इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट क्या है?

इम्युनोग्लोबुलिन वे प्रोटीन हैं जो कि हमारा शरीर एंटीजन के विरोध में बनता है। एंटीजन ऐसे पदार्थ हैं जिसको हमारा शरीर हानिकारक मानता है। इनमें बैक्टीरिया, वायरस, कैंसर कोशिकाएं और अन्य विषाक्त आदि शामिल हैं।

विशिष्ट इम्युनोग्लोबुलिन कुछ विशेष एंटीजन के विरोध में बनाए जाते हैं,  इसका मतलब है कि कोई भी एंटीबॉडी केवल उसी एंटीजन पर हमला करेगा जिसके लिए वह बना है। उदाहरण के लिए ट्यूबरकुलोसिस इम्युनोग्लोबुलिन सिर्फ ट्यूबरकुलोसिस बैक्टीरिया पर ही हमला करते हैं,  ये किसी अन्य बैक्टीरिया के विरोध में कार्य नहीं करते। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली की भी अपनी एक याददाश्त होती है। एक बार जब यह किसी एंटीजन के संपर्क में आ जाती है तो वे बीमारी वाले एंटीजन को याद कर लेती है और अगली बार जब ये एंटीजन शरीर में आते हैं तो तुरंत ही उनके विरोध में एंटीबॉडीज बन जाते हैं। हालांकि, कभी-कभी प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से स्वस्थ अंगों और ऊतकों के विरोध में भी एंटीबॉडीज बना देती है जिसके कारण ऑटोइम्यून रोग हो जाते हैं। ऐसे एंटीबॉडीज को ऑटोएंटीबॉडीज़ कहा जाता है।

इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट या टोटल इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट रक्त में एंटीबॉडीज या फिर इम्युनोग्लोबुलिन- आइजीए, आईजीजी और आईजीएम की पहचान करता है। ऐसा करने से पहले कभी या हाल ही में हुए संक्रमणों, रोगों या ऑटोइम्यून स्थितियों की पहचान की जा सके।

इस टेस्ट से जिन तीन इम्युनोग्लोबुलिन की पहचान की जा सकती है, वे निम्न हैं :

  • आईजीएम
    यह सबसे बड़ा एंटीबॉडी है जो कि एंटीजन की प्रतिक्रिया के रूप में सबसे पहले बनाया जाता है। आईजीएम पूरे एंटीबॉडीज का 5% से 10% होता है, यह रक्त और लसिका ग्रंथि दोनों में पाया जाता है।
     
  • आईजीजी
    आईजीजी सबसे छोटे एंटीबॉडीज हैं लेकिन ये सबसे सामान्य हैं। यह संपूर्ण एंटीबॉडीज का 75% से 80% भाग होता है, यह एंटीबॉडीज वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण से लड़ने के लिए जरुरी है। आईजीजी किसी भी संक्रमण के बाद शरीर में सबसे लंबे समय तक रहते हैं और संक्रमण को याद रखने में प्रतिरक्षा प्रणाली की मदद करते हैं। यही वे एंटीबॉडीज हैं जो कि दोबारा संक्रमण होने पर तुरंत प्रतिक्रिया करते हैं।

    इसके अलावा आईजीजी ही केवल अकेला ऐसा एंटीबॉडी है जो कि गर्भनाल से निकल सकता है, इसीलिए गर्भावस्था के दौरान ये शिशु की भी रक्षा कर सकते हैं।
     
  • आइजीए
    आइजीए एंटीबॉडीज संपूर्ण एंटीबॉडीज का 15% होता है। यह आंसू, लार, साइनस, फेफड़ों, माँ के दूध और पेट व आंतों के गैस्ट्रिक द्रवों में पाया जाता है। बच्चे के रक्त में जन्म के छह महीने बाद तक आइजीए एंटीबॉडीज नहीं होते, ये एंटीबॉडीज बच्चे में माँ के दूध द्वारा ही आते हैं।
  1. इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट क्यों किया जाता है - Immunoglobulin Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट से पहले - Immunoglobulin Test Se Pahle
  3. इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट के दौरान - Immunoglobulin Test Ke Dauran
  4. इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट के परिणाम और नॉर्मल रेंज - Immunoglobulin Test Result and Normal Range

इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट किसलिए किया जाता है?

डॉक्टर इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट की सलाह निम्न स्थितियों में दे सकते हैं :

यदि डॉक्टर को इम्युनोग्लोबुलिन के कम स्तर होने की वजह से कोई लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो भी इस टेस्ट को करवाने की सलाह दी जा सकती है :

  • इम्यून डेफिशियेंसी का पारिवारिक इतिहास
  • असामान्य या बार-बार होने वाले वायरल व बैक्टीरियल संक्रमण
  • फेफड़ों के संक्रमण
  • साइनस संक्रमण
  • लंबे समय से दस्त

इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट से पहले किसी भी तैयारी की जरुरत नहीं होती। ना ही भूखे रहने की आवश्यकता होती है। यदि आप कोई भी दवा, गैर कानूनी दवाई, विटामिन या सप्लीमेंट ले रहे हैं तो उसके बारे में टेस्ट से पहले डॉक्टर को बताएं। इसके अलावा आपने टेस्ट से छह महीने पहले कोई वैक्सीन ली है तो भी डॉक्टर को सूचित करें।

टेस्ट से पहले हाइड्रॉलेज़िन, फेनीटोइन, प्रोकैनामाइड, आइसोनियाजिड या टेटनेस की वैक्सीन न लें क्योंकि इससे इम्युनोग्लोबुलिन के स्तर बढ़ सकते हैं। हालांकि, बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा लेना बंद न करें।

इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट कैसे किया जाता है?

यह एक सामान्य ब्लड टेस्ट है। डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर रक्त की पर्याप्त मात्रा ले लेंगे।

इसमें तीन मिनट से भी कम का समय लगता है। टेस्ट के बाद आपको हल्का सा दर्द या इंजेक्शन लगी जगह पर नील भी पड़ सकता है, हालांकि ये लक्षण जल्द ही अपने आप ठीक हो जाएंगे।

इम्युनोग्लोबुलिन टेस्ट के परिणाम और नॉर्मल रेंज

सामान्य परिणाम

इम्युनोग्लोबुलिन आइजीए, आईजीएम और आईजीजी के लिए सामान्य परिणाम मिलीग्राम प्रति डेसीलिटर में लिखे जाते हैं। सामान्य परिणाम निम्न हैं :

इम्युनोग्लोबुलिन का प्रकार 

       बच्चे

        व्यस्क

आईजीजी

     250-1600  

      565-1765 

आइजीए

       1-350

         85-385

आईजीजी

       20-200

         55-375

आईजीडी और आईजीई

   कम से कम

सामान्य परिणाम का मतलब है कि आपको कोई भी संक्रमण या रोग नहीं है। 

यदि यह टेस्ट किसी इलाज की सफलता को जांचने के लिए किया जाता है तो सामान्य परिणाम का मतलब है कि इलाज ठीक सही तरीके से काम कर रहा है।

असामान्य परिणाम

बढ़ी हुई वैल्यू

इम्युनोग्लोबुलिन की प्रत्येक श्रेणी के बढ़े हुए स्तर निम्न की ओर संकेत करते हैं : 

घटी हुई वैल्यू
इम्युनोग्लोबुलिन डेफिशियेंसी की प्रत्येक श्रेणी विभिन्न स्थितियों की ओर संकेत करती हैं। ये स्थितियां निम्न हैं :

  • आईजीजी
    • ल्यूकेमिया
    • विस्कॉट–एल्ड्रिच सिंड्रोम
    • अगामाग्लोबुलेनिमिया
    • एड्स
    • हाइपोप्रोटिनेमिया
    • ड्रग इम्यूनोसप्रेशन (जैसे- स्टेरॉयड, डेक्सट्रान)
    • नॉन-आईजीजी मल्टीपल मायलोमा
       
  • आइजीए 
  • आईजीएम
    • आईजीजी या आइजीए मल्टीपल मायलोमा
    • अगामाग्लोबुलेनिमिया
    • एड्स
    • हाइपोप्रोटिनेमिया
    • ड्रग इम्यूनोसप्रेशन (जैसे- स्टेरॉयड, डेक्सट्रान)
    • ल्यूकेमिया
और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Michigan Medicine: University of Michigan [internet]; Immunoglobulins
  2. Stevens, Christine D and Miller, Linda E. Clinical Immunology and Serology: A Laboratory Perspective, 4th Edition: F.A Davis Company, Philadelphia, PA. pp 65-69 and 326-343.
  3. International Myeloma Foundation [Internet]. California (U.S.A.). [Link]
  4. Immune deficiency Foundation [internet]. Maryland (U.S). Specific Disease Types
  5. UW Health [Internet]. Madison (WI): University of Wisconsin Hospitals and Clinics Authority; Health Information: Immunoglobulins
  6. Hinkle J, Cheever K. Brunner & Suddarth's Handbook of Laboratory and Diagnostic Tests. 2nd Ed: Wolters Kluwer Health, Lippincott Williams & Wilkins; c2014. Quantitative Immunoglobulins: IgA, IgG, and IgM; 442–3 p.
  7. Australian Family Physician [internet]: The Royal Australian College of General Practitioners, East Melbourne, Victoria; Quantitative serum immunoglobulin tests
  8. National Heart, Lung, and Blood Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Blood Tests
  9. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Quantitative Immunoglobulins
  10. Pagana KD, Pagana TJ, Pagana TN. Mosby's Diagnostic and Laboratory Test Reference. 14th ed. Pp:536-538.
ऐप पर पढ़ें