myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हाई कोलेस्ट्रॉल से ग्रस्‍त लोगों को बहुत सोच-समझकर खाना पड़ता है। जिनमें हाई कोलेस्‍ट्रॉल का खतरा हो उन्‍हें भी अपनी डाइट का बहुत ध्‍यान रखना पड़ता है। मेटाबॉजिल्‍म को ठीक रखने के लिए भोजन ना करने की बजाय थोड़े-थोड़े समय में खाना सही रहता है। हैल्‍दी रहने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए ऐसे स्‍नैक्‍स चुनना काफी मुश्किल होता है जिन्‍हें बनाने में भी कम समय लगे और जिनका असर कोलेस्‍ट्रॉल लेवल पर भी ना पड़े। आप भी ऐसे ही स्‍नैक्‍स चाहते होंगें जो बनाने में भी आसान हों और घर या ऑफिस में उन्‍हें खा सकें।

हैल्‍दी स्‍नैक का ये मतलब नहीं है कि आप स्‍वादिष्‍ट चीजों को नहीं खा सकते हैं। आज हम आपको ह्रदय की सेहत के लिए फायदेमंद स्‍नैक्‍स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्‍हें आप बड़ी आसानी से कुछ ही मिनटों में माइक्रोवेव में तैयार कर सकते हैं। इन्‍हें फ्रेंच फ्राइज और पकौड़े की तरह प्‍लेट में रखकर खाने की भी जरूरत नहीं है।

पॉपकॉर्न

मक्‍के में फाइबर उच्‍च मात्रा में होता है जिससे बैड कोलेस्‍ट्रॉल शरीर में फैलने से पहले ही पाचन मार्ग के जरिए बाहर निकल जाता है। आप अपने घर या ऑफिस में पॉपकॉर्न के कुछ पैकेट रख सकते हैं और भूख लगने पर आसानी से खा सकते हैं। इसे बिना तेल या मक्‍खन के माइक्रोवेव में बनाया जा सकता है। पॉपकॉर्न का फ्लेवर बढ़ाने के लिए इसमें आप ऑलिव ऑयल या अन्य कुछ जड़ी बूटियां भी डाल सकते हैं।

बिना नमक के सूखे मेवे

बादाम, अखरोट और पिस्ता जैसे सूखे मेवों में उच्‍च मात्रा में अनसैचुरेटेड फैट होता है जिससे गुड कोलेस्‍ट्रॉल (एचडीएल) बढ़ने के साथ-साथ बैड कोलेस्‍ट्रॉल (एलडीएल) घटता है। इनमें कैलोरी अधिक मात्रा में होती है इसलिए सूखे मेवों का सेवन ज्‍यादा ना करें। कई सारे सूखे मेवों को मिक्‍स करके अपने साथ रखें।

फल और बैरीज़

सेब, स्ट्रॉबेरी, अंगूर और पेक्टिन (एक प्रकार का फाइबर जिससे एलडीएल का स्‍तर घटता है) से प्रुचर अन्‍य खट्टे लों का सेवन करें। इनमें मौजूद पोटैशियम ब्‍लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

(और पढ़ें - ब्लड प्रेशर का नॉर्मल रेंज कितना होना चाहिए)

ओट्स

पॉपकॉर्न की तरह ओट्स में भी फाइबर काफी मात्रा में पाया जाता है। ये कोलेस्‍ट्रॉल को सोखकर उसे पाचन मार्ग में पहुंचाने में मदद करता है। ओट्स में मौजूद फाइबर से लिवर में जमा मल बाहर निकल जाता है। इससे आगे चलकर एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है। आप घर या ऑफिस में माइक्रोवेव में आसानी से ओट्स तैयार कर सकते हैं।

स्‍प्राउट्स

राजमा, काले चने, काबुली चने और मूंग दाल जैसी अंकुरित फलियों से ह्रदय की बीमारियों का खतरा कम होता है और ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल लेवल में भी गिरावट आती है। फलियां और अनाज को अंकुरित करके खाना ज्‍यादा बेहतर रहता है क्‍योंकि इससे आपको इनमें मौजूद सभी पोषक तत्व मिल जाते हैं और पेट में गैस पैदा करने वाला फाइटिक एसिड घट जाता है। आप अंकुरित अनाजकी सलाद बनाकर भी खा सकते हैं।

और पढ़ें ...