myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

किसी भी व्यक्ति को संपूर्ण रूप से स्वस्थ और निरोगी बनाए रखने में उसके शरीर के इम्यून सिस्टम का अहम योगदान होता है। हमारा इम्यून सिस्टम बाहर से आक्रमण करने वाले संक्रामक रोगाणुओं का पता लगाता है और उन्हें बेअसर करने में मदद करता है। जब ऐसा होता है तो इन्फ्लेमेशन यानी सूजन और जलन की घटना होती है। शरीर के किसी भी अंग की ही तरह हमारी त्वचा भी इम्यून रिस्पॉन्स यानी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया देने में शामिल होती है।

जब स्किन में इन्फ्लेमेशन यानी सूजन और जलन की समस्या होती है तो प्रभावित हिस्से में रैशेज यानी चकत्ते हो जाते हैं। इन्फ्लेमेटरी स्किन डिजीज, त्वचा विज्ञान से जुड़ी सबसे कॉमन समस्या है और यह कई अलग-अलग तरह की हो सकती है। जैसे- कभी-कभार होने वाले चकत्ते, जिसमें त्वचा में खुजली होती है और प्रभावित हिस्से पर लालिमा हो जाती है या फिर त्वचा पर लंबे समय तक रहने वाली स्थिति जैसे- एक्जिमाडर्मेटाइटिस और सोरायसिस आदि होते हैं। स्किन इन्फ्लेमेशन या त्वचा में जलन की समस्या तुरंत होने वाली बेहद तेज (अक्यूट) हो सकती है या फिर लंबे समय तक रहने वाली (क्रॉनिक)।

(और पढ़ें : त्वचा पर चकत्तों के घरेलू उपाय)

अक्यूट इन्फ्लेमेशन यानी त्वचा में अभी तुरंत बहुत तेज जलन महसूस होने की समस्या धूप की यूवी किरणों के संपर्क में आने से, एलर्जी पैदा करने वाले तत्व के संपर्क में आने से या फिर किसी केमिकल (साबुन या हेयर डाई) के संपर्क में आने से हो सकती है जिससे स्किन में बहुत तेज उत्तेजना महसूस होने लगती है। इस तरह की इन्फ्लेमेशन या त्वचा में जलन की समस्या 1 या 2 हफ्ते के अंदर अपने आप ठीक हो जाती है जबकि लंबे समय तक जारी रहने वाली इन्फ्लेमेशन की समस्या की वजह से उत्तकों को गंभीर नुकसान हो सकता है।

  1. त्वचा में जलन के लक्षण - Skin Inflammation Symptoms in Hindi
  2. त्वचा में जलन के कारण - Skin Inflammation Causes in Hindi
  3. त्वचा में जलन का उपचार - Skin Inflammation Treatment in Hindi
  4. त्वचा में जलन के डॉक्टर

त्वचा में जलन के लक्षण - Skin Inflammation Symptoms in Hindi

त्वचा में जलन या स्किन इन्फ्लेमेशन के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं।
त्वचा में होने वाले रैशेज या चकत्ते किस तरह के होंगे यह इस बात पर निर्भर करता है कि इन्फ्लेमेशन किस कारण से हो रहा है:

  • चकत्ते समतल और चिकने हो सकते हैं या फिर पपड़ीदार
  • इनमें खुजली हो सकती है, जलन महसूस हो सकती है या फिर चुभन महसूस हो सकती है
  • समतल हो सकते हैं या फिर उभरे हुए
  • त्वचा में लालिमा नजर आ सकती है
  • प्रभावित हिस्सा गर्म महसूस हो सकता है
  • प्रभावित हिस्से पर छाले या फफोले नजर आ सकते हैं
  • त्वचा का प्रभावित हिस्सा अगर ज्यादा फटा हुआ हो तो उससे खून भी आ सकता है
  • प्रभावित हिस्से की त्वचा मोटी और सख्त भी महसूस हो सकती है

(और पढ़ें : स्किन एलर्जी, कारण, लक्षण, इलाज)

त्वचा में जलन के कारण - Skin Inflammation Causes in Hindi

त्वचा में होने वाली जलन या स्किन इन्फ्लेमेशन के संभावित कारण हैं :
इम्यून सिस्टम की गड़बड़ी
कई बार शरीर का इम्यून सिस्टम सही तरीके से काम नहीं करता है और वह स्वस्थ उत्तकों के प्रति भी इम्यून प्रतिक्रिया देने लगता है जैसा कि त्वचा की बीमारी सोरायसिस में होता है। इसके अलावा जिन लोगों को सीलिएक बीमारी होती है जब वे ग्लूटेन वाली चीजें खाते हैं तो उन्हें भी स्किन से जुड़ी एक समस्या हो जाती है जिसे डर्मेटाइटिस हर्पेटिफॉर्मिस कहते हैं।

एलर्जिक रिऐक्शन
जब इम्यून सिस्टम किसी चीज को बाहरी मानकर ओवररिऐक्ट करता है तो इस कारण जो प्रतिक्रिया होती है उसे ऐलर्जिक रिऐक्शन कहते हैं और इस कारण कुछ लोगों में त्वचा में सूजन और जलन देखने को मिल सकती है। बहुत से लोगों में कोई दवा खाने से या फिर कोई खाद्य पदार्थ खाने से भी इस तरह का ऐलर्जिक रिऐक्शन देखने को मिल सकता है। 

बैक्टीरियल, वायरल या फंगल इंफेक्शन
कुछ बीमारियां या इंफेक्शन जिनकी वजह से त्वचा में जलन की समस्या हो सकती है वे हैं:

फोटोसेंसिटिविटी
यह सूरज की रोशनी के प्रति शरीर का इम्यून रिऐक्शन है। सिस्टेमिक ल्युपस बीमारी की वजह से भी कई बार आपकी त्वचा सूरज की रोशनी के प्रति कुछ ज्यादा ही संवेदनशील हो जाती है।

बहुत ज्यादा गर्मी
जब तापमान बहुत अधिक हो और आपको गर्मी ज्यादा महसूस हो रही हो तब भी त्वचा में जलन महसूस हो सकती है इसे हीट रैश कहते हैं। ऐसा आमतौर पर तब होता है जब पसीना, स्किन के रोमछिद्र से बाहर नहीं आ पाता जिस कारण खुजली और चकत्ते हो जाते हैं।

(और पढ़ें : स्किन की 5 बड़ी समस्याओं का इकलौता समाधान है हल्दी)

त्वचा में जलन का उपचार - Skin Inflammation Treatment in Hindi

त्वचा में जलन या स्किन इन्फ्लेमेशन की समस्या का इलाज मुख्य तौर पर इस बात पर निर्भर करता है कि आखिर इसके होने का कारण क्या है। इसमें स्किन पर लगाने के लिए टॉपिकल क्रीम या ऑइंटमेंट दिया जा सकता है, खाने के लिए दवा दी जा सकती है या फिर कुछ घरेलू नुस्खों को भी अपनाया जा सकता है। 

लगाने वाली दवाएं

  • कोर्टिकोस्टेरॉयड क्रीम को सीधे स्किन के प्रभावित हिस्से पर लगाया जा सकता है जिससे त्वचा में जलन को कम करने में मदद मिलती है
  • इम्यूनोमॉड्यूलेटर्स सीधे इम्यून सिस्टम पर काम करते हैं जिससे त्वचा में जलन की समस्या को कम करने में मदद मिलती है
  • अगर किसी इंफेक्शन की वजह से त्वचा में जलन हो रही हो तो एंटीबैक्टीरियल या एंटीफंगल क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं
  • खुजली और जलन की समस्या से बचने के लिए ओटीसी क्रीम जैसे- कैलामाइन लोशन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है

(और पढ़ें : एलर्जी हो जाए तो क्या करना चाहिए)

खाने वाली दवाएं

  • अगर एलर्जी की वजह से त्वचा में जलन हो रही हो तो एंटीहिस्टामिन्स दी जाती हैं
  • अगर पित्ती या डर्मेटाइटिस की वजह से त्वचा में जलन के साथ ही खुजली और लालिमा भी हो गई हो तो उसके लिए डॉक्टर अलग दवा प्रिस्क्राइब करते हैं
  • बैक्टीरियल या फंगल इंफेक्शन की वजह से त्वचा में जलन हो रही हो तो डॉक्टर एंटीबायोटिक्स प्रिस्क्राइब करते हैं
  • कई बार इन्फ्लेमेशन या जलन की समस्या ज्यादा हो रही हो तो डॉक्टर इंजेक्शन भी प्रिस्क्राइब कर सकते हैं

घरेलू उपाय
त्वचा में जलन की समस्या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को भी अपनाया जा सकता है

  • स्किन में जहां पर जलन या उत्तेजना हो रही हो वहां पर ठंडे पानी की पट्टी लगाएं
  • रूखी त्वचा की वजह से जलन हो रही हो तो ऑइंटमेंट या क्रीम लगा सकते हैं जिससे स्किन को आराम मिले
  • अगर एक्जिमा की वजह से त्वचा में जलन हो रही हो तो विटामिन डी सप्लिमेंट्स का सेवन कर सकते हैं
  • टी ट्री ऑयल में एंटी-इन्फ्लेमेट्री और एंटीमाइक्रोबियल तत्व पाए जाते हैं जो त्वचा में जलन की समस्या को दूर करने में मदद कर सकते हैं
  • ऐसे कपड़े पहनें जिसकी प्रकृति या बनावट स्मूथ हो ताकि स्किन में इरिटेशन की समस्या न हो 

(और पढ़ें : स्किन एलर्जी के घरेलू उपाय व नुस्खे)

Dr. Abhas Kumar

Dr. Abhas Kumar

प्रतिरक्षा विज्ञान

Dr. Hemant C Patel

Dr. Hemant C Patel

प्रतिरक्षा विज्ञान

Dr. Lalit Pandey

Dr. Lalit Pandey

प्रतिरक्षा विज्ञान

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें