गर्मी के दिनों में तेज धूप और पसीने के कारण हमें डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। इन दिनों बाजार में बिकने वाले फ्रूट जूस, कोल्ड ड्रिंक जैसी अन्हेल्दी चीजों की जगह घर में बने विभिन्न तरह के हेल्दी और टेस्टी शर्बत ही पीने चाहिए। यहाँ दिए शर्बतों की रेसिपी को अपने रोज के आहार में शामिल करिये एवं गर्मी के दिनों में ताजा और हाइड्रेट रहकर हीट स्ट्रोक से बचे रहिए।

  1. गर्मी का शीतल पेय है सौंफ शरबत - Saunf ka sharbat for summer in hindi
  2. गर्मी का पेय पदार्थ है इमली का शरबत - imli ka sharbat for summer in hindi
  3. निर्जलीकरण उपचार है कोकम शरबत - Garmi ka kokum sharbat recipe in hindi
  4. डिहाइड्रेशन का उपाय है सब्जा शरबत - Sabja sharbat recipe for summer in hindi
  5. लू से बचने के उपाय के लिए पीएं गुलाब का शरबत - Garmi ka sharbat hai gulab ka sharbat in hindi
  6. प्रोटीन से भरपूर गुलाब लस्सी - Protein se bharpoor gulab lassi in Hindi
  7. सत्तू का नमकीन शरबत - Sattu ka namkeen sharbat in Hindi
  8. गर्मियों के लिए आम का पन्ना - garmiyon ke liye aam panna in Hindi
  9. खीरे का पंच/ कूलसूप - Cucumber cool punch in Hindi
  10. एनर्जी का पावर पैक आम की स्मूथी - Aam ki smoothie in Hindi
  11. विटामिन्स से भरपूर पपीते की स्मूथी - Papite ki smoothie in Hindi
  12. पेट के लिए फायदेमंद फालसे का शरबत - Phalse ka sharbat in Hindi

गर्मियों के दिनों में शीतल पेय की बात करें तो सौंफ का शर्बत आपको अधिकतर गुजराती घरों में देखने को मिल सकता है। यह न केवल पूरे दिन दिमाग और शरीर के थकान को दूर करता है बल्कि यह शरीर को भी ठंडा रखता है। (और पढ़ें – थकान दूर करने के घरेलू उपाय)

सामग्री

  • 3 / 4 कप सौंफ के बीज
  • 1 किलो चीनी
  • 2 गिलास पानी
  • 2 चम्मच इलायची पाउडर
  • 15 से 20 पुदीने के पत्ते

बनाने के तरीका

  • सब से पहले आप एक बर्तन में शक्कर और पानी डालकर इसे चीनी को घुलने तक चलाते हुए पकाएं ।
  • जब यह हल्का चिपचिपा हो जाए तो गैस बंद कर दें।
  • अब आप सौफ को मिक्सर में पीसकर इस सिरप में डालें।
  • अब आप इसमें इलायची पाउडर और पुदीने के पत्ते डालें और 5 से 6 घंटे तक ठंडा होने दें।
  • अब आप इसे छान लें और किसी ढक्कन बंद बर्तन में रखें। (और पढ़ें – इन गर्मियों को मात देने के लिए हो जाइए तैयार इन घर पर बनी समर ड्रिंक्स के साथ)
  • सेवन करते समय इस सिरप का एक चम्मच गिलास में डालकर ऊपर ठंडा पानी डालें और अच्छी तरह मिलाकर सेवन करें।

इमली विटामिन और खनिजों से समृद्ध है जो गर्मी के दौरान निर्जलीकरण के कारण शरीर से खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

सामग्री

  • 250 ग्राम इमली
  • 500 ग्राम चीनी या गुड़

सेवारत के लिए

  • 2 बड़े चम्मच कटे पुदीना के पत्ते
  • काला नमक का स्वाद अरूसार
  • जीरा स्वाद के लिए पाउडर अरूसार
  • स्वाद के लिए काली मिर्च पाउडर

बनाने के तरीका

  • जरूरत अनुसार पानी में पूरी रात इमली को भिगोने के लिए रख दें। सुबह में इमली को मसल कर इसके बीज निकालें और इसे छलनी से छान लें।
  • अब एक बर्तन को गर्म करें और इसमें तैयार किए गए इमली का रस और चीनी या गुड़ को डालें।
  • अब इस गाढ़ा होने तक उबाल लें।
  • अब लौ को बंद कर के ठंडा होने दें और ढक्कन बंद बर्तन में रखें। (और पढ़ें – पानी की कमी को दूर करने के लिए ज़रूर खाएँ ये फल)
  • सेवन करते समय इसके 2-5 चम्मच इमली का सिरप गिलास में डालकर ऊपर से भुना हुआ जीरा का पाउडर, काली मिर्च पाउडर, काला नमक, पुदीने के पत्ते और ठंडा पानी डाल कर अच्छी तरह मिला लें और ठंडा ठंडा पिएं।

कोकम शरबत का गर्मी के दिनों में महाराष्ट्र और गोवा में अधिक सेवन किया जाता है। यह स्वस्थ पेय निर्जलीकरण से निपटने में मदद करता है।

सामग्री

  • दो कप कोकम की पंखुडिया
  • दो कप चीनी
  • नमक स्वादानुसार
  • आधा छोटा चम्मच जीरा पावडर

बनाने के तरीका

  • कोकम की पंखुडियों को दो कप गुनगुने पानी में दस-पंद्रह मिनिट के लिए भिगो लें।
  • अब कोमल को पानी से अलग कर के अच्छी मिक्सर में पीस लें।
  • अब चीनी, कोकम का गूदा, नमक और जीरा पावडर को थोड़ा पानी डाल कर दो-तीन मिनिट तक उबालें।
  • अब इस सिरप को आँच से उतार कर ठंडा कर लें और फ्रिज में रख दें। (और पढ़ें – शरीर में पानी की कमी के 10 महत्वपूर्ण संकेत)
  • इसका सेवन करते समय गिलास में थोड़ा कोकम सिरप डालें और इसमें ठंडा पानी डाल कर अच्छी तरह मिला लें और पिएं।

सब्जा शरबत स्वादिष्ट और ताजगी देने वाला ग्रीष्मकालीन पेय है। यह ना केवल पाचन के लिए अच्छा है बल्कि यह आपको गर्मी के कारण निर्जलीकरण या हीटस्ट्रोक से बचाने में भी मदद करता है।

सामग्री

  • आधा कप खुस सिरप
  • चार बड़े चम्मच भिगोए हुए सब्ज़ा बीज
  • एक चौथाई छोटा चम्मच नींबू का रस
  • ढ़ाई कप ठंडा नींबू पानी
  • 8 बर्फ के टुकड़े

बनाने के तरीका

  • किसी गहरे बर्तन में बर्फ के टुकड़ों को छोड़कर सभी सामग्रियां डाल कर अच्छी तरह मिलालें।
  • अब इस पेय को गिलास में डालें और ऊपर से 2 बर्फ के टुकड़े डाल कर सेवन करें। (और पढ़ें – गर्मी में लू से बचने के आसान उपाय)

गुलाब की पंखुड़ियां हमारे शरीर और त्वचा पर प्राकृतिक सुखदायक प्रभाव डालती हैं। तो इस गर्मी आप गुलाब का शरबत जरूर बना कर पिएं।

सामग्री

  • 2 कप गुलाब की पंखुड़ी (अच्छी तरह से धोया हुआ)
  • 1 कप चीनी
  • 1/2 चम्मच इलायची पाउडर
  • 2 नींबू का रस
  • 1 कप अनार का रस

बनाने के तरीका

  • सबसे पहले आप इस गुलाब की पंखुड़ियों को ओखली और मूसल की मदद से कूट लें।
  • अब इसे किसी गहरे कांच के कटोरे में डाल दें।
  • अब पेस्ट में एक कप उबला हुआ पानी और इलायची पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब इसे ढक कर रत भर छोड़ दें।
  • सुबह में इसे छलनी से छान लें और चीनी डाल कर अच्छी तरह मिला लें।
  • जब चीनी अच्छी तरह मिल जाए, तब इसमें नींबू और अनार का रस डाल कर अच्छी तरह मिला लें।
  • इस सिरप को 3-4 दिनों तक फ्रिज में संग्रहीत किया जा सकता है। (और पढ़ें – गुलकंद के फायदे, नुकसान, बनाने की विधि और खाने का तरीका)
  • इसे पीने के लिए इसकी कुछ मात्रा किसी गिलास में डालें और उसमें ठंडा पानी और बर्फ के कुछ टुकड़े दाल कर इसका स्वाद लें।

गुलाब लस्सी पेट को ठण्डक देने के साथ ही प्रोटीन से भरपूर होती है। 

सामग्री: 

  • २ कप दही
  • २ टेबलस्पून रोज सिरप
  • थोड़ी कुटी हुई गुलाब की पंखुड़ियाँ 

बनाने का तरीका: दही व रोजसिरप को मिक्सर में या शेकर में डाल कर १५-३० सेकंड तक चलाएं।  इसके पश्चात कुटी हुई गुलाब की पंखुड़ियाँ डाल कर मिलाएं. अब गुलाब लस्सी तैयार है।  इसे आप नाश्ते के साथ या दो खाने के बीच में नाश्ते की तरह भी ले सकते हैं। 

सत्तू में मौजूद प्रोटीन आपको दिन भर ऊर्जा देता है। इसके साथ ही यह पेट को ठंडक पहुंचने में भी मदद करता है। 

सामग्री: 

  • चने या जौ का सत्तू- १-२ बड़े चम्मच
  • निम्बू का रस- २ चम्मच
  • बारीक़ कटा हरा धनिया- १ छोटा चम्मच
  • बारीक़ कटा पुदीना- १/२ छोटा चम्मच
  •  भुना जीरा पाउडर- १/२ छोटा चम्मच
  •  चाट मसाला- १/४  छोटा चम्मच
  •  नमक- स्वादानुसार
  •  पानी- १ गिलास

बनाने का तरीका: इन सभी सामग्रियों को एक बर्तन में डाल कर मिलाइये, कोशिश करिये की गांठ ना बनने पाए। जब सारी सामग्री आपस मे अच्छी तरह मिल जाए तब इसे एक गिलास में डाल कर परोसें। 

        

 

आम पन्ना लू लगने के साथ ही पेट की तकलीफ के लिए काफी उपयोगी होता है, इसे नियमित तौर पर गर्मियों में ले सकते हैं। 

सामग्री:

  • भूने या उबले कच्चे आम ३-४
  • निम्बू का रस- २ चम्मच
  • बारीक़ कटा हरा धनिया- १ छोटा चम्मच
  • बारीक कुटा पुदीना- १/२ छोटा चम्मच
  • भुना जीरा पाउडर- १/२ छोटा चम्मच
  • चाट मसाला- १/२  छोटा चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार

बनाने का तरीका: सबसे पहले एक बर्तन में आम का गुदा निकाल कर मसल लें। उसके बाद ये सारी सामग्री एक साथ घोल लें और फिर ठण्डा कर के पीएं.

 

खीरे में पानी एवं फाइबर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जो शरीर में जल की मात्रा बढ़ने एवं पेट को भरा रखने में मदद करती है।  ये कूल सूप / पंच हर उम्र के लोगो को पसंद आता है, इन्हे रोजाना अपने आहार में ऐड करें। 

सामग्री:

  • १ बड़ा- खीरा 
  • २ कप- दही
  • बारीक़ कटा हरा धनिया- १ छोटा चम्मच
  • बारीक कुटा पुदीना- १/२ छोटा चम्मच
  • कुटी हरी मिर्च- १/४ चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार
  • बर्फ- आवश्यकता अनुसार

बनाने का तरीका: सबसे पहले खीरे को कद्दूकस करें। फिर मिक्सर में सारी सामग्री (धनिया को छोड़  कर) डाल कर १५-३० सेकण्ड के लिए चलाएं। इसके बाद एक कटोरे में ठण्डा ही डालें, ऊपर से धनिया डाल कर परोसे। 

 

 

सामग्री: 

  • पके आम का गुदा- २ कप
  • दही- २ कप
  • चीनी- १ बड़ा चम्मच
  • बर्फ- आवश्यकता अनुसार

बनाने का तरीका: इन सारी सामग्री को मिक्सर में डाल कर २-३ मिनट के लिए चलाएं और गिलास में डाल कर ठण्डा ही पीएं। 

 

 

पपीता विटामिन्स का भंडार कहा जाता है एवं दही पेट को ठीक रखने में मदद करता है। इसे अपने गर्मियों के आहार में जरूर लें। 

सामग्री:

  • पका पपीता- २ कप
  • दही- २ कप
  • चीनी- २ बड़ा चम्मच-
  • बर्फ-आवश्यकता अनुसार

बनाने का तरीका: इन सारी सामग्री को मिक्सर में  डाल कर ३-४ मिनट के लिए चलाएं और गिलास में डाल कर ठण्डा ही पीएं। 

 

 

फालसे का टैंगी टेस्ट बड़ों के साथ बच्चों को भी बहुत पसंद आता है।  इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं।  इसे हीट स्ट्रोक/लू लगने के अलावा अपच की स्थिति में भी लिया जा सकता है। 

सामग्री: 

  • फालसा- १०० ग्राम 
  • चीनी- २ बड़े चम्मच
  • भुना जीरा पाउडर- १/२ छोटा चम्मच
  • चाट मसाला- १/२  छोटा चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार
  • बर्फ-आवश्यकता अनुसार

बनाने का तरीका:  फालसा को १ घण्टे के लिए पानी में डाल कर भिगो दें।  उसके बाद हाथ से मसल कर बीज व छिलका छननी से छान लें।  छाने हुए घोल को बाकी सामग्री के साथ मिलाएं, अच्छे से घुल जाने पर ठण्डा ही पीएं। 

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ