मांसपेशियों में ऐंठन और पीठ में खिंचाव के चलते गर्दन में दर्द हो सकता है. साथ ही कार्टिलेज का क्षतिग्रस्त होना भी गर्दन दर्द का कारण बन सकता है. गर्दन में दर्द होने पर अगर दवा के साथ-साथ एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को भी दबाया जाए, तो जल्दी आराम मिल सकता है. गर्दन में दर्द होने पर जीबी20, जीबी21 व एल14 आदि एक्यूप्रेशर पॉइंट्स की मालिश करने से कुछ आराम मिल सकता है.

आज इस लेख में हम गर्दन दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - गर्दन में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज)

  1. गर्दन दर्द में लाभकारी एक्यूप्रेशर पॉइंट्स
  2. सारांश
गर्दन दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के डॉक्टर

शोध बताते हैं कि गर्दन दर्द को ठीक करने में कुछ एक्यूप्रेशर पॉइंट मदद कर सकते हैं. जीबी20, जीबी21, एल14 जैसे प्रेशर पॉइंट्स को स्टिमूलेट करके गर्दन दर्द से छुटकारा मिलता है और दर्द वाली मांसपेशियों से राहत मिल सकती है. इन एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के बारे में नीचे बताया गया है -

जीबी21

इसे जियान जिंग भी कहा जाता है. ये पॉइंट कंधे पर गर्दन व बाजु के शुरुआत वाली जगह के बीच स्थित होता है. इस प्रेशर पॉइंट का इस्तेमाल सिरदर्द और मांसपेशियों के ऐंठन को दूर करने के लिए भी किया जाता है. जीबी21 प्रेशर पॉइंट गर्दन दर्द और उसकी जकड़न को ठीक करने में भी मददगार है. इसके लिए इस पॉइंट पर उंगलियों को सर्कुलर मोशन में 2 से 3 मिनट के लिए घुमाना होता है. इसे दिन में कई बार भी किया जा सकता है. ध्यान रहे कि प्रेगनेंसी में इस पॉइंट पर मालिश न करने की सलाह दी जाती है.

(और पढ़ें - गर्दन में दर्द के घरेलू उपाय)

Joint Capsule
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

एल14

इस प्रेशर पॉइंट को ही गू भी कहा जाता है, जो अंगूठे और तर्जनी उंगली के बीच फोल्ड स्किन पर स्थित होता है. शोध कहते हैं कि इस पॉइंट को स्टिमूलेट करने से शरीर के अलग-अलग हिस्सों में होने वाले दर्द से राहत मिलती है, जिसमें गर्दन का दर्द भी शामिल है.

(और पढ़ें - गर्दन में दर्द की होम्योपैथिक दवा)

जीबी20

इसे फेंग शी भी कहा जाता है, जो कान के पीछे गर्दन के ऊपर और स्कल के नीचे स्थित होता है. इस पॉइंट का इस्तेमाल थकान और सिरदर्द को कम करने के लिए भी किया जाता है. इस प्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से गर्दन दर्द से तब आराम मिलता है, जब ये असुविधाजनक तरीके से सोने से होता है.

(और पढ़ें - गर्दन के दर्द के लिए एक्सरसाइज)

टीई3

इसे झोंग जु पॉइंट भी कहा जाता है, जो हाथ की सबसे छोटी और उसके साथ वाली उंगली के बीच स्थित होता है. इस प्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से ब्रेन के अलग-अलग हिस्से स्टिमूलेट होते हैं. इसके अलावा, सर्कुलेशन भी बढ़ता है व टेंशन रिलीज होता है. टेंशन या स्ट्रेस से होने वाले गर्दन दर्द में इस प्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से राहत मिलती है.

(और पढ़ें - गर्दन में अकड़न)

हेवेंस पिलर

यह प्रेशर पॉइंट गर्दन के दोनों ओर स्कल के नीचे और जहां से रीढ़ की हड्डी शुरू होती है, उससे लगभग 2 इंच ऊपर स्थित होता है. इस एक्यूप्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से कंजेशन और सूजन वाले लिम्फ नोड्स रिलीज होते हैं, जो गले में खराश का कारण हो सकते हैं.

(और पढ़ें - सर्वाइकल पेन की होम्योपैथिक दवा)

Joint Pain Oil
₹494  ₹549  10% छूट
खरीदें

गर्दन दर्द को ठीक करने में टीई3, जीबी20 व एल14 जैसे एक्यूप्रेशर पॉइंट अहम भूमिका निभाते हैं. वहीं, प्रेगनेंसी की स्थिति या किसी अन्य बीमारी से होने वाले गर्दन दर्द में इन एक्यूप्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से पहले डॉक्टर से राय जरूर लेनी चाहिए. किसी भी स्थिति में एक्यूप्रेशर स्पेशलिस्ट की सलाह के बाद ही एक्यूप्रेशर के जरिए गर्दन दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स पर दबाव डालना चाहिए.

(और पढ़ें - गर्दन में अकड़न के लिए उपाय)

Dr. Navroze Kapil

Dr. Navroze Kapil

ओर्थोपेडिक्स
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Abhishek Chaturvedi

Dr. Abhishek Chaturvedi

ओर्थोपेडिक्स
5 वर्षों का अनुभव

Dr. G Sowrabh Kulkarni

Dr. G Sowrabh Kulkarni

ओर्थोपेडिक्स
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Shivanshu Mittal

Dr. Shivanshu Mittal

ओर्थोपेडिक्स
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें