myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

चेहरे पर काले दाग धब्बे हमें खुलकर चार लोगो के सामने खड़े नहीं होने देते क्योंकि उनका चेहरा साफ़ और हमारा इतना दाग धब्बों वाला बहुत असहज महसूस करवाने लगता है। इनको ठीक करने लिए आप कितने बड़े बड़े उत्पादों का इस्तेमाल करते रहते हैं लेकिन फिर भी कुछ भी फर्क नहीं दिखता और इन उत्पादों का इस्तेमाल, पैसा, मेहनत और उम्मीद सब बेकार जाता है।

लेकिन चिंता करने की ज़रूरत नहीं है आप इन काले दागों को कुछ ही दिनों में ठीक कर सकते हैं। जी हाँ आपके घर में उपलब्ध सामग्रियां आपके काले दागों को कम और फिर हमेशा के लिए खत्म करने में मदद करेंगी।

(और पढ़ें - चेहरे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय)

तो आइये आपको बताते हैं त्वचा के काले दागों को मिटाने के घरेलू उपाय

  1. काले दाग हटाने का घरेलू उपाय है सेब का सिरके - Apple cider vinegar for black spot removal in Hindi
  2. काले दाग हटाने के उपाय है पपीता - Papaya for black spots in Hindi
  3. काले दाग हटाये टमाटर से - Tomato removes black spots in Hindi
  4. काले दाग खीरे की मदद से मिटाए - Cucumber reduces black spot in Hindi
  5. काले दाग दूर करने का उपाय है दूध - Milk helps get rid of black spot in Hindi
  6. काले दाग दूर करे दही के इस्तेमाल से - Yogurt works as black spot remover in Hindi
  7. काले दाग का उपचार है शहद - Honey as black spot remover in Hindi
  8. संतरे का छिलका काले दाग का करेगा इलाज - Orange peel for black spot in Hindi
  9. काले दाग का उपाय है स्ट्रॉबेरी - Strawberry benefits for black spot in Hindi
  10. काले दाग दूर करने का उपाय है कैलामाइन लोशन - Calamine lotion for dark spots in Hindi

सेब के सिरके को कुछ सालों से बेहद प्रभावी घरेलू उपाय माना जाने लगा है। सेब के सिरके में एंटीऑक्सीडेंट जैसे विटामिन एविटामिन बी काम्प्लेक्स, विटामिन सी और विटामिन ई पाया जाता है जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। सेब का सिरका दाग धब्बों को हटाता है क्योंकि इसमें हाइड्रोक्सी एसिड मौजूद होता है।

पहली प्रक्रिया - सेब का सिरका और शहद -

सामग्री -

  • एक चम्मच सेब का सिरका।
  • एक चम्मच पानी।
  • एक चम्मच शहद।
  • रूई।

विधि -

  • सबसे पहले सेब के सिरके को पानी के साथ मिलाएं और फिर उसमे शहद को भी अच्छे से मिला दें।
  • अब एक रूई लें और उसमे डुबोकर फिर अपने काले धब्बों पर लगाएं और 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ होड़ दें।
  • फिर अपने चेहरे को पानी से धो दें।

सेब का सिरका और शहद का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - संतरे का जूस और सेब का सिरका -

सामग्री -

  • एक चम्मच सेब का सिरका।
  • दो चम्मच संतरे का जूस।
  • रूई।

विधि -

  • सबसबे पहले एक कटोरे में इन दोनों सामग्रियों को अच्छे से मिला दें।
  • अब इस मिश्रण को रूई से अपने काले धब्बों पर लगाएं और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  • फिर त्वचा को पानी से धो लें।

सेब के सिरके और संतरे के जूस का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल एक दिन छोड़कर करें।

चेतावनी -

  • सेब के सिरके से बने मिश्रण को इस्तेमाल करने के बाद आप अपने चेहरे पर सनस्क्रीन लोशन लगाना न भूलें क्योंकि सेब के सिरके के इस्तेमाल के बाद आपकी त्वचा सेंसिटिव हो जाती है।
  • अगर आ पकी सेंसिटिव स्किन है तो आप एक पैच टेस्ट ज़रूर करें।

टिप्स - कभी सेब के सिरके को सीधे तौर पर न लगाएं। हमेशा किसी के साथ मिलाकर ही सेब के सिरके का उपयोग करें।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे और नुकसान)

पपीता में पपाइन एंजाइम होता है जो काले धब्बों को दूर करने के लिए बेहद लाभदायक होता है। पपाइन एंजाइम त्वचा को एक्सफोलिएट करता है साथ ही निखारता भी है।

पहली प्रक्रिया - पपीता पेस्ट

सामग्री -

  • आधा पपीता।
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसे पहले पपीते को मिक्स कर लें जिससे कि एक गाढ़ा पेस्ट तैयार हो सके।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर अपने चेहरे को पानी से धो लें।

पपीता के पेस्ट का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल हफ्ते में तीन बार ज़रूर करें।

दूसरी प्रक्रिया - पपीता, ओटमील और नारियल का तेल -

सामग्री -

विधि -

  • सबसे पहले एक कटोरे में पपीते को चम्मच से मैश कर लें और फिर उसमे ओटमील और नारियल का तेल मिलाएं।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाकर रखें।
  • फिर त्वचा को पानी से साफ़ कर लें।

पपीता, ओटमील और नारियल के तेल का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण को हफ्ते में तीन बार ज़रूर लगाएं।

चेतावनी - पपीता में लेटेक्स एसिड होता है इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पैच टेस्ट ज़रूर करें। खासकर तब जब आपकी त्वचा सेंसिटिव हो।

टिप्स - जिन लोगों की नार्मल त्वचा है वो कच्चे पपीते का इस्तेमाल करें और जिन लोगों की त्वचा ड्राई है वो पके पपीते का इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - पपीते के फायदे)

टमाटर में विटामिन ए, विटामिन बी और विटामिन सी होता है जो त्वचा के कोलेजन का उत्पादन करता है, काले धब्बों को दूर करता है, फ्री रेडिकल से लड़ता है और त्वचा की लचीलता को बरकार रखता है। इसमें खनिज भी मौजूद होते हैं जैसे कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नेशियम जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

पहली प्रक्रिया - टमाटर का जूस और नींबू का जूस

सामग्री -

  • दो चम्मच टमाटर का जूस।
  • एक चम्मच नींबू का जूस।

विधि -

  • सबसे पहले एक कटोरे में दोनों सामग्रियों को मिला लें।
  • अब एक रूई लें और उस रूई को इस मिश्रण में डुबोकर अपने काले धब्बों पर लगाएं।
  • सूखने तक का इंतज़ार करें। सूखने के बाद त्वचा को पानी से धो लें।

टमाटर के जूस और नींबू के जूस का इस्तेमाल कब तक करें -

इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - टमाटर और शुगर -

सामग्री -

  • एक टमाटर।
  • एक चम्मच चीनी।

विधि -

  • सबसे पहले एक प्लेट में शुगर को रख लें।
  • अब टमाटर का एक टुकड़ा लें और फिर उसे चीनी पर लगाएं।
  • अब लगी हुई चीनी से अपने काले धब्बों पर 10 मिनट के लिए स्क्रब करें।
  • फिर इसे 10 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर अपनी त्वचा को साफ़ पानी से धो लें।

टमाटर और शुगर का इस्तेमाल कब तक करें - इस प्रक्रिया को रोज़ाना करें।

चेतावनी - टमाटर प्राकर्तिक रूप से एसिडिक होता है और ये सेंसिटिव स्किन के लिए थोड़ा कठोर हो सकता है। हालाँकि इसका इस्तेमाल करने से फोरआर्म पर पैच टेस्ट ज़रूर करें।

टिप्स -

  • आर्गेनिक टमाटरों का इस्तेमाल करें।
  • अपने आहार में रोज़ाना टमाटर को ज़रूर मिलाएं क्योंकि इसमें लिकोपीन गुण होते हैं।
(और पढ़ें - टमाटर के फायदे)

खीरे में काफी मात्रा में पानी होता है जो आपकी स्किन के लिए बेहद फायदेमंद है। खीरे में कुकुरबिटासियन (cucurbitacins) और कुकुमरिन (cucumerin) होता है जो एंटी एजिंग की समस्या को दूर रखता है। इसमें कई प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जैसे विटामिन ए, विटामिन बी5, विटामिन सी, विटामिन ई जो काले घेरे, मुहासे और सबसे ज़्यादा ज़रूर काले धब्बों को कम करते हैं।

पहली प्रक्रिया - खीरा, एलो वेरा जेल और नींबू का जूस 

सामग्री -

  • एक खीरा।
  • आधा चम्मच एलो वेरा जेल।
  • एक चम्मच नींबू का जूस।
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसे पहले खीरे को मिक्सर में मिक्स कर लें फिर उसमे शहद और नींबू का जूस मिलाएं।
  • अब इस पैक को अपने चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाकर रखें।
  • फिर त्व चा को साफ़ पानी से धो लें।

खीरे, एलो वेरा और नींबू के जूस का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - खीरा और दही -

सामग्री -

  • एक खीरा।
  • दो चम्मच दही।
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसे पहले खीरे को मिक्सर में मिक्स कर लें फिर उसमे दही मिलाएं और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 40 मिनट के लिए लगाकर रखें।
  • फिर त्वचा को पानी से धो लें।

खीरे और दही का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

चेतावनी - खीरे को बाहर से इस्तेमाल करने से आपको किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। आप बिना किसी चिंता के खीरे का इस्तेमाल कर सकते हैं।

टिप्स - आप खीरे को एक टोनर की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं। खीरे को पानी में रातभर के लिए ऐसे ही रखा हुआ छोड़ दें फिर खीरे को निकालकर बचे हुए पानी को एक बोतल में डाल दें और रूई की मदद से इसे अपनी त्वचा पर लगाएं।

(और पढ़ें - खीरे के फायदे)

दूध में विटामिन ए और बायोटिन के गुण होते हैं जो ड्राई स्किन को ठीक करने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें विटामिन डी और कैल्शियम होता है जो आपकी त्वचा के कोलाजन को बढ़ाता है। इसमें मौजूद विटामिन ए और विटामिन बी6 नयी कोशिकाओं को बनाते हैं। इसके अलावा दूध में मौजूद लैक्टिक एसिड, विटामिन डी और विटामिन बी12 मृत कोशिकाओं को दूर करते हैं और झाइयों से भी लड़ते हैं, खासकर काले धब्बे।

पहली प्रक्रिया - दूध और शहद - 

सामग्री -

  • चार चम्मच दूध।
  • दो चम्मच शहद।
  • रूई।

विधि -

  • सबसबे पहले एक कटोरे में दूध और शहद मिलाएं।
  • अब एक रूई को इसमें डुबोएं और फिर उसको अपने चेहरे पर लगा लें।
  • फिर 10 मिनट तक मसाज करें।
  • मसाज करने के बाद इसे दस मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर त्वचा को पानी से धो लें।

दूध और शहद का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - दूध, हल्दी और चंदन -

सामग्री -

विधि -

  • सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ एक कटोरे में डाल दें।
  • फिर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार होने के बाद उसे अपने चेहरे पर लगा दें और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  • फिर त्वचा को पानी से धो लें।

दूध, हल्दी और चंदन का इस्तेमाल कब तक करें - इस मिश्रण का इस्तेमाल एक दिन छोड़कर इस्तेमाल करें।

चेतावनी - जिन लोगों की त्वचा पिंपल्स वाली होती है वो दूध का इस्तेमाल नहीं कर पाते क्योंकि दूध त्वचा को और तेलिये कर सकता है। इसलिए आप ऊपर दिए घरेलू उपायों में दूध की जगह दही या छाछ का इस्तेमाल करें तो आपकी त्वचा के लिए बेहतर होगा।

टिप्स - जितना हो सके त्वचा के लिए उतना आर्गेनिक दूध का इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - दूध के फायदे)

दही में मौजूद लैक्टिक एसिड त्वचा की ऊपरी परत की मृत कोशिकाओं और झाइयों को दूर करता है। इसकी मदद से नई कोशिकाओं को बनने में मदद मिलती है। दही काले धब्बों को दूर करता है।

पहली प्रक्रिया - दही, ओटमील और नींबू जूस -

सामग्री -

  • दो चम्मच दही।
  • एक चम्मच ओटमील।
  • एक च म्मच नींबू जूस।

विधि -

  • सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर चेहरे को पानी से धो लें।

दही, ओटमील और नींबू के जूस का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल हफ्ते में तीन बार ज़रूर करें।

दूसरी प्रक्रिया - दही, मिंट और गुलाब जल -

सामग्री -

  • दो चम्मच दही।
  • एक चम्मच मिंट
  • एक चम्मच गुलाब जल।
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसबे पहले इन सभी सामग्रियों को मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 40 मिनट के लिए इन्हे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर चेहरे को पानी से धो दें।

दही, मिंट और गुलाब जल का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

चेतावनी - कभी भी स्वाद वाला दही का इस्तेमाल न करें क्योंकि उसमे कई कलर मिले होते हैं जो आपकी त्वचा के लिए हानिकारक हैं।

टिप्स - अपने रोज़ाना के आहार में दही का सेवन ज़रूर करें। ये न ही आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद होगा बल्कि आपकी पाचन क्रिया को भी ठीक रखेगा।

(और पढ़ें - स्वास्थ्य के लिए दही के फायदे)

शहद एक प्रभावी मॉइचराज़र और क्लीन्ज़र की तरह काम करता है और मुहांसों और बढ़ती उम्र के कारण होने वाली स्किन प्रॉब्लम से भी लड़ता है। लेकिन शहद में सबसे ज़्यादा चीनी की मात्रा पायी जाती है जो त्वचा को एक्सफोलिएट करने में मदद करती है और दाग धब्बों को साफ़ करती है।

पहली प्रक्रिया - शहद और आलू

सामग्री -

  • दो चम्मच शहद।
  • एक आलू
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसे पहले आलू को मिक्सर में मिक्स कर लें और फिर इसमें शहद मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने काले धब्बों पर लगाएं और 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें।

शहद और आलू का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - शहद और टमाटर जूस -

सामग्री -

  • एक चम्मच शहद।
  • दो चम्मच टमाटर जूस।
  • रूई।

विधि -

  • सबसे पहले शहद और टमाटर के जूस का एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब रूई को उसमे डुबोये फिर इसे अपने काले धब्बों पर लगाएं और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  • फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें।

शहद और टमाटर के जूस का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

चेतावनी - तेलिये त्वचा के लिए आप सबसे पहले पैच टेस्ट करें जिससे ये उपाय आपकी त्वचा पर कोई उल्टा प्रभाव न डालें।

टिप्स - शहद आप कच्चा या आर्गेनिक इस्तेमाल कर सकते हैं। कच्चे शहद में सभी तरह के पोषक तत्व होते हैं जो आपकी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद हैं।

(और पढ़ें - शहद के फायदे)

संतरे के छिलके में विटामिन सी और कैल्शियम होता है जो फ्री रेडिकल से लड़ता है और साथ ही त्वचा की कोशिकाओं को निखारता भी है। संतरे के छिलके में काले धब्बों को साफ़ करने के गुण होते हैं जो अशुद्धियों और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते हैं।

पहली प्रक्रिया - संतरे का छिलका और दही -

सामग्री -

  • एक चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर।
  • दो चम्मच दही।

विधि -

  • सबसे पहले दोनों सामग्रियों को एक साथ मिला लें और गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 25 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • अब त्वचा  को पानी से धो लें।

संतरे का छिलका और दही का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

दूसरी प्रक्रिया - संतरे का छिलका, शहद और दूध -

सामग्री -

  • दो चम्मच संतरे का छिलका।
  • दो चम्मच दूध।
  • एक चम्मच शहद।

विधि -

  • सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और सूखने तक का इंतज़ार करें।
  • फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें।
  • मिक्स करके पाउडर बना लें और फिर इस पाउडर को किसी बोतल में बंद करके रख दें। इससे आपका समय बचेगा।

संतरे का छिलका, शहद और दूध का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल रोज़ाना करें।

चेतावनी - संतरों का जब भी इस्तेमाल करें हमेशा आर्गेनिक संतरों का ही इस्तेमाल करें।

टिप्स - आप संतरों के छिलकों को इकट्ठा करें और उन्हें सूखने के लिए रख दें। अब उन छिलकों को सूखने के बाद मिक्सर में मिक्स करके पाउडर बना लें और फिर इस पाउडर को किसी बोतल में बंद करके रख दें। इससे आपका समय बचेगा।

(और पढ़ें - संतरे के छिलके के फायदे)

स्ट्रॉबेरी में सलिसिलिक एसिड होता है जो हर तरह के स्किन केयर उत्पादों में पाया जाता है। इससे त्वचा एक्सफोलिएट रहती है और मृत कोशिकाएं दूर हो जाती है। ये त्वचा को मॉइस्चराइज़ और कोमल करता है। स्ट्रॉबेरी में अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड होता है जो आपकी त्वचा की ऊपर सतह को ठीक करने में मदद करता है जिसकी मदद से काले धब्बे नहीं दिखते।

पहली प्रक्रिया - स्ट्रॉबेरी और शहद -

सामग्री -

  • 4-5 स्ट्रॉबेरी।
  • एक चम्मच शहद।
  • मिक्सर।

विधि -

  • सबसे पहले स्ट्रॉबेरी को मिक्सर में मिक्स कर लें और फिर इसमें शहद को इसमें मिला दें जिससे एक गाढ़ा पेस्ट तैयार हो सके।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहर पर लगाएं और 40 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें।

स्ट्रॉबेरी और शहद का इस्तेमाल कब तक करें -

इस मिश्रण का इस्तेमाल एक दिन छोड़कर करें।

दूसरी प्रक्रिया - स्ट्रॉबेरी और सेब का सिरका -

सामग्री -

विधि -

  • सबसबे पहले स्ट्रॉबेरी को मैश कर लें।
  • अब उसमे सेब के सिरके को मिलाएं।
  • अब इस पेस्ट को अच्छे से चला लें और फिर इसे अपने चेहर के काले ढाबों पर 20 पर मिनट के लिए लगाकर रखें।
  • फिर त्वचा को पानी से धो लें।

स्ट्रॉबेरी और सेब के सिरके का इस्तेमाल कब तक करें - इस पेस्ट का इस्तेमाल हफ्ते में दो बार ज़रूर करें।

चेतावनी - स्ट्रॉबेरी का इस्तेमाल करने के बाद आप अपने चेहरे पर सनस्क्रीन लगाना न भूले क्योंकि स्ट्रॉबेरी से त्वचा आपकी और ज़्यादा सेंसिटिव हो सकती है।

टिप्स - त्वचा के लिए आर्गेनिक स्ट्रॉबेरी का इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - स्ट्रॉबेरी के फायदे)

कैलामाइन लोशन में काओलिन (kaolin) होता है जो दाग धब्बों को दूर करता है और त्वचा को भी फायदा पहुंचाता है।

सामग्री -

  • कैलामाइन लोशन।
  • रूई।

विधि -

  • रूई में कैलामाइन लोशन लें और इसे फिर अपने काले धब्बों पर लगाएं।
  • फिर रातभर के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  • सुबह अपनी त्वचा को धो लें।

कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल कब तक करें - रोज़ाना कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल करें।

चेतावनी - कैलामाइन का इस्तेमाल करने से पहले अपने फोरआर्म पर एक पैच टेस्ट ज़रूर करें इससे आपको पता  चल जाएगा कि कही आपको इसके इस्तेमाल के बाद खुजली, लालिमा या सूजन जैसी समस्या तो नहीं होगी।

टिप्स - कैलामाइन लोशन लगाने के लिए हमेशा रूई का ही इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - कैलामाइन लोशन के फायदे)

और पढ़ें ...