myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

चीन में कोरोना वायरस से हालात बदतर होते जा रहे हैं। इस जानलेवा विषाणु की चपेट में अब स्वास्थ्यकर्मी भी आ रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक बीते जनवरी महीने में वायरस की रोकथाम में लगे एक ही अस्पताल के 40 स्वास्थ्यकर्मी इसकी चपेट में आ गए। स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़ी जानी-मानी पत्रिका 'जर्नल ऑफ दि मेडिकल एसोसिएशन' (जेएएमए) ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि कैसे वुहान यूनिवर्सिटी के झोंगहान अस्पताल में कोरोना वायरस के एक मरीज से दस स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हुए थे। 

यह जानकारी ऐसे समय में सामने आई है, जब कोरोना वायरस को लेकर सबसे पहले चेतावनी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत के चलते पूरे चीन में लोगों का गुस्सा देखने को मिल रहा है। बता दें कि वायरस की जानकारी साझा करने के बाद चीनी प्रशासन ने पुलिस के जरिये डॉक्टर ली वेनलियांग को प्रताड़ित किया था। बाद में वायरस से उनकी मौत हो गई थी।

(और पढ़ें-  वायरस क्या है और इससे फैलने वाली बीमारियां)

अस्पताल के 138 मरीजों में कई स्वास्थ्यकर्मी शामिल
पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक वुहान यूनिवर्सिटी के झोंगनान अस्पताल के डॉक्टरों ने जो पेपर तैयार किए हैं, उनमें बताया गया है कि सर्जिकल विभाग में भर्ती एक ही मरीज ने 10 स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमित कर दिया था। इतना ही नहीं, 17 मरीज ऐसे थे जिन्हें अन्य वजहों के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन बाद में वो भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। अस्पताल के आंकड़ों के हवाले से जेएएमए बताती है कि एक जनवरी से लेकर 28 जनवरी तक कुल 138 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई थी। इनमें कई मरीज खुद स्वास्थ्यकर्मी थे।

जापान के क्रूज शिप में कई भारतीय भी फंसे
तीन दिन पहले जापान के क्रूज शिप 'डायमंड प्रिंसिस' में मौजूद कई लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। उसके बाद से करीब 2,000 से ज्यादा लोग अभी भी शिप में फंसे हैं। वहीं, नई जानकारी यह है कि इस क्रूज शिप में छह भारतीय भी फंसे हुए हैं। हालांकि भारत सरकार के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पुष्टि करते हुए कहा है कि ये सभी भारतीय सुरक्षित हैं और किसी में भी कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले हैं।

बता दें कि चीन के बाद कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर जापान में देखने को मिल रहा है। यहां इस विषाणु से अब तक 89 लोग संक्रमित हो चुके हैं। बीते दो दिनों में इसके मरीजों करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। हालांकि यहां अभी तक किसी मरीज की मौत नहीं हुई है।

(वीडियो देखें - कोरोना वायरस क्या है और कैसे फैलता है)

कई भारतीय छात्रों के वुहान में फंसे होने की आशंका
हालिया मीडिया रिपोर्टों में बताया गया था कि चीन के वुहान शहर में फंसे सभी भारतीय नागरिकों को स्वदेश वापस ले आया गया है। लेकिन अब इस बारे में नई जानकारी सामने आई है। दरअसल, राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अनुमान के तहत बताया है कि वुहान में अभी भी करीब 80 भारतीय छात्र फंसे हो सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जब सरकार ने वहां फंसे लोगों को निकालने के लिए अभियान चलाया था, तो इन छात्रों ने खुद वहां रुके रहने की बात कही थी।

(और पढ़ें- क्या डेटॉल से खत्म हो सकता है कोरोना वायरस)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें