myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सर्दी का मौसम हो और एक कप गरमागरम कॉफी मिल जाए तो फिर क्या कहने। जी हां, कॉफी आज कई लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुकी है। नाश्ते की प्लेट से पहले एक कप कॉफी आपको तरोताजा (रिफ्रेश) करती है। हालांकि, बदलते दौर में कॉफी के प्रारूप में भी बदलाव आया है और ब्लैक कॉफी, कोल्ड कॉफी समेत बटर कॉफी इसके नए प्रकार हो सकते हैं।

अगर बात साल 2019 की करें तो इस साल घी कॉफी और बुलेट कॉफी के रूप में लोगों को नया विकल्प मिला है। दरअसल कॉफी में घी मिलाकर पीने को ही घी कॉफी कहते हैं, जिसे बहुत से सेलिब्रिटी फोलो कर रहे हैं।

(और पढ़ें - कॉफी पीने की एक और वजह)

क्या हैं कॉफी के फायदे
अगर, सीमित मात्रा में कॉफी का सेवन किया जाए तो इसके कई फायदे हो सकते हैं, जैसे-

  • कॉफी पीने से वजन नियंत्रित रहता है
  • थकावट दूर करती है कॉफी
  • दिल की सेहत के लिए भी कॉफी अच्छी होती है
  • डायबिटीज के जोखिम को कम करती है कॉफी
  • कई तरह के कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक है

(और पढ़ें - कॉफी पीने वालों के लिए ये खुशखबरी)

घी कॉफी के फायदे
कॉफी पीना पाचन तंत्र और पेट के लिए हानिकारक हो सकता है। यही कारण है कि कुछ लोग खाली पेट कॉफी पीने से बचते हैं। हालांकि, कॉफी में घी मिलाकर पीने से इस समस्या से बचा जा सकता है। इसके अलावा भी इसके कई फायदे हैं। जैसे-

घी आपके पेट में बनी गैस या एसिडिटी की समस्या को खत्म करने में मदद करता है और इसमें मौजूद कैल्शियम, कई दुष्प्रभावों को दूर रखता है। इसलिए कॉफी में घी मिलाकर पीना लाभदायक माना जाता है।

(और पढ़ें - प्लास्टिक के कप में कॉफी पीना कितना खतरनाक)

घी में वसा - ब्यूटिरिक एसिड और ओमेगा-3एस भी होता है, जो आपकी आंत के लिए और चयापचय (मेटाबोलिज्म) के लिए भी अच्छा होता है।

कॉफी पीने के नुकसान
कॉफी पीने के जितने फायदे हो सकते हैं उसकी तुलना में इसके थोड़े नुकसान भी हैं, क्योंकि यह आप पर निर्भर करता है कि आप किसी चीज को कितनी मात्रा में ले रहे हैं। अगर वह सीमित होगी तो फायदे मिलने की संभावना अधिक होती है, लेकिन ज्यादा कॉफी पीना आपको परेशानी में डाल सकता है। कैसे, आइए आपको बताते हैं-

  • एक दिन में चार कप से अधिक कॉफी पीना आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है।
  • कॉफी का अधिक सेवन नींद न आने की समस्या को बढ़ा सकता है।
  • कॉफी के अधिक सेवन से घबराहट और हृदय गति रुकने की आशंका होती है
  • गर्भवती महिलाओं को दो कप कॉफी से अधिक सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि कॉफी के अधिक सेवन से गर्भपात, नवजात का वजन कम होना और अन्य कई जन्म दोष पैदा होते हैं। इसलिए गर्भवती महिलाएं इसका विशेषरूप से ध्यान रखें।
  • एक ओर जहां कॉफी पीने से कैंसर का खतरा कम होता है तो दूसरी ओर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी एक चेतावनी में बताया है कि कॉफी के अधिक सेवन से इसी बीमारी (कैंसर) का जोखिम बढ़ भी जाता है।
  • इसके अलावा, कैफीन का ज्यादा सेवन हमारे शरीर की नसों को कमजोर बनाता है। इसके चलते घबराहट, निराशा और अवसाद (डिप्रेशन) जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

(और पढ़ें - सुंदरता बढ़ाने में ऐसे काम आ सकती है कॉफी)

इस तरह से साल 2019 में कॉफी का एक अलग प्रकार (घी कॉफी या बुलेट कॉफी) हमें देखने को मिला है, जिसे काफी फायदेमंद माना जा रहा है। हालांकि, खान-पान से लेकर लगभग हर चीज में एक संतुलन होना जरूरी है। मसलन उचित मात्रा में किया गया सेवन लाभदायक सिद्ध होता है। इसलिए कॉफी पिएं या घी कॉफी, लेकिन एक संतुलित मात्रा में।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ