myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

दिन भर की भागदौड़ या शरीर के लगातार काम करने से आपको आराम नहीं मिल पाता है और इससे आपको थकावट महसूस होती है। यह दोनों शारीरिक या मानसिक रूप में हो सकती है। थकान पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक प्रभावित करती है। 

(और पढ़ें – थकान के कारण)

चिंता, अवसाद, दुख और तनाव जैसी मानसिक समस्याओं के कारण भी थका हुआ महसूस कर सकते हैं। इसके अलावा, इस समस्या के लिए अत्यधिक शराब का उपयोग, कैफीन के अत्यधिक सेवन, अत्यधिक शारीरिक गतिविधि, निष्क्रियता, नींद की कमी और खराब भोजन की आदतें भी शामिल है। यहाँ तक कि कुछ बीमारियाँ जैसे जिगर की विफलता, एनीमिया, कैंसर, गुर्दा रोग, हृदय रोग, थाइरोइड रोग, मोटापा, स्लीप एपनिया और शुगर आदि भी इसके कारण हो सकते हैं।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए व्यायाम)

थकान के मुख्य लक्षण विशेष रूप से शारीरिक या मानसिक गतिविधि के बाद थकावट है। कुछ अन्य लक्षण किसी काम में मन न लगना, नकरात्मक सोच का बढ़ना, हर समय नींद आना, कमजोरी महसूस होना, सिर दर्द, चिड़चिड़ापन, भूख और ऊर्जा की कमी शामिल हैं। किंतु आप कुछ आसानी से उपलब्ध खाद्य पदार्थों के साथ इस समस्या से लड़ सकते हैं। 

(और पढ़ें – सिर दर्द के घरेलू उपाय)

  1. थकान से बचने के लिए खाएं केले - Banana for Fatigue in Hindi
  2. थकान दूर करने के लिए पियें ग्रीन टी - Green Tea for Fatigue in Hindi
  3. कद्दू के बीज खाएं शरीर की थकान दूर करने के लिए - Pumpkin Seeds for Fatigue in Hindi
  4. थकान मिटाने का आहार है ओटमील - Oatmeal to Fight Fatigue in Hindi
  5. शरीर की थकान मिटाने के लिए खाना चाहिए दही - Yogurt to Fight Fatigue in Hindi
  6. थकान को दूर को भगाने के लिए खाएं तरबूज - Watermelon for Fatigue in Hindi
  7. थकान मिटाने के लिए खाएं अखरोट - Walnut for Fatigue in Hindi
  8. थकान से बचने के लिए खाना चाहिए बीन्स - Beans to Fight Fatigue in Hindi
  9. थकान को दूर करने के लिए खाएं लाल शिमला मिर्च - Red Bell Pepper for Adrenal Fatigue in Hindi
  10. थकान मिटाने के लिए भोजन में लें पालक - Spinach for Fatigue in Hindi

केले में भरपूर मात्रा में पोटेशियम होता है, क्योंकि शुगर को एनर्जी में बदलने के लिए शरीर को पोटेशियम की जरूरत पड़ती है।

इसके अलावा केला कई जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है जैसे विटामिन बी, विटामिन सी, ओमेगा-3 फैटी एसिड, ओमेगा-6 फैटी एसिड, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट्स, जो कि थकान, डिहाइड्रेशन और कमजोरी को दूर करते हैं। इसके अलावा केले में मौजूद नैचुरल शुगर जैसे सुक्रोज, फ्रक्टोज और ग्लूकोज इन्स्टेंट एनर्जी देने का काम करते हैं।

रोजाना 1 या दो केले खाने से थकान और कमजोरी से निजात मिलती है। बॉडी को हाइड्रेट और एनर्जेटिक रखने के लिए बनाना शेक या स्मूदी भी ले सकते हैं। 

(और पढ़ें – केले के फायदे और नुकसान)

ताज़ा हरी चाय का एक कप ताजगी देने के साथ ही थकान भी दूर करता है, खासतौर पर स्ट्रेस और काम से जुड़ी थकान। ग्रीन टी में पॉलीफिनॉल्स होते हैं जो स्ट्रेस कम करते हैं, एनर्जी बूस्ट करते हैं और मेंटल फोकस बढ़ाते हैं। इसके अलावा, ग्रीन टी में मौजूद घटक मेटाबॉलिज्म बढ़ाते हैं और थकान के कारण होने वाले कई नुकसानों से बचाते हैं।

एक कप ग्रीन टी बनाने के लिए, 5 मिनट के लिए एक कप गर्म पानी में हरी चाय की पत्तियों को डालें। इसको छान लें और शहद मिलाकर 2 या 3 बार दैनिक रूप से पिएं। हरी चाय पत्तियों के बजाय, आप चाय बैग का उपयोग भी कर सकते हैं। ग्रीन टी में शुगर के बजाय हनी का इस्तेमाल करने से और भी फायदा होगा।

(और पढ़ें – ग्रीन टी के फायदे और नुकसान, बनाने की विधि और पीने का सही समय)

कद्दू के बीज थकान से लड़ने के लिए एक बहुत अच्छा नाश्ता है। ये हाई क्वालिटी प्रोटीन से भरपूर होते हैं। इनमें हेल्दी ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन बी 1, बी 2, बी 5 और बी -6, साथ ही मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस, लोहा और तांबा जैसे खनिजों से भरपूर होते हैं। ये सभी पोषक तत्व साथ में मिलकर इम्यून सिस्टम को बूस्ट करते हैं, एनर्जी लेवल बढ़ाते हैं और कमजोरी और थकान को दूर करने का काम करते हैं।

इनके अलावा कद्दू के बीजों में पाया जाने वाला ट्रायप्टोफैन मानसिक थकान से लड़ने में भी कारगर है और अच्छी नींद में मदद करता है। रोजाना एक मुट्ठी कद्दू के बीज इन्सटेंट एनर्जी देने के लिए काफी हेल्पफुल होते हैं और थकान दूर रखते हैं। भुने हुए बीजों को नाश्ते के साथ लिया जा सकता है इसके अलावा इन बीजों का बटर भी मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मददगार है।

थकान से लड़ने के लिए ओटमील एक सब से बढ़िया भोजन है। इसमें उच्च गुणवत्ता के कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो शरीर में ग्लायकोजेन के रूप में जमा होते हैं और आपके दिमाग और मांसपेशियों को पूरे दिन के लिए ताकत और एनर्जी प्रदान करते हैं। इसके अलावा ओटमील में जरूरी पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, मैग्नेशियम, फॉस्फोरस और विटामिन बी-1 भी होते हैं जो आपका एनर्जी लेवल बढ़ाने में मदद करते हैं। 

(और पढ़ें – ओट्स के फायदे)

ओटमील को इसके उच्च फाइबर सामग्री के कारण पाचन स्वास्थ्य के लिए भी सुपरफूड माना जाता है। इसे मधुमेह से पीड़ित लोग भी खा सकते हैं क्योंकि ये ब्लड शुगर लेवल सामान्य रखने में मदद करता है। ब्रेकफास्ट में एक कटोरा ओटमील लेना दिनभर के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें ताजा फल और नट्स मिलाकर इसे और भी स्वस्थ बनाया जा सकता है।

दही में मौजूद प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेट और हेल्दी प्रो-बायोटिक्स थकान और कमजोरी से लड़ने में काफी मददगार हैं। शरीर किसी भी ठोस आहार की तुलना में दही को काफी जल्दी प्रोसेस कर लेता है, जिसके कारण ये एनर्जी का त्वरित स्रोत (Instant Source) माना जा सकता है।

तुरंत एनर्जी पाने के लिए दही एक बढ़िया फूड है। दही में मौजूद प्रो-बायोटिक्स हेल्थ सुधारने और पाचन ठीक करने में भी मदद करते हैं। रोजाना एक कप फैट फ्री दही लेने से दिन भर ताजगी और चुस्ती बनी रहेगी। योगर्ट को दूसरे फूड्स में मिक्स करके भी खाया जा सकता है।

(और पढ़ें – स्वास्थ्य के लिए दही के फायदे)

अगर गर्मी के कारण या फिर वर्कआउट के बाद डिहाइड्रेशन और थकान और सुस्ती महसूस हो रही हो तो तरबूज की एक फांक एनर्जी बढ़ाएं में मददगार हो सकती है।

तरबूज में भरपूर मात्रा में पानी होता है और इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो डिहाइड्रेशन को दूर करके बॉडी को एक्टिव करते हैं और थकान के लक्षणों को दूर करते हैं। इसके अलावा तरबूज में कमजोरी और थकान दूर करने वाले पोषक तत्व होते हैं जैसे पोटेशियम, विटामिन सी, लाइकोपने, बीटा कैरोटिन और आयरन। 

(और पढ़ें – तरबूज के फायदे और नुकसान)

तरबूज का रस हेल्दी ड्रिंक के रूप में लिया जा सकता है, इससे शहद और नींबू का रस पानी मिलाकर एनर्जी ड्रिंक बनाया जा सकता है। वर्कआउट के बाद यह रस पीना थकान के लक्षण को रोकता है।

अखरोट थकान भगाने का एक और सुपर फूड है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड अधिक मात्रा में होता है जो बहुत जल्दी थकान को दूर करता है। इससे तनाव को भी कुछ हद तक दूर किया जा सकता है। अखरोट में प्रोटीन और फाइबर होता है जो कि एनर्जी वापस लौटाने में मददगार हैं। स्टेमिना बढ़ाने के लिए भी आप अखरोट का सेवन कर सकते हैं।

इसमें मैंग्नीज, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, कॉपर और विटामिन्स भी होते हैं। रोजाना अपनी डाइट में एक चौथाई कप अखरोट शामिल करने से कमजोरी में फायदा होता है।अखरोट को भूनकर नाश्ते में लिया जा सकता है या फिर इसके टुकड़ों को मिल्कशेक, नाश्ते, स्मूदी या सलाद में डालकर खाया जा सकता है।

(और पढ़ें – अखरोट के फायदे और नुकसान)

बीन्स को कई अच्छे कारणों के लिए एक चमत्कारिक भोजन कहा जाता है। इसमे कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं जो थकान से लड़ने में मदद कर सकते हैं।

इसमें फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का एक अच्छा अनुपात होने के साथ साथ यह पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, तांबा और लौह सहित खनिजों से भरपूर होता है। यह लंबे समय के लिए स्थायी ऊर्जा देता है और आपकी थकान को रोकता है।

आप दिन भर में अलग-अलग भोजन के लिए बीन्स के विभिन्न प्रकार को शामिल कर सकते हैं। आप नाश्ते में उबले हुए सोयाबीन और लंच या डिनर के लिए ब्लैक बीन सलाद या सूप ले सकते हैं।

लाल शिमला मिर्च विटामिन सी के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है। यह एंटीऑक्सीडेंट न केवल आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है, बल्कि यह तनाव हार्मोन कोर्टिसोल को भी कम करने में मदद करता है जो कि थकान में योगदान देता है।

वास्तव में, विटामिन सी स्वस्थ गुर्दे संबंधी (adrenal) प्रणाली के लिए आवश्यक है, जो शारीरिक और मानसिक तनाव से थकान को रोकने में मदद करता है। इससे यह पता चलता है कि विटामिन सी की कमी से भी आपको थकान हो सकती है। लाल शिमला मिर्च भी विटामिन ए, बी -6 और सी, फोलिक एसिड और फाइबर से भरपूर है। इसलिए मानसिक थकान को मिटाने के लिए लाल शिमला मिर्च का सेवन ज़रूर करें। 

(और पढ़ें – शिमला मिर्च के फायदे)

सिर्फ 1 कप लाल शिमला मिर्च दैनिक रूप से सेवन आपकी ऊर्जा और चयापचय को उच्च रखने के लिए पर्याप्त रहेगी। आप कच्चे, पके हुए, भुने हुए या भरवां रूप में अपने आहार में लाल शिमला मिर्च शामिल कर सकते हैं।

पालक थकान भगाने का एक और सुपर फूड है जो कि आपको आसानी से बाजार में मिल सकता है। पालक आयरन से भरपूर भोजन है जो शरीर की रक्त कोशिकाओं को ऑक्सीजन देने में मदद करता है। इससे बदले में ऊर्जा मिलती है जो थकान को कम करती है। पालक से शारीरिक कमजोरी का इलाज भी कर सकते हैं।

इसके अलावा, पालक मैग्नीशियम, पोटेशियम और विटामिन सी और बी के साथ परिपूर्ण है जो कि आपके चयापचय को बढ़ावा देने और ऊर्जा की कमी को पूरा करने में बहुत मदद करते हैं।

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए पालक से बनें व्यंजन)

आप सैंडविच, सूप या अन्य स्वस्थ नाश्ता करने के लिए कुछ पालक की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। पालक के रस का एक गिलास थकान से लड़ने के लिए एक और आसान विकल्प है।

और पढ़ें ...