myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या आप डेंगू का इलाज कर रहे हैं? या फिर आप डेंगू को पूरी तरह से रोकना चाहते हैं? डेंगू एक वायरस से होने वाली बीमारी है। खास बात यह है कि डेंगू फैलाने वाला मच्छर गंदे पानी की बजाय साफ पानी में होता है। इसलिए बरसात के मौसम में गमलों, कूलर, टायर आदि में जमा पानी में यह मच्छर अधिक पाया जाता है। इसमें आम तौर पर तेज बुखार, जोड़ों में दर्द, सिरदर्द और त्वचा पर दाने होते हैं। यह बहुत ज़रूरी है कि जिसे डेंगू हुआ है वह अच्छा आहार लें क्‍योंकि सही प्रकार के आहार से आप जल्‍दी ठीक हो सकते हैं। लेकिन हमारे पास कुछ सरल आहार युक्तियाँ हैं जो इन लक्षणों को कम करने और डेंगू से रिकवरी में मदद कर सकती हैं। आइये जानते हैं कि इस बुखार में रोगी को कौन कौन से आहार खाने चाहिए।

(और पढ़ें – बुखार के लक्षण, कारण और उपचार)

  1. डेंगू बुखार के उपचार में संतरा है उपयोगी - Orange Juice in Dengue in Hindi
  2. डेंगू का आयुर्वेदिक इलाज है पपीता - Papaya Leaf Juice For Dengue Fever in Hindi
  3. डेंगू में बचें मसालेदार भोजन से - Oily Food to Avoid During Dengue in Hindi
  4. डेंगू में खाएं दलिया - Dalia For Dengue Patients in Hindi
  5. डेंगू से बचाव का उपाय है हर्बल चाय - Herbal Tea For Dengue Patients in Hindi
  6. डेंगू का इलाज करे नारियल का पानी - Coconut Water Benefits in Dengue in Hindi
  7. डेंगू बुखार के घरेलू उपचार करें सब्जियों के जूस से - Vegetable Juices in Dengue in Hindi
  8. डेंगू ट्रीटमेंट के लिए सूप है लाभकारी - Soup For Dengue Patients in Hindi
  9. डेंगू बुखार का इलाज करे फलों का जू - Fruit Juice For Dengue in Hindi
  10. डेंगू का देसी इलाज है नीम के पत्ते - Neem Leaves For Dengue in Hindi

संतरे आवश्यक पोषक तत्वों और विटामिन से भरे हुए होते हैं। वे विटामिन सी में समृद्ध हैं, जो एक महत्वपूर्ण एंटीऑक्सिडेंट है। संतरे की में मौजूद उच्च फाइबर सामग्री पाचन क्रिया मजबूत बनाती है जिससे जिससे बुखार जल्दी ठीक हो जाता है। डेंगू में आपको बहुत सारे संतरे या संतरे के जूस का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें - डेंगू बुखार के घरेलू उपचार)

पपीते में कई औषधीय गुण हैं। यह काफ़ी पुराने समय से एक लोकप्रिय घरेलू उपाय है। अध्ययन से पता चलता है कि पपीते के बीज एडीज मच्छर के लिए विष का काम करते हैं। अन्य अध्ययनों से यह निष्कर्ष निकला है कि पपीता डेंगू रोगियों में तेजी से प्लेटलेट उत्पादन को बढ़ता है। इस बुखार को भगाने के लिये पपीते की पत्‍तियां सबसे अच्‍छी मानी जाती है। दिन में दो बार 2-3 चम्‍मच पपीते के पत्तो का रस पिएं।

डेंगू के मुख्य लक्षणों में से एक है पेट की समस्या। सुनिश्चित करें कि आप तेल और मसालेदार भोजन का सेवन नहीं कर रहे हैं क्योंकि यह आपकी स्थिति को ओर भी बिगाड़ सकता है।

स्वादिष्ट दलिया दुनिया भर में एक लोकप्रिय नाश्ता विकल्प है। इसमें मौजूद उच्च फाइबर और पोषक तत्व आपको रोगों से लड़ने के लिए पर्याप्त शक्ति देते हैं। द‍लिया डेंगू रोगी के लिए सबसे अच्‍छा आहार होता है। यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और आसानी से खाया और पचाया भी जा सकता है। 

(और पढ़े - बुखार में दलिया खाने के फायदे)

ग्रीन टी या हर्बल चाय डेंगू बुखार के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती है। इसके लिए आप इलायची, पेपरमिंट या अदरक जैसे स्वाद चुन सकते हैं। अदरक के सूजन कम करने और एंटीऑक्सीडेंट गुण डेंगू बुखार को कम करने में मदद करते हैं।

डेंगू अक्सर निर्जलीकरण का कारण बनता है। डेंगू रोगियों के लिए नारियल पानी सबसे अच्छा भोजन है क्योंकि यह पानी जरूरी खनिजों और इलेक्ट्रोलाइट्स का प्राकृतिक स्रोत होता है। इसका सेवन शरीर में द्रव के स्तर को नियमित करने में मदद करता है। इस प्रकार, नारियल का पानी आपके आहार में शामिल होना चाहिए।

आप डेंगू के लक्षणों का इलाज ताजी सब्जियों के जूस का सेवन करके कर सकते हैं। डेंगू के लक्षणों के उपचार के लिए गाजर, खीरा और अन्य पत्तेदार सब्जियां बहुत अच्छी होती है। ये सब्जियां आवश्यक विटामिन और खनिजों से परिपूर्ण हैं जो रोगी की प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद करती है और रोगी की पीड़ा को कम करती है। 

(और पढ़े - मोटापा घटाने के लिए ज़रूर खाएँ सब्जियाँ)

डेंगू के लक्षणों के उपचार के लिए सूप सबसे अच्छा भोजन है। यह भूख को बढ़ाता और जोड़ों के दर्द को दूर करने में मदद करता है। सूप कम मसालों से बना है और इसलिए पाचन और आँतो के कार्यों के लिए अच्छा होता है। 

(और पढ़े - कैंसर रोगियों के लिए सूप रेसिपी)

विटामिन सी एक प्रभावी एंटीऑक्सिडेंट है। यह कोलेजन उत्पादन को ट्रिगर करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है। नारंगी, अनानासस्ट्रॉबेरीअमरूद और कीवी जैसे फलों का रस डेंगू बुखार में ज़रूर पीना चाहिए क्योंकि ये फल वायरल संक्रमण से लड़ते हैं। यदि आप डेंगू से पीड़ित हैं तो फलों का जूस पीना चाहिए।

नीम के पत्तों को उनके औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। वे डेंगू वायरस टाइप -2 प्रतिकृति के विकास और प्रसार को सीमित करने में सहायता करते हैं। इस कारण से यह डेंगू के लिए सबसे महत्वपूर्ण प्राकृतिक उपचारों में से एक है।

और पढ़ें ...