myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट क्या है?

एंटी-डबल-स्ट्रेन्डेड डीएनए एंटीबॉडीज एक विशेष प्रकार के ऑटोएंटीबॉडी समूह से होते हैं जिन्हें एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडीज कहा जाता है। ऑटोएंटीबॉडीज एक विशेष प्रकार के एंटीबॉडी हैं जो इनकी अपनी ही कोशिकाओं के विरुद्ध बनाए जाते हैं। ये ऑटोएंटीबॉडी स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला कर के उन्हें नष्ट कर देते हैं जिसके कारण शरीर की सामान्य कार्य-प्रक्रिया प्रभावित हो जाती है। एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी कोशिका के न्यूक्लियस में मौजूद डीएनए को प्रभावित करते हैं। आमतौर पर इन ऑटोएंटीबॉडी की उपस्थित होने पर शरीर में लुपस नाम का ऑटोइम्यून विकार हो जाता है।

  1. एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है - Anti ds-DNA antibody Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट से पहले - Anti ds-DNA antibody Test Se Pahle
  3. एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट के दौरान - Anti ds-DNA antibody Test Ke Dauran
  4. एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Anti ds-DNA antibody Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट किसलिए किया जाता है?

हालांकि इस टेस्ट का प्राथमिक उद्देश्य खून में एंटी-डीएस डीएनए के स्तर का पता लगाना होता है। यह मुख्य तौर पर अन्य ऑटोएंटीबॉडी टेस्ट के साथ लुपस के परीक्षण के लिए किया जाता है। डॉक्टर इस टेस्ट की सलाह तब हैं, जब व्यक्ति में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं:

जिन लोगों में लुपस का पता लग चुका है उनमें इस बीमारी की स्थिति पर नजर रखने के लिए भी यह टेस्ट किया जा सकता है।

एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट के लिए किसी विशेष तैयारी की जरूरत नहीं है। हालांकि, ब्लड सैंपल लिया जाना है इसीलिए टेस्ट के लिए आप ढीले और आरामदायक कपड़े पहन कर जाएं ताकि ब्लड सैंपल लेने में आसानी हो।

एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट कैसे किया जाता है?

डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लेंगे। हो सकता है कि आपको हल्का-सा दर्द हो। 

ब्लड टेस्ट से जुड़े कुछ सामान्य खतरे निम्न हैं:

  • ब्लड सैंपल लेने में कठिनाई 
  • रक्त निकाली गई जगह से अत्यधिक रक्त स्त्राव 
  • बेहोशी 
  • हीमेटोमा (त्वचा में रक्त जमना)
  • जिस जगह सुई लगी है वहां संक्रमण

ब्लड सैंपल लेने के बाद सैंपल को टेस्ट एपरेटस में डाला जाता है जिसमें एंटीजन (पदार्थ जो एंटीबॉडीज के विरोध में बनते हैं) होते हैं। यदि सैंपल में किसी विशेष एंटीजन के विरोध में बने एंटीजन हुए तो ये दोनों आपस में जुड़ जाएंगे। इसके बाद, एपरेटस में एक एंजाइम मिलाया जाएगा ताकि सैंपल में किसी भी प्रकार के रंग संबंधी बदलावों को देखा जा सके। रंग संबंधी बदलाव सैंपल में एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी की मौजूदगी दिखाते हैं।

एंटी-डीएस डीएनए एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम:
टेस्ट के नेगेटिव रिजल्ट एंटी-डीएस डीएनए के कम स्तर या इनकी अनुपस्थिति को दिखाते हैं। हालांकि, इसका मतलब ये नहीं है कि व्यक्ति को लुपस न हो, आंकड़ों के अनुसार केवल 50%-70% लुपस के मरीजों के रक्त में एंटी-डीएस डीएनए पाया जाता है।

इस टेस्ट की सामान्य रेफरेंस रेंज <10 IU/mL होती है। 

असामान्य परिणाम:
निम्न नतीजों को असामान्य माना जाता है:

  • 10-15 IU/mL: बॉर्डरलाइन 
  • >15 IU/mL: पॉजिटिव 
  • >400 IU/mL: अत्यधिक वैल्यू 

पॉजिटिव रिजल्ट का मतलब होता है कि परिणाम असामान्य हैं। 

एंटी-डीएस डीएनए के अधिक स्तर लुपस होने का संकेत देते हैं। ऐसे मामलों में डॉक्टर परीक्षण की पुष्टि के लिए कुछ अन्य टेस्ट करेंगे। 

ऑटोएंटीबॉडीज के कम या मध्यम स्तर ऑटोइम्यून विकार के होने का संकेत दे सकते हैं जैसे स्जोग्रेन सिंड्रोम और मिक्स्ड कनेक्टिव टिश्यू डिसऑर्डर।

और पढ़ें ...

References

  1. American College of Rheumatology [internet]. Rheumatology Research Foundation. Antinuclear Antibodies (ANA)
  2. Pagana KD, Pagana TJ, Pagana TN. Mosby’s Diagnostic and Laboratory Test Reference. 12th ed. Saint Louis, MO: Mosby, Inc. Pp:73,74.
  3. Lupus Research Alliance [internet]. NY, U.S. ANA Testing
  4. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; Lupus Blood Tests
  5. National Health Service [internet]. UK; DNA Antibody (Anti-Double Stranded DNA)