myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने यूरोप को नए कोरोना वायरस का (नया) केंद्र करार दिया है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम गेब्रेयेसुस ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने सभी देशों से एक बार फिर अपील करते हुए कहा कि वे कोरोना वायरस को रोकने के लिए कड़े कदम उठाएं। खबरों के मुताबिक, गेब्रेयेसुस ने कहा, 'अब इस महामारी का केंद्र यूरोप बन गया है। वहां से रोजाना कई लोगों के संक्रमित होने और मारे जाने की रिपोर्टें आ रही हैं, जिनकी संख्या चीन में बदतर हालात में सामने आए मामलों से ज्यादा है।' डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने यहां तक कहा, 'इस आग को जलने मत दीजिए।'

डब्ल्यूएचओ के ऐसा कहने की वजह
आंकड़े बताते हैं कि डब्ल्यूएचओ का यूरोप को कोरोना वायरस का नया केंद्र बताना गलत नहीं है। इटली समेत पूरे यूरोप में हालात दिन-ब-दिन खराब होते जा रहे हैं। यह रिपोर्ट लिखे जाने तक इटली में कोरोना वायरस ने 17,660 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया था। इनमें से 1,266 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,300 से ज्यादा की हालत नाजुक बनी हुई है। यानी मौतों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है।

(और पढ़ें - कोरोना वायरस से भारत में दूसरी मौत, दिल्ली में बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ा)

इटली के बाद कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोपीय देश स्पेन है। यहां सीओवीआईडी-19 के 5,200 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 133 की मौत हो चुकी है और 272 की हालत गंभीर है। इसके बाद फ्रांस में कोरोना वायरस ने 79 लोगों की जान ले ली है। यहां 3,600 से ज्यादा मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसके अलावा जर्मनी में भी 3,675 लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रस्त पाए गए हैं। यहां अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है।

अन्य यूरोपीय देशों की बात करें तो स्विट्जरलैंड में भी बीमार लोगों का आंकड़ा 1,000 के पार जा चुका है। यहां सीओवीआईडी-19 से 11 लोग मारे गए हैं। नॉर्वे में भी मरीजों का आंकड़ा हजार के करीब है। यहां 996 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है और एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसके अलावा स्वीडन में 821, नीदरलैंड में 804,डेनमार्क में भी 804 और यूके में 798 केसों का पता चला है। इनमें यूके में 11, नीदरलैंड में दस और स्वीडन में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

(और पढ़ें - इन बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक है कोरोना वायरस)

ईरान में 11,000 मामले, चीन में केवल 11 नए मरीज
यूरोप के बाद मध्य पूर्व की बात करें तो यहां ईरान में सबसे ज्यादा खराब हालात हैं। यह रिपोर्ट लिखे जाने तक वहां कोरोना वायरस के 11,300 से ज्यादा मामले सामने आ चुके थे। इस जानलेवा विषाणु ने ईरान में अब तक 514 लोगों की जान ले ली है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, ईरान के बाद कतर में 320, बहरीन में 210, इजरायल में 154, इराक में 101, कुवैत में 100, सऊदी में अरब 86, संयुक्त राष्ट्र अमीरात में 85, लेबनान में 83 और ओमान में 19 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

उधर, चीन और दक्षिण कोरिया कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाते दिख रहे हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक, बीते 24 घंटों में चीन में केवल 11 नए मामले सामने आए हैं। यहां सीओवीआईडी-19 के कुल मरीजों की संख्या 80,824 है। इनमें से 3,189 की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को 13 नई मौतें दर्ज की गईं। वहीं, दक्षिण कोरिया में कुल मामलों का आंकड़ा 8,000 से ज्यादा हो गया है। यहां शुक्रवार को 107 नए मामले सामने आए। अब तक दक्षिण कोरिया में 72 लोग कोरोना वायरस से मारे गए हैं और 59 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

गौरतलब है कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या एक लाख 45 हजार से ज्यादा हो गई है। इनमें से 5,440 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 6,000 से ज्यादा लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। हालांकि करीब 78,000 लोगों को बचा लिया गया है।

(और पढ़ें - विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें