अतिसक्रिय मूत्राशय - Overactive Bladder Syndrome in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

November 21, 2017

August 22, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
अतिसक्रिय मूत्राशय
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम या ओवरऐक्टिव ब्लैडर सिंड्रोम (ओएबी) एक ऐसी स्थिति है जिसमें किसी व्यक्ति को अचानक इतनी तेज पेशाब महसूस होती है कि उसके लिए अपरिहार्य स्थिति बन जाती है और उस व्यक्ति के लिए पेशाब को रोक पाना या कंट्रोल कर पाना बेहद मुश्किल हो जाता है। पेशाब करने की यह तीव्र इच्छा दिन के किसी भी समय अचानक महसूस हो सकती है। इस सिंड्रोम से पीड़ित व्यक्ति दिन और रात के समय कई बार यूरिन पास करता है और कई बार तो अनजाने में यूरिन लीक भी हो जाता है और व्यक्ति को पता भी नहीं चलता।

यह एक बेहद कॉमन सिंड्रोम है जिसकी वजह से पीड़ित व्यक्ति को अपने दैनिक जीवन में कई तरह की असुविधाएं महसूस होती हैं और कई बार सामाजिक परिस्थितियों में शर्मिंदगी भी उठानी पड़ सकती है। इस सिंड्रोम से पीड़ित व्यक्ति को हर वक्त यही डर लगा रहता है कि उसकी यह अतिसक्रिय मूत्राशय की बीमारी कहीं गलत समय पर ट्रिगर न हो जाए और उसे दूसरों के सामने शर्मिंदा न होना पड़े। इस वजह से वह व्यक्ति खुद को दूसरों से आइसोलेट कर लेता है और बाहर जाने से भी कतराने लगता है।

हालांकि अपने व्यवहार से जुड़ी कुछ बातों में बदलाव कर, अपनी खाने पीने की आदतों में बदलाव कर और पेल्विक फ्लोर मासंपेशियों का इस्तेमाल कर ब्लैडर को होल्ड करने की तकनीक सीखकर इस ओवरऐक्टिव ब्लैडर के लक्षणों को आसानी से मैनेज किया जा सकता है। अगर इन शुरुआती कोशिशों से किसी तरह का लाभ न हो तो इस समस्या का अतिरिक्त इलाज भी मौजूद है।

अतिसक्रिय मूत्राशय के लक्षण - Overactive Bladder Syndrome Symptoms in Hindi

अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम की समस्या में निम्नलिखित लक्षण देखने को मिलते हैं:

  • पेशाब करने की तीव्र इच्छा : पेशाब करने की यह तीव्र इच्छा अपरिहार्य होती है और इसे रोक पाना बेहद मुश्किल होता है। इस कारण कई बार जाने-अनजाने में यूरिन लीकेज की भी समस्या हो जाती है जिसे मूत्र असंयमिता या पेशाब न रोक पाना भी कहते हैं।
  • यूरिन पास करने की फ्रीक्वेंसी का बढ़ना : अगर किसी व्यक्ति का मूत्राशय अतिसक्रिय है तो इसकी वजह से उस व्यक्ति को सामान्य से ज्यादा बार पेशाब करने की जरूरत महसूस हो सकती है। 24 घंटे में 8 या इससे ज्यादा बार। (और पढ़ें - बार-बार पेशाब आना, कारण, लक्षण, इलाज)
  • नींद में अवरोध : पेशाब करने की अचानक तीव्र इच्छा महसूस होने की वजह से रात के समय में भी बार-बार व्यक्ति की नींद खुल जाती है जिस वजह से उसकी नींद में भी अवरोध उत्पन्न होता है। इस कारण नींद से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं। 
  • अगर पीड़ित व्यक्ति को तनाव या बेचैनी महसूस हो रही हो तो अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम की समस्या और लक्षण और ज्यादा बिगड़ सकते हैं।

अतिसक्रिय मूत्राशय के कारण - Overactive Bladder Syndrome Causes in Hindi

अतिसक्रिय या ओवरऐक्टिव ब्लैडर सिंड्रोम का अंतर्निहित कारण है- ब्लैडर की मांसपेशियों में अत्यधिक सिकुड़न या दबाव महसूस होना जिसकी वजह से बार-बार पेशाब करने की तीव्र इच्छा उत्पन्न होती है। हालांकि इन मांसपेशियों में असामान्य रूप से होने वाले इस सिकुड़न या संकुचन का कारण क्या है, यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है। यह भी देखने में आया है कि जिन लोगों में इस सिंड्रोम की समस्या होती है उनका ब्लैडर उनके ब्रेन को यह सिगनल देता है कि वह पूरी तरह से भर चुका है जबकि हकीकत में ऐसा नहीं होता और ब्लैडर में यूरिन की मात्रा बेहद कम होती है। 

(और पढ़ें - महिलाओं में पेशाब न रोक पाने की समस्या का हल करेंगे ये उपाय)

कुछ मामलों में तो ब्रेन से जुड़ी निम्नलिखित बीमारियों के कारण भी अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम की समस्या देखने को मिलती है:

इसके अलावा भी कई कारण हैं जिनकी वजह से ओवरऐक्टिव ब्लैडर सिंड्रोम की समस्या हो सकती है:

  • तंत्रिका संबंधी विकार जैसे- स्ट्रोक
  • डायबिटीज
  • यूरिन इंफेक्शन यूटीआई
  • महिलाओं में मेनोपॉज के दौरान होने वाले हार्मोन्स से जुड़े बदलाव
  • ब्लैडर में किसी तरह की अनियमितता जैसे- ट्यूमर या स्टोन
  • कुछ दवाइयां जिनकी वजह से पेशाब का उत्पादन बढ़ जाता है
  • कैफीन या अल्कोहल का बहुत ज्यादा सेवन
  • उम्र बढ़ने के कारण संज्ञानात्मक प्रक्रियाओं में कमी आना जिस कारण ब्लैडर के लिए ब्रेन द्वारा मिले सिग्नल को समझना मुश्किल होता है

अतिसक्रिय मूत्राशय का परीक्षण - Diagnosis of Overactive Bladder Syndrome in Hindi

अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम की समस्या को डायग्नोज करने के लिए आमतौर पर डॉक्टर मरीज के लक्षणों के बारे में पूछते हैं और उसके बाद यूरिन टेस्ट या शारीरिक जांच की मदद से उन संकेतों की पहचान करते हैं कि उस व्यक्ति को किसी तरह का इंफेक्शन है या नहीं। कई बार फ्लो टेस्ट भी करवाया जाता है यूरिन फ्लो की ताकत को आंकने के लिए और यह भी जानने के लिए कि वह व्यक्ति पेशाब करते वक्त अपने मूत्राशय को पूरी तरह से खाली करता है या नहीं।

अतिसक्रिय मूत्राशय का इलाज - Overactive Bladder Syndrome Treatment in Hindi

इस सिंड्रोम के इलाज में मरीज को ब्लैडर ट्रेनिंग दी जाती है ताकि व्यक्ति को कुछ हद तक अपने मूत्राशय की गतिविधियों पर नियंत्रण महसूस हो सके और वह पेशाब करने की अपनी तीव्र इच्छा को कुछ देर के लिए रोक पाए।

इलाज के दौरान वैसे तो मरीज को दवाइयां भी दी जाती हैं, लेकिन इस सिंड्रोम के लक्षणों को कंट्रोल करने में जीवनशैली से जुड़ा बदलाव ज्यादा जरूरी है जिसमें पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज जैसे- कीगल एक्सरसाइज करना, कैफीन और अल्कोहल का सेवन करने से बचना और अतिरिक्त वजन घटाना जैसी चीजें अहम रोल निभाती हैं। कुछ मामलों में मरीज को सर्जरी करावने की सलाह भी दी जाती है।

अतिसक्रिय मूत्राशय के जोखिम और जटिलताएं - Overactive Bladder Syndrome Risks & Complications in Hindi

जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती जाती है, वह बुजुर्ग होता जाता है उस व्यक्ति को अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ जाता है। उम्र बढ़ने के साथ ही आप बढ़े हुए प्रोस्टेट और डायबिटीज जैसी बीमारियों के भी उच्च जोखिम में होते हैं जो मूत्राशय के कार्य करने के तरीके में समस्याएं उत्पन्न कर सकता है।

इसके अलावा जिन लोगों में संज्ञानात्मक क्रियाओं में कमी देखने को मिलती है- उदाहरण के लिए वे लोग जिन्हें स्ट्रोक हुआ हो या अल्जाइमर्स बीमारी हुई हो उनमें भी अतिसक्रिय मूत्राशय सिंड्रोम होने का खतरा अधिक होता है। मूत्र असंयमिता की समस्या जो इस तरह की स्थितियों के परिणामस्वरूप उत्पन्न होती है उसे- एक निश्चित शेड्यूल के हिसाब से तरल पदार्थों का सेवन कर, समय बद्ध तरीके से मलत्याग कर और सोखने वाले कपड़ों का इस्तेमाल कर मैनेज किया जा सकता है।



संदर्भ

  1. North Bristol. Overactive bladder syndrome (OAB). National Health Service. [Internet]
  2. Elad Leron et al. Overactive Bladder Syndrome: Evaluation and Management . Curr Urol. 2018 Mar; 11(3): 117–125. PMID: 29692690
  3. Marcella G Willis-Gray et al. Evaluation and management of overactive bladder: strategies for optimizing care. Res Rep Urol. 2016; 8: 113–122. PMID: 27556018
  4. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Overactive Bladder
  5. Urology Care Foundation [Internet]. American Urological Association; What is Overactive Bladder (OAB)?
  6. U. S Food and Drug Association. [Internet]. Need Relief From Overactive Bladder Symptoms?

अतिसक्रिय मूत्राशय के डॉक्टर

Dr. Virender Kaur Sekhon Dr. Virender Kaur Sekhon यूरोलॉजी
14 वर्षों का अनुभव
Dr. Rajesh Ahlawat Dr. Rajesh Ahlawat यूरोलॉजी
44 वर्षों का अनुभव
Dr. Prasun Ghosh Dr. Prasun Ghosh यूरोलॉजी
26 वर्षों का अनुभव
Dr. Pankaj Wadhwa Dr. Pankaj Wadhwa यूरोलॉजी
26 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

अतिसक्रिय मूत्राशय की दवा - Medicines for Overactive Bladder Syndrome in Hindi

अतिसक्रिय मूत्राशय के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹319.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹119.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹164.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹134.4

20% छूट + 5% कैशबैक


₹152.95

20% छूट + 5% कैशबैक


₹198.97

20% छूट + 5% कैशबैक


₹289.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹134.4

20% छूट + 5% कैशबैक


₹141.3

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 142 entries