myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा है कि उनके राज्य ने नए कोरोना वायरस (सीओवीआईडी-19) के चलते पैदा हुए स्वास्थ्य संकट को हरा दिया है। हालांकि उन्होंने इसे अभी भी खतरा बताया है। भारतीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, केके शैलजा ने कहा, 'हमें लगता है कि केरल ने कोरोना वायरस को बहुत अच्छी तरह से मात दी है। हमने सुनियोजित तरीके से कदम उठाए हैं।' इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने उन लोगों पर नजर बनाई हुई है जिन्होंने बुखार और बलगम की शिकायत की है। केके शैलजा ने आगे कहा, 'कोरोना वायरस पूरी दुनिया के कई देशों फैलता जा रहा है। अगर इन देशों से कोई संक्रमित व्यक्ति व्यक्ति यहां आता है, तो हमें भी खतरा है।'

(और पढ़ें - जानें, क्यों कोरोना वायरस को 'महामारी' घोषित करने से बच रहा है डब्ल्यूएचओ)

चीन के बाद अब जापान से भारतीयों को वापस लाने की तैयारी
उधर, जापान के बंदरगाह पर करीब एक महीने से रुके क्रूज शिप डायमंड्र प्रिंसेस में सवार भारतीय यात्रियों और चालक दल के सदस्यों को वापस लाने के लिए विमान का इंतजाम किया जा रहा है। टोक्यो स्थित भारतीय दूतावास ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यह खबर ऐसे समय में सामने आई है जब डायमंड प्रिंसेस में सवार भारतीयों में से 16 के वायरस से संक्रमित पाए जाने की पुष्टि हो चुकी है। बता दें कि बीती तीन फरवरी को योकोहामा बंदरगाह पर रोके गए क्रूज शिप में कुल 3,711 लोग सवार थे। इनमें से 138 भारतीय हैं, जिनमें छह यात्री और बाकी चालक दल के सदस्य हैं।

(और पढ़ें - क्या लक्षण दिखे बिना भी फैल सकता है नया कोरोना वायरस?)

दक्षिण कोरिया में कोरोना के मामलों की संख्या 1,000 के पार
दक्षिण कोरिया नए कोरोना वायरस (सीओवीआईडी-19) का दूसरा केंद्र बनता दिख रहा है। यहां इस जानलेवा विषाणु के मरीजों की संख्या 1,000 के पार चली गई है। वहीं, मरने वालों की संख्या 12 हो गई है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के 146 नए मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इससे कुल मामलों की संख्या 977 से 1,146 हो गई है। बता दें कि एक हफ्ते पहले यह संख्या केवल 51 थी। इस बीच, खबर यह भी आई है कि दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल से चीन जा रहे एक विमान में तीन यात्रियों में बुखार के लक्षण देखे गए हैं। दक्षिण कोरिया मीडिया ने बताया कि इसके बाद विमान में मौजूद सभी 94 यात्रियों की मेडिकल जांच की जा रही है।

(और पढ़ें - चीन को आज राहत सामग्री भेजेगा भारत, अपने नागरिकों को भी वापस लाएगा)

इटली में भी हालात बिगड़े, मृतकों की संख्या 11 हुई
उधर, इटली में भी हालात बिगड़ते दिख रहे हैं। यहां सीओवीआईडी-19 से मरने वालों की संख्या 11 हो गई है और कुल मामले 300 के पार चले गए हैं। यह एशिया के बाहर कोरोना वायरस के कन्फर्म मामलों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। बताया जा रहा है कि इटली में कोरोना वायरस से जिन लोगों की मौत हुई, वे सभी बुजुर्ग हैं। वहीं, ईरान में भी कोरोना वायरस का कहर जारी है। यहां इस विषाणु के संक्रमण से प्रभावित लोगों की संख्या 95 हो गई है। इनमें से 16 लोगों की मौत होने की पुष्टि हो चुकी है। चीन के बाहर किसी अन्य देश में हुई ये सबसे ज्यादा मौतें हैं। इसके बाद इटली का नंबर आता है। 

वहीं, ईरानी मीडिया के मुताबिक, कोरोना वायरस के मरीजों में वहां के उप-स्वास्थ्य मंत्री भी शामिल हैं। हालात के मद्देनजर सरकार ने नागरिकों को घरों में ही रहने की सलाह दी है। इस बीच, कुछ अन्य देशों में कोरोना वायरस के पहले मामलों की पुष्टि की है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, अल्जीरिया (1), क्रोएशिया (1), ऑस्ट्रिया (2) और स्विट्जरलैंड (1) में सीओवीआईडी-19 के पहले मामलों की पुष्टि हुई है।

(और पढ़ें - क्या वजह है कि कोरोना वायरस जैसे संक्रामक रोग पुरुष के लिए ज्यादा घातक होते हैं?)

चीन में सुधार जारी
हालांकि, चीन में कोरोना वायरस के चलते बिगड़े हालात में सुधार होना जारी है। मंगलवार को यहां 500 नए मरीज सामने आए थे। बुधवार को यह संख्या 406 रह गई। इसके बाद चीन में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 78,000 से कुछ ज्यादा हो पाई है। इतना ही नहीं, मौतों की संख्या में लगातार गिरावट हो रही है। बीते हफ्ते तक जहां चीन में हर रोज कम से कम 100 मौतें हो रही थीं, वहीं अब यह संख्या 60 के नीचे पहुंच गई है। रिपोर्टों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस से चीन में केवल 52 मौतें दर्ज की गई हैं। इसके अलावा गंभीर मामलों की संख्या भी 10,000 से नीचे आ गई है। ताजा जानकारी के मुताबिक, अब 8,700 से कुछ ज्यादा लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। चीनी मीडिया के हवाले से आई जानकारी में बताया गया है कि यह ट्रेंड केवल हुबेई प्रांत में नहीं, बल्कि अन्य चीनी प्रांतों में भी देखा जा रहा है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें