myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

इसमें कोई शक नहीं कि बादाम या आमंड्स दुनिया के सबसे प्रसिद्ध ड्राई फ्रूट्स में से एक है। पोषक तत्वों से भरपूर बादाम में हेल्दी फैट, एंटीऑक्सिडेंट्स, फाइबर, प्रोटीन, मैग्नीशियम और विटामिन ई समेत कई और विटामिन और मिनरल्स भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। बादाम, शरीर के ब्लड प्रेशर को कम करने के साथ ही ब्लड शुगर लेवल और कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने में मददगार है। इसके अलावा बादाम खाने के बाद काफी समय तक भूख नहीं लगती है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है। 

हेल्थ एक्सपर्ट्स और न्यूट्रिशनिस्ट्स भी यही कहते हैं कि बादाम सबसे हेल्दी फूड में से एक है और जब भी आपको छोटी-छोटी भूख लगे तो चटर-पटर या चिप्स जैसे अनहेल्दी स्नैक्स खाने की बजाए बादाम का सेवन कर सकते हैं। ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड, कैल्शियम और जिंक से भरपूर बादाम को बहुत से लोग सुपरफूड्स की कैटिगरी में भी रखते हैं और इसलिए स्वस्थ शरीर और स्वस्थ दिमाग के लिए रोजाना बादाम खाने की सलाह भी देते हैं।  

(और पढ़ें: बादाम के दूध के फायदे और नुकसान)

ये सारी बातें यह साबित करती हैं कि बादाम एक तरह से परफेक्ट फूड है और इसे अपनी डेली डायट में जरूर शामिल करना चाहिए। बावजूद इसके अक्सर लोगों के मन में बादाम को लेकर कई तरह के सवाल होते है। जैसे- बादाम को कैसे खाना चाहिए- कच्चा, पानी में भिगोकर या फिर रोस्ट करके? क्या गर्मी में बादाम खाना चाहिए? क्या गर्मी के मौसम में बादाम खाने से कोई नुकसान हो सकता है? गर्मी में बादाम खाने के क्या फायदे हैं? 

अगर आपके मन में भी इस तरह के सवाल हैं तो हम आपको इस आर्टिकल में बता रहे हैं गर्मी में बादाम को कैसे खाएं ताकि आपको मिले बादाम का पूरा फायदा। इसके अलावा क्या गर्मी के मौसम में ज्यादा बादाम खाने से किसी तरह का कोई नुकसान भी हो सकता है, इस बारे में भी यहां जानें।

  1. गर्मी में बादाम खाने के फायदे - Garmi me badam khane ke fayde
  2. गर्मी में ज्यादा बादाम खाने के नुकसान - Garmi me badam khane ke nuksan
  3. गर्मी में बादाम कैसे खाएं? - Garmi me badam kaise khaye?
  4. गर्मी में बादाम खाना चाहिए या नहीं? के डॉक्टर

अगर आप बादाम को पानी में भिगोकर खा रहे हैं तो आप गर्मी के मौसम में भी इसका सेवन कर सकते हैं। भीगे हुआ बादाम पाचन तंत्र के लिए अच्छा माना जाता है और इसे भिगो देने से इसमें मौजूद प्रोटीन को पचाना आसान हो जाता है। गर्मी के मौसम में पानी में भिगोकर रखा हुआ बादाम खाने के कई फायदे हैं:

(और पढ़ें : स्किन पर बादाम लगाने के फायदे)

जैसा कि हमने पहले ही बताया कि बादाम की तासीर गर्म होती है इसलिए गर्मियों के मौसम में बादाम का सेवन कम करना चाहिए वरना आपके शरीर में गर्मी बढ़ने की वजह से कई तरह की बीमारियां और समस्याएं हो सकती हैं। न्यूट्रिशनिस्ट्स की मानें तो गर्मी के मौसम में आप कितना बादाम खा रहे हैं इसका भी ध्यान रखना बेहद जरूरी है। लिहाजा रोजाना 6 से 7 बादाम से ज्यादा का सेवन न करें।

वैसे तो बादाम सेहत के लिए सुपरफूड है लेकिन अगर बहुत ज्यादा मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो शरीर को कई तरह के नुकसान भी हो सकते हैं:

  • ज्यादा बादाम खाने से फाइबर की अधिकता के कारण कब्ज, पेट फूलना या पेट खराब होने की समस्या हो सकती है
  • ज्यादा बादाम खाने से शरीर में विटामिन ई की अधिकता हो सकती है जिस कारण डायरिया, कमजोरी और देखने में दिक्कत महसूस हो सकती है
  • बादाम में फैट और कैलोरीज की मात्रा भी अधिक होती है तो ज्यादा बादाम खाने से वजन बढ़ने का खतरा भी रहता है

(और पढ़ें : बच्चों को बादाम कैसे खिलाएं और उसके फायदे)

बहुत से लोग यह मानते हैं और हेल्थ एक्सपर्ट्स और न्यूट्रिशनिस्ट्स भी यही सलाह देते हैं कि आपको कच्चा बादाम खाना कितना ही पसंद क्यों न हो लेकिन आपको कच्चा बादाम खाने से परहेज करना चाहिए खासकर गर्मी के मौसम में। ऐसा इसलिए क्योंकि बादाम की तासीर गर्म होती है और इसे खाने के बाद शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है। कच्चा बादाम शरीर में ज्यादा हीट उत्पन्न करने का काम करता है जिससे हमारे पाचन तंत्र पर दबाव बढ़ता है और पाचन की प्रक्रिया में अवरोध उत्पन्न हो सकता है। 

लिहाजा जब बाहर का मौसम इतना गर्म है और आपको अपने शरीर को अंदर से ठंडा रखना है, ऐसे मौसम में बेहद जरूरी है कि आप कच्चे बादाम का सेवन करने की बजाए बादाम को पानी में भिगोकर ही खाएं। हेल्थ एक्सपर्ट्स और न्यूट्रिशनिस्ट्स भी यही सलाह देते हैं कि बादाम को रातभर पानी में भिगोकर रख देना चाहिए और उसके बाद ही उसका सेवन करना चाहिए। पानी में भीगे हुए बादाम खाने से बादाम में मौजूद पोषक तत्वों को शरीर द्वारा अवशोषित करना आसान हो जाता है। 

(और पढ़ें : बादाम खाने का सही तरीका क्या है)

वैसे लोग जिनके शरीर में पित्त दोष की समस्या हो उन्हें तो हमेशा बादाम को भिगोकर ही उसका सेवन करना चाहिए। गर्मियों में तो जहां तक संभव हो बादाम को भिगोकर ही खाना चाहिए क्योंकि इससे शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है। बादाम को बिना भिगोए खाने पर पित्त दोष वाले लोगों के शरीर में असंतुलन हो सकता है जिस कारण फोड़े-फुंसी, बवासीर और कई दूसरी बीमारियां भी हो सकती हैं।

बादाम को अच्छी तरह से धो लें ताकि उनमें किसी तरह के दूषित तत्व न रहें और उसके बाद बादाम को करीब 10 से 12 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें। बादाम को पानी में भिगोने से उसमें मौजूद एन्जाइम लिपेस रिलीज होता है जो फैट को पचाने में फायेदमंद माना जाता है। इसके अलावा आप चाहें तो भीगे हुए बादाम को छिलके के साथ भी खा सकते हैं और छिलका हटाकर भी। कुछ लोगों का मानना है कि बादाम के छिलके में मौजूद फ्लैवनॉयड्स उसके एंटीऑक्सिडेंट पावर को बढ़ाने में मदद करता है जबकी कुछ शोधकर्ता ये भी मानते हैं कि बादाम के छिलके में टैनिन होता है जो उसके पोषक तत्वों को शरीर द्वारा सोखने में बाधा पहुंचाता है।

(और पढ़ें : बादाम का तेल भी है फायदेमंद)

Dt. Rajni Sharma

Dt. Rajni Sharma

आहार विशेषज्ञ

Dt. Ayushi Shah

Dt. Ayushi Shah

आहार विशेषज्ञ

Dr. Yogita Johar

Dr. Yogita Johar

आहार विशेषज्ञ

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
604643 भारत
2दमन दीव
100अंडमान निकोबार
15252आंध्र प्रदेश
195अरुणाचल प्रदेश
8582असम
10249बिहार
446चंडीगढ़
2940छत्तीसगढ़
215दादरा नगर हवेली
89802दिल्ली
1387गोवा
33232गुजरात
14941हरियाणा
979हिमाचल प्रदेश
7695जम्मू-कश्मीर
2521झारखंड
16514कर्नाटक
4593केरल
990लद्दाख
13861मध्य प्रदेश
180298महाराष्ट्र
1260मणिपुर
52मेघालय
160मिजोरम
459नगालैंड
7316ओडिशा
714पुडुचेरी
5668पंजाब
18312राजस्थान
101सिक्किम
94049तमिलनाडु
17357तेलंगाना
1396त्रिपुरा
2947उत्तराखंड
24056उत्तर प्रदेश
19170पश्चिम बंगाल
6832अवर्गीकृत मामले

मैप देखें