myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन (सीईए) टेस्ट क्या है?

सीईए टेस्ट का उपयोग मुख्य रूप से खून में कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन की मात्रा की जांच करने के लिए किया जाता है। सीईए प्रोटीन अधिक मात्रा में भ्रूण के ऊतकों में होता है। जन्म के बाद सीईए का स्तर कम होने लगता और फिर इसका पता नहीं लग पाता। स्वस्थ वयस्कों के रक्त में सीईए या तो बहुत कम मात्रा में होता है या बिलकुल भी नहीं होता। लेकिन कुछ विशेष प्रकार के कैंसर के दौरान सीईए का स्तर बढ़ना शुरू हो सकता है।

सीईए एक ट्यूमर मार्कर है, जिसका प्रयोग कोलन कैंसर (आंत का कैंसर) का पता लगाने  के लिए किया जाता है। सीईए का स्तर कुछ विशेष प्रकार के कैंसर जैसे रेक्टल कैंसर, ओवेरियन कैंसर, फेफड़ों का कैंसर, थायराइड और लिवर के कैंसर में बढ़ता हुआ पाया गया है। इसलिए यह कैंसर थेरेपी का प्रभाव और प्रतिक्रिया की जांच करने का एक जरिया बन गया है।

(और पढ़ें - ब्लड टेस्ट क्या है)

  1. कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन क्यों किया जाता है - CEA Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन से पहले - CEA Test Se Pahle
  3. कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन के दौरान - CEA Test Ke Dauran
  4. कार्सिनोएंब्रियोनिक एंटीजन के परिणाम का क्या मतलब है - CEA Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

सीईए टेस्ट क्यों किया जाता है?

हालांकि, सीईए एक ट्यूमर मार्कर है, फिर भी यदि इसका पता बिल्कुल स्पष्ट नहीं होगा तो कैंसर के विशेष प्रकार का पता नहीं चल पाएगा। ये व्यक्ति के शरीर में कैंसर थेरेपी पर हो रही प्रतिक्रिया की जांच करने में सहायक है। सीईए का प्रयोग निम्न के लिए किया जाता है:

  • कोलन कैंसर के इलाज की प्रतिक्रिया पर निगरानी रखने के लिए 
  • कुछ विशेष कैंसर के मार्कर के रूप में कैंसर जैसे थायराइड, रेक्टम, ब्रैस्ट कैंसर, ओवरी, पेट और लिवर का कैंसर 
  • खून के अलावा, शरीर के द्रवों की जांच के लिए ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं कैंसर छाती और पेट के हिस्सों में तो नहीं फैल गया है।

यह टेस्ट कैंसर थेरेपी को शुरू करने से पहले किया जाता है ताकि सीईए के आधारभूत मूल्यों का पता लगाया जा सके। यह टेस्ट क्रमिक रूप से किया जाता है, यह पता लगाया जा सके कि थेरेपी कितने अच्छे से काम कर पा रही है या यह रोग फिर से तो नही हो रहा है।

कभी-कभी यह टेस्ट तब भी किया जाता है, जब कैंसर के होने का संदेह होता है पर पुष्टि नहीं होती। ऐसे मामलों में यदि सीईए का स्तर बढ़ता हुआ पाया जाता है तो इसका मतलब है कि व्यक्ति को कैंसर है। 

 

सीईए टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

आमतौर पर सीईए के स्तर की जांच के लिए किसी भी विशेष तैयारी और सावधानियों की आवश्यकता नहीं होती।

सीईए टेस्ट कैसे किया जाता है?

यह एक सामान्य टेस्ट है, जिसमें पांच मिनट से भी कम का समय लगता है। एक अनुभवी डॉक्टर बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लेता है। खून की छोटी सी मात्रा को टेस्ट ट्यूब में रखा जाता है और आगे के परीक्षण के लिए लैब में भेज दिया जाता है। बांह में सुई लगने से कुछ मिनट चुभन जैसा दर्द हो सकता है।

हल्का सा खतरा चक्कर आने, दर्द होने और इंजेक्शन की जगह पर नील पड़ने का हो सकता है। हालांकि, अधिकतर ये लक्षण जल्द ही गायब हो जाते हैं। कभी-कभार जिस जगह में ब्लड सैंपल लिए हैं वहां से कोई संक्रमण हो सकता है।

कुछ विशेष मामलों में जब कैंसर के स्तर को शरीर के बाकि हिस्सों (पेट और छाती) में बढ़ता हुआ पाया जाता है, तो शरीर के द्रव का एक सैंपल ले लिया जाता है।

सामान्य तौर पर जिन द्रवों का सैंपल लिया जाता है, उनमें मस्तिष्कमेरु द्रव, पेरिटोनियल द्रव और प्लेयुरल द्रव शामिल हैं।

सीईए टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सीईए के स्तर नैनोग्राम प्रति मिलीलीटर (ng/mL) में मापे जाते हैं। 

सामान्य परिणाम:
यदि सीईए का स्तर 3 ng/mL  या इस से कम है, तो टेस्ट के रिजल्ट को सामान्य माना जाता है। 

असामान्य परिणाम:
सीईए के उच्च स्तर कैंसर की ओर संकेत करते हैं, लेकिन कैंसर के विशेष प्रकार को नहीं बताते। ये निम्न की जांच के लिए उपयोग किया जाता है:

  • थेरेपी का असर:
    सीईए के स्तर की जांच कैंसर थेरेपी को शुरू करने से पहले की जाती है ताकि थेरेपी शुरू होने के बाद नियमित रूप से इस स्तर पर नज़र रखी जा सके। यदि थेरेपी के बाद भी सीईए के स्तर अधिक ही रहते है तो इसका मतलब है कि व्यक्ति का शरीर थेरेपी की ओर कम या बिलकुल न के बराबर प्रतिक्रिया कर रहा है। हालाँकि, यदि सीईए का स्तर कम होता नज़र आता है तो इस बात का संकेत है कि व्यक्ति को थेरेपी का असर हो रहा है।
     
  • स्टैगिंग:
    कैंसर में सीईए के कम स्तर या धीरे-धीरे बढ़ते स्तर यह बताते हैं, कि ट्यूमर अभी शुरुआती अवस्था में है। वहीं सीईए के अधिक स्तर या तेज़ी से बढ़ते स्तर इस बात का संकेत देते हैं कि ट्यूमर अधिक बढ़ चुका है।
     
  • दोबारा होना:
    थेरेपी के बाद जब सीईए के स्तर घट जाते हैं और फिर दोबारा बढ़ने लगते हैं, तो इस बात का संकेत देते हैं कि कैंसर फिर से हो गया है।
     
  • रूप परिवर्तन:
    जब कैंसर शरीर के दूसरे भागों में भी बढ़ता पाया जाता है तो सीईए का स्तर  भी शरीर के द्रव में बढ़ जाता है। यदि कैंसर तंत्रिका तंत्र तक फैल गया है तो सीईएसएफ में सीईए का जमाव अधिक होगा। यदि कैंसर पेट तक पहुंच चुका है तो सीईए पेरिटोनियल द्रव में मिलेगा, यदि कैंसर छाती तक फैल गया है तो सीईए प्लयूरल द्रव में पाया जाएगा। इसलिए सीईए कैंसर के बदलते रूप की भी जांच करने में भी सहायक है।

सीईए का स्तर कभी-कभी नॉन कैंसर स्थितियों में भी बढ़ जाता है जैसे सूजन, सिरोसिस (लिवर की बीमारी), अल्सरेटिव कोलाइटिस, पेप्टिक अल्सर, इम्फीसेमा, रेक्टल पोलिप्स (Rectal polyps) और ब्रेस्ट रोग। यह धूम्रपान करने वाले लोगों में भी अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसीलिए, यह परिक्षण का मानक या स्क्रीनिंग टूल नहीं माना जाता क्योंकि इसकी विशिष्टता कम होती है।

नोट: टेस्‍ट के रिजल्‍ट और व्‍यक्‍ति के लक्षणों के आधार पर ही उचित निदान किया जाना चाहिए। उपरोक्त जानकारी पूरी तरह से शैक्षिक दृष्टिकोण से दी गई है और यह किसी भी तरह से डॉक्‍टर की चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है।

और पढ़ें ...

References

  1. Oncolink. Patient Guide to Tumor Markers. Penn medicine;University of Pennsylvania
  2. MedlinePlus Medical: US National Library of Medicine; CEA blood test
  3. American Cancer Society [internet]. Atlanta (GA), USA; Finding Advanced Cancer
  4. National Cancer Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Tumor Markers
  5. American Association for Clinical Chemistry. Cerebrospinal Fluid (CSF) Analysis. Washington, D.C, United States
  6. American Association for Clinical Chemistry. Carcinoembryonic Antigen (CEA). Washington, D.C, United States
  7. American Association for Clinical Chemistry. Pleural Fluid Analysis. Washington, D.C, United States
  8. American Association for Clinical Chemistry. Peritoneal Fluid Analysis. Washington, D.C, United States
  9. National Cancer Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; NCI Dictionary of Cancer Terms
  10. MSD mannual consumer version [internet].Diagnosis of Cancer. Merck Sharp & Dohme Corp. Merck & Co., Inc., Kenilworth, NJ, USA
  11. National Heart, Lung, and Blood Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Blood Tests
  12. UFhealth. Peritoneal fluid analysis. University of Florida health [internet].
  13. UFhealth. CEA blood test. University of Florida health [internet].
  14. UFhealth. Pleural fluid analysis Primary tabs. University of Florida health [internet].
  15. UW Health. Carcinoembryonic Antigen (CEA). University of Wisconsin Hospitals; Wisconsin, United States [internet].
  16. University of Rochester Medical Center. Carcinoembryonic Antigen. Rochester, New York [internet].