myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

दिल्ली में जल्दी ही टेलिमेडिसिन सेवा शुरू हो सकती है। दिल्ली सरकार के हवाले से आई मीडिया रिपोर्टों में यह जानकारी दी गई है। टाइम्स ऑफ इंडिया (टीओआई) अखबार ने एक सूत्र से मिली जानकारी के आधार पर बताया है कि जल्दी ही दिल्ली सरकार के तहत आने वाले अस्पताल नॉन-कोविड-19 मरीजों के लिए टेलिमेडिसिन सेवाएं शुरू कर सकते हैं। इसके तहत लोग इन अस्पतालों के शीर्ष मेडिकल विशेषज्ञों से दवाओं को लेकर सलाह ले सकेंगे। यह योजना उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण बताई जा रही है, जो कोविड-19 संकट के चलते अस्पताल नहीं जा पा रहे, क्योंकि उन्हें स्वास्थ्य संकट से निपटने के लिए कोविड फेसिलिटी के रूप में तब्दील कर दिया गया है।

(और पढ़ें - कोविड-19: दूसरे सेरो सर्वे में दिल्ली की 29 प्रतिशत आबादी में एंटीबॉडी मिलने की पुष्टि, लेकिन हर्ड इम्यूनिटी से जुड़ी उम्मीदों को डब्ल्यूएचओ का बड़ा झटका)

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक सूत्र ने बताया, 'पिछले पांच महीनों से दिल्ली सरकार के बड़े अस्पताल नॉन-कोविड मरीजों को नहीं देख पा रहे हैं। ये अस्पताल दिल्ली के बड़े इलाकों को कवर करते हैं। अब (कोरोना वायरस के) मामले कम हो गए हैं और दिल्ली सरकार कोविड-19 के चलते पैदा हुई स्थिति से निपटने में कामयाब रही है। ऐसे में अन्य मरीजों के इलाज को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं।' सूत्र की मानें तो बीते हफ्ते इस मुद्दे पर दिल्ली सरकार के अस्पतालों के वरिष्ठ डॉक्टरों की एक मीटिंग हुई थी। इस बैठक में हुई चर्चा को लेकर उसने कहा, 'उनमें से कइयों की राय है कि हम टेलिमेडिसिन से जुड़ी सुविधाएं दे सकते हैं। हालांकि अभी कुछ तय नहीं हुआ है। संभवतः इस हफ्ते कोई फैसला लिया जा सकता है।'

(और पढ़ें - दिल्ली में कोविड-19 का डबलिंग रेट 50 दिन हुआ, राष्ट्रीय औसत है 20 दिन: दिल्ली सरकार)

राजधानी में गैर-कोरोना मरीजों के लिए टेलिमेडिसिन सेवा शुरू करने की अटकलें ऐसे समय में सामने आई हैं, जब मानसून के चलते मच्छरों से होने वाली बीमारियों के फैलने का खतरा पैदा हो गया है। इनमें डेंगू और मलेरिया जैसे रोग मुख्य रूप से शामिल हैं। ऐसे में लोकनायक अस्पताल सहित कई समर्पित कोविड अस्पतालों में टेलिमेडिसिन सेवा की शुरुआत करने का विचार किया जा रहा है। लोकनायक के अलावा इन अस्पतालों में गुरु तेग बहादुर, राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी, दीनदायल उपाध्याय और डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर जैसे अस्पताल शामिल हैं। लेकिन अभी यह साफ नहीं है कि ये अस्पताल टेलिमेडिसिन की शुरुआत कब करने वाले हैं।

(और पढ़ें - कोविड-19: दिल्ली में एक्टिव मामलों की संख्या 10 हजार से कम हुई- सरकार)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें