myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गर्भावस्‍था के दौरान प्रोटीन सप्‍लीमेंट का सेवन हमेशा से ही सवालों से घिरा रहा है। चूंकि, भ्रूण के सही विकास के लिए मां का आहार महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। गर्भावस्‍था में प्रोटीन का सेवन ज्‍यादा करने की सलाह दी जाती है।

गर्भावस्‍था में प्रोटीन की कमी की वजह से समय से पहले शिशु का जन्‍म (प्रीटर्म बर्थ) या शिशु का वजन कम हो सकता है। हालांकि, इस सूक्ष्‍म पोषक तत्व के अत्‍यधिक सेवन के कारण फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है। अधिकतर महिलाओं को इस बात को लेकर उलझन रहती है कि उन्‍हें कितनी मात्रा में प्रोटीन लेना चाहिए। अगर आप भी प्रेगनेंसी में प्रोटीन सप्‍लीमेंट के इस्‍तेमाल को लेकर चिंतित हैं तो इस लेख को जरूर पढ़ें।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में देखभाल)

 
  1. गर्भावस्‍था के दौरान प्रोटीन पाउडर का महत्‍व
  2. क्‍या गर्भावस्‍था के दौरान प्रोटीन पाउडर सुरक्षित है?
  3. गर्भावस्‍था में कब शुरु करें प्रोटीन पाउडर का इस्‍तेमाल

यूसीएसएफ बेनिनोफ चिल्‍ड्रन हॉस्पिटल के अनुसार गर्भावस्‍था के दौरान कुल कैलोरी का 20 से 25 फीसदी प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। हालांकि, ये प्रेगनेंसी से पहले आपके वजन पर भी निर्भर करता है। सामान्‍य वजन वाली महिलाओं की तुलना में अंडरवेट महिलाओं को ज्‍यादा प्रोटीन की जरूरत होती है। गर्भावस्‍था के हर चरण में प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ा सकते हैं।

जरनल एनल्‍स ऑफ न्‍यूट्रिशियन एंड मेटाबोलिज्‍म में प्रकाशित हुए एक अध्‍ययन के अनुसार प्रेगनेंसी के दूसरे चरण में शरीर को आपके वजन के प्रति कि.ग्रा के हिसाब से 0.9 ग्राम और गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में 1.0 ग्राम प्रोटीन की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए।

हालांकि, अगर आप शाकाहारी या वेगन हैं तो आपके लिए अपने आहार से प्रोटीन की पूर्ति करना मुश्किल होगा इसलिए आप प्रोटीन पाउडर से अपने शरीर की प्रोटीन की जरूरत को पूरा कर सकती हैं।

(और पढ़ें - वीगन या शाकाहारी: क्या है ज्यादा फायदेमंद?)

अगर आपका वजन बहुत कम है या आप अंडरवेट हैं या आपके आहार में प्रोटीन की मात्रा कम है तो आपको गायनेकोलॉजिस्‍ट दिन में एक या दो बार दूध के साथ लेने की सलाह दी जा सकती है। अगर आपको प्रोटीन पाउडर का स्‍वाद पसंद नहीं है तो आप इसे स्‍मूदी या शेक में मिलाकर पी सकती हैं। अगर आप पहली बार मां बन रही हैं तो प्रोटीन पाउडर सप्‍लीमेंट के बारे में अपने डॉक्‍टर से जरूर बात करें।

डॉक्‍टर की सलाह पर गर्भावस्‍था में प्रोटीन पाउडर का सेवन करना पूरी तरह से सुरक्षित है। हालांकि, निम्‍न बातों को ध्‍यान में रखना बहुत जरूरी है:

  • कोई भी सप्‍लीमेंट खरीदने से पहले उसका लेबल जरूर चैक करें। आर्टिफिशियल प्रोटीन का सेवन करना सही नहीं है। इसकी जगह आप पौधे या पशु से प्राप्‍त (प्लांट बेस्ड) प्रोटीन पाउडर का इस्‍तेमाल कर सकती हैं।
  • प्रोटीन पाउडर में इस्‍तेमाल हुई सभी सामग्रियों को अच्‍छी तरह से चैक करें। इसमें शुगर या प्रिजरवेटिव का प्रयोग नहीं होना चाहिए।
  • किसी भी गलत चीज़ का सेवन करने से बचने के लिए प्रोटीन सप्‍लीमेंट के इस्‍तेमाल से पहले उसे डॉक्‍टर को जरूर दिखाएं।
  • अधिक खुराक या डॉक्‍टर द्वारा बताई गई समयावधि से ज्‍यादा समय तक प्रोटीन पाउडर का सेवन करने से बचें।
  • इसके अलावा इस बात की भी पुष्टि कर लें कि प्रोटीन पाउडर में कोई ऐसी सामग्री तो मौजूद नहीं है जिससे आपको एलर्जी हो।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी के बाद पेट कम करने का उपाय)

प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर शुरु करने को लेकर कोई निश्‍चित समय नहीं है। अगर आप अंडरवेट हैं तो आपको गर्भधारण करने से पहले ही प्रोटीन युक्‍त आहार या प्रोटीन सप्‍लीमेंट का सेवन शुरु कर देने की जरूरत है।

गर्भधारण से पहले आपको अपने वजन के अनुसार प्रति कि.ग्रा 0.8 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। इसका मतलब है कि अगर आपका वजन 60 कि.ग्रा है तो आपको 60x0.8=48 ग्राम प्रोटीन रोज लेना चाहिए। वजन के अलावा आपको रोज कम से कम 40 ग्राम प्रोटीन का सेवन जरूर चाहिए। डॉक्‍टर की सलाह पर प्रेगनेंसी में प्रोटीन की इस मात्रा को बढ़ा देना चाहिए।

प्रसव के बाद स्‍तनपान करवाने के दौरान भी आपको कुछ मात्रा में प्रोटीन का सेवन करते रहना चाहिए। इससे न केवल स्‍तनपान के दौरान शिशु को पोषण मिलेगा बल्कि आप भी प्रसव के बाद जल्‍दी रिकवर कर पाएंगीं।

(और पढ़ें - स्तनपान से जुड़ी समस्याएं)

और पढ़ें ...

References

  1. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Maternal Diet
  2. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; High-protein supplementation during pregnancy
  3. Elango R, Ball RO. Protein and Amino Acid Requirements during Pregnancy. Adv Nutr. 2016 Jul; 7(4): 839S–844S. PMID: 2742252
  4. Richter M, Baerlocher K, Bauer J.M.c, Elmadfa I, Heseker H, Leschik-Bonnet E. Stangl G, Volkert D, Stehle P. Revised Reference Values for the Intake of Protein. Ann Nutr Metab 2019;74:242–250
  5. University of California San Francisco [Internet]. Benioff children hospital, San Francisco; Eating Right Before and During Pregnancy
  6. Liberato SC, Singh G, Mulholland K. Effects of protein energy supplementation during pregnancy on fetal growth: a review of the literature focusing on contextual factors. Food Nutr Res. 2013 Nov 12;57:10.3402/fnr.v57i0.20499. PMID: 24235913.
ऐप पर पढ़ें