myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

दिल्ली में कोविड-19 से जुड़े मामलों की संख्या पांच लाख से ज्यादा हो गई है। वहीं, इससे मारे गए लोगों का आंकड़ा यहां 8,000 के करीब पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटों में दिल्ली में करीब 7,500 लोग नए कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इसी दौरान यहां 131 कोविड-19 मरीजों की मौत हो गई है। यह राजधानी में कोविड-19 संकट की शुरुआत से अब तक एक दिन में मरने वाले कोरोना संक्रमितों की सबसे बड़ी संख्या है। इससे दिल्ली में कोरोना वायरस से मारे गाए लोगों की कुल संख्या 7,486 तक पहुंच गई है, जबकि वायरस की चपेट में आए लोगों का कुल आंकड़ा पांच लाख 3,084 पर आ गया है। हालांकि इनमें से चार लाख 52 हजार से ज्यादा मरीजों को बचाने में कामयाबी मिली है, जो कुल मामलों का 90 प्रतिशत है। बुधवार को राजधानी में 6,900 से ज्यादा मरीजों को कोरोना वायरस से मुक्त करार दिया गया है।

सीएम केजरीवाल ने सर्वदलीय बैठक बुलाई
दिल्ली में कोविड-19 संकट से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अब सर्वदलीय बैठक बुलाने की बात कही है। बुधवार को दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने बताया है कि गुरुवार को सीएम केजरीवाल अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ दिल्ली में कोरोना वायरस संबंधी स्थिति पर बात करेंगे। इसके लिए सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी सहित भाजपा, कांग्रेस और अन्य दलों के नेताओं को बुलावा भेजा गया है।

(और पढ़ें - कोविड-19: मरीजों की संख्या 89.58 लाख के पार, बीते दिन 585 की मौत, कुल मृतक 1.31 लाख से ज्यादा)

मास्क पहन कर ड्राइव करना अब भी अनिवार्य
दिल्ली में बढ़ते कोविड-19 संकट को नियंत्रित करने के लिए सरकार ने कई बड़े कदम उठाए हैं और नीतिगत फैसले लिए हैं। इनमें ड्राइव करते समय मास्क पहनना अनिवार्य किए जाने से संबंधित फैसला भी शामिल है। बुधवार को दिल्ली हाई कोर्ट में एक सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार ने अपने इस निर्देश का फिर से जिक्र किया है। उसने कहा है कि अप्रैल महीने में ही दिल्ली में गाड़ी चलाते समय मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया था और यह निर्देश अभी तक लागू है। खबर के मुताबिक, एक वकील ने ड्राइविंग के समय मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना लगाए जाने के खिलाफ याचिका दायर की थी। बीते सितंबर महीने में हुए इस मामले की बुधवार को सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार ने हलफनामा दायर करते हुए अपने आदेश के अभी तक लागू होने की जानकारी दी।

(और पढ़ें - कोविड-19: अमेरिका में दस लाख से ज्यादा बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित, असल संख्या आधिकारिक आंकड़ों से कहीं ज्यादा)

जल्दी ही मिलेंगे 1,400 नए आईसीयू बेड
राजधानी में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए यहां के मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर में सुविधाओं में बढ़ोतरी की जा रही है। इसके तहत दिल्ली के अस्पतालों में जल्दी ही 1,400 अतिरिक्त आईसीयू बेड लगने वाले हैं। खबर के मुताबिक, अगले कुछ दिनों में दिल्ली में केंद्र सरकार 750 अतिरिक्त आईसीयू बेड उपलब्ध कराने वाली हैं। वहीं, दिल्ली सरकार भी 663 आईसीयू बेड का इंतजाम कर रही है, जो जल्दी ही अस्पतालों में लगवा दिए जाएंगे। इस सिलसिले में बुधवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने जीटीबी अस्पताल का दौरा कर वहां स्वास्थ्य सुविधाओं और तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान अस्पताल के डॉक्टरों और प्रशासन के साथ हुई बैठक में यह तय किया गया कि अगले दो दिनों में अतिरिक्त 232 आईसीयू बेड लगाए जाएंगे। इसे अस्पताल में ऐसे बेड की कुल संख्या 400 तक हो जाएगी।

(और पढ़ें - फाइजर ने अब अपनी वैक्सीन को कोविड-19 के खिलाफ 95 प्रतिशत सक्षम बताया, नए ट्रायल डेटा के आधार पर किया दावा)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AlzumabAlzumab Injection6995.16
AnovateANOVATE OINTMENT 20GM90.0
Pilo GoPilo GO Cream67.5
Proctosedyl BdPROCTOSEDYL BD CREAM 15GM66.3
ProctosedylPROCTOSEDYL 10GM OINTMENT 10GM63.9
RemdesivirRemdesivir Injection15000.0
Fabi FluFabi Flu 200 Tablet2210.0
CoviforCovifor Injection5400.0
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें