myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

टेक्नोलॉजी के विकास की मदद से एंटी-एजिंग के लिए कई तकनीकें आ गईं हैं।  इस संदर्भ में माइक्रोकरंट फेशियल का नाम भी जुड़ गया है। खूबसूरती बढ़ाने वाले इस उपचार में त्वचा में कोशिकाओं के विकास की वृद्धि हेतु इलेक्ट्रिसिटी का प्रयोग किया जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह प्रक्रिया नॉन-इनवेसिव, इंजेक्शन-मुक्त और दर्द रहित है। इस ट्रीटमेंट की सबसे खास बात यह है कि इस से तुरंत लाभ मिलता है और रिकवर होने में समय भी नहीं लगता।

(और पढ़ें - चमकदार त्वचा के उपाय )

ऐसे में ये प्रश्न जहन में आना लाजिमी है कि माइक्रोकरंट पर कितना खर्चा आता है और ये काम कैसे करती है। माइक्रोकरंट फेशियल आपके चेहरे की मांसपेशियों को उत्तेजित करने का प्राकृतिक तरीका है। माइक्रोकरंट का उपयोग मांसपेशियों को मजबूती देने, कोलाजन (एक तरह का प्रोटीन) बढ़ाने और त्वचा के रंग को निखारने के लिए किया जाता है।" 

(और पढ़ें - चेहरे को निखारने का उपाय)

माइक्रोकरंट में चेहरे की कोशिकाओं को उत्तेजित करने के लिए कम वोल्टेज की बिजली का उपयोग किया जाता है। माइक्रोकरंट फेशियल कोशिकाओं की गतिविधि को बढ़ाता है, जिससे चेहरे की मांसपेशियों में कसाव आता है और त्वचा भी चिकनी होती है। ये माथे के आसपास झुर्रियों को कम करने में सहायक है। दशकों से फिजियोथेरेपी में माइक्रोकरंट का इस्तेमाल किया जा रहा है, इसलिए यह तकनीक बहुत सुरक्षित और प्रभावी है। 

चिकित्सक 1970 के दशक से ही दर्द से राहत दिलाने और यहां तक कि चेहरे पर लकवा आने की स्थितियों जैसे बेल्स पाल्सी (चेहरे की मांसपेशियों में अचानक से कमजोरी आ जाना) के इलाज में माइक्रोकरंट थेरेपी का इस्तेमाल करते आए हैं।

(और पढ़ें - बेस्ट एंटी एजिंग क्रीम के फायदे)) 

आसान है माइक्रोकरंट

इसमें दर्द नहीं होता, बल्कि अधिकांश लोगों को ये खूब पसंद आता है। इस ट्रीटमेंट की कीमत की बात करें तो इसका खर्चा इस बात पर निर्भर करता है कि आपको शरीर के किस हिस्से पर ये ट्रीटमेंट लेनी है। इसमें प्रति सेशन पर चार्ज किया जाता है। कुछ मामलों में, सौंदर्य विशेषज्ञ भी चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए माइक्रोकरंट की सलाह देते हैं। ये आपकी त्वचा को साफ, निखारने और नमी प्रदान करने का काम करती है। 

आप घर पर भी कुछ उपकरणों की मदद से ये ट्रीटमेंट कर सकते हैं लेकिन ये उपकरण उतने असरदार नहीं होते हैं जितने की प्रोफेशनल्स के होते हैं। माइक्रोकरंट का लगातार इस्तेमाल करने पर ही आपको इसके बेहतरीन परिणाम मिलते हैं। 

ऐसे लोगों को माइक्रोकरंट फेशियल से बचना चाहिए

माइक्रोकरंट फेशियल कम इनवेसिव (जिसमें उपकरणों का इस्तेमाल कम किया जाता है) होता है, वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। वैसे तो यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए सुरक्षित है लेकिन ऐसे मरीज जिनके पेसमेकर (दिल की मांसपेशियों को उत्तेजित करने और इसके संकुचन को नियंत्रित करने के लिए एक उपकरण) लगा हो या जिनके घाव खुले हों जैसे कि गंभीर एक्ने वगैरह, उन्हें इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए। 

यदि आप माइक्रोकरंट फेशियल की चाह रखते हैं, तो यह सुनिश्चित करें कि आप किसी योग्य पेशेवर से ही ये ट्रीटमेंट करवाएं।

(और पढ़ें - जानिए आपकी त्वचा के लिए कौन सा फेशियल है बेस्ट)

और पढ़ें ...