प्राकृतिक जड़ी-बुटियों में हर मर्ज की दवा छिपी है। इनके सेवन से हम गंभीर बीमारियों को भी मात दे सकते हैं। फिर चाहे वह कैंसर हो या फिर अन्य कोई बीमारी। यही वजह है कि आज के समय में कई हर्बल चीजें हमारे जीवन का हिस्सा हैं। ग्रीन टी उनमें से एक है, जिसका सेवन अधिकांश लोग मेटाबॉलिज्म बढ़ाने और वजन घटाने के लिए करते हैं।

वजन घटाने के अलावा क्या आपको ग्रीन टी के अन्य फायदों के बारे में पता है? नहीं, तो आपको जानकर हैरानी होगी कि ग्रीन टी पीने से केवल स्वस्थ जीवन की अभिलाषा पूरी नहीं होती, बल्कि ग्रीन टी आपकी उम्र भी बढ़ाती है। ताजा रिसर्च में यह बात सामने आई है, जिससे यह पता चला है कि ग्रीन टी पीने वाले लोग ज्यादा उम्र तक जीते हैं।

(और पढ़ें -  ग्रीन टी के फायदे और नुकसान)

क्या कहती है रिसर्च?
यूरोपियन जरनल ऑफ प्रिवेंटिव कार्डियोलॉजी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक अध्ययनकर्ताओं ने चीन के एक लाख से अधिक लोगों पर शोध किया। इस शोध के दौरान यह पाया गया कि जो लोग हफ्ते में कम से कम तीन बार ग्रीन टी पी रहे थे। ऐसे लोगों में आगे सात सालों तक हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा कम था।

इससे निष्कर्ष निकलता है कि ग्रीन टी पीने वाले लोगों की थोड़ा ज्यादा उम्र तक जीने की संभावना थी। अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि जो लोग ग्रीन टी का सेवन नहीं करते, उनकी तुलना में ग्रीन टी पीने वाले लोग, उम्र के एक पड़ाव (50 साल) पर आकर एक साल अधिक समय तक जी सकते हैं।

क्या है ग्रीन टी?
ग्रीन टी एक प्रकार की चाय है, जो कि कैमेलिया साइनेंसिस के पत्तों और कलियों से बनती है। इसे ऊलौंग और काली चाय की तरह उबलने की प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ता। वैसे तो ग्रीन टी विशेषकर चीन में पाई जाती है, लेकिन इसका उत्पादन एशिया के कई देशों में होता है।

सालों से हुए कई अध्ययनों के जरिए यह पता चलता है कि ग्रीन टी कैसे हेल्दी कोलेस्ट्रॉल स्तर और शारीरिक वजन, हृदय रोग के साथ-साथ कई तरह के कैंसर के जोखिम को कम करने में सहायक है। मौजूदा शोध की तरह, पहले किए गए बाकी के अध्ययन भी एक ऑब्जर्वेशनल (अवलोकन) थे, जहां अध्ययनकर्ताओं ने लोगों की डेली लाइफ स्टाइल से जुड़ी आदतों (जीवन शैली) और अन्य कारकों के बारे में सवाल पूछे थे। मगर ये अध्ययन यहीं तक सीमित थे, जिनमें शोधकर्ता यह साबित नहीं कर पाए कि कैसे ग्रीन टी के सेवन से कई प्रकार के लाभ होते हैं।

(और पढ़ें - सुंदरता को बढ़ाने के लिए कैसे करें ग्रीन टी का इस्तेमाल)

क्या कहते हैं विशेषज्ञ?
अमेरिका की सेंट लुइस यूनिवर्सिटी में न्यूट्रीशन विभाग में सहायक प्रोफेसर व्हिटनी लिंसेंमेयर के मुताबिक ग्रीन टी पीने वाले लोग कई तरीकों से (ग्रीन टी नहीं पीने वाले लोगों से) अलग हो सकते हैं। लिंसेंमेयर ने बताया कि अमरिका में शोध में पाया गया है कि चाय पीने वाले लोग (सभी प्रकार की चाय) चाय नहीं पीने वाले लोगों की तुलना में ज्यादा हेल्दी डाइट (अच्छा भोजन) लेते हैं।

मौजूदा अध्ययन के जरिए शोधकर्ताओं ने थोड़े अलग आंकड़े पेश किए हैं। अध्ययन में पता लगाया गया कि कैसे वजन बढ़ने में व्यक्ति की डाइट, व्यायाम की आदत, धूम्रपान और शिक्षा का स्तर व अन्य कारक सहायक होते हैं।

लिंसेंमेयर, जो कि पोषण और आहार विज्ञान अकादमी में प्रवक्ता भी हैं उनका कहना है कि सबके लिए अपनी आदतों को नियंत्रित करना असंभव है, लेकिन अलग-अलग देशों में कई अध्ययनों के जरिए अब ग्रीन-टी पीने से स्वास्थ्य संबंधी लाभ पाया गया है।

(और पढ़ें - हर्बल चाय के फायदे)

इसके अलावा कई तरह के क्लीनिकल ट्रायल्स के जरिए भी इसके सबूत मिलते हैं। लिंसेंमेयर बताती हैं कि हाल ही में इटैलियन महिलाओं पर किए गए एक ट्रायल में पाया है कि जो महिलाएं दिन में तीन कप ग्रीन टी पीती थीं, उनके अंदर आठ हफ्तों से थोड़े ज्यादा समय में वजन, बीपी, ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल में सुधार मिला है। इसलिए अगर आप ग्रीन टी पीना पसंद करते हैं तो जरूर पिएं।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ