पिटिरायसिस रोसिया - Pityriasis Rosea in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS,PG Diploma

November 28, 2020

September 08, 2021

पिटिरायसिस रोसिया
पिटिरायसिस रोसिया

पिटिरायसिस रोसिया, एक प्रकार के चकत्ते हो जाने की स्थिति को कहा जाता है। यह चकत्ते मुख्यरूप से छाती, पेट या पीठ पर दिखाई दे सकते हैं। इन चकत्तों को 'हेरल्ड पैच' के नाम से जाना जाता है और यह 4 इंच (10 सेंटीमीटर) तक बड़े हो सकते हैं। वैसे तो यह समस्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है, लेकिन 10 से 35 वर्ष की आयु वाले लोगों में इसकी शिकायत सबसे ज्यादा देखने को मिलती है। पिटिरायसिस रोसिया में होने वाले चकत्तों के कारण खुजली हो सकती है। यह संक्रामक नहीं है और ज्यादातर लोगों में ठीक होने के बाद इसका कोई निशान नहीं र​ह जाता है।

पिटिरायसिस रोसिया के कारण होने वाले चकत्ते उभरे हुए और खुरदुरे होते हैं। चकत्तों के साथ कुछ लोगों को सिरदर्द, बुखार या गले में खराश की समस्या भी हो सकती है। हेरल्ड पैच के नजर आने के एक या दो सप्ताह बाद छाती और पीठ पर कुछ और छोटे धब्बे दिखाई दे सकते हैं। कुछ मामलों जैसे व्यायाम करने या गर्मी के संपर्क में आने के कारण खुजली भी हो सकती है। यह समस्या क्यों होती है इस बारे में डॉक्टरों को खास जानकारी नहीं है, ऐसे में इससे बचाव के तरीकों को प्रयोग में लाना ज्यादा बेहतर माना जाता है।

इस लेख में हम पिटिरायसिस रोसिया के लक्षण, कारण और इसके इलाज के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

पिटिरायसिस रोसिया के लक्षण - Pityriasis Rosea Symptoms in Hindi

ज्यादातर मामलों में पिटिरायसिस रोसिया सर्दी के लक्षणों के साथ शुरू होता है। इसमें गले में खराश, बुखार, दर्द, मतली और थकान जैसी समस्याओं का अनुभव हो सकता है। इसके साथ छाती या पीठ पर बड़े आकार का चकत्ता दिखाई दे सकता है, जिसे हेरल्ड पैच के नाम से जाना जाता है। उसी हिस्से में कुछ छोटे-छोटे धब्बे भी दिखाई दे सकते हैं जो लाल, पपड़ीदार होते हैं और इनमें खुजली हो सकती है।

पिटिरायसिस रोसिया का कारण - Pityriasis Rosea Causes in Hindi

पिटिरायसिस रोसिया किन कारणों से होता है यह बहुत स्पष्ट नहीं है। कुछ मामलों के आधार पर विशेषज्ञों का मानना है कि यह समस्या वायरल संक्रमण विशेषकर प्रकार के हर्पीस वायरस के कारण हो सकता है, लेकिन यह मुंह के छाले का कारण बनने वाले हर्पीस वायरस के कारण नहीं होता। चूंकि पिटिरायसिस रोसिया की समस्या संक्रामक नहीं होती है ऐसे में इसका दूसरे लोगों में फैलने का डर नहीं होता है।

पिटिरायसिस रोसिया की स्थिति में खुजली के अलावा वैसे तो बहुत ज्यादा जटिलताएं नहीं होती हैं। कुछ लोगों में निम्न समस्याएं देखने को मिल सकती हैं।

  • बहुत अधिक खुजली होना
  • दाने ठीक होने के बाद त्वचा पर भूरे रंग के धब्बे बन जाना

विशेषज्ञों के मुताबिक गर्भवती महिलाओं में पिटिरायसिस रोसिया के कारण गंभीर जटिलताएं देखने को मिल सकती हैं। एक छोटे अध्ययन में देखा गया है कि गर्भावस्था के पहले 15 हफ्तों में जिन महिलाओं को पिटिरायसिस रोसिया या चकत्ते हो जाते हैं उनमें गर्भपात हो जाने का खतरा अधिक होता है।

पिटिरायसिस रोसिया का निदान - Diagnosis of Pityriasis Rosea in Hindi

ज्यादातर मामलों में केवल चकत्तों को देखकर ही डॉक्टर पिटिरायसिस रोसिया की समस्या का निदान कर लेते हैं। चूंकि इसमें होने वाले चकत्ते दाद की तरह नजर आते हैं ऐसे में स्थिति की पुष्टि करने के लिए डॉक्टर चकत्ते का छोटा सा सैंपल लेकर उसे जांच के लिए भेज सकते हैं।

इसके अलावा समस्या की पुष्टि करने के लिए डॉक्टर ब्लड टेस्ट, स्क्रैपिंग या बायोप्सी कराने की भी सलाह दे सकते हैं। इन परीक्षणों के माध्यम से अन्य प्रकार की त्वचा संबंधी समस्याओं के बारे में पता लगाया जा सकता है।

पिटिरायसिस रोसिया का इलाज - Pityriasis Rosea Treatment in Hindi

ज्यादातर मामलों में, चार से 10 सप्ताह के बीच में पिटिरायसिस रोसिया के लक्षण स्वत: ही ठीक हो जाते हैं। यदि फिर भी दाने नहीं जा रहे हों या बहुत अधिक खुजली की समस्या हो तो इलाज के लिए शीघ्र डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर कई प्रकार की इलाज प्रक्रियाओं के माध्यम से स्थिति का इलाज कर सकते हैं।

दवाएं

पिटिरायसिस रोसिया को ठीक करने के लिए डॉक्टर निम्न प्रकार की दवाओं को प्रयोग में ला सकते हैं।

  • कार्टिकोस्टेरॉइड
  • एंटिहिस्टामाइन्स
  • एंटीवायरल ड्रग्स

लाइट थेरपी

लाइट थेरपी के दौरान प्रभावित हिस्से में प्राकृतिक या कृत्रिम रूप से धूप का संपर्क कराया जाता है इससे दाने ठीक हो सकते हैं। लाइट थेरपी से दाने तो ठीक हो जाते हैं, लेकिन कुछ लोगों की त्वचा पर गहरे धब्बे नजर आ सकते हैं।

जीवनशैली में परिवर्तन

निम्नलिखित युक्तियों को प्रयोग में लाने से भी पिटिरायसिस रोसिया की परेशानी से राहत मिल सकती है :

  • एलर्जी की दवाएं
  • गुनगुने पानी से नहाएं
  • ओटमील बाथ लें
  • मॉइस्चराइजर, कैलामाइन लोशन या कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम लगाने से भी फायदा मिलता है।


पिटिरायसिस रोसिया के डॉक्टर

Dr. Neha Baig Dr. Neha Baig डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
Dr. Avinash Jhariya Dr. Avinash Jhariya डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव
Dr. R.K . Tripathi Dr. R.K . Tripathi डर्माटोलॉजी
12 वर्षों का अनुभव
Dr. Deepak Kumar Yadav Dr. Deepak Kumar Yadav डर्माटोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

पिटिरायसिस रोसिया की दवा - Medicines for Pityriasis Rosea in Hindi

पिटिरायसिस रोसिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

पिटिरायसिस रोसिया की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Pityriasis Rosea in Hindi

पिटिरायसिस रोसिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹600.0

Showing 1 to 0 of 1 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ