myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट क्या है?

मम्प्स एक संक्रामक रोग है जो कि मम्प्स नाम के वायरस द्वारा फैलता है। यह वायरस छींकने, खांसने और संक्रमित व्यक्ति के साथ एक ही बर्तन में खाना खाने से होता है। मम्प्स ज्यादातर स्कूल के बच्चों में देखा जाता है। यदि किसी व्यक्ति का इसके संक्रमण के प्रति टीकारण नहीं हुआ है तो इसके संपर्क में आने से उसके संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है।

चूंकि मम्प्स जीवन के लिए घातक बीमारी नहीं होती इसीलिए इसके लक्षण भी अन्य गंभीर संक्रमणों जैसे टॉन्सिलाइटिस और ग्लैंडुलर फीवर जैसे होते हैं।

एक बार यदि आप इस वायरस से संक्रमित हो जाते हैं, तो आपका शरीर संक्रमण से लड़ने के लिए कुछ विशेष एंटीबॉडीज बनाने लगता है जिन्हें मम्प्स आईजीएम और आईजीजी कहते हैं।

मम्प्स एंटीबॉडी टेस्ट रक्त में इन एंटीबॉडीज की जांच करने के लिए किया जाता है ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि आपको मम्प्स संक्रमण है या नहीं।

  1. मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है - Mumps Virus Antibody Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट से पहले - Mumps Virus Antibody Test Se Pahle
  3. मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट के दौरान - Mumps Virus Antibody Test Ke Dauran
  4. मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Mumps Virus Antibody Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट किसलिए किया जाता है?

यदि आपको मम्प्स से जुड़े लक्षण दिखाई दें, तो डॉक्टर आपसे इस टेस्ट को करवाने के लिए कह सकते हैं। अधिकतर मामलों में मम्प्स के लक्षण वायरस से संक्रमण होने के 14 से 25 दिन बाद दिखाई देते हैं। संक्रमण के सामान्य लक्षण निम्न हैं :

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट की सलाह डॉक्टर यह जानने के लिए भी दे सकते हैं, कि आप इस वायरस के प्रति इम्यून (प्रतिरक्षी) हैं या नहीं। ऐसा आमतौर पर पहले कभी मम्प्स संक्रमण होने या  फिर टीकाकरण होने के बाद ही होता है। इसके बाद शरीर में आईजीजी एंटीबॉडीज की जांच कर के परीक्षण निश्चित किया जाता है।

इसके अलावा अगर आपको लार ग्रंथि का संक्रमण या मैनिंजाइटिस (मस्तिष्क की परत में सूजन) है, तो इस टेस्ट की सलाह मम्प्स का पता लगाने के लिए भी दी जा सकती है। 

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट से पहले यदि किसी तैयारी की जरूरत होगी, तो डॉक्टर आपको इस के बारे में बता देंगे। यदि आप किसी भी प्रकार की दवाएं या हर्बल सप्लीमेंट ले रहे हैं तो इस बारे में डॉक्टर को पहले ही जानकारी दें।

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट कैसे किया जाता है?

इस टेस्ट के लिए एक ब्लड सैंपल लेने की जरूरत होती है। डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लेंगे। सुई लगने से आपको हल्का सा दर्द हो सकता है। यदि आपको सुई से डर लगता है तो डॉक्टर को बता दें, डॉक्टर इसमें आपकी मदद करेंगे।

मम्प्स वायरस एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम

सामान्य परिणाम को नेगेटिव लिखा जाता है। नेगेटिव परिणाम का निम्न मतलब हो सकता है :

  • आप किसी भी तरह से मम्प्स वायरस के सम्पर्क में नहीं आए हैं और न ही आपका टीकाकरण हुआ है
  • आपके शरीर में मम्प्स है लेकिन सक्रिय नहीं है, जिसका मतलब है कि आप हाल ही वायरस के संपर्क में आए हैं, लेकिन लक्षण किसी अन्य कारण से दिखाई दे रहे हैं

असामान्य परिणाम

यदि आईजीजी एंटीबॉडीज के लिए आपके परिणाम पॉजिटिव आए हैं, तो इसका मतलब है कि या तो आपको पहले मम्प्स के लिए वैक्सीन दी गई है या फिर अभी दी जा रही है। आईजीजी एंटीबॉडीज इन्फेक्शन की प्रतिक्रिया के रूप में शरीर द्वारा धीरे-धीरे बनाए जाते हैं। ये एंटीबॉडीज संक्रमण से रक्षा के लिए आपके शरीर में जीवन भर रहेंगे। दूसरी तरफ आईजीएम एंटीबॉडीज संक्रमण की प्रतिक्रिया के स्वरूप में तुरंत बनाए जाते हैं। यदि टेस्ट में आईजीएम एंटीबॉडीज दिखाई देते हैं तो इसका मतलब है कि या तो आपको हाल ही में मम्प्स था या अभी भी है।

शरीर के वायरस से संपर्क में आने के तुरंत बाद आईजीएम एंटीबॉडीज बन जाते हैं और इनका स्तर बहुत अधिक हो जाता है, इसके बाद ये धीरे-धीरे घटने लगते हैं। हालांकि, यदि आपके टेस्ट के परिणाम में आईजीएम एंटीबॉडीज नेगेटिव आए हैं तब भी आपको मम्प्स हो सकता है। परीक्षण पर निर्णय लेने के लिए डॉक्टर कुछ अन्य टेस्ट भी कर सकते हैं।

और पढ़ें ...

References

  1. NSW Health [internet]: New South Wales government. Australia; Mumps
  2. National Health Service [internet]. UK; Mumps
  3. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Mumps Antibody
  4. National Health Service [internet]. UK; Blood tests
  5. National Health Service [internet]. UK; Can I take medication before having a blood test?
  6. Hodinka RL, Moshal KL: Childhood infections. In GA Storch. Essentials of Diagnostic Virology. Churchill Livingstone, New York, 2000, pp 168-178
  7. Hviid A, Rubin S, Muhlemann K. Mumps. Lancet 2008 Mar;371(9616):932-944. PMID: 18342688
ऐप पर पढ़ें