऐसा तब होता है जब आपके यकृत से पित्त का प्रवाह कम या अवरुद्ध हो जाता है। पित्त आपके यकृत द्वारा निर्मित ऐसा द्रव होता है जो आपके भोजन को पाचने में सहायता करता है। यह विशेष रूप से वसा को पचाने में सहायक होता है। जब पित्त प्रवाह में बदलाव होते हैं, तो यह बिलीरुबिन(bilirubin) का निर्माण करता है। बिलीरुबिन आपके यकृत द्वारा उत्पादित द्रव्य होता है, जो पित्त के माध्यम से आपके शरीर से उत्सर्जित होता है।

कोलेस्टेसिस के दो प्रकार होते हैं: इंट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(intrahepatic cholestasis) और एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस(extrahepatic cholestasis)। इंट्राहेपेटिक कोलेस्टासिस यकृत के भीतर उत्पन्न होता है। यह रोग, संक्रमण, नशीली दवाओं के उपयोग, आनुवंशिक असामान्यताओं, पित्त के प्रवाह पर हार्मोन संबंधी प्रभावों के कारण होता है। महिलाओं में गर्भावस्था की स्थिति आपके जोखिम को भी और बढ़ा देती है।

एक्सट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस पित्त नलिकाओं के अवरोध के कारण होता है। यह अवरोध पित्त की पथरी और ट्यूमर के कारण बनता है।

 
  1. कोलेस्टेसिस रोग की दवा - Medicines for Cholestatic Liver Diseases in Hindi

कोलेस्टेसिस रोग की दवा - Medicines for Cholestatic Liver Diseases in Hindi

कोलेस्टेसिस रोग के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Silybon खरीदें
Heparid खरीदें
Hepasil खरीदें
Higado L खरीदें
Limarin खरीदें
Mariliv खरीदें
Silbostin खरीदें
Silynova खरीदें
Syloliv खरीदें
Toxifite खरीदें
Hepox खरीदें
Higado LS खरीदें
Livco खरीदें
Liverubin खरीदें
Livtec खरीदें
Rejuliv खरीदें
Udimarin खरीदें
Asil खरीदें
Eliv खरीदें
Higado Plus खरीदें
B Liv खरीदें
Livobit Sl खरीदें
Livolin S खरीदें
Lyrin B खरीदें
Niliv खरीदें

References

  1. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Cholestasis
  2. Heathcote EJ. Diagnosis and management of cholestatic liver disease.. Clin Gastroenterol Hepatol. 2007 Jul;5(7):776-82. PMID: 17628332
  3. Hofmann AF. Cholestatic liver disease: pathophysiology and therapeutic options.. Liver. 2002;22 Suppl 2:14-9. PMID: 12220297
  4. Pollock G et al. Diagnostic considerations for cholestatic liver disease.. J Gastroenterol Hepatol. 2017 Jul;32(7):1303-1309. PMID: 28106928
  5. U.S. National Library of Medicine. Evaluating the Genetic Causes and Progression of Cholestatic Liver Diseases (LOGIC) (LOGIC). U.S. National Institutes of Health; [Internet]
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें