आंवले का मुरब्बा आंवला से बनाई गई एक स्वादिष्ट मिठाई है। आंवला मुरब्बा, ताजे आंवलों को चीनी में संरक्षित करके बनाया जाता है। ऐसा करने से यह फल लंबे समय के बाद भी प्रयोग किये जा सकता है और उनका स्वाद भी अच्छा हो जाता है। आंवले का मुरब्बा अत्यंत पौष्टिक और स्वादिष्ट होता है। यह दिमाग, आँतो और लीवर के लिए टॉनिक होता है। यह विटामिन सी से भरपूर होता है और कब्ज़ को भी दूर करता है। गर्भवती महिलाओं और बच्चों को तो इसका सेवन रोज़ करना चाहिए। 

(और पढ़ें - कब्ज के कारण)

आंवला का मुरब्बा खाने के बहुत से लाभ होते हैं। एक दिन में केवल 1 से 2 मुरब्बे ही खाने चाहिए। ऐसा करने से शरीर को ताकत मिलती है। यह जलन, बढ़े हुए पित्त, कब्ज़, बवासीर, रक्त-विकार, चमड़ी के रोगों में लाभकारी है। अगर किसी को अधिक गुस्सा आता हो तो उसे एक दिन में एक या दो आंवला का मुरब्बा खाना चाहिए। यह शरीर को पोषण और ठंडक प्रदान करता है। इसके उपयोग से हॉर्मोन असंतुलन के कारण होने वाला बालों का झड़ना भी रूक जाता है। इसमें विटामिन सी होने के कारण यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढाने में भी मदद करता है।

  1. आंवला मुरब्बा के फायदे - Amla Murabba ke Fayde in Hindi
  2. आंवला मुरब्बा के अन्य फायदे - Other benefits of Amla Murabba in Hindi
  3. आंवला मुरब्बा के नुकसान - Amla Murabba ke Nuksan in Hindi
  4. आंवला मुरब्बा खाने का तरीका - Amla Murabba Khane ka Tarika in Hindi

आंवले के मुरब्बे के फायदे एसिडिटी अल्सर के लिए - Amla Murabba for Acidity in Hindi

आंवले के मुरब्बे के फायदे एसिडिटी अल्सर के लिए - Amla Murabba for Acidity in Hindi

आंवला फाइबर सामग्री में समृद्ध होता है। चिकित्सक, पाचन के लिए आंवला खाने की सलाह देते हैं। यह गैस्ट्राइटिस और अन्य दूसरी गैस्ट्रिक समस्यायों जैसे अल्सर, जलन, एसिड रिफ्लक्स आदि विकारों का इलाज कर सकता है। यह एसिडिटी को कम करता है। एसिडिटी के मामले में, कम से कम 3 महीने के लिए आप हर दिन सुबह के समय इसे खाली पेट खाएँ। जो लोग पेप्टिक अल्सर से परेशान हैं उनको आंवले के मुरब्बे के सेवन से बहुत आराम मिलता है। यह घाव को जल्दी भरने में मदद करता है।

(और पढ़ें – अजवाइन वाटर एसिडिटी से राहत दिलाए)

अमला मुरब्बा बेनिफिट्स हैं कब्ज में उपयोगी - Amla Murabba for Constipation in Hindi

अमला मुरब्बा बेनिफिट्स हैं कब्ज में उपयोगी - Amla Murabba for Constipation in Hindi

आंवले का मुरब्बा कब्ज के लिए एक पारंपरिक उपाय है। आप बच्चों में कब्ज के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह स्वादिष्ट होता है और कब्ज को दूर करने में बहुत मदद कर सकता है। आंवला मुरब्बा खाने के बाद दूध पीने से लंबे समय से चले आ रहे कब्ज के इलाज में मदद मिलती है।

(और पढ़ें – कब्ज के रामबाण इलाज)

आंवला मुरब्बा के फायदे रखें अपच से दूर - Amla Murabba for Digestive System in Hindi

आंवला मुरब्बा के फायदे रखें अपच से दूर - Amla Murabba for Digestive System in Hindi

आंवले का मुरब्बा पेट में पाचन प्रक्रिया को सही और जिगर के लिए सहायता प्रदान करता है। इसलिए यदि आपको भोजन के बाद भारीपन महसूस हो रहा है और एसिड रिफ्लक्स या जलन के साथ अपच महसूस हो रहा हो तो यह आपको इससे छुटकारा पाने के लिए मदद कर सकता है। आंवले का रस पेट की पाचन क्रिया को बढाता है।

(और पढ़ें – नारियल तेल का लाभ पाचन तंत्र के लिए)

आंवले का मुरब्बा बनाए इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत - Amla Murabba ke Labh for Immunity system in Hindi

आंवले का मुरब्बा बनाए इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत - Amla Murabba ke Labh for Immunity system in Hindi

आंवले का मुरब्बा एक व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। आंवला में विटामिन सी की मौजूदगी के कारण यह एक मजबूत एंटी ऑक्सीडेंट है। यह एंटीबैक्टीरियल भी है और जुकाम, बुखार और ऊपरी श्वास नलिका में संक्रमण के खिलाफ लड़ने में सक्षम होता है। 

(और पढ़ें – बुखार का घरेलू इलाज)

आंवला मुरब्बा खाने के लाभ त्वचा के लिए - Benefits of Amla ka Murabba for Skin in Hindi

आंवला मुरब्बा खाने के लाभ त्वचा के लिए - Benefits of Amla ka Murabba for Skin in Hindi

आंवले का मुरब्बा विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत है, तो यह त्वचा के रंग में काफी सुधार कर सकता है। यह त्वचा को प्राकृतिक और युवा चमक प्रदान करता है। आंवला एक प्राकृतिक एक्स्फोलीऐशन के रूप में कार्य करता है। आंवले का मुरब्बा एंटी-एस्ट्रिंजेंट गुणों के कारण त्वचा को ठंडक देता है और झुर्रियों का इलाज करता है। आंवले का मुरब्बा विटामिन सी के अलावा विटामिन ए और ई का भी समृद्ध स्रोत है, इसलिए यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को कम करता है।

विटामिन ए कोलेजन पैदा करता है जो कि त्वचा को लोचदार और युवा बनाता है। यह चेहरे से काले धब्बे और मुँहासो के निशानो को हटाता है। काले धब्बों को कम करने के लिए कम से कम छह महीने के लिए इसका उपयोग करना चाहिए।

(और पढ़ें – त्वचा की रंजकता या झाइयां हटाने के असरदार उपाय)

आंवला मुरब्बा के उपयोग बचाएं हृदय रोगों से - Amla Murabba for Heart in Hindi

आंवला मुरब्बा के उपयोग बचाएं हृदय रोगों से - Amla Murabba for Heart in Hindi

आंवले का मुरब्बा क्रोमियम, जिंक और कॉपर में समृद्ध है जो कि शरीर के लिए आवश्यक घटक होते हैं। विशेष रूप से क्रोमियम में, खून के कोलेस्ट्रॉल के स्तर को मॅनेज और हृदय रोगों के खतरे को कम करनी की क्षमता होती है।

आंवले का मुरब्बा खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) के स्तर को कम करता है। यह मानव शरीर में से वीएलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को भी कम कर देता है। मगर उच्च कोलेस्ट्रॉल, स्ट्रोक और दिल के दौरे के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार नहीं होता है। आंवले का मुरब्बा रक्त वाहिकाओं की सूजन को समाप्त करने के लिए काम करता है और कोलेस्ट्रॉल प्लैक के गठन से बचाता है।

(और पढ़ें – गाजर के गुण बचाएं दिल की बीमारियों से)

आंवला का मुरब्बा है एनीमिया के लिए उपयोगी - Amla ka Murabba Khane ke Fayde for Anemia in Hindi

आंवला का मुरब्बा है एनीमिया के लिए उपयोगी - Amla ka Murabba Khane ke Fayde for Anemia in Hindi

आंवले का मुरब्बा लौह सामग्री का एक समृद्ध स्रोत है, इसलिए इसमें हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने की क्षमता होती है। पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग के कारण होने वाली आयरन की कमी की भरपाई करने के लिए महिलाओं को भी आंवले के मुरब्बे का उपयोग करना चाहिए। आंवले का मुरब्बा मासिक धर्म में होने वाली ऐंठन को कम करने के लिए भी मदद करता है। स्थायी रूप से मासिक धर्म ऐंठन से छुटकारा पाने के लिए महिलाओं को कम से कम तीन महीने के लिए आंवले के मुरब्बा का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें – चुकंदर के फायदे एनीमिया के लिए)

आमला का मुरब्बा करे आंतरिक अंगों की सूजन दूर - Awale ke Murabbe ke Fayde for Organ Inflammation in Hindi

आमला का मुरब्बा करे आंतरिक अंगों की सूजन दूर - Awale ke Murabbe ke Fayde for Organ Inflammation in Hindi

आंवले का मुरब्बा ऑस्टियोआर्थराइटिस या हड्डियों और जोड़ों की सूजन में अकेले फायदेमंद नहीं होता है, लेकिन यह आंतरिक अंगों की सूजन में अच्छी तरह से काम करता है। इसमें अग्नाशय (pancreatitis) और हेपेटाइटिस जैसी बीमारियों भी शामिल हैं। यह अग्नाशय की सूजन को कम करता है और जिगर के उचित कार्यों का समर्थन करता है।

(और पढ़ें – सर्दियों में अंगुलियों में सूजन का हल)

आंवले का मुरब्बा खाने के फायदे गर्भावस्था के लिए - Amla Murabba Benefits in Pregnancy in Hindi

आंवले का मुरब्बा खाने के फायदे गर्भावस्था के लिए - Amla Murabba Benefits in Pregnancy in Hindi

यह एक अच्छा स्वास्थ्य प्रमोटर है, जो पाचन को ठीक रखता है और भूख को बेहतर बनाता है। भारत में, यह गर्भावस्था के दौरान यह टॉनिक के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह एक प्राकृतिक आरोग्य के रूप में कार्य करता है और इसलिए इसे 'जीवन का अमृत' भी बोला जाता है। यह गर्भवती महिला और भ्रूण को शक्ति देता है। आंवले का मुरब्बा माँ और बच्चे के लिए विटामिन सी की खुराक की सप्लाई करता है। आंवले का मुरब्बा गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान एक सीमित मात्रा में ही लेना सुरक्षित होता है।

(और पढ़ें - गर्भवती महिला के लिए भोजन और लड़का पैदा करने के उपाय)

  • आंवले के मुरब्बे का नियमित सेवन बालों की जड़ों को विटामिन की खुराक प्रदान करता है। यह समय से पहले बालों को सफेद होने से रोकता है और बालों की चमक बनाए रखता है।
  • यह सूर्य की स्ट्रोक और हानिकारक यूवी किरणों से बचाने के लिए शरीर के चारों ओर एक सुरक्षा कवच बनाए रखता है।
  • आंवले का मुरब्बा तनाव और अनिद्रा का इलाज करता है। (और पढ़ें - अनिद्रा के घरेलू उपचार)
  • यह शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट है जो कि मुक्त कणों के खिलाफ शरीर की रक्षा करता है।
  • आंवले का मुरब्बा शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों, फाइटो पोषक तत्वों, वजन घटाने में सहायता करने के लिए विटामिन की आपूर्ति करता है।
  • यह बवासीर के इलाज के लिए मदद करता है।
  • आंवले का मुरब्बा जिगर स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। यह जिगर की विषाक्त पदार्थो से सुरक्षा करता है।
  • आंवले का मुरब्बा विटामिन सी से भरपूर होता है है और इसलिए विटामिन सी का अधिक सेवन दस्तगुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है।
  • इसके अधिक सेवन से पेशाब करते समय जलन हो सकती है।
  • आंवले के मुरब्बे के सबसे आम दुष्प्रभाव पीला मल, पीठ दर्द और हाई ब्लड प्रेशर हैं।
  • यह मधुमेह रोगी में रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है। इसलिए इसके उपयोग से पहले अपने चिकित्सक से प्रमर्श करें।

आंवला मुरब्बा खाने के लिए इस तरीके को अपनाएं - 

  • आंवले का मुरब्बा मस्तिष्क, हृदय, जिगर, पाचन और प्रजनन प्रणाली के लिए एक टॉनिक है।
  • आंवले का मुरब्बा 15-20 ग्राम (1-2 टुकड़े) की खुराक में लिया जा सकता है।
  • आप दैनिक रूप से सुबह नाश्ते से पहले एक गिलास दूध के साथ या दिन में दो बार भोजन के बाद इसे खा सकते हैं।
और पढ़ें ...