myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

विटामिन ई में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो तनाव से कोशिकाओं की रक्षा करते हैं। सही तरह से काम करने के लिए शरीर को विटामिन ई की जरूरत पड़ती है। यदि आप पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई नहीं लेते हैं तो आपका शरीर संक्रमण की चपेट में आसानी से आ सकता है।

इसके साथ ही आंखों से धुंधला दिखना और मांसपेशियों में कमजोरी जैसी समस्या भी हो सकती है। लेकिन घबराने की बात नहीं है, क्योंकि कई खाद्य पदार्थों में विटामिन ई पाया जाता है। अतः विटामिन ई की कमी की आशंका होने पर आप कुछ चीज़ों को अपनी डाइट में शामिल कर इसकी कमी को पूरा कर सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार हर व्यक्ति को रोजाना 15 मि.ग्रा. विटामिन ई लेना चाहिए।

आइए जानते हैं कि किन चीज़ों के सेवन से विटामिन ई की कमी को पूरा किया जा सकता है या इसकी कमी होने से बचा जा सकता है।

(और पढ़ें - विटामिन और मिनरल की कमी के लक्षण)

सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीज स्नैक्स के तौर पर खाए जा सकते हैं। आप इसे दही, ओटमील और सलाद के ऊपर से बुरक कर खा सकते हैं। 100 ग्राम सूरजमुखी के बीज में 35.17 मिग्रा. विटामिन ई होता है। इसके अलावा सूरजमुखी के बीज में कई पोषक तत्व होते हैं, जिससे पाचन तंत्र को पर्याप्त मात्रा में फाइबर मिलता है। 100 ग्राम सूरजमुखी में निम्न तत्व होते हैंः

(और पढ़ें - विटामिन E है त्वचा के लिए फायदेमंद)

बादाम

सूरजमुखी की ही तरह बादाम भी विटामिन ई का अच्छा स्रोत हैं। हर 100 ग्राम बादाम में 25.63 मि.ग्रा. विटामिन ई होता है। इसे भी आप स्नैक्स के तौर पर खा सकते हैं। बादाम का स्वाद बढ़ाने के लिए इसे रोस्ट कर सकते हैं या फिर दूध में डालकर ले सकते हैं। इसके अलावा बादाम में निम्न तत्व होते हैंः

  • 21.15 ग्राम प्रोटीन
  • 12.5 ग्राम फाइबर
  • 733 मि.ग्रा. पोटैशियम
  • 270 मि.ग्रा. मैग्नीशियम

(और पढ़ें - बादाम खाने का सही तरीका)

एवोकाडो

एवोकाडो एक बेहतरीन फल है, जिसमें शुगर की मात्रा बहुत कम होती है और असंख्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं। हर व्यक्ति को अपनी डाइट में इस फल को जरूर शामिल करना चाहिए। हर 100 ग्राम एवोकाडो में 2.07 मि.ग्रा. विटामिन ई होता है। इसके साथ-साथ 100 ग्राम एवोकाडो में 10 मि.ग्रा. विटामिन सी भी होता है। इसे आप स्नैक्स के तौर पर भी खा सकते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि एवोकाडो में केले से भी ज्यादा पोटैशियम होता है।

(और पढ़ें - एवोकैडो तेल के फायदे)

पालक

हरी सब्जियों की तरह पालक भी कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें विटामिन ई के साथ-साथ फाइबर, पोटैशियम भी उच्च मात्रा में पाया जाता है। 100 ग्राम कच्चे पालक में 2.03 मि.ग्रा.विटामिन ई होता है। इसमें विटामिन ए भी प्रचुरता में पाया जाता है। इसके साथ ही 100 ग्राम पालक में निम्न तत्व भी मौजूद हैंः

  • 28.1 मि.ग्रा. विटामिन सी
  • 2.2 ग्राम फाइबर
  • 558 मि.ग्रा. पोटैशियम

(और पढ़ें - पालक का सूप बनाने की विधि)

विटामिन ई के अन्य स्रोत

यू.एस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार विटामिन ई नट्स जैसे मूंगफली, अखरोट और हेजलनट में मौजूद होता है। इसके अलावा वेजिटेबल ऑयल जैसे सूरजमुखी का तेल, गेंहू के अंकुर (वीट जर्म), कुसुम के फूल, मकई, सोयाबीन के तेल में भी यह विटामिन पाया जाता है। हरी सब्जियां जैसे ब्रोकली भी विटामिन ई का अच्छा स्रोत है।

और पढ़ें ...