दूर दृष्टि दोष या हाइपरमेट्रोपिया (Hypermetropia) दृष्टि संबंधी एक सामान्य समस्या है। इसमें आप दूर की वस्तुओं को स्पष्ट रूप से देख सकते हैं, लेकिन आस-पास की चीजें धुंधली दिखाई दे सकती हैं। दूर दृष्टि जैसी समस्याओं का आशय धुंधला नजर आने से है। दूर दृष्टि दोष को हाइपरमेट्रोपिया, दीर्घ दृष्टि दोष आदि नामों से भी जाना जाता है। अगर आपको दूर दृष्टि दोष है तो आप कुछ घरेलू उपायों की मदद से इसे कम कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको दूर दृष्टि दोष के कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं, यह उपाय आपकी समस्या को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

(और पढ़ें - दूर दृष्टि दोष का उपचार)

तो चलिए आपको दूर दृष्टि दोष के घरेलू उपाय बताते हैं –

  1. दूर दृष्टि दोष ठीक करने के लिए आंखों का व्यायाम करें - Door drishti dosh theek karne ke liye aankhon ka vyayam kare
  2. अंगूर के बीज का जूस दूर दृष्टि दोष को दूर करें - Angoor ke beej ka juice door drishti dosh ko door kare
  3. दूर दृष्टि दोष से छुटकारा पाने के लिए हल्दी का उपयोग करें - Door drishti dosh se chutkara pane ke liye haldi ka upyog kare
  4. दूर दृष्टि दोष को दूर करने के लिए विटामिन सी और विटामिन ई डाइट लें - Dur drishti dosh ko door karne ke liye vitamin c aur vitamin e diet le
  5. गहरी सांस लेने से दूर दृष्टि दोष होता है कम - Gehri saans lene se door drishti hoti hai kam
  6. पपीता के इस्तेमाल से दूर दृष्टि दोष होता है ठीक - Papita ke istemal se door drishti dosh hota hai theek
  7. दूर दृष्टि दोष का उपाय है शहद - Dur drishti dosh ka upay hai shehad
  8. दूर दृष्टि दोष के लिए बिच्छू बूटी का प्रयोग करें - Door drishti dosh ke liye bichoo booti ka prayog kare
  9. एवोकाडो करे दूर दृष्टि दोष को दूर - Avocado kare door drishti dosh ko door

शरीर के अन्य हिस्सों की तरह कोर्निया को भी कुछ मांसपेशियां नियंत्रित (हिलाना डुलाना) करती हैं। यह देखा गया है कि अगर आप इन मांसपेशियों को मजबूत करते हैं तो आंखों से जुडी किसी भी बीमारी को बढ़ने से रोका जा सकता है। मांसपेशियां मजबूत करने के लिए आप आंखों से संबंधित व्यायाम कर सकते हैं जैसे –

(और पढ़ें - मांसपेशियों को मजबूत करने के उपाय)

  • दोनों आंखों की पुतलियों को अपनी नाक के कोने के तरफ केंद्रित करें और उसे देखने का प्रयास करें।
  • कुछ देर तक नाक पर ध्यान केंद्रित करें, फिर किसी दूर की वस्तु को एकटक देखें। फिर वापस से कुछ देर बाद नाक की नोक पर ध्यान केंद्रित करें।
  • जब आप पास की वस्तु पर ध्यान केंद्रित करें तो सांस लें और जब आप सांस छोड़ें तो दूर की वस्तु पर ध्यान केंद्रित करें।
  • इस व्यायाम को कम से कम 15 मिनट तक करें।

(और पढ़ें - व्यायाम छोड़ने के नुकसान)

अंगूर के बीज में एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण होते हैं जो कि फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में मदद करते हैं। फ्री रेडिकल्स कोर्निया और उससे जुडी मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाते हैं। अंगूर के बीज के जूस का सेवन करने से कोर्निया, रेटिना और उनसे जुडी मांसपेशियां सुरक्षित रहती हैं। इससे आपकी आंखों की रोशनी तेज होती है और दूर की न दिखने वाली कोई भी चीज साफ व पास में नजर आने लगती है। यह प्राकृतिक उत्पाद किसी भी मेडिकल स्टोर में आपको मिल जाएगा। इसमें विटामिन्स होते हैं जो आंखों की रोशनी को तेज करते हैं और इस तरह आपको चश्मा या कॉन्टेक्ट लेंस लगाने की जरूरत नहीं पड़ती।

(और पढ़ें - मोतियाबिंद के लक्षण)

दूर दृष्टि दोष को कम करने के लिए हल्दी एक और बेहतरीन उपाय है। हल्दी का ताजा जूस कोर्निया तक रक्त प्रवाह को प्रभावी तरीके से पहुंचाता है जो कि दूर दृष्टि दोष में सुधार के लिए बेहद जरूरी है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कि आंखों के फ्री रेडिकल्स को साफ करने में मदद करते हैं। यह आंखों की अशुद्धियों को भी साफ करता है। रक्त वाहिकाओं में कभी-कभी कोलेस्ट्रॉल जम जाता है, ऐसे में हल्दी कोलेस्ट्रॉल को दूर करती है। हल्दी के पाउडर को आप एक छोटे चम्मच शहद के साथ भी ले सकते हैं।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय)

दूर दृष्टि दोष का इलाज करने के लिए एक सही डाइट लेना भी बेहद जरूरी है। विटामिन सी और विटामिन ई, केरोटीन व जिंक से समृद्ध आहार आंखों की रोशनी के लिए बेहद अच्छे होते हैं। दूर दृष्टि दोष को ठीक करने के लिए अपनी डाइट हमेशा पोषण से भरपूर रखें। विटामिन और जिंक के सबसे बेहतरीन स्रोत हैं गाजर, ऑयस्टर, बादाम और खट्टे फल जैसे मौसम्बी, संतरे आदि। अगर आप इन फलों को पूरे दिन में पर्याप्त मात्रा में लेते हैं तो इनसे आपके आंखों की तंत्रिका मजबूत होती है। इन खट्टे फलों का एक ग्लास जूस रोजाना एक महीने तक जरूर पीना चाहिए। बादाम को आप ऐसे ही या मिक्सर में मिक्स करके पाउडर तैयार करने के बाद दूध में मिलाकर खा सकते हैं। बादाम से आपकी आंखें मजबूत होती हैं।

(और पढ़ें - आँखों की जलन दूर करने के उपाय)

गहरी सांस लेने से भी दूर दृष्टि दोष की समस्या का इलाज होता है। गहरी सांस लेने की प्रक्रिया योग थेरेपी का एक हिस्सा है। आयुर्वेद में भी यह साबित हो चुका है कि आंखों की तंत्रिका को पहुंचने वाले नुकसान को ठीक करने के लिए यह व्यायाम बेहद प्रभावी है। गहरी सांस लेते समय आपको बस अपनी आंखें एक जगह पर केंद्रित रखनी हैं। गहरी सांस लेने की एक्सरसाइज आप अनुलोम- विलोम और भस्त्रिका प्राणायाम की मदद से भी कर सकते हैं। आप इस व्यायाम को खाली पेट करें तो ध्यानपूर्वक करें, याद रखें कि खाना खाने के बाद इन्हें करने से उल्टी व मतली की भी समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें - आंखों की थकान का इलाज)

दूर दृष्टि दोष को ठीक करने के लिए और आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए पपीता बहुत ही बेहतरीन उपाय है। अन्य उपायों के अलावा यह प्राकृतिक उपाय बेहद बेहतरीन है। दूर दृष्टि दोष का इलाज करने के लिए पपीते वाले सप्लीमेंट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। दूर दृष्टि दोष के चलते आंखों पर पड़ने वाला दबाव भी पपीते के जूस से कम हो जाता है।

(और पढ़ें - आंखों की सूजन के उपाय)

शहद आंखों की अशुद्धियों और गंदगी को साफ करने में मदद करता है। अगर आप शुद्ध शहद का इस्तेमाल आंखो के लिए करते हैं तो आंखों से संबंधित सभी तरह की समस्याएं धीरे-धीरे खत्म हो जाती हैं। शहद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स फ्री रेडिकल्स से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। आप शहद को आंखों में सीधे भी डाल सकते हैं या फिर एक छोटा चम्मच शहद को तीन बड़ा चम्मच पानी में मिलाकर ठंडा होने के लिए फ्रिज में रख दें। अब रूई को मिश्रण में डालें और फिर रूई को धीरे-धीरे आंखों में लगाएं। लगाने के बाद दस मिनट के लिए मिश्रण को आंखों में ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें। अच्छा परिणाम पाने के लिए इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो से तीन बार दोहराएं।

(और पढ़ें - आंखों में दर्द का इलाज)

बिच्छू बूटी की पत्तियां दूर दृष्टि दोष से पीड़ित लोगों के लिए बेहद प्रभावी होती हैं। अगर आप बिच्छू बूटी की पत्तियों को कच्चा खाते हैं या जूस के रूप में लेते हैं तो यह आंखों के लिए बेहद प्रभावी होंगी। दूर दृष्टि दोष से आंखों की लेंस पर दबाव पड़ता है, ऐसे में बिच्छू बूटी का जूस अगर आप रोज पीते हैं तो ये समस्या धीरे-धीरे कम होने लगेगी। दूर दृष्टि दोष से पीड़ित मरीज बिच्छू बूटी की पत्तियों को पानी में उबालने के लिए रख दें, जिससे पत्तियों का जूस पानी में मिल जाए। मिश्रण कौ ठंडा होने के बाद पी जाएं। बिच्छू बूटी के जूस को रोजाना पिएं जिससे दूर दृष्टि दोष का जल्द से जल्द इलाज हो सके।

(और पढ़ें - आंखों की रोशनी बढ़ाने के उपाय)

एवोकाडो एक प्राकृतिक विकल्प है जो आंखों की बीमारी का इलाज प्रभावी तरीके से करता है। इसमें कई विटामिन्स होते हैं जो आंखों के लिए बेहद अच्छे होते हैं। एवोकाडो में मौजूद विटामिन सी और विटामिन ए दूर दृष्टि दोष से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं।
(और पढ़ें - एवोकैडो तेल के फायदे)

          

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ