myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मलाशय गुदा के ऊपर पाचन तंत्र का एक हिस्सा है, जहां मल शरीर से बाहर निकलने से पहले इकठ्ठा होता है। जहां मल होता है उसी स्थान को मलाशय कहते हैं। मलाशय में किसी बाहरी पदार्थ के फंस जाने को अंग्रेजी में 'फॉरेन ऑब्जेक्ट इन द रेक्टम' कहते हैं।

  1. मलाशय में कुछ फंस जाने पर क्या करना चाहिए - Malashay me kuch fans jane par kya karen
  2. मलाशय में कुछ फंस जाने पर डॉक्टर को कब दिखाएं - Malashay me kuch fans jane par doctor ke paas kab jayen

अधिकतर लोगों को मलाशय में कुछ फंस जाने पर किसी तरह के कोई संकेत या लक्षण नजर नहीं आते हैं। इसकी वजह से खासकर बच्चों और मानसिक रोग से ग्रस्त लोगों में इसका निदान मुश्किल हो सकता है, क्योंकि उन्हें इस स्थिति के लक्षण एवं संकेत समझ नहीं आ पाते हैं। वहीं कुछ मामलों में अगर समय पर इलाज न किया जाए तो स्थिति गंभीर हो सकती है जिससे लक्षण सामने आने लगते हैं। इसके सबसे सामान्य लक्षणों में पेट दर्दमतली और उल्टी, बुखार और मलाशय से खून आना शामिल हैं। 

ज्यादातर वस्तुएं गुदा से ही शरीर के अंदर जाती हैं लेकिन कभी-कभी बाहरी पदार्थ निगलने पर वो पाचन मार्ग से गुजरता हुआ मलाशय में जाकर अटक जाता है। मलाशय में फंसने वाली बाहरी चीजों में फल और सब्जियां, मोमबत्ती, गुदा में प्रयोग की जाने वाली वस्तुएं जैसे कि वाइब्रेटर, यौन संतुष्टि के लिए इस्तेमाल की जाने वाली चीजें  इत्यादि शामिल हैं। मुख्यतः तीन स्थितियों (बच्चों में खेलते समय, मानसिक रोगियों में या फिर शारीरिक उत्पीड़न के दौरान) में मलाशय में बाहरी चीज फंसने की संभावना ज्यादा रहती है।

  • जिनके मलाशय में कोई ऐसी बाहरी वस्तु फंस गई है, जो गुदा से बाहर दिख या महसूस नहीं हो पा रही है तो इस स्थिति में तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर विजिट करनी चाहिए। 
  • कुछ मामलों में, बाहरी वस्तु गुदा के करीब हो तो इसे आपातकालीन विभाग में जाकर निकलवाया जा सकता है। 
  • यदि ऑब्जेक्ट मलाशय में काफी अंदर तक फंसा है, तो इसे ऑपरेशन के जरिए निकाला जा सकता है। ये प्रक्रिया एनेस्थीसिया देने के बाद की जाती है। यदि पेट में इंफेक्शन, आंत में छेद या गुदा से ज्यादा मात्रा में खून निकल रहा हो तो ऐसी स्थिति में आपातकालीन सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है।

कई लोग शर्मिंदगी या खुद का मजाक बनने के डर से मलाशय में फंसी वस्तु को खुद ही निकालने की कोशिश करने लगते हैं जोकि खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि केवल डॉक्टर ही इस स्थिति को ठीक कर सकते हैं। मलाशय में फंसी वस्तु को जितनी जल्दी हटा दिया जाए उतना ही बेहतर होता है।

कभी-कभी डॉक्टर मलाशय में फंसी बाहरी वस्तु को हटाने के लिए मलाशय की परत (लाइनिंग) और बाहरी चीज (ऑब्जेक्ट) के बीच एक ट्यूब डालकर उस वस्तु पर दबाव बनाकर उसे बाहर निकालते हैं। बता दें, यह प्रक्रिया थोड़ी असुविधाजनक होती है और इस प्रक्रिया के लिए मरीज को बेहोश किया जाता है।

और पढ़ें ...