myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कहते हैं जल ही जीवन है। पानी के बिना हम एक दिन तो क्या एक सेकेंड की भी कल्पना नहीं कर सकते हैं। पानी पीना जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी पानी का स्वच्छ होना भी है। आधुनिकता के इस ज़माने में आर.ओ (रिवर्स ओसमोसिस) पानी पीने का चलन काफी बढ़ गया है।  विशेषज्ञों की मानें तो आर.ओ का पानी शरीर को कई तरह से नुकसान  पहुंचाता है। आइए जानते हैं कि आर.ओ का पानी किस तरह सेहत को नुकसान पहुुंचा रहा है।

(और पढ़ें - खाली पेट पानी पीने के फायदे)

पोषण की कमी

आर.ओ का पानी जब प्यूराफाई होता है, तब इससे कई तरह के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। विषाक्त पदार्थ के साथ-साथ इसमें से सभी जरूरी पोषक तत्व भी बाहर निकल जाते हैं। नतीजतन, आर.ओ का पानी प्यास तो बुझाता है, लेकिन शरीर को इससे कोई फायदा नहीं पहुंचता है। पानी से जरूरी पोषक तत्व न मिलने पर शरीर में उनकी कमी होने लगती है और इस वजह से आप आसानी से बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। पानी में मौजूद पोषक तत्‍वों की कमी के कारण इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर होने लगता है और रोगाणुओं के हमले को रोक नहीं पाता है।

(और पढ़ें - नमक के पानी के फायदे)

हड्डियों की कमजोरी

जैसा कि आप जानते ही हैं कि कैल्शियम और मैग्नीशियम दोनों ही स्वास्थ्य के लिए आवश्यक तत्व हैं। कुछ ही मात्रा में सही पानी से भी हम कैल्‍शियम और मैग्‍नीशियम पा सकते हैं। लेकिन विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा यह बताया गया है कि आर.ओ के पानी में कैल्शियम बिल्कुल नहीं होता है। कैल्शियम, हड्डियों और मांसपेशियों के लिए आवश्‍यक तत्व है। कैल्शियम की कमी की वजह से शरीर की हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और मांसपेशियों पर भी इसका असर दिखता है।

हाल ही में हुए एक अध्ययन से यह पता चला है कि आर.ओ के पानी में कैल्शियम की कमी होती है। कैल्शियम रहित पानी पीने की वजह से बच्चों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। यहां तक कि आसानी से फ्रैक्चर भी हो सकता है। इसके साथ ही न्यूरोडीजेनेरेटिव डिसऑर्डर (स्नायुतंत्र को नुकसान पहुंचाने वाला विकार), समय से पहले प्रसव, जन्म के समय शिशु का कम वजन और कैंसर जैसी घातक बीमारियां भी हो सकती हैं। इसके अलावा मैग्नीशियम की कमी वाला पानी पीने से मृत्यु का जोखिम भी बढ़ जाता है। मैग्नीशियम की कमी की वजह से मोटर न्यूरोनल डिजीज, गर्भावस्था से सम्बंधित विकार और अन्य कई तरह के कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है।

(और पढ़ें - शरीर के वजन के हिसाब से कितना पानी पीना चाहिए)

खाना पकाने के लिए नहीं है सही

जिस पानी में मिनरल्‍स ना होंं, उस पानी से खाना पकाया जाए तो ये भोज्य पदार्थ जैसे सब्जी, मीट, दाल आदि में भी मौजूद जरूरी तत्‍वों को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे 60 फीसदी तक मैग्नीशियम और कैल्शियम कम हो सकता है। इतना ही नहीं कुछ माइक्रोएलीमेंट जैसे काॅपर (66 फीसदी), मैंगनीज (70 फीसदी) और कोबाल्ट (86 फीसदी) पर भी असर पड़ सकता है। इसके अलावा जब खाना पकाने में सामान्य पानी का इस्तेमाल किया जाता है तब इस तरह के तत्वों को कम या न के बराबर ही नुकसान पहुंंचता है। 

आर.ओ के पानी से खाना पकाने की वजह से शरीर को आवश्यक तत्व नहीं मिल पाते हैं। वर्तमान समय में ज्यादातर लोगों को रोज़ाना की जरूरत के पोषक तत्‍व नहीं मिल पा रहे हैं। इसके पीछे कई कारण हैं जिनमें से एक आर.ओ का पानी पीना भी है।

कुल मिलाकर नॉर्मल वाटर काॅपर और मैग्नीशियम जैसे खनिज पदार्थों का अच्छा स्रोत है। पानी में मौजूद लीड और काॅपर जैसे कुछ खनिज पदार्थ सेहत के हानिकारक होते हैं और आर.ओ इन मिनरल्‍स के साथ सभी अच्‍‍‍‍छे तत्वों को भी बाहर निकाल देता है जिससे बीमार पड़ने के जोखिम बढ़ जाते हैं।

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

और पढ़ें ...