लिस्टेरिया संक्रमण - Listeria Infection in Hindi

Dr. Ajay Mohan (AIIMS)MBBS

November 07, 2019

April 13, 2021

लिस्टेरिया संक्रमण
लिस्टेरिया संक्रमण

लिस्टेरिया संक्रमण एक खाद्य जनित बैक्टीरियल (खाद्य पदार्थ में पाए जाने वाले जीवाणु) बीमारी है। यह बीमारी गर्भवती महिलाओं और कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों के लिए बहुत गंभीर हो सकती है। अनुचित रूप से प्रोसेस्ड मीट और कच्चे दूध से बने खाद्य उत्पादों के सेवन से लिस्टेरिया संक्रमण सबसे अधिक होता है।

लिस्टेरिया बैक्टीरिया फ्रिज में (जमने पर भी) भी जीवित रह सकते हैं, इसीलिए जिन लोगों को संक्रमण होने का अधिक खतरा है, उन्हें ऐसे भोजन के सेवन से बचना चाहिए, जिनमें लिस्टेरिया बैक्टीरिया होने का खतरा हो सकता है।

लिस्टेरिया संक्रमण के लक्षण - Listeria Infection symptoms in Hindi

लिस्टेरिया संक्रमण में निम्न लक्षण सामने आ सकते हैं :

बता दें कि दूषित भोजन खाने के कुछ दिनों बाद ये लक्षण दिखाई देना शुरू होते हैं, लेकिन इसके संकेत या लक्षण सामने आने में 30 दिन या इससे ज्यादा का समय लग सकता है।

यदि लिस्टेरिया संक्रमण आपके तंत्रिका तंत्र (नर्व सिस्टम) में फैलता है, तो इसके संकेत और लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं :

(और पढ़ें - मिर्गी के दौरे क्यों आते हैं)

लिस्टेरिया संक्रमण का कारण - Listeria Infection causes in Hindi

लिस्टेरिया बैक्टीरिया मिट्टी, पानी और पशुओं के मल में पाया जा सकता है और मनुष्यों में यह संक्रमण आमतौर पर निम्नलिखित तरीके से फैलता है :

  • ऐसी मिट्टी से दूषित हुई कच्ची सब्जियां जिस पर कीटनाशकों का इस्तेमाल किया गया हो
  • दूषित मांस
  • कच्चे दूध या कच्चे दूध से बने खाद्य पदार्थ (और पढ़ें - कच्चे दूध के नुकसान)
  • कुछ प्रोसेस्ड फूड (लंबे समय तक रखे जाने वाले खाद्य पदार्थ) जैसे चीज, हॉट डॉग और मीट

(और पढ़ें - फूड पॉइजनिंग के लक्षण)

लिस्टेरिया संक्रमण का इलाज और निदान - Listeria Infection diagnosis and treatment in Hindi

किसी व्यक्ति को लिस्टेरिया संक्रमण है या नहीं, इस बात की पुष्टि के लिए खून की जांच सबसे अच्छा तरीका है। हालांकि, कुछ मामलों में स्पाइनल फ्लूइड की भी जांच या यूरिन टेस्ट किया जाता है।

लिस्टेरिया संक्रमण का उपचार उसके संकेतों और लक्षणों की गंभीरता के आधार पर अलग-अलग होता है। जिन लोगों में लिस्टेरिया संक्रमण के सामान्य या मध्यम लक्षण पाए जाते हैं, अक्सर उन्हें उपचार की आवश्यकता नहीं पड़ती है। संक्रमण के अधिक गंभीर होने पर मरीज को एंटीबायोटिक दवाओं से ठीक किया जा सकता है।

गर्भावस्था के दौरान, एंटीबायोटिक ट्रीटमेंट शुरू करने से शिशु पर संक्रमण का प्रभाव होने से रोका जा सकता है। जिन नवजात शिशुओं में लिस्टेरिया का संक्रमण होता है, उन्हें एंटीबायोटिक दवाओं का कॉम्बिनेशन दिया जा सकता है। (और पढ़ें - गर्भावस्था में होने वाली परेशानी)

लिस्टेरिया संक्रमण की जटिलताएं - Listeria Infection complication in Hindi

चूंकि, लिस्टेरिया संक्रमण के लक्षण बहुत सामान्य होते हैं इसलिए इन पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता। जबकि, कुछ मामलों में इस संक्रमण के कारण ऐसी परेशानियां हो सकती हैं, जो जानलेवा साबित हों :

यदि आप भी अनुचित रूप से प्रोसेस्ड मीट या कच्चे दूध से बने खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं व उपरोक्त लक्षणों से परेशान हैं तो बिना देर किए डॉक्टर से परामर्श लें, क्योंकि यह गंभीर संक्रमण का रूप ले सकता है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के तरीके)



लिस्टेरिया संक्रमण के डॉक्टर

Dr. Arun R Dr. Arun R संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव
Dr. Neha Gupta Dr. Neha Gupta संक्रामक रोग
16 वर्षों का अनुभव
Dr. Lalit Shishara Dr. Lalit Shishara संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव
Dr. Alok Mishra Dr. Alok Mishra संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ