गरस्टमैन सिंड्रोम - Gerstmann Syndrome in Hindi

Dr. Nabi Darya Vali (AIIMS)MBBS

December 23, 2020

December 23, 2020

गरस्टमैन सिंड्रोम
गरस्टमैन सिंड्रोम

गरस्टमैन सिंड्रोम क्या है?
गरस्टमैन सिंड्रोम एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर है जो मस्तिष्क की चोट या विकास संबंधी विकार के परिणामस्वरूप हो सकता है। इस सिंड्रोम में चार संज्ञानात्मक क्षमताओं के नुकसान संबंधी लक्षण दिखाई देते हैं, जबकि कुछ मामलों में इसके अतिरिक्त संज्ञानात्मक दोष भी हो सकते हैं। 'नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर्स एंड स्ट्रोक' में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार इस समस्या के दौरान (गरस्टमैन सिंड्रोम) मस्तिष्क के एक विशिष्ट क्षेत्र को नुकसान पहुंचता है। इस हिस्से को लेफ्ट पेरिएटल लोब कहते हैं जो कि एंगुलर जाइरिस क्षेत्र में स्थित होता है। यह सिंड्रोम एक स्ट्रोक के बाद या पेरिएटल लोब को होने वाले नुकसान के कारण हो सकता है।

(और पढ़ें - दिमाग में खून जमने का कारण)

गरस्टमैन सिंड्रोम के लक्षण - Gerstmann Syndrome Symptoms in Hindi

गरस्टमैन सिंड्रोम, चार विशिष्ट न्यूरोलॉजिकल कार्यों में होने वाले नुकसान से संबंधित है। इस समस्या के दौरान लिखने में असमर्थता (डिस्ग्राफिया या एग्रैफिया), गणित (जोड़-घटा) करने की क्षमता में कमी (अकैलकुलिया), खुद की या दूसरे की उंगलियों की पहचान करने में असमर्थता (फिंगर एग्नोसिया) और शरीर के दाईं और बाईं ओर के बीच अंतर करने में असमर्थता होती है। इस तरह, जब पीड़ित व्यक्ति में अन्य संज्ञानात्मक कमी के बिना ये चार लक्षण होते हैं तो उस स्थिति को स्पष्ट रूप से गरस्टमैन सिंड्रोम कहा जा सकता है। हालांकि, पीड़ित लोगों में आमतौर पर गरस्टमैन सिंड्रोम के चार लक्षणों के अलावा भी अन्य दोष होते हैं। इसके अलावा, कुछ व्यक्तियों में अन्य प्रकार के संज्ञानात्मक दोषों के साथ इन चार प्रमुख लक्षणों में से केवल दो या तीन लक्षण होते हैं।

(और पढ़ें - मस्तिष्क में पानी भरने के लक्षण)

इन चार प्रमुख लक्षणों के अलावा ऐसे मामले भी हैं जिसमें पीड़ित व्यक्ति बोलकर खुद को एक्सप्रेस (अभिव्यक्त) करने में कठिनाई महसूस कर सकता है। इसके साथ दूसरे की बात को समझने में भी परेशानी (अफेसिया) हो सकती है। इतना ही नहीं, पीड़ित व्यक्ति को पढ़ने और वर्तनी में भी मुश्किल आ सकती है। इन सभी संकेतों को गरस्टमैन सिंड्रोम के लक्षणों के तौर पर देखा जाता है।

गरस्टमैन सिंड्रोम का कारण - Gerstmann Syndrome Causes in Hindi

गरस्टमैन सिंड्रोम के कारण कई हो सकते हैं। वयस्कों में यह समस्या मस्तिष्क में रक्त का प्रवाह कम होने (सेरेब्रोवस्कुलर डिजीज) जैसे कि स्ट्रोक या मस्तिष्क को होने वाले अन्य नुकसान के कारण हो सकती है। मस्तिष्क का पेरिएटल लोब (ऊपरी तरफ के भाग) गरस्टमैन सिंड्रोम के चलते प्रभावित होता है। पेरिएटल लोब दिमाग का वो हिस्सा है जो कि संवेदना और अनुभूति के साथ-साथ मस्तिष्क संबंधी इनपुट को समझने में सहायक होता है। कुछ दुर्लभ मामलों में, मस्तिष्क के एक ही क्षेत्र में लगने वाली दर्दनाक चोट या ब्रेन ट्यूमर गरस्टमैन सिंड्रोम का कारण बन सकता है। वहीं, बच्चों में गरस्टमैन सिंड्रोम का कारण अक्सर अज्ञात होता है। हालांकि, कुछ मामलों में इसे ब्रेन डैमेज से जोड़ा जा सकता है, लेकिन ब्रेन डैमेज के बिना भी बच्चा इस सिड्रोम से प्रभावित हो सकता है।

गरस्टमैन सिंड्रोम का निदान - Diagnosis of Gerstmann Syndrome in Hindi

वयस्कों में इन चार प्रमुख न्यूरोलॉजिकल लक्षणों का होना, गरस्टमैन सिंड्रोम के निदान का सुझाव देता है। खासकर तब, जब इन लक्षणों का अन्य कोई कारण न हो। बच्चों में, ज्यादातर मामले स्कूली उम्र में पता चल जाते हैं। इस दौरान पीड़ित बच्चे को गणित से जुड़े सवालों को हल करने और लिखने में मुश्किल आती है। बच्चों को स्पेलिंग, गणित के साधारण जोड़-घटा करने में दिक्कत आती है। पीड़ित बच्चों को वर्तनी के साथ-साथ दाएं से बाएं की पहचान करने में समस्या होती है। इसके अलावा, पीड़ित बच्चे आमतौर पर उंगली की पहचान करने में भी फेल होते हैं। वहीं, बहुत से बच्चों (सभी नहीं) को साधारण ड्रॉइंग को कॉपी करने में भी मुश्किल होती है।

गरस्टमैन सिंड्रोम का इलाज - Gerstmann Syndrome Treatment in Hindi

गरस्टमैन सिंड्रोम का इलाज उपलब्ध नहीं है। सहानुभूतिपूर्ण और सहायक व्यवहार ही पीड़ित की स्थिति की सुधार में मददगार हो सकता है। इसके अलावा व्यावसायिक और स्पीच थेरेपी, डिस्ग्राफिया (लिखने में असमर्थता) और एप्रेक्सिया (ड्राइंग में असर्मथता) को कम करने में मदद कर सकती है। साथ ही कैलकुलेटर और वर्ड प्रोसेसर पीड़ित बच्चों में डिसऑर्डर के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं।



गरस्टमैन सिंड्रोम के डॉक्टर

Dr. Hemanth Kumar Dr. Hemanth Kumar न्यूरोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
Dr. Deepak Chandra Prakash Dr. Deepak Chandra Prakash न्यूरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव
Dr Madan Mohan Gupta Dr Madan Mohan Gupta न्यूरोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव
Dr. Virender K Sheorain Dr. Virender K Sheorain न्यूरोलॉजी
19 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ