myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

भारत में सार्स-सीओवी-2 कोरोना वायरस से जुड़ी बीमारी कोविड-19 से लोगों का संक्रमित होना जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या 151 से बढ़ कर 166 हो गई है। हालांकि कुछ अन्य मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, कुल मामलों की संख्या 169 है। खबर यह भी है कि ईरान समेत दुनियाभर में कुल 276 भारतीयों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। बुधवार को केंद्र सरकार ने संसद को यह जानकारी दी। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को बताया है कि वे गुरुवार शाम आठ बजे कोविड-19 को लेकर नागरिकों को संबोधित करेंगे।

बहरहाल, बुधवार से आज सुबह तक देश के आठ राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 के 15 से 18 नए मामले दर्ज किए गए। सरकार के मुताबिक, बीते 24 घंटों में कर्नाटक, राजस्थान और महाराष्ट्र में तीन-तीन, दिल्ली में दो और उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, तमिलनाडु और चंडीगढ़ में एक-एक नया मामला सामने आया है।

(और पढ़ें - कहां से आया कोरोना वायरस, वैज्ञानिकों ने किया नया दावा)

नए मामलों की पुष्टि के बाद इन राज्यों के कुल मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। सरकार के मुताबिक, कोविड-19 के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में हैं, जहां सार्स-सीओवी-2 ने अब तक 45 लोगों को बीमार किया है। इसके बाद केरल का नंबर आता है। वहां 27 लोग संक्रमित पाए गए हैं। फिर 17 मरीजों के साथ हरियाणा और उत्तर प्रदेश आते हैं। यहां बता दें कि हरियाणा के 17 मरीजों में 14 राजस्थान के हैं, जिन्हें इस महीने की शुरुआत में संक्रमित पाए जाने के बाद पहले दिल्ली और फिर गुड़गांव स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इन दोनों राज्यों के बाद कर्नाटक में 14, दिल्ली में 12, लद्दाख में आठ, राजस्थान में सात, तेलंगाना में छह, जम्मू-कश्मीर में चार और आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पुदुचेरी, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई है। इस तरह देश के 18 राज्यों में सार्स-सीओवी-2 पहुंच चुका है।

(और पढ़ें - जानें, कोरोना वायरस की चार स्टेज और भारत के दूसरी स्टेज में होने का मतलब)

दिल्ली में संदिग्ध ने की आत्महत्या
दिल्ली में बुधवार को कोविड-19 के एक संदिग्ध मरीज ने सफदरजंग अस्पताल की सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पीड़ित की उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच थी। बताया गया है कि वह इसी हफ्ते ऑस्ट्रेलिया से भारत लौटा था। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने मीडिया को बताया कि दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचने पर मृतक ने सिरदर्द की शिकायत की थी। इसके बाद बुधवार रात नौ बजे के आसपास उसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रवक्ता की मानें तो जब डॉक्टर उसे देखने पहुंचे तो वह अपने वॉर्ड में नहीं मिला। उसी दौरान एक अन्य डॉक्टर ने देखा कि अस्पताल के फर्श पर किसी का शव पड़ा हुआ था। उसने तुरंत बाकी डॉक्टरों को इसकी जानकारी। हालांकि तब तक मरीज की मौत हो चुकी थी।

ईरान समेत अन्य देशों में 276 भारतीय संक्रमित
बुधवार को सरकार ने जानकारी दी कि ईरान में 255 भारतीय कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। ये सभी तीर्थयात्री हैं जो कश्मीर, करगिल और लद्दाख से ईरान के पवित्र शहर कोम पहुंचे थे। इसी दौरान वहां कोरोना वायरस तेजी से फैला था। सरकार ने यह भी बताया कि इन 255 भारतीयों के अलावा अन्य देशों में भी 21 भारतीयों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इस तरह विदेशों में गए या रह रहे कुल 276 भारतीय नागरिक कोविड-19 से ग्रस्त पाए गए हैं। अगर यह संख्या भारत के मामलों के साथ जोड़ी जाए तो दुनियाभर में 400 से ज्यादा भारतीय सार्स-सीओवी-2 का शिकार हुए हैं। इस बीच ईरान में फंसे भारतीयों का तीसरा बैच बुधवार शाम को राजस्थान के जैसलमेर पहुंचा। सरकार ने एयर इंडिया के एक विमान की मदद से इन सभी को रेस्क्यू कराया है। खबरों के मुताबिक, इस बैच में कुल 195 लोग शामिल थे।

(और पढ़ें - घर पर बनाएं हैंड सैनिटाइजर)

अब कर्नाटक में संदिग्धों के हाथ पर लग रहे स्टैंप
महाराष्ट्र के बाद अब कर्नाटक की सरकार ने भी उन लोगों के हाथों पर स्टैंप लगाना शुरू कर दिया है, जिन्हें घरों में ही खुद को क्वारंटाइन (अलग-थलग) करने की सलाह दी गई है। बता दें कि सरकार ऐसा उन लोगों के साथ कर रही है जो कोविड-19 से प्रभावित देशों से लौटे हैं और उनके वायरस के संक्रमण से प्रभावित होने का संदेह है। बता दें कि महाराष्ट्र और कर्नाटक सरकारों ने अपने यहां कोविड-19 को और ज्यादा फैलने से रोकने के लिए इस तरह के कदम उठाए हैं ताकि संक्रमित और संदिग्ध लोगों की पहचान आसानी की जा सके। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, आगामी 15 अप्रैल तक विदेशों से इन दोनों राज्यों में आने वाले लोगों को इस तरह के स्टैंप अपने हाथों पर लगाने पड़ सकते हैं। 

देश को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री
कोविड-19 से पैदा हुए स्वास्थ्य संकट के बीच देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम आठ बजे नागरिकों को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से इस बाबत जानकारी दी गई है। पीएमओ ने एक ट्वीट कर बताया, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 मार्च, 2020 की शाम आठ बजे देश को संबोधित करेंगे। इस दौरान वे कोविड-19 से जुड़ी अहम बातों और इसे रोकने के प्रयासों को लेकर चर्चा करेंगे।' वहीं, एक अन्य ट्वीट में पीएमओ ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री ने कोविड-19 एक उच्च स्तरीय बैठक की है।

(और पढ़ें - कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या दो लाख के पार)

भारत में कोरोना वायरस से जुड़ी अन्य अहम और ताजा खबरें इस प्रकार हैं-

  • हरियाणा के गुड़गांव में सभी मॉल बंद किए गए
  • मीडिया रिपोर्टों में दिल्ली-एनसीआर में चार नए मामले सामने आए, आधिकारिक पुष्टि का इंतजार
  • कर्नाटक में 15वें मरीज की पुष्टि की खबर
  • आईआईटी-दिल्ली ने एंट्री संबंधी नियम और कड़े किए, छात्रों को हॉस्टल छोड़ने को कहा
  • दिल्ली सरकार 31 मार्च के बाद भी स्कूल बंद रखने को लेकर कर रही विचार
  • तेलंगाना में कुल मामलों की संख्या 13 हुई: मीडिया रिपोर्ट्स
  • राजस्थान के झुनझुनू में तीन नए मरीज सामने आए, राज्य सरकार धारा 144 लगाने पर कर रही विचार
  • उत्तर प्रदेश में डॉक्टर में मिला कोरोना वायरस, कुल मामले 17 हुए
  • केरल सरकार ने धार्मिक नेताओं से पूजा वाली जगहों पर आने वाली भीड़ को नियंत्रित करने को कहा
  • गोवा के एक मंत्री ने कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि के बाद बयान का खंडन किया
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें