myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अश्‍वगंधा क्या है?

आयुर्वेदिक औषधियों में अश्‍वगंधा का नाम बहुत लोकप्रिय है। सदियों से कई रोगों के इलाज में अश्‍वगंधा का इस्‍तेमाल किया जाता रहा है। महत्‍वपूर्ण आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में अश्‍वगंधा का नाम लिया जाता है।

अथर्ववेद में भी अश्‍वगंधा के उपयोग एवं उपस्थिति के बारे में बताया गया है। भारतीय पारंपरिक औषधि प्रणाली में अश्‍वगंधा को चमत्‍कारिक एवं तनाव-रोधी जड़ी बूटी के रूप में जाना जाता है। इस वजह से तनाव से संबंधित लक्षणों और चिंता विकारों के इलाज में इस्‍तेमाल होने वाली जड़ी बूटियों में अश्‍वगंधा का नाम भी शामिल है।

असगंध का नाम अश्‍व और गंध से लिया गया है। अश्‍वगंधा की जड़ और पत्तों से घोड़े के मूत्र एवं पसीने जैसी दुर्गंध आने के कारण ही इसका नाम अश्‍वगंधा रखा गया है। आयुर्वेदिक शोधकर्ताओं का भी मानना है कि अश्‍वगंधा के सेवन से अश्‍व (घोड़े) जैसी ताकत और यौन शक्‍ति मिलती है।

अश्‍वगंधा से जुड़े कुछ तथ्‍य

  • वानस्पतिक नाम: विथानिया सोमनिफेरा
  • वंश: सोलेनेसी
  • संस्‍कृत नाम: अश्‍वगंधा, वराहकर्णी और कमरूपिणी
  • सामान्‍य नाम: विंटर चेरी, भारतीय जिनसेंग, असगंध
  • उपयोगी भाग: अधिकतर अश्‍वगंधा की जड़ और पत्तियों का इस्‍तेमाल किया जाता है लेकिन इसके फूल और बीज भी उपयोगी हैं।
  • भौगोलिक विवरण: अश्‍वगंधा अधिकतर भारत के शुष्‍क प्रदेशों (प्रमुख तौर पर मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान) के अलावा नेपाल, अफ्रीका और मध्य पूर्व में पाई जाती है लेकिन संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका में भी इसका वर्णन किया गया है।
  1. नुकसान - Side Effects
  2. सेवन कैसे करे
  3. तासीर
  4. फायदे

गर्भवती महिलाओं को अश्वगंधा का सेवन नहीं करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसमें गर्भ गिराने वाले गुण हैं।

अश्वगंधा का उपयोग करते समय डॉक्टर सावधानी रखने की सलाह देते हैं क्योंकि अश्वगंधा सामान्य रूप से ली जा रही दवाइयों के साथ हस्तक्षेप कर सकता है, विशेष रूप से उन लोगों के लिए जो मधुमेह, हाई बीपी, चिंता, अवसाद और अनिद्रा जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं।

(और पढ़ें - अनिद्रा के आयुर्वेदिक उपचार)

बड़ी मात्रा में अश्वगंधा की खपत से बचें क्योंकि ऐसा करने पर दस्त, पेट की ख़राबी और मतली जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

ज़्यादा मात्रा में अश्वगंधा लेने से कुछ नुक्सान हो सकते हैं :

ज़्यादा अश्वगंधा खाने से उलटी आना, पेट ख़राब होना या डायरीआ जैसी समस्या हो सकती है। कुछ लोगों को अश्वगंधा से एलर्जी भी हो सकती है। 

अश्वगंधा कुछ दवाइयों के असर बढ़ा या फिर घटा सकता है :

  • नींद की दवा -
    अश्वगंधा शरीर में नींद लाने और ऊर्जा बढ़ाने का कार्य करता है। वो इन दवाइयों का असर बढ़ा भी सकता है और कम भी कर सकता है। मुख्य रूप से बेंज़ोडियाज़पीन लेते समय ध्यान रखें। याद रखें कि अश्वगंधा कोई नींद लाने की दवा नहीं है। 
     
  • रोग निरोधक शक्ति घटाना -
    हमारे शरीर की बाहरी तत्वों की तरफ क्या प्रतिक्रिया है, अश्वगंधा इसको संतुलित करता है। इससे ये उन दवाइयों का असर कम कर देता है जो हमारे शरीर की रोग निरोधक शक्ति बढाती है। जिन लोगों को ऑटोइम्म्यून की समस्या है उन्हें अश्वगंधा नहीं लेना चाहिए। 
    (और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के उपाय)
     
  • डायबिटीज संतुलित करने वाली दवाइयां -
    अश्वगंधा से डायबिटीज कम होती है। ये आपका ब्लड शुगर स्तर 12% कम कर देता है। अगर आप पहले से ही डायबिटीज की दवाइयां ले रहे हैं तो उसके साथ अश्वगंधा ना लें क्यूंकि इससे आपका ब्लड शुगर स्तर सामान्य से भी नीचे गिर जायेगा। 
    (और पढ़ें - डायबिटीज में परहेज)
     
  • बीपी कम करने वाली दवाइयां -
    अगर आप हाई बीपी कम करने के लिए दवाइयां ले रहे हैं तो ध्यान रखें कि उनके साथ आप अश्वगंधा ना लें। ऐसा ना करने से आपका बीपी बहुत कम हो सकता है।
    (और पढ़ें - bp kam karne ka tarika)
     
  • थाइरोइड के लिए दवाइयां -
    अश्वगंधा को सही मात्रा में लेने से आपका थाइरोइड संतुलित हो जाता है और आपका चयापचय भी सही हो जाता है। परन्तु अगर आप पहले से थाइरोइड की दवाइयां ले रहे हैं तो अश्वगंधा ना लें चाहे वो हाइपरथाइरोइडिज़्म के लिए हो या हाइपोथयरॉइडिज़्म के लिए। 

(और पढ़ें - थाइरोइड में क्या क्या खाना चाहिए)

अश्वगंधा जड़ बाजार में या तो पाउडर के रूप में, सूखे रूप में, या ताज़ा जड़ के रूप में उपलब्ध होती है।

आप 10 मिनट के लिए पानी में अश्वगंधा पाउडर को उबालकर अश्वगंधा की एक चाय बना सकते हैं। पानी के एक कप में पाउडर के एक चम्मच से अधिक प्रयोग न करें।

आप सोने से पहले अश्वगंधा जड़ पाउडर गर्म दूध के एक गिलास के साथ भी ले सकते हैं।

(और पढ़ें - दूध पीने के फायदे)

  1. उपयोग कैसे करें

उपयोग कैसे करें

अश्वगंधा से चाय बनाने का तरीका -

  • अश्वगंधा की सूखी हुई जड़ के पाउडर के 2 चम्मच लें। 
  • इसे 3.5 कप उबलते हुए पानी में डालें। 
  • इसे 15 मिनट तक उबलने दें। 
  • इसे अच्छे से छान लें ताकि कोई कण पानी में ना रहे। 
  • रोज़ 1/4 कप पिएं।  

 अश्वगंधा और घी का मिश्रण -

  • 2 चम्मच अश्वगंधा को 1/2 कप घी में भून लें। 
  • 1 चम्मच खजूर से बनी चीनी उसमें मिलाएं। 
  • इस मिश्रण को फ्रिज में रखदें। 
  • इस मिश्रण का 1 चम्मच दूध या पानी के साथ लें। 

अश्वगंधा को किसी अन्य पदार्थ के साथ मिलाकर लेना -

  • 1/2 कप सूखी, कटी हुई अश्वगंधा की जड़ को एक डिब्बे में रखें। 
  • उसके ऊपर 80 से 100 एमएल वोडका या रम के दो कप उसके ऊपर डालें। 
  • उस डिब्बे को धक् कर रख दें और एक अँधेरी जगह पर 2 हफ्ते से 4 महीने तक रख दें - बीच-बीच में मिश्रण को हिला लिया करें। 
  • जब आपका मिश्रण बन शुका होगा, उससे ध्यान से एक शीशे या कोबाल्ट के गिलास में दाल कर रखलें। उसमें एक ड्रॉपर भी दाल लें जिससे उस मिश्रण को निकालने में आसानी हो। 
  • अश्वगंधा मिश्रण कीे 40-50 बूँदें 120 एमएल पानी में मिलाकर पिएं। इसका  दिन में 3 बार सेवन करें या अपने डॉक्टर से संपर्क करें। 

आज कल के समय में, लोग अश्वगंधा के कैप्सूल लेना ज़्यादा पसंद करते हैं क्यूंकि इनका सेवन करना आसान होता है। इनकी क़्वालिटी भी अच्छी होती है और ये ज़्यादा मात्रा में मिल जाते हैं। 

अश्वगंधा के रोज़ 1-2 कैप्सूल, 2 बार लेने चाहिए। 

अश्वगंधा की तासीर कैसी होती है?

अश्वगंधा शरीर में गर्मी उत्पन्न करता है। इसे अन्य जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर लेना चाहिए जिससे शरीर में ज़्यादा गर्मी उत्पन्न ना हो। 

अश्वगंधा से पित्त बढ़ता है :

आयुर्वेदा के अनुसार, अश्वगंधा से पित्त (शरीर में बदलाव लाने वाला दोष) बढ़ता है और कफ दोष (शरीर में संचयन करने वाला दोष) और वात दोष (शरीर में बहाव लाने वाला दोष)  को कम कर देता है। शरीर में कोई विकार आने के कारण इन तीनो मुख्य दोषों में बदलाव आ सकता है। जैसे, कम पित्त होने के कारण चयापचय कमज़ोर हो जाता है, अपच, शरीर में दूषित पदार्थों का इकठ्ठा होना और यादाश्त खोना। 

(और पढ़ें - आयुर्वेद के तीन दोष)

पित्त की कमी को ठीक करने के लिए अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए। परन्तु, जिनके शरीर में पहले से ही पित्त की मात्रा ज़्यादा है उन्हें अश्वगंधा लेते समय सावधान रहना चाहिए क्युकी शरीर में पित्त ज़्यादा होने से एसिडिटी, पेट में छाले, त्वचा पर चकत्ते और चिंता हो सकती है। 

प्रतिरक्षा प्रणाली में

शोध अध्ययनों से पता चला है कि अश्वगंधा का सेवन प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाता है। चूहों के ऊपर किए गए प्रयोग में पाया गया कि अश्वगंधा के सेवन से चूहों में लाल रक्त कोशिका और सफेद रक्त कोशिकाओं में भी वृद्धि हुई। इससे यह माना जा सकता है कि आदमी की लाल रक्त कोशिकाओं पर अश्वगंधा के सेवन से सकारात्मक प्रभाव हो सकता है, जिससे एनीमिया जैसी स्थितियों को रोकने में मदद मिल सकती है। 

(और पढ़ें - एनीमिया के लक्षण)

मधुमेह के लिए

अश्वगंधा लंबे समय से आयुर्वेदिक चिकित्सा में सुगर के उपचार के लिए इस्तेमाल किया गया है। डायबिटीज के उपचार में अश्वगंधा के उपयोग पर अनुसंधान ने सकारात्मक परिणाम का संकेत दिया है। प्रयोगों ने दर्शाया कि जब अश्वगंधा का सेवन चार सप्ताह की अवधि के लिए किया गया, तब उपवास और दोपहर के खाने के बाद रक्त शर्करा के स्तर में काफी कमी आई।

बहुत सारे मामलों में देखा गया है कि अश्वगंधा खाने से ब्लड शुगर स्तर कम होता है।

एक टेस्ट ट्यूब स्टडी में देखा गया था की अश्वगंधा खाने से इन्सुलिन की मात्रा शरीर में बढ़ती है और मांसपेशियों में इन्सुलिन सेंसिटिविटी बढ़ती है।

(और पढ़ें - इन्सुलिन क्या होता है)

मनुष्यों पर अध्ययन करने से पता चला है कि अश्वगंधा खाने से स्वस्थ और डायबिटीज रोगियों में ब्लड शुगर स्तर कम हो जाता है।

(और पढ़ें - डायबिटीज में क्या खाना चाहिए)

कामोद्दीपक गुण

शताब्दियों से माना गया है कि अश्वगंधा में कामोद्दीपक गुण है और लोगों ने इसे एक दवा के रूप में इस्तेमाल किया ताकि उनकी जीवन शक्ति और प्रजनन क्षमता में सुधार हो। हाल ही के एक वैज्ञानिक अध्ययन में यह दर्शाया गया कि अश्वगंधा कामोद्दीपक दवा के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और अच्छी तरह से वीर्य की गुणवत्ता में सुधार लाता है। यह पूरे शरीर में तनाव भी कम कर देता है।

(और पढ़ें - प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय)

थायराइड के लिए

हाइपोथायरायडिज़्म के मामलों में, अश्वगंधा का इस्तेमाल थाइरोइड ग्रंथि को उत्तेजित करने के लिए किया जा सकता है। थायरॉयड ग्रंथि पर अश्वगंधा के प्रभाव पर एक अध्ययन से पता चला है कि इसकी जड़ों का एक्सट्रैक्ट, अगर प्रतिदिन लिया जाए, तो थायराइड हार्मोन के स्राव में वृद्धि होगी।

(और पढ़ें - थाइरोइड का घरेलु उपाय)

चयापचय में लाभ

अश्वगंधा एंटीऑक्सीडेंट का एक बहुत अच्छा स्रोत है। ये एंटीऑक्सीडेंट चयापचय (metabolism) की प्रक्रिया के दौरान उत्पन्न मुक्त कण को साफ और निष्क्रिय करने में बहुत प्रभावी रहे हैं।

(और पढ़ें - मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय)

मांसपेशियों की शक्ति में सुधार लाने के लिए

अश्वगंधा निचले अंगों की मांसपेशियों की शक्ति में सुधार लाने और कमज़ोरी दूर करने में उपयोगी पाया गया है। यह मस्तिष्क और मासपेशियों के बीच समन्वय पर सकारात्मक प्रभाव डालता है।

अध्ययन से पता चला है कि अश्वगंधा से शरीर की संरचना और ताकत बढ़ती है। 

पुरुषों में अश्वगंधा खाने से मांसपेशियां तंदरुस्त होती हैं, शरीर के चर्बी घटती है और ज़ोर बढ़ता है। 

(और पढ़ें - चर्बी कम करने के उपाय)

 

मोतियाबिंद से लड़ने में

त्यागराजन एट अल द्वारा किए गए शोध से पता चला है कि अश्वगंधा के एंटीऑक्सीडेंट और साइटोप्रोटेक्टिव गुण मोतियाबिंद रोग से लड़ने में अच्छे हैं।

(और पढ़ें - मोतियाबिंद से बचने के उपाय)

त्वचा की समस्या के लिए

श्रृंगीयता (keratosis) के कारण त्वचा सख्त और रूखी हो जाती है। अश्वगंधा का उपयोग श्रृंगीयता (keratosis) के इलाज में किया जाता है। श्रृंगीयता की समस्या से छुटकारा पाने के लिए दिन में दो बार पानी के साथ तीन ग्राम अश्वगंधा लें। त्वचा को युवा रखने के लिए यह कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है और प्राकृतिक त्वचा तेलों की वृद्धि में मदद करता है। अश्वगंधा में उच्च स्तर के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो झुर्रियों, काले धब्बे जैसे उम्र बढ़ने के संकेतों से लड़ने में सहायक हैं। अश्वगंधा त्वचा कैंसर से भी बचाता है।

(और पढ़ें - लिवर कैंसर का इलाज)

बालों के लिए

अश्वगंधा शरीर में कोर्टिसोल के स्तर को कम करके बालों के गिरने को नियंत्रित करता है। अश्वगंधा बालों में मेलेनिन की हानि को रोक कर समय से पहले बालों के ग्रे होने को रोकता है। अश्वगंधा में टाइयरोसीन है जो एक एमिनो एसिड है और शरीर में मेलेनिन के उत्पादन को उत्तेजित करता है।

अश्वगंधा से बालों की जड़ें मज़बूत होती हैं। अश्वगंधा और नारियल तेल से बनाया गया टॉनिक रोज़ बालों पर लगाने से बाल नहीं झड़ते। 

अश्वगंधा को गिलोय में मिलाकर लगाने से हड्डियों को सहारा मिलता है और खोपड़ी बालों को संभालने के लिए मज़बूत होती है।

सामान्य से कम नींद मिलने पर तनाव होता है। कम सोने से तनाव और चिंता बढ़ती है जिससे ज़्यादा बाल झड़ते हैं। अश्वगंधा से अच्छी नींद आती है और वो चिंता को कम करता है जो बाल झड़ने का मुख्य कारण है। लम्बे समय से चले आ रहे तनाव से ग्रस्त वयस्कों का अध्ययन करने पर पता चला कि अश्वगंधा लेने से अनिद्रा और चिंता 69.7% कम होती है। 

(और पढ़ें - अच्छी नींद आने के उपाय)

व्यस्क पुरुषों में अध्ययन करने से पता चला कि अश्वगंधा लेने से बालों में मेलानिन की मात्रा बढ़ी है।

(और पढ़ें - बाल काले करने के उपाय)

हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदे

अश्वगंधा, अपने सूजन कम करने के गुण, एंटीऑक्सीडेंट और तनाव कम करने के गुणों के साथ, हृदय स्वास्थ्य की समस्याओं के लिए अच्छा है। यह हृदय की मांसपेशियों को मज़बूत बनता है।

अश्वगंधा खाने से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड की मात्रा कम हो जाती है जिससे हृदय की बीमारी होने की सम्भावना कम हो जाती है।

(और पढ़ें - हृदय रोग का इलाज

कैंसर के लिए

एक अध्ययन में कैंसर को खत्म करने के लिए ऑन्कोलॉजी के क्षेत्र में, विकिरण चिकित्सा और रसायन चिकित्सा के साथ अश्वगंधा को एक उभरता हुआ सहयोगी विकल्प है। यह ट्यूमर सेल को खत्म करने की गतिविधि के साथ बिना हस्तक्षेप किए कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को कम करने के लिए जाना जाता है।

(और पढ़ें – कैंसर के लक्षण)

जानवरों और टेस्ट-ट्यूब में की जाने वाली जांच से पता चला है कि अश्वगंधा खाने से एपोप्टोसिस बढ़ता है जो कैंसर कोशिकाओं को मारने की एक विधि है। ये कैंसर कोशिकाओं के बढ़ने में भी रोक सकती है।

(और पढ़ें - ब्लड कैंसर के लक्षण)

अश्वगंधा "रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज़" (reactive oxygen species) बनता है जिससे कैंसर सेल ख़तम होते हैं। इससे कैंसर सेल एपोप्टोसिस का सामना नहीं कर पाते और ख़तम हो जाते हैं।

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

अवसाद में असर

भारत में अश्वगंधा पारंपरिक रूप से आयुर्वेद में शारीरिक और मानसिक दोनों के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए इस्तेमाल किया गया है। भारत में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में चिकित्सा विज्ञान संस्थान में, मानसिक स्वास्थ्य पर अश्वगंधा के प्रभाव को, विशेष रूप से अवसाद (depression) में, अध्ययन किया गया है। इस अध्ययन ने चिंता और अवसाद के संबंध में अश्वगंधा के लाभों का वर्णन किया है।

(और पढ़ें - चिंता दूर करने के घरेलू उपाय)

60 दिन तक 64 चिंता से ग्रस्त वयस्कों पर अध्ययन करने पर पता चला कि जो लोग एक दिन में 600 मिलीग्राम अश्वगंधा खाते थे उनमें डिप्रेश 79% कम हुआ और जो लोग इसका सेवन नहीं करते थे उनमें 10% समस्या और बढ़ गई थी।

(और पढ़ें - चिंता खत्म करने के लिए योगासन)

तनाव विरोधी गुण

अश्वगंधा में तनाव को कम करने वाले गुण भी पाएं जाते हैं। परंपरागत रूप से, इसका उपयोग व्यक्ति पर सुखद और शांत प्रभाव देने के लिए किया जाता था। वह सक्रिय संघटक जो इस गतिविधि के लिए ज़िम्मेदार है वह अभी भी अज्ञात है, लेकिन विभिन्न अनुसंधान प्रयोगों में अश्वगंधा में तनाव विरोधी गुण देखे गए हैं। अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि अश्वगंधा के प्रयोग से चरम तापमान बदलाव में रखे पशुओं के तनाव के स्तर में भी उल्लेखनीय कमी आई।

(और पढ़ें - तनाव के घरेलू उपाय)

अध्ययन से पता चला है कि अश्वगंधा लेने से चूहों के दिमाग में केमिकल सिगनल पहुँचने से तनाव नहीं रहता। 

कुछ मनुष्यों पर जांच करने से पता चला है कि अश्वगंधा लेने से तनाव और चिंता की समस्या बहुत कम हो जाती है।

(और पढ़ें - तनाव के लिए योग)

संधिवात के लिए

अश्वगंधा संधिवात (rheumatologic problems) की समस्याओं के लिए प्रभावी पाया गया है। यह जड़ी बूटी सूजन और दर्द को कम करने के लिए जानी जाती है। काइरोप्रेक्टर्स के लॉस एंजिल्स कॉलेज द्वारा किए गए शोध से पता चलता है कि अश्वगंधा में सूजन कम करने के गुण हैं जो इसमें मौजूद अल्कलाइड्स, सपोनिंस और स्टेरॉइडल लैक्टोन्स से आते हैं।

(और पढ़ें - सूजन कम करने का तरीका)

बैक्टीरिया के संक्रमण में लाभ

आयुर्वेदिक चिकित्सा ग्रंथों के अनुसार, अश्वगंधा मानव में बैक्टीरिया के संक्रमण को नियंत्रित करने में प्रभावी है। भारत में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में जैव प्रौद्योगिकी के केंद्र में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि अश्वगंधा में जीवाणुरोधी गुण हैं और मौखिक रूप से इसके सेवन किए जाने पर यह मूत्रजनन, जठरांत्र और श्वसन तंत्र के संक्रमण में बहुत प्रभावी है।

(और पढ़ें - ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण)

घाव भरने में उपयोगी

यह घाव भरने और उसके इलाज के लिए बहुत उपयोगी है। अश्वगंधा की जड़ों को पीस कर पानी के साथ एक चिकना पेस्ट बना लें। राहत के लिए घावों पर इस पेस्ट को लगाएं।

(और पढ़ें - घाव भरने के घरेलू उपाय)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Divya Madhunashini VatiDivya Madhunashini208.0
Divya Medha VatiPatanjali Divya Medha Vati-Extra Power179.0
Patanjali Peedantak VatiPatanjali Peedantak Vati45.0
Divya Jwarnashak VatiDivya Jwarnashak Vati36.0
Divya Madhu Kalp VatiDivya Madhu Kalp Vati60.0
Divya Hridyamrit VatiDivya Hridyamrit Vati105.0
Himalaya Confido TabletHIMALAYA CONFIDO TABLET 60S117.0
Hem PushpaHem Pushpa Syrup486.9
Paurush Jeevan CapsulesPaurush Jiwan Capsule33.25
Patanjali Ashvashila CapsulePatanjali Ashvashila Capsule56.0
Dabur Shilajit GoldDabur Shilajit Gold 10 Capsules176.22
Dabur DashmularishtaDABUR DASHMULARISHTHA SYRUP 450ML118.8
Patanjali Moosli PakPatanjali Moosli Pak348.0
Divya Lakshadi GuggulDivya Lakshadi Guggul38.0
Baidyanath Trayodashang GugguluBaidyanath Trayodashang Guggulu155.31
Divya AshwagandharishtaDivya Ashwagandharishta92.0
Patanjali Youvan ChurnaPatanjali Youvan Churna198.0
Divya SaraswatarishtaDivya Sarswatarishta101.0
Mahamash Tail (50 Ml) Mahamash Tail (50 Ml) 530.0
Himalaya AbanaABANA TABLET 50S110.0
More Power Capsule 40 CapsulesMore Power Ayurvedic Capsule223.2
Dabur AshwagandharishtaDABUR ASHWAGANDHARISHTA SYRUP 680ML231.0
Baidyanath Dhatupaushtik ChurnaBaidyanath Dhatupaushtik Churna196.42
Himalaya Stress Relief Massage OilHIMALAYA S/R MASSAGE OIL 200ML125.0
Zandu Sudarshan GhanvatiZandu Sudarshan Ghan Vati80.0
Zandu Sudarshan TabletZandu Sudarshan Tablet86.0
Zandu Maha Sudarshan Churna Zandu Maha Sudarshan Churna168.0
Baidyanath Ashwagandhadi ChurnaBaidyanath Ashwagandhadi Churna68.0
Baidyanath Shatavaryadi ChurnaBaidyanath Shatavaryadi Churna58.5
Zandu Kesari JivanZandu Kesari Jivan Chyawanprash 900GM625.5
Zandu Diabrishta-21Zandu Diabrishta-2181.0
Baidyanath Erand PakBaidyanath Erand Pak124.0
Zandu PancharishtaZandu Pancharishta128.0
Zandu VigorexZandu Vigorex Capsules Pack Of 20 Capsules0.0
Zandu BrentoBRENTO TABLET 30S44.0
Zandu Brento SyrupZandu Brento Syrup130.5
Baidyanath Ashwagandhadi GhrithaBaidyanath Ashwagandhadi Ghrit188.0
Baidyanath Phalkalyan GhritaBaidyanath Phalkalyan Ghrita227.0
Baidyanath Brahmi Bati (Sw Mo K Yukta)Baidyanath Brahmi Bati Enriched with brahmi175.5
Zandu Vigorex SFZandu Vigorex Sf Capsule157.5
Himalaya Speman TabletsHimalaya Speman 60 Tabs 3 Pack121.5
Himalaya Tentex Forte TabletHimalaya Tentex Forte Tablet61.75
Zandu Alpitone SyrupAlpitone Syrup75.0
Baidyanath Brain TabletsBaidyanath Brain Tab.184.5
Deemark Shakti PrashDeemark Shakti Prash 250gm2360.0
Aimil Amyron SyrupAmyron Syrup148.5
Himalaya Mentat TabletHimalaya Mentat Tablet99.0
Patanjali Ashwagandha CapsulePatanjali Ashwagandha Capsule48.5
Sri Sri Ayurveda AshwagandhaSri Sri Ayurveda Ashwagandha81.0
Sri Sri Tattva Ashwagandha TabletSri Sri Tattva Ashwagandha110.0
Ashwagandha Powder 1 Kg PowderAshwagandha Powder 1 Kg Powder1520.0
Herbal Hills Ashwagandha PowderHerbal Hills Ashwagandha Powder855.0
Dabur Ashwagandha ChurnaDABUR ASHWAGANDHA CHURNA108.36
Jain Ashwagandha PowderJain Ashwagandha Powder558.0
Organic Ashwagandha PowderOrganic Ashwagandha Powder171.0
Planet Ayurveda Ashwagandha CapsulesPlanet Ayurveda Ashwagandha Capsule1215.0
Kudos Ashwagandha DS CapsulesKudos Ashwagandha DS Capsule285.0
Organic India Ashwagandha CapsulesOrganic India Ashwagandha Capsules157.5
Dabur Shila X OilDabur Shila X Oil153.9
Nirogam Ashwagandha PowderNirogam Ashwagandha Powder 400.0
Hawaiian Herbals Ashwagandha Root Extract CapsuleHawaiian Ashwagandha Root Extract Capsule799.0
Ashwagandha Churna Powder 100 Grams1st Time Nano Particle Like PowderAshwagandha Churna Powder 100 Grams1st Time Nano Particle Like Powder0.0
Bellan Ashwagandha CapsuleBellan Ashwagandha Capsule0.0
HealthVit Ashwagandha PowderHealthVit Ashwagandha Powder147.5
HealthVit Ashwagandha CapsulesHEALTHVIT ASHWAGANDHA 250MG CAPSULE159.3
Morpheme Remedies Ashwagandha Morpheme Remedies Ashwagandha Capsules To Reduce Stress0.0
Aryanz Herbal Ashwagandha Capsules Aryanz Az Ashwagandha 60 Capsules General Well Being0.0
Khandige Organic Ashwagandha PowderAshwagandha Powder Aphrodisiac, Sexual Vitality, Fatigue 100 Gms152.0
Nirogam Ashwagandha Winter Cherry Tablets Nirogam Ashwagandha Winter Cherry Tablets400.0
BestSource Nutrition Ashwagandha Root Extract CapsulesBest Source Nutritions Ashwagandha0.0
Nirogam Ashwagandha Rasayana Nirogam Ashwagandha Rasayana424.0
Morpheme Remedies Ashwagandha CapsulesMorpheme Ashwagandha Capsules For Stress Relief 500mg Extract 60 Veg Capsules 3 Combo Pack0.0
Morpheme Ashwagandha Supplements For Stress Relief &Amp; Immunity Booster 500mg Extract 60 Veg Capsules 6 Combo PackMorpheme Ashwagandha Supplements For Stress Relief &Amp; Immunity Booster 500mg Extract 60 Veg Capsules 6 Combo Pack0.0
Nirogram Ashwagandha OilAshwagandha Oil For Nervine Strength And Vata Balance 200 Ml436.0
Tansukh Ashwagandha CapsulesTansukh Ashwagandha 50 Capsules0.0
Vyas Ashwagandha Pak Vyas Ashwagandha Pak171.0
Saibless Ashwagandha Plus CapsuleSaibless Ashwagandha Plus Capsule0.0
Surjichem Herbs India Ashwagandha Gold Capsules Surjichem Herbs India Ashwagandha Gold Capsules 60 Combo Pack Of 20.0
HerbalMall Ashwagandha TabletsHerbal Mall Asan (Ashwagandha) Tablets (100g)359.0
Jain Ashwagandha TabletJain Ashwagandha 850mg Tablet112.0
Nirogam Calming Kit Nirogam Calming Kit Az Calm, Shirodhara Oil, Ashwagandha Rasayana941.0
Dindayal Aushadhi 303 Gold Power Capsule And Shilajit Power CapsuleDindayal 303 Gold Power Capsule And Shilajit Power Capsule265.0
Dindayal 303 Gold Power OilDINDAYAL 303 GOLD POWER OIL 15ML164.0
Baidyanath Rumartho Gold PlusBaidyanath Rumartho Gold Plus Capsule510.4
Baidyanath Vatrina TabletBaidyanath Vatrina Tablet162.0
Baidyanath Vita-ex gold plusBaidyanath Vita Ex Gold Plus 10 Capsules298.0
Herbal Hills Vitomanhills CapsulesHerbal Hills Vitomanhills304.0
Himalaya Mentat SyrupMENTAT SYRUP 100ML0.0
Dabur Swarna Guggulu GoldDABUR SWARNA GUGGULU TABLET 30S629.0
Dabur StresscomDabur Stresscom Capsule58.5
Dabur Shrigopal TailaDabur Shrigopal Tail0.0
Himalaya Geriforte TabletHimalaya Geriforte Tablet112.5
Himalaya GeriforteHimalaya Geriforte Syrup99.0
Himalaya Baby MassageGENTLE BABY SHAMPOO WITH BABY MASSAGE OIL 200ML149.0
Himalaya Nourishing Body LotionHimalaya Nourishing Body Lotion235.0
Dabur Ashwagandhadi LehyaDABUR ASHWAGANDHADI LEHYA 225GM256.5
Herbal Hills Super Greenhills Orange Flavour 2gx30 Sachets PowderHerbal Hills Super Greenhills Orange Flavour 2gx30 Sachets Powder0.0
Kudos Body Grow Protein PowderKudos Body Grow Protein Powder 520.0
Kudos Kidz Protein PowderKudos Kidz Protein Powder405.0
Nutraherbs Kids ProteinNutraherbs Kids Protein Supplement Mango 200gms0.0
Dabur Maha NarayanDabur Maha Narayan Tail82.0
Organic India Herbal Products KitCombo11 Organic India Tulsi Green Tea,Triphala Powder,Ashwagandha Capsules Bottle &Amp; Herbal Antibiotic Capsules Bottle0.0
Dabur Rheumatil GelDABUR RHEUMATIL GEL 30GM78.0
Banyan Botanicals Ashwagandha PowderBanyan Botanicals Ashwagandha Powder0.0
Dabur Dhatupaushtik Churna Dabur Dhatupaushtik Churna180.0
Dabur Musli Pak LaghuDABUR MUSLI PAK (LAGHU) GRANULES 125GM147.0
Dabur Laksha Guggulu Dabur Laksha Guggulu68.0
Dabur Shrigopal TailDABUR SHRIGOPAL TAIL240.3
Dabur Sarpagandhaghan Vati Dabur Sarpagandhaghan Vati73.0
Baidyanath Shakti Ras CapsuleBaidyanath Shaktiras Capsule618.0
Patanjali Divya Ashwagandha ChurnaPatanjali Divya Ashwagandha Churna Variation Name 56.0
Baidyanath Shri Gopal OilBaidyanath Shri Gopal Tel248.43
Patanjali Divya Shilajeet Rasayan VatiPatanjali Divya Shilajeet Rasayan Vati70.0
Baidyanath Artho TabletBaidyanath Artho Tablet105.0
Baidyanath Dimag Poushtik RasayanBaidyanath Dimag Poushtik Rasayan Tablet179.0
Baidyanath Kesari Kalp Royal ChyawanprashBaidyanath Kesari Kalp Royal Chyawanprash355.0
Baidyanath Rumartho TabletBaidyanath Rhuma Massage Oil121.5
Baidyanath Chyawan Vit SugarfreeBaidyanath Chyawan Vit (Sf)198.0
Baidyanath Sundri SakhiBAIDYANATH SUNDARI KALP FORTE SYRUP 200ML212.0
Baidyanath Swarna Shakti RasBaidyanath Swarna Shakti Ras585.0
Divya Stri Rasayan VatiPatanjali Chakravadi Vati45.0
और पढ़ें ...

References

  1. Wadhwa R, Singh R, Gao R, et al.Water Extract of Ashwagandha Leaves Has Anticancer Activity: Identification of an Active Component and Its Mechanism of Action
  2. Jessica M. Gannon, Paige E. Forrest, K. N. Roy Chengappa. Subtle changes in thyroid indices during a placebo-controlled study of an extract of Withania somnifera in persons with bipolar disorder. J Ayurveda Integr Med. 2014 Oct-Dec; 5(4): 241–245. PMID: 25624699
  3. Kumar G, Srivastava A, Sharma SK, Rao TD, Gupta YK. Efficacy & safety evaluation of Ayurvedic treatment (Ashwagandha powder & Sidh Makardhwaj) in rheumatoid arthritis patients: a pilot prospective study.. Indian J Med Res. 2015 Jan;141(1):100-6. PMID: 25857501
  4. Vaclav Vetvicka, Jana Vetvickova. Immune enhancing effects of WB365, a novel combination of Ashwagandha (Withania somnifera) and Maitake (Grifola frondosa) extracts. N Am J Med Sci. 2011 Jul; 3(7): 320–324. PMID: 22540105
  5. Taranjeet Kaur and Gurcharan Kaur. Withania somnifera as a potential candidate to ameliorate high fat diet-induced anxiety and neuroinflammation. J Neuroinflammation. 2017; 14: 201. PMID: 29025435
  6. Chandrasekhar K1, Kapoor J, Anishetty S. A prospective, randomized double-blind, placebo-controlled study of safety and efficacy of a high-concentration full-spectrum extract of ashwagandha root in reducing stress and anxiety in adults.. Indian J Psychol Med. 2012 Jul;34(3):255-62. PMID: 23439798
  7. Narendra Singh, Mohit Bhalla, Prashanti de Jager, Marilena Gilca. An Overview on Ashwagandha: A Rasayana (Rejuvenator) of Ayurveda . Afr J Tradit Complement Altern Med. 2011; 8(5 Suppl): 208–213. PMID: 22754076
  8. Vijay R. Ambiye et al. Clinical Evaluation of the Spermatogenic Activity of the Root Extract of Ashwagandha (Withania somnifera) in Oligospermic Males: A Pilot Study . Evidence-Based Complementary and Alternative Medicine Volume 2013, Article ID 571420, 6 pages
  9. Mahesh K. Kaushik et al. Triethylene glycol, an active component of Ashwagandha (Withania somnifera) leaves, is responsible for sleep induction . PLoS One. 2017; 12(2): e0172508. PMID: 28207892
ऐप पर पढ़ें