myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

चीन समेत पूरी दुनिया में नए कोरोना वायरस सीओवीआईडी-19 की दहशत के बीच गुरुवार को भारत के दो बड़े हवाई अड्डों पर तीन संदिग्धों में संक्रमण के लक्षण पाए गए। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इन तीनों संदिग्धों में से एक दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और दो कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस एयरपोर्ट पर पहचान में आए। जांच रिपोर्ट में इनमें से दो संदिग्धों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि ये सभी बैंकॉक से दिल्ली की फ्लाइट से भारत आए थे। बताया गया है कि इन संदिग्धों की पहचान होने के बाद अधिकारियों समेत सरकारों की भी चिंता बढ़ गई है।

(और पढ़ें- क्या डेटॉल से खत्म हो सकता है नया कोरोना वायरस)

सभी संदिग्धों को आइसोलेशन वॉर्ड में भेजा गया
एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस के लक्षणों की पहचान होने के बाद तीनों संदिग्धों को दिल्ली और कोलकाता में विशेष रूप से तैयार किए गए आइसोलेशन वॉर्ड में भेज दिया गया। इन दोनों घटनाओं ने भारतीय अधिकारियों को चिंता में डाल दिया है। कोलकाता एयरपोर्ट से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले भी एयरपोर्ट पर हो रही थर्मल स्क्रीनिंग के दौरान एक यात्री में बुखार के लक्षण दिखाई दिए थे। उस घटना के बाद चीन से सीधे कोलकाता आने वाली दो एयरलाइंस की उड़ानों को रद्द कर दिया गया था।

केरल में कोरोना वायरस के पहले मरीज को छुट्टी मिली
उधर, केरल में सामने आए कोरोना वायरस के पहले मरीज को छुट्टी दे दी गई है। डॉक्टरों ने बताया कि सेहत में सुधार के बाद की गई दो मेडिकल जांचों में मरीज की रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। बता दें कि केरल में कोरोना वायरस के तीन मरीज सामने आए थे। पहले मरीज (जो कि एक छात्रा है) के ठीक होने के अलावा बाकी दोनों की हालत में भी सुधार होने की खबरें हैं। यहां उल्लेखनीय बात यह है कि इन सभी मरीजों को ठीक करने के लिए डॉक्टरों ने एचआईवी-एड्स से जुड़े ड्रग्स का इस्तेमाल नहीं किया गया है।

(और पढ़ें-  क्या लक्षण दिखाई बगैर कोरोना वायरस फैल सकता है?)

वहीं, केरल के स्वास्थ्य अधिकारियों कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़े जारी किए हैं। इनके आधार पर उसने बताया है कि राज्य में संदिग्ध लोगों की संख्या 2,455 है। इनमें से 24 लोग अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं, जबकि बाकी लोगों की घर पर ही निगरानी की जा रही है।

लोगों को भी सतर्क रहने की जरूरत
दिल्ली और कोलकाता एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस के संदिग्धों की पहचान होने के बाद अधिकारियों समेत सरकार की चिंता बढ़ गई है। उसका कहना है कि वह इसे रोकने के लिए हर स्तर पर कदम उठा रही है। लेकिन सरकार के सतर्क रहने के साथ-साथ लोगों को भी सतर्क रहने की जरूरत है। मेडिकल जानकारों का कहना है कि इसके लिए लोगों को कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जागरूक किए जाने की जरूरत है। निम्नलिखित सावधानियां बरत कर लोग कोरोना वायरस के प्रभाव में आने से बच सकते हैं-

  • अगर कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है तो उसके ज्यादा पास न जाएं।
  • अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति को या उसके कपड़ों को छुआ है, तो अपने हाथों को कम से कम 20 सेकेंडों तक अच्छे से रगड़ कर धोएं।
  • अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए हैं जो स्वच्छ नहीं है, तो हाथों को धोए बिना मुंह, आंख या नाक को छुएं।
  • ऐसी जगहों पर न जाएं जहां वायरस का प्रभाव अधिक हो।

(और पढ़ें- थाईलैंड ने किस आधार पर कोरोना वायरस के इलाज की कही बात)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें