myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर होना क्या है?

पिट्यूटरी ग्रंथि हमारे मस्तिष्क में मौजूद होती है और इस ग्रंथि में ट्यूमर हो जाने को प्रोलैक्टिनोमा (Prolactinoma) कहा जाता है। इस ट्यूमर के कारण पिट्यूटरी ग्रंथि प्रोलैक्टिन नामक हार्मोन का निर्माण बहुत ज्यादा करने लगती है। प्रोलैक्टिनोमा, पिट्यूटरी ग्रंथि के ट्यूमर का सबसे आम प्रकार है और इस ट्यूमर के कारण आस-पास के ऊतकों पर दबाव बनने लगता है, जिससे कई प्रकार के लक्षण पैदा होते हैं।

(और पढ़ें - ब्रेन ट्यूमर का इलाज​)

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर के लक्षण क्या हैं?

वैसे तो पुरुषों और महिलाओं में पिट्यूटरी ग्रंथि का ट्यूमर होने के लक्षण अलग-अलग होते हैं, लेकिन इसके कुछ ऐसे लक्षण भी हैं जो दोनों को प्रभावित करते हैं। ये लक्षण हैं, हड्डियां कमजोर होना, प्रजनन क्षमता में कमी, कामेच्छा में कमी, दिखने में समस्याएं और सिरदर्द

(और पढ़ें - प्रजनन क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय)

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर क्यों होता है?

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर के सटीक कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। ऐसा माना जाता है कि स्ट्रेस इसका एक कारण हो सकता है, हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। इसके अलावा इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर कोई अनुवांशिक समस्या नहीं है।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के उपाय)

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर का इलाज कैसे होता है?

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर के इलाज का मुख्य लक्षण होता है प्रोलैक्टिन के स्तर को सामान्य करना, ट्यूमर को छोटा करना और अगर देखने में कोई समस्या है, तो उसे ठीक करना। ट्यूमर के लिए आमतौर पर शुरुआत में दवाएं दी जाती हैं और अगर दवाओं से कोई सुधार न हो, तो सर्जरी की जा सकती है। कभी-कभी दवाओं के साथ रेडिएशन थेरेपी भी की जाती है। इसके अलावा तनाव को कम करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करने से प्रोलैक्टिन का स्तर सामान्य किया जा सकता है।

(और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)

  1. पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर की दवा - Medicines for Prolactinoma in Hindi

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर की दवा - Medicines for Prolactinoma in Hindi

पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
NorprogestNorprogest Tablet44
Brainstar OdBrainstar Od 2.5 Mg Tablet83
BrainstarBrainstar 0.8 Mg Tablet48
CyclosetCycloset Syrup189
DbroDbro 0.8 Mg Tablet55
DiacriptinDiacriptin 0.8 Mg Tablet56
GlucomindGlucomind 0.8 Mg Tablet52
ProctinalPROCTINAL 1.25MG TABLET 10S0
Semi BromSemi Brom 1.25 Mg Tablet69
SicriptinSicriptin 1.25 Mg Tablet82
BromBrom 1.25 Mg Tablet125
BromogenBromogen 1.25 Mg Tablet56
BromorexBromorex 1.25 Mg Tablet105
Brom (Hic)Brom Syrup32
CriptalCriptal 1.25 Mg Tablet52
EncriptEncript 2.5 Mg Tablet110
SicreptinSicreptin 1.25 Mg Tablet62
Sicriptin UspSicriptin Usp 2.5 Mg Tablet114
Diacriptin MDiacriptin M 0.8 Mg/500 Mg Tablet0
CabercetCabercet 0.5 Mg Tablet80
CaberlactCaberlact 0.25 Mg Tablet48
CaberlinCaberlin 0.25 Mg Tablet140
CabgolinCabgolin 0.25 Mg Tablet140
CabgonCabgon 0.25 Mg Tablet36

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Prolactinoma.
  2. Yatavelli RKR, Bhusal K. Prolactinoma. [Updated 2018 Nov 18]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2019 Jan-.
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Prolactinoma
  4. Abha Majumdar, Nisha Sharma Mangal. Hyperprolactinemia. J Hum Reprod Sci. 2013 Jul-Sep; 6(3): 168–175. PMID: 24347930
  5. Colao A. Pituitary tumours: the prolactinoma. Best Pract Res Clin Endocrinol Metab. 2009 Oct;23(5):575-96. PMID: 19945024
  6. Tirosh A, Shimon I. Current approach to treatments for prolactinomas. Minerva Endocrinol. 2016 Sep;41(3):316-23. Epub 2015 Sep 24. PMID: 26399371
और पढ़ें ...